देश

गठबंधन गंगा-यमुना का मिलन : राहुल हम साइकिल के दो पहिए : अखिलेश

2017-02-01 05:02 pm.
No image

 

समाजवादी पार्टी व कांग्रेस गठबंधन के बाद रविवार को पहली बार अखिलेश यादव और राहुल गांधी की लखनऊ में मुलाकात हुई। इस अवसर दोनों नेताओं ने एक-दूसरे को गले लगाया और एक साथ मंच साझा किया। इस दौरान मंच पर दोनों पार्टियों के कई दिग्गज भी मौजूद हैं। राहुल गांधी और अखिलेश यादव ने संयुक्त रूप से प्रेस वार्ता को संबोधित किया।

पहले राहुल गांधी ने अपने संबोधन में कहा कि मैं और अखिलेश एक-दूसरे को अच्छी तरह से जानते हैं, हम यूपी में मिलकर काम करेंगे और विकास करेंगे। राहुल गांधी ने कहा, मैंने कहा था अखिलेश अच्छा लड़का है, पर उसे काम नहीं करने दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विकास की राजनीति को विरोधी रोकना चाहते हैं इसलिए हमने हाथ मिलाया है ताकि मिलकर लड़ाई लड़ सकें। हम नफरत की राजनीति को रोकना चाहते हैं। एक सवाल के जवाब में राहुल ने कहा कि हम चुनाव प्रचार कैसे करेंगे, हमारी प्लानिंग क्या होगी, ये अभी नहीं बताएंगे। सोनिया गांधी और मुलायम सिंह यादव चुनाव प्रचार करेंगे या नहीं, इसका खुलासा अभी नहीं करेंगे। प्रियंका गांधी ने हमेशा मेरा साथ दिया है, अब तक दिया है और आगे भी देंगी। वे चुनाव प्रचार करेंगी या नहीं, ये उनकी इच्छा है। उनपर कोई जोर नहीं है। राहुल गांधी ने कहा, ये गठबंधन मौकापरस्त नहीं है, ये तो दिलों का गठबंधन है। हम संघ और बीजेपी को समझाना चाहते हैं कि हम यूपी को टूटने नहीं देंगे। बीजेपी तो बस एक हिन्दुस्तानी को दूसरे हिन्दुस्तानी से लड़ाती है। उनके विचारों से देश को खतरा है। इस दौरान राहुल ने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि हम क्रोध की राजनीति खत्म करना चाहते हैं। 

प्रेस कांफ्रेंस में अखिलेश ने कहा कि हम कांग्रेस के साथ केंद्र में भी साथ रहे हैं। ये विकास  का गंठबंधन है, जनता का गठबंधन है। जनता चाहती है कि गठबंधन हो, कांग्रेस के साथ और तेजी से काम होगा। हम और राहुल साइकिल के दो पहिए हैं। विपक्षी भाईचारे पर सवाल खड़े कर रहे हैं। आज शुरुआत है, केंद्र की सरकार ने लोगों को लाइन में खड़ा कर दिया है। तकलीफ में लोगों को लाने वाले जीत के दावे कर रहे हैं। राहुल और मैं देश को खुशहाली और तरक्की के रास्ते पर ले जाएंगे और प्रदेश को भी।

 

इन्हें भी देखे

Follow Us




Copyright © BlueBanyan