छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ विधानसभा : बुरगुन में हुई मुठभेड़ फर्जी - कांग्रेस

रायपुर 2016-12-22 01:12 pm.
No image

रायपुर. कांग्रेस ने 24 सितंबर को बस्तर के बुरगुन में हुई मुठभेड़ को फर्जी बताया है. विपक्ष ने इस मुद्दे को लेकर गुरूवार को गृहमंत्री को घेरा. कांग्रेस ने यह आरोप लगाया कि पुलिस ने मासूम छात्रों को घर से निकालकर गोली मारी है. आरोप को खारिज करते हुए पैकरा ने बताया की मारे गए नक्सलियों में एक नक्सली 8वीं तक पढ़ा है और दूसरे के छात्र होने के कोई दस्तावेज बरामद नहीं हुए हैं. पैकरा ने कहा की दोनो बाल संघम से जुड़े होने की आशंका है. मंत्री विपक्ष के कई सवालों से यह कह कर बच गए की मामला अभी न्यायालय में विचाराधीन है. विपक्ष ने बस्तर आईजी कल्लूरी के खिलाफ भी जमकर नारे लगाए गर्भगृह में आने के कारण विधायक स्वयं निलंबित हो गए, हालांकि कुछ देर बाद ही विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने उनका निलंबन समाप्त कर दिया. भूपेश बघेल ने बुरगुन मुठभेड़ को लेकर सदन में ध्यानाकर्षण प्रस्ताव रखा. उन्होंने कहा कि पुलिस ने सोनकू राम और बिजलू कश्यप को आधी रात बाद घर से निकालकर गोली मारी है. बघेल ने कहा कि ताड़मेटला कांड के समय जो वहां एसएसपी थे, उन्हें आईजी बना दिया गया है. जिसके खिलाफ जांच चल रही है, उसे वहां पदस्थ नहीं किया जाता नियम यह कहता. इससे जांच प्रभावित होती है और कल्लूरी जांच प्रभावित कर रहे हैं. क्या सरकार कल्लूरी को बस्तर से हटाएगी?

इन्हें भी देखे

Follow Us




Copyright © BlueBanyan