देश

पिता के नाम जलाशय भूल सुधार कराने पंहुचे ​थे IAS मिश्रा, भूपेश बघेल से हो गई जमकर बहस 

रायपुर 2017-02-28 05:02 pm.
No image

मोर खबर रायपुर ब्यूरो 

पेंड्रावन जलाशय के मामले में पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल और जल संसाधन विभाग के सचिव गणेश शंकर मिश्रा के बीच जमकर बहस हुई। जीएस मिश्रा भूपेश ​बघेल की पूर्व में की गई टिप्पणी पर ऐतराज जता रहे थे, बातचीत बाद में बहस में तब्दील  हो गई। बघेल ने कहा कि, आपके पिता के नाम जलाशय है और वह बर्बाद हो रहा है, इसलिए वे मिश्रा को दोषी मानते हैं। 
भूपेश बघेल जब पेंड्रावन जलाशय बचाओ आंदोलन में शामिल होने धरसीवा गए थे, उस दौरान उन्होंने कहा था कि, जिस शख्स  के नाम पर जलाशय है उनके ​बेटे के सचिव रहते जलाशय बिक रहा है। 
जीएस मिश्रा ने भूपेश बघेल से मुलाकात होने पर इस टिप्पणी पर आपत्ति दर्ज कराई। मिश्रा की आपत्ति पर बघेल और उनके बीच विधानसभा परिसर में  बहस हो गई। मिश्रा बघेल से कह रहे थे कि, उनके तथ्य गलत हैं एनओसी दस्तावेज में उन्होंने हस्ताक्षर नहीं किए हैं। आरोप लगाने के पहले उन्हें तथ्यों को देखना चाहिए। बघेल ने जीएस मिश्रा से कहा कि, उन्हें कोई आपत्ति नहीं है, वे दस्तावेज दे दें तो माफी मांग लेंगे। ​
पटलवार करते हुए मिश्रा ने कहा कि, दस्तावेज बघेल आरटीआई लगाकर ले लेंवें
इतना सुनते ही भूपेश बघेल नाराज हो गए। उन्होंने कहा कि, अगर आप जानकारी नहीं दे सकते तो मैने जो कहा वह सही है और सही आरोप लगाया है। 
बहस के बाद भूपेश बघेल ने कहा कि, उन्होंने पेंड्रावन में कहा था कि, जीएस मिश्रा के सचिव रहते उनके पिता के नाम पर बने बांध का अस्तित्व खतरे में कैसे आ गया। और वे अपनी बात पर कायम है। हॉलाकि बहस की वजह से महौल बिगड़ता देख, जल संसाधन विभाग के सचिव,जीएस मिश्रा ने बहस के संबंध में टिप्पणी करने से मना कर दिया। 

 

इन्हें भी देखे

Follow Us




Copyright © BlueBanyan