छत्तीसगढ़

समय पर नहीं मिला वेतन, बीमार शिक्षाकर्मी ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में बताई वजह

बालोद 2017-01-09 07:01 pm.
No image

वक्त पर वेतन नहीं मिलने की वजह से इलाज से वंचित पखांजुर के एक शिक्षक ने बालोद में आत्महत्या कर ली। सरकारी सिस्टम पर सवाल खड़े करते हुए आत्महत्या की ये दिल दहला देने वाली खबर बालोद से आयी है। जहां गौतम पौशार्य नाम के एक शिक्षक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मौत के पहले  सुसाइड नोट में शिक्षक गौतम पौशार्य ने लिखा है कि, मैं अपनी बीमारी के कारण आत्महत्या कर रहा हूं।  समय पर वेतन नहीं मिलने कारण मैं अपना इलाज नहीं करा सका और ना ही मैं किसी को भी नहीं बताय। मेरी अंतिम इच्छा है कि मेरी पत्नी एवं बच्चों का ख्याल रखना। यह बात मैं अपने मामा परिवार वालों को कह रहा हूं। और ससुराल वालों से भी कह रहा हूं। 

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा है कि, सरकार गुड गवर्नेंस की बात करती है। वेतन मिलने में लेटलतीफी से शिक्षाकर्मी  बेहद परेशान हैं..जो अपना इलाज नहीं करा पा रहे.बघेल ने बालोद जाकर पीड़ित के परीवार से मुलाकात की, बघेल ने कहा है कि, सरकार को इस मामले में जवाब देना चाहिए। बघेल ने कहा है कि, सरकार के पास विलास के लिए पैसे हैं विकास के लिए नहीं, यही वजह है कि, शिक्षक को सरकार वेतन नहीं दे पा रही है और नया रायपुर में सैकड़ो करोड़ की लागत से गोल्फ कोर्स का निर्माण कराया जा रहा है।

बीजेपी प्रवक्ता संजय श्रिवास्तव ने कहा है कि, सरकार शिक्षाकर्मीयों की बेहतरी के लिए काम कर रही है। अगर शिक्षाकर्मीयों को वेतन नहीं मिल रहा होता ऐसे में आत्म्हत्या की खबरें सभी जगहों से आती। फिर भी इस मामले की सरकार जांच कराएगी। 
 

इन्हें भी देखे

Follow Us




Copyright © BlueBanyan