छत्तीसगढ़

प्रबंधन की कोशिश नाकाम, दो भालू शावकों की मौत

बिलासपुर 2016-12-17 03:12 pm.
No image

बिलासपुर: कानन पेंडारी में दो भालू शावकों की मौत हो गई. जानकारी के अनुसार 5 दिसंबर को बलरामपुर के जंगल से लगभग 3-4 दिन के भालू शावक अपनी माँ से बिछड़ गए थे. वन विभाग ने इन्हें देखा तो कानन पेंडारी पहुंचा दिया. उनकी स्थिति नाजुक देख उन्हें अस्पताल में ही रखा गया था. अस्पताल का स्टाफ  उन शावकों को बोतल से दूध पिलाने की कोशिश में लगा हुआ था. शावक छोटे होने के कारण दूध नहीं पी रहे थे. ऐसे में जू के प्रबंधन की कोशिश नाकाम रही और कमजोरी के कारण दोनों शावकों की मौत हो गई. शावकों की मौत एक हफ्ते पहले ही हो गई थी. जिसका खुलासा प्रबंधन ने बुधवार को किया. शावकों के इलाज के वक्त कानन पेंडारी के डॉक्टर अंबिकापुर में थे. इससे इन शावकों का देखभाल अच्छे से नहीं हो पाई. इसे भी शावकों के मौत का एक कारण कहा जा सकता है.   

 

इन्हें भी देखे

Follow Us




Copyright © BlueBanyan