छत्तीसगढ़

किक्रेटर मोहम्मद कैफ ने 325 रूपए देकर खरीदा शहद, ऑनलाइन पेमेंट पर सरकार देगी ईनाम

रायपुर 2017-01-03 07:01 pm.
No image

इंदिरा गांधी कृषि विश्व विद्यालय के सभागार में आज आयोजित डीजी धन मेले और लकी ग्राहक योजना के शुभारंभ समारोह में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी और छत्तीसगढ़ की क्रिकेट टीम के कप्तान मोहम्मद कैफ ने मोबाइल से कैशलेस पेमेंट कर एक किलो शहद खरीदा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने सभागार में डीजी-धन मेला एवं लकी ग्राहक योजना का शुभारंभ किया।  मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने लक्की ग्राहक योजना के विजेताओं को बधाई दी। सीएम ने कहा 31 मार्च 2017 तक सभी 7000 से ज्यादा लोक सेवक केंद्र और  रायपुर, धमतरी, राजनांदगांव समेत 5 जिले पूरी तरह से कैशलेस हो जाएगा। सभी चॉइस सेंटर में डिजिटल भुगतान की व्यवस्था की जायेगी..क्रिकेटर मो कैफ ने 325 रुपये आॅनलाइन पेमेंट कर शहद खरीदा

इस मौके पर  केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि, छत्तीसगढ़ सरकार ने लेस कैश के लिए बेहतर काम किया है, 8 नवम्बर के बाद देश में जो परिस्थिति रही है.उसके बाद छोटे से लेकर बड़े तक हर वर्ग के लोग कहते हैं देश बदल रहा है. जनता ने देश को सुधारने मोदी सरकार को बहुमत दिया है.मोदी सरकार में आर्थिक सुधारों के लिए प्रयत्न हुआ है. 
देश को चलाने के लिए 25 लाख करोड़ रुपये की जरूरत पड़ती है.8 लाख करोड़ रुपये आयकर से पूरा होता है. बाकी अन्य करों से 8 लाख करोड़ रुपये जुटते है. बाकी पैसों की जरूरत कर्ज से पूरी होती हैं.लेकिन अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले से देश आगे बढ़ रहा है..
डीजी धन मेले में डॉ रमन सिंह ने कहा कि, जेब में कैश रहता तो कोई ताली नहीं बजाता लेकिन जेब में कार्ड है तो,  ना तो गुम होने का डर है.ना टूटने का ना जलने का.हमने 11 लाख किसानों को आॅनलाइन भुगतान कर छत्तीसगढ़ में कैशलेस ट्रांजेक्शन की शुरुआत काफी पहले कर दी थी। सीएम ने कहा कि, रुपे कार्ड को लेकर हमने पंचायत को टारगेट कर रखा है। 
लोकसेवा केंद्रों में डिजिटल भुगतान की सेवा शुरू कर रहे हैं। सीएम ने कहा कि, टीवी पर बैठकर प्रधानमंत्री को गाली देने वाले भी जल्द ही उन्हें धन्यवाद देंगे। डॉ रमन सिंह ने कहा- धीरे-धीरे मनरेगा का सारा भुगतान सीधे पंचायत स्तर से ही किया जा सकेगा। कैशलेस ट्रांजेक्शन में छत्तीसगढ़ पहले नंबर पर बने यह सरकार को​शीश कर रही है। 
 

Ad

इन्हें भी देखे

Follow Us




Copyright © BlueBanyan