डीकेएस हॉस्पिटल में डॉक्टरों की लापरवाही, इलाज के दौरान ट्रांसजेंडर की मौत, परिजनों ने प्रबंधन पर लगाया आरोप

0
23

रायपुर। शहर के सरकारी सुपर स्पेशिलिटी डीकेएस अस्पताल में डॉक्टरों की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। बता दें कि अस्पताल में ट्रांसजेंडर ने 15 दिन पहले ऑपरेशन के जरिए लिंग परिवर्तन कराया था। जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतका का नाम माया नारायण बताया गया है जो बिलासपुर की रहने वाली थी।

परिजनों ने बताया कि डॉक्टरों की लापरवाही की वजह से माया की मौत हुई है। जिस डॉक्टर को ऑपरेशन करना था वह ऑपरेशन के दौरान मौजूद नहीं था। आनन-फ़ानन में अन्य डॉक्टरों ने ऑपरेशन किया है और पूरे अंतड़ी को बाहर निकाले। एक के बाद एक दो ऑपरेशन किया गया।

पहले ऑपरेशन में पेशाब नली को भूल जाने के कारण पेट फूलने लगा और अंतड़ी में इन्फेक्शन हो गया। तीन दिनों से कोई डॉक्टर देखने तक नहीं आए, जो बच्ची 300 किलोमीटर दूर से चलकर यहां इलाज कराने स्वस्थ रूप से आई थी। उसकी अचानक तीन दिन में कैसे मौत हो गई। इस पर हम जांच चाहते हैं।

परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों ने ऑपरेशन में लापरवाही बरती है। इस दौरान आयुष्मान योजना के तरह फ्री में उपचार होना था, लेकिन परिजनों से दवा और अन्य शुल्क भी वसूले गए।

थर्ड जेंडर संग के ट्रांसजेंडर विद्या राजपूत ने बताया कि एक साल पहले हमने ऐसे ऑपरेशन से हो रही मौत को लेकर धरना प्रदर्शन किया था। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने सरकारी अस्पतालों में इलाज नहीं करने के लिए नोटिस जारी करते हुए प्राइवेट हॉस्पिटल में ऑपरेशन की व्यवस्था की है।

लेकिन यह लगातार पाँचवा केस है, जो इस अस्पताल में इलाज कराने आने के दौरान मौत हुई है। जबकि यहाँ कोई विशेषज्ञ नहीं हैं। हम चाहते हैं कि जाने वाली तो चली गई, लेकिन उनके परिजन के जो 4-5 लाख रुपये ख़र्च हुए हैं। उसको सरकार वापस लौटाएँ। ऐसे लोग जो ऑपरेशन कराना चाहते हैं उनके लिए सरकार उचित व्यवस्था करे।

बता दें कि राज्य में परिवार एवं समाज कल्याण विभाग के माध्यम से ट्रांस जेंडरों के लिंग चयन और ऑपरेशन की सुविधा सरकार द्वारा दी जा रही है, लेकिन डॉक्टरों की यह लापरवाही सामने आने के बाद अब सरकार की इस योजना पर भी सवाल उठ रहे हैं।

( मोरख़बर से आप फ़ेसबुकट्विटरयूट्यूबइंस्टाग्राम  व व्हाट्सएप पर फ़ॉलो व लाइक करके जुड़ सकते हैं )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here