छत्तीसगढ़

क्यों जूझ रहा कर्मचारी मानसिक परेशानी से

रायपुर 2016-12-22 03:12 pm.
No image

रायपुर: काम की अधिकता से कर्मचारियों को मानसिक परेशानी हो रही है. छत्तीसगढ़ का मंत्रालय कर्मचारियों की कमी से जूझ रहा है. बता दें कि मंत्रालय में आला अधिकारियों के पद तो भरे हुए हैं. मगर कर्मचारियों की कमी के चलते काम-काज काफी ज़्यादा प्रभावित हो रहा है. कर्मिकों की कमी की वजह से फाइलों का निपटारा नहीं हो पा रहा है. इस बात को आला अफसर भी स्वीकार कर रहे हैं. हालही में दो सौ पदों की भरती की गई है. मगर अभी तक उन कर्मचारियों कार्य भार नहीं संभाला है. एक वक्त में एक कर्मचारी तीन से चार अफसरों की फाइलों को समेट रहा है. ऐसे में मानिसक परेशनी होना लाज़मी हैं. जो फ़ाइल दिन भर में पूरी हो जती थी अब उन फाइलों को निपटने में कई दिन लग रहे हैं. मंत्रालय में मंत्रालयीन कैडर के सेक्शन ऑफिसर व सहायक ग्रेड 1,2,3,4 के पदों पर लगभग 13 सौ कर्मचारियों के पद स्वीकृत हैं, जबकि वर्तमान में करीब 550 कार्यरत हैं. उच्च शिक्षा विभाग में 11 अफसर हैं जबकि कर्मचारी 5 हैं.  पिछले साल 17 अगस्त को कर्मचारी संघ ने मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आयोजित संयुक्त परामर्शदात्री समिति की बैठक में भी कर्मचारियों की कमी का मुद्दा उठाया था. लेकिन अब तक किसी भी तरह की कोई भी कार्रवाई नहीं हुई है.

इन्हें भी देखे

Follow Us




Copyright © BlueBanyan