छत्तीसगढ़

15 से 21 नवंबर तक चलेगा शीतकालीन सत्र छत्तीसगढ़

रायपुर 2016-12-22 03:12 pm.
No image

रायपुर: 15 से 21 नवंबर तक चलेगा छत्तीसगढ़ विधानसभा का शीतकालीन सत्र. 5 बैठकें होनी हैं इस सत्र के दौरान. इस सत्र में हंगामा होने की संभावनाएं बताई जा रही हैं. 800 से ज़्यादा पक्ष-विपक्ष की ओर से सवाल लगाए जा चुके हैं. जिसमे से 384 अतारांकित और 446 तारांकित शामिल हैं. पत्रकारों से चर्चा करते हुए विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से 16 नवंबर को चालू वित्तीय वर्ष के लिए दूसरा अनुपूरक बजट भी पेश किया जायेगा. 17 नवंबर को इस बजट पर विचार विमर्श होगा साथ ही इसी दिन इस बजट को पारित भी कर दिया जायेगा.

 

5 संशोधन विधेयक भी इसी सत्र में पेश किये जाने हैं.

इसमें

  • विनियोग विधेयक
  • सहकारी समिति संशोधन विधेयक
  • लोक आयोग संशोधन विधेयक
  • छत्तीसगढ़ भाड़ा नियंत्रण संशोधन विधेयक
  • गौसेवा आयोग संशोधन विधेयक

 

को शामिल किया गया है. 2016 छत्तीसगढ़ भाड़ा नियंत्रण संशोधन अध्यादेश भी सदन के पटल पर रखा जायेगा. चर्चा के दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि शीत सत्र के लिए ध्यानाकर्ष्ण की 74, शून्यकाल की एक व नियम 139 के तहत तीन सूचनाएं प्राप्त हुई हैं. 11 सूचनाएं आश्कीय संकल्प की प्राप्त हुई हैं. इनमे से तीन सूचनाएं ग्रहण (ग्राह्य) की गई हैं. इसके आलावा 14 याचिकाएं (याचिनाएं) भी प्राप्त हुई है. बिलासपुर में हुई नसबंदी शिविर के दौरान 13 महिलाओं की मौत और कई महिलाओं के गंभीर रूप से अस्वस्थ्य होने की घटना पर भी चर्चा कर न्यायिक जाचं की रिपोर्ट पर विमर्श किया जा सकता है. पत्रकारों से बात-चीत के दौरान सवाल का जवाब देते हुए विधानसभा अद्याक्ष ने कहा की सत्र की अवधि कम नहीं की जाएगी.

 

मुख्या विपक्षी कांग्रेस, सरकार को इस सत्र के दौरान घेरने ने तैयारी में जुट गई है. कांग्रेस इन मुद्दों पर कर सकती है हमला:

 

  • बस्तर में दो स्कूली छात्रों को नक्सली बता कर हत्या
  • धान खरीदी
  • फर्जी मुठभेड़
  • कानून व्यवस्था की स्थिति
  • राज्य विद्युत कंपनियों के निजीकरण
  • नगरनार स्टील प्लांट के निजीकरण के प्रयास
  • किसानों को बोनस
  • पुलिस अभिरक्षा में मौत

 

 साथ ही स्थगन प्रस्ताव लाए जाने की संभावना है बताई जा रही हैं.

इन्हें भी देखे

Follow Us




Copyright © BlueBanyan