छत्तीसगढ़

हंगामे के बीच छग विधानसभा का शीतकालीन सत्र समाप्त

रायपुर 2016-12-21 07:12 pm.
No image

रायपुर. आज छत्तीसगढ़ विधानसभा का शीतकालीन सत्र  के अंतिम दिन  किसानों को धान खरीदी का पैसा न मिलने पर विपक्ष ने जम कर हंगामा किया. सभी विपक्षी विधायक गर्भगृह तक सरकार विरोधी नारे लगाते पहुंच गए. हंगामे के चलते कांग्रेस सदस्यों को निलंबित कर दिया गया. बता दें कि निलंबन से पहले पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल ने शून्यकाल में नोटबंदी और किसानों को हो रही परेशानी पर चर्चा की मांग की थी. जिसे आस्वीकार कर दिया गया. चर्चा न होने पर हंगामा शुरू हो गया. विरोध प्रदर्शन करते हुए विपक्षी सदन में गाँधी जी की प्रतिमा के पास बैठ गए. संसदीय कार्य मंत्री अजय चन्द्राकर ने उन्हें मनाने का प्रयास भी किया मगर कांग्रेसी नहीं माने. विधानसभा में सीएम ने बताया कि प्रदेश में 3 आईएएस, 4 आईएफएस की जांच एसीबी और ईओडब्ल्यू के पास है. 20 आईएएस और 2 आईएफएस की जांच लोक आयोग के पास है. इसके साथ ही उन्होंने कैग का वित्त लेखा पटल सदन पर रखा. आय-व्यय की प्रवत्तियां को भी समीक्षा पटल पर रखा. विधायक आरके राय ने खदानों में ब्लास्ट से नुकसान का मुद्दा उठाया. सीएम ने जवाब देते हुए कहा कि इसके लिए 5 लाख 92 हजार की राशि स्वीकृत की गई है. शुरुआत में विधायक मोहन मरकाम ने सरकार से सवाल पूछा कि पाइका योजना कब लागू हुई थी, इसका जवाब देते हुए मंत्री भैयालाल राजवाड़े ने बताया कि यह योजना 2009 में लागू हुई थी.   

इन्हें भी देखे

Follow Us




Copyright © BlueBanyan