छत्तीसगढ़

वृद्ध महिला के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझी, अंधविश्वास के चलते दिया था वारदात को अंजाम..

जांजगीर-चांपा 2017-04-05 05:04 pm.
No image

जांजगीर-चाम्पा  ब्यूरो 

जांजगीर-चांपा जिले में एक वृद्ध महिला के अंधे कत्ल की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है, इस मामले में गांव के ही एक युवक को गिरफ्तार किया गया है आरोपी ने अंधविश्वास के चलते वृद्धा को लकड़ी के बत्ते से पीटपीटकर नृशंस हत्या कर दी थी और मामले को लूट का रूप देने के लिए उसके जेवर लेकर फरार हो गया था। घटना 1 अप्रैल को अकलतरा थाना के ग्राम कटनई की थी। 

दरअसल आरोपी राकेश केंवट की पत्नी आए दिन बीमार रहती थी और कुछ माह पूर्व उसकी मौत हो गई थी आरोपी राकेश को संदेह था की उसकी पत्नी की मौत जादू- टोना के कारण हुई थी और मृतका फिरतीन बाई टोनही है। जिसके बाद वह प्रतिशोध की आग दिल में लिए बैठा और 1 अप्रैल को उसने फिरतीन बाई को घर में अकेला पाकर लकड़ी के बत्ते से पीटपीट कर नृशंस हत्या कर दिया। हत्याकांड के खुलाशे में जुटी पुलिस को डाग स्क्वायड और फॉरंसिक  टीम से कोई खास मदद नही मिल सकी लेकिन पुलिस और क्राईम ब्रांच की टीम ने छोटी छोटी कड़ियों को जोड़ कर तहकीकात शुरू की तब मामला जादू टोने से जुड़े पहलू पर जाकर थम गई और यहीं से पुलिस की पड़ताल ने सकारात्मक मोड़ लिया और पुलिस की जांच राकेश केंवट पर जाकर थम गई। पूछताछ के दौरान राकेश ने बताया कि मृतका फिरतीन बाई टोनही थी और उसने उसकी पत्नी को खाया है अपनी पत्नी के वियोग में जल रहे राकेश को मौके की तलाश थी और उसने अकेले पन का फायदा उठाते हुए हत्या को अंजाम दिया।  

टोनही प्रताड़ना छत्तीसगढ़ में अभिशाप बन चुका है अंधविश्वास के इस घिनौने रूप की वजह से न जाने कितनी महिलाएं प्रताड़ित हो रही है वहीं दर्जनों महिलाओं की हत्या हो चुकी है मगर समाज में जागरूकता अब भी नही आ पाई है। 

इन्हें भी देखे

Follow Us




Copyright © BlueBanyan