छत्तीसगढ़

भगवान श्रीराम के जीवन आदर्शों के जैसे ही छत्तीसगढ़ का सामाजिक सदभाव : डॉ. रमन सिंह 

रायपुर 2017-02-03 09:02 pm.

रायपुर. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज यहां श्रीराम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल हुए। उन्होंने मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम और माता जानकी की पूजा-अर्चना कर प्रदेश की सुख-समृद्धि और खुशहाली का आशीर्वाद मांगा। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि - भगवान श्रीराम के जीवन आदर्शों के अनुरुप सामाजिक सदभाव छत्तीसगढ़ की पहचान है। छत्तीसगढ़ भगवान श्री राम का ननिहाल है। यहां के जन-जन और कण-कण में श्रीराम बसे हैं। छत्तीसगढ़ के लोगों की भगवान श्रीराम में अपार श्रद्धा है। छत्तीसगढ़ में समाज के सभी वर्गों के बीच परस्पर सदभाव, भाईचारा, एकता और अपनत्व का भाव है, जो हमारी गौरवशाली परम्परा की पहचान है। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीराम और संतों के आशीर्वाद से छत्तीसगढ़ विकास के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के पुरातात्विक और धार्मिक स्थलों को विकसित किया जा रहा है। उन्होंने श्रीराम मंदिर से लगे मार्ग का नामकरण ‘श्रीराम मंदिर मार्ग’ करने के आग्रह पर कहा कि श्रीराम मंदिर के निर्माण से इस मार्ग का नामकरण स्वतः ही ‘श्रीराम मंदिर मार्ग’ हो गया है। 


मुख्यमंत्री ने प्राण-प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होने आए संतों का प्रदेश की जनता की ओर से आत्मीय स्वागत करते हुए उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। उन्होंने मंदिर निर्माण में योगदान देने वाले सभी श्रद्धालुओं का आभार प्रकट किया। इस अवसर पर  इन्द्रेश कुमार और सांसद  योगी आदित्यनाथ सहित अनेक संतों ने अपने विचार प्रकट किए। समारोह में केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्री  विष्णु देव साय, छत्तीसगढ़ की महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू , संत विजय कौशल महाराज, स्वामी  गिरी गोस्वामी, संत  परमात्मानंद महाराज, शदाणी दरबार के संत  युधिष्ठिर लाल, श्रीराम मंदिर समिति के सर्वश्री राजेन्द्र प्रसाद, बृजलाल गोयल, रमेश मोदी, पूर्व गृहमंत्री  ननकीराम कंवर सहित अनेक संत, महामंडलेश्वर और श्रद्धालु बड़ी संख्या में उपस्थित थे। 

इन्हें भी देखे

Follow Us




Copyright © BlueBanyan