छत्तीसगढ़

No image

 एक बार फिर इंसानियत हुई शर्मसार| ये घटना बगीचा थाना क्षेत्र के एक गांव की है। महिला के जेठ ने  रिश्ते को किया शर्मसार, पति के बड़े भाई ने महिला के घर में घुस कर उसके साथ जबरन दुष्कर्म की घटना को अंजाम दे दिया। पुलिस ने पीडि़ता के रिपोर्ट पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। घटना बगीचा थाना क्षेत्र के एक गांव की है।

घटना के संबंध में पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार एक महिला का पति ईंट भट्टा में काम करता है। शुक्रवार को भी महिला का पति काम करने के लिए गया हुआ था। पति के घर से चले जाने के बाद महिला अपने बच्चों के साथ घर में ही थी। उसी दौरान गांव में ही रहने वाला महिला के पति का बड़ा भाई जबरन उसके घर में घुस गया और महिला के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दे दिया। घटना के बाद महिला के पति के घर आने पर पीडि़ता ने घटना के संबंध में अपने पति को बताई और इसकी रिपोर्ट बगीचा थाने में दर्ज करा दी। बगीचा पुलिस ने पीडि़ता के रिपोर्ट पर आरोपी के खिलाफ धारा ३७६, ४५६ का मामला दर्ज कर लिया है।

शुक्रवार को जब महिला का पति काम पर गया हुआ था| उस वक़्त महिला अपने बच्चों के साथ घर पर अकेली थी| महिला के जेठ को इसकी जानकारी थी| पति के घर से काम पर जाने के बाद जेठ ने इस बात का फायदा उठाया| व जबरदस्ती महिला के घर घुस गया, और उसने महिला के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दे दिया| जिस वक़्त ये घटना हुई उस वक़्त महिला के बच्चे भी घर पर मौजूद थे| जेठ की इस शर्मनाक करतूत ने इस रिश्ते को शर्मसार कर दिया है|

बलात्कार के अपराध दिनों दिन बढ़ते जा रहे है| और इन पर काबू पाना अब काफी मुश्किल होता जा रहा है| केवल कागजी करवाई की जा रही है| अभी भी इस देश की हज़ारों लाखों महिलाओं को बलात्कार के केसेस में न्याय नहीं मिल पाया है| देश में हर दिन एक न एक महिला युवती व मासूम बच्चियां दुष्कर्म का शिकार हो रही है|

No image

  कोरबा और कटघोरा में आयोजित विकास यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़  का पिछले पन्द्रह वर्षों में अभूतपूर्व विकास हुआ है, जिसे राज्य के किसी भी हिस्से में कभी भी जाकर देखा जा सकता है। उन्होंने विकास यात्रा को लोगों के विकास एवं विश्वास की यात्रा बताया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों का विकास हुआ है। प्रदेश के इस विकास में जनता का बड़ा योगदान है। 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि विकास यात्रा मेरे लिए एक तीर्थ यात्रा के बराबर है। दन्तेवाड़ा के मां दन्तेश्वरी कीे पूजा-अर्चना और आशीर्वाद लेकर एक हजार किलोमीटर से अधिक की यात्रा करते हुए आज आपके बीच यहां पहुंचा हूं। विकास को गति प्रदान करने के लिए आप लोगों ने जो अभूतपूर्व स्वागत किया है, वह मुझे आगे और उत्साह के साथ काम करने लिए ऊर्जा प्रदान करता रहेगा। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने बताया कि गत 15 वर्ष के दौरान राज्य के हर क्षेत्र में अभूतपूर्व प्रगति हुई है और छत्तीसगढ़  आज देश के अग्रणी राज्यों में से एक है। इस दौरान राज्य का बजट आज 80 हजार करोड़ का हो गया है। उनकी सरकार ने प्रदेश के हर वर्ग का ख्याल रखा है और उनके लिए योजनाएं बनाई है। प्रदेश में संचालित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने मुख्यमंत्री स्वास्थ्य योजना, स्वास्थ्य सुरक्षा योजना, खाद्यान्न सुरक्षा योजना आदि का जिक्र किया। कोरबा को श्रम नगरी बताते हुए उन्होंने प्रदेश में श्रम कल्याण के लिए लागू साइकिल वितरण, सिलाई मशीन वितरण योजना, दीनदयाल उपाध्याय श्रमवीर योजना के तहत 5 रूपए में भोजन, श्रमिकों के बच्चों के लिए नि:शुल्क उच्च शिक्षा आदि की जानकारी दी। 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि पिछले पन्द्रह वर्षों में छत्तीसगढ़ में अभूतपूर्व विकास हुआ है, जिसे जिला मुख्यालय से लेकर दूरस्थ गांव तक कहीं पर भी देखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि गांव-गांव में पेयजल, बिजली, सड़क की पहुंच स्थापित हो चुकी है। हमारी सरकार गरीबों को एक रूपए किलो की दर पर चावल और मुफ्त में दो किलो नमक मुहैया करा रही है। उन्होंने  कहा कि पहली बार लोगों को 50 हजार रुपए तक मुफ्त इलाज की सुविधा मिली है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर गरीब लोगों को 5 लाख रुपए तक नि:शुल्क इलाज की सुविधा दी गई है। प्रधानमंत्री  ने पिछले महीने बीजापुर के जांगला से इस महत्वाकांक्षी योजना की शुरूआत कर दी है। मुख्यमंत्री ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना से राज्य के 37 लाख गरीब परिवारों को लाभ मिलेगा। डॉ. सिंह ने कहा कि विकास यात्रा का एक मुख्य उद्देश्य किसानों और वनवासियों को उनकी मेहनत के प्रतिफ ल के रूप में बोनस वितरण करना भी है। उन्होंने कहा कि राज्य में लगभग 1700 करोड़ रुपए धान बोनस और 700 करोड़ रुपए तेन्दूपत्ता बोनस बांट रहे हैं।  

अपने उद्बोधन में उन्होंने बताया कि आगामी 3 माह में प्रदेश का शत-प्रतिशत विद्युतीकरण किया जाएगा। प्रदेश में लागू स्काई योजना का जिक्र करते हुए उन्होंने इस योजना के तहत अगले 3 माह में 55 लाख परिवारों को स्मार्ट फ ोन वितरण किए जाने की जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने केन्द्र शासन द्वारा लागू आयुष्मान योजना और प्रधानमंत्री आवास योजना की भी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि विकास यात्रा के दौरान प्रदेश के बारह लाख किसानों को धान बोनस वितरण, 12.85 लाख आवासीय पट्टा वितरण, तेंदूपत्ता बोनस वितरण आदि का काम किया जाएगा। इसके अलावा इस दौरान प्रदेश में तीस हजार करोड़ की लागत के निर्माण कार्यों का भूमिपूजन-लोकार्पण भी किया जाएगा। आमसभा में मुख्यमंत्री ने कम्प्यूटर का बटन दबाकर जिले के किसानों के खाते में धान बोनस का 29.35 करोड़ रूपए ट्रान्सफर किया। 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विकास यात्रा के दौरान वाणिज्यिक कर एवं उद्योग मंत्री तथा कोरबा जिले के प्रभारी श्री अमर अग्रवाल, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, लोकसभा सांसद डॉ. बंशीलाल महतो, संसदीय सचिव एवं स्थानीय विधायक श्री लखनलाल देवांगन, पूर्व गृह मंत्री श्री ननकीराम कंवर, राज्य गृह निर्माण मण्डल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सवन्नी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री देवीसिंह टेकाम, विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष श्री नारायण चन्देल, पूर्व महापौर श्री जोगेश लाम्बा सहित जनप्रतिनिधि गण, संभाग आयुक्त बिलासपुर टी.सी.महावर, मुख्यमंत्री के विशेष सचिव मुकेश बंशल, आयुक्त जनसंपर्क राजेश सुकुमार टोप्पो, कलेक्टर मो.कैसर अब्दुल हक, पुलिस अधीक्षक मयंक श्रीवास्तव और जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी गण उपस्थित थे।
 

No image

आईएएस बनने के लिए भोपाल में रह कर यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रही कोरबा की छात्रा से रेप का मामला सामने आया है। आरोपी ने छात्रा को पहले शादी का झांसा दिया और होटल के कमरे में बुलाकर उसके साथ संबंध बनाता रहा। इतना ही नहीं आरोपी ने उस दौरान छात्रा का एमएमएस भी बना लिया। जब छात्रा ने शादी की बात युवक से की तो युवक गाली गलौच पर उतर आया और छात्रा को ब्लैकमेल करने लगा।

जानकारी के अनुसार 27 वर्षीय छात्रा इंद्रपुरी स्थित एक गल्र्स हॉस्टल में रहती है। वह कोरबा छत्तीसगढ़ की रहने वाली है और पिछले नौ साल से भोपाल में रह रही है। पढ़ाई पूरी करने के बाद वर्तमान में वह प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयार कर रही है। पीडि़ता ने पुलिस को बताया कि करीब 2 साल पहले उसकी दोस्ती हॉस्टल के सामने रहने वाले ऋ षभ साहू से हुई थी। ऋ षभ होशंगाबाद रोड स्थित एक शापिंग मॉल में काम करता है। दोनों की दोस्ती कुछ  ही दिनों में प्रेम में बदल गई और वे एक साथ-घूमने फि रने लगे।

एमपी नगर पुलिस के मुताबिक पिछले साल 1 मई 2017 को ऋ षभ साहू युवती को लेकर एमपी नगर स्थित एक होटल पहुंचा। यहां उसने शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद से वह लगातार उसका शारीरिक शोषण कर रहा था। युवती जब उससे शादी की बात करती तो वह टाल देता था। पिछले महीने युवती ने ऋ षभ पर शादी के लिए दबाव बनाया तो उसने गाली-गलौच कर दी। इसकी शिकायत पीडि़ता ने पिपलानी पुलिस से की थी। इसके बाद भी जब वह शादी के लिए तैयार नहीं हुआ तो पीडि़ता ने एमपी नगर थाने पहुंचकर आरोपी के खिलाफ  दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज करा दिया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ  मामला दर्ज कर लिया है और जल्द ही उसे पकडऩे की बात कर रही है।
 

No image

राज्य सरकार नक्सल समस्या से निपटने में पूरी तरह से नाकाम है। बस्तर में लगातार हो रहे मुठभेड़, हत्या, ब्लास्ट इस बात का प्रमाण है। राज्य सरकार हर बार नक्सलियों से आरपार की लड़ाई का दावा करती है, लेकिन ऐसा कुछ आज तक नहीं हो पाया है, परिणाम स्वरूप निर्दोष बस्तरवासियों की हत्या के साथ ही सुरक्षा बल के जवानों की शहादत नहीं रूक रही है। 

कांग्रेस भवन में आज पत्रकारों से चर्चा करते हुए पीसीसी चीफ भूपेश बघेल ने कहा कि बस्तर में जवानों के लगातार हो रही मौतों पर कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया जताते हुए कहा कि राज्य के मुखिया और केन्द्रीय गृहमंत्री कब तक लोगों की आंखों में धूल झोंकते रहेंगे। जवानों की लगातार शहादत के बाद भी राज्य सरकार ने नक्सलवाद के खिलाफ कोई ठोस कदम नहीं उठाया है, जिसका खामियाजा बस्तर में तैनात जवानों को अपनी जान देकर चुकानी पड़ रही है। श्री बघेल ने जवानों की मौतों पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य सरकार नक्सलवाद से निपटने में बुरी तरह से नाकाम साबित हुई है। उन्होंने कहा कि नक्सलियों द्वारा निर्दोषों की हत्या किया जाना कायरना हरकत है। इधर श्री बघेल ने कहा कि राज्य सरकार विकास यात्रा निकालकर जनता के पैसों पर पार्टी का चुनाव प्रचार कर रहे हैं, सीएम को यात्रा छोड़कर अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए। श्री बघेल ने कहा कि प्रदेश की जनता ने प्रशासन चलाने, जनता के जानमाल की रक्षा के लिए, कानून व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए सरकार चुना है, लेकिन राज्य सरकार के मुखिया को अपना और अपनी पार्टी का प्रचार करने से फुर्सत ही नहीं है कि वे राज्य के गंभीर समस्याओं को देख सकें।

बस्तर में लगातार हो रहे नक्सली हमले को गंभीरता से लेते हुए उन्हें तत्काल यात्रा बंद कर देना चाहिए। पीसीसी चीफ ने कहा कि राज्य सरकार हर बार नक्सल हमले के बाद एक ही बयान दोहराती है कि अब नक्सलियों से आरपार की लड़ाई होगी। चिंतलनार में वर्ष 2010 में 76 जवानों के शहीद होने, 2013 में झीरमघाटी में कांग्रेस के बड़े नेताओं सहित 30 लोगों के जनसंहार, वर्ष 2017 में 25 जवानों की शहादत और मार्च 2018 में नौ जवानों के जान गंवाने की घटना संभवत: याद नहीं है, उन्होंने और भी घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि, यदि राज्य सरकार को ये घटनाएं याद होती तो नक्सलियों के खिलाफ आरपार की लड़ाई कब की शुरू कर दी जाती। 
 

No image

छत्तीसगढ़ में कल आईईडी ब्लास्ट में 7 जवानों की शहादत के बाद आज बीजापुर जिला पुलिस ने दबिश देकर 2 महिलाओं समेत 11 नक्सलियों को गिरफ्तार करने में बड़ी कामयाबी हासिल की है, इन सबके खिलाफ जिले के अलग-अलग थानों में गंभीर अपराध दर्ज है।

बस्तर आईजी विवेकानंद सिंहा ने बताया कि सूचना मिली थी कि कुछ नक्सली कुटरू थाना क्षेत्र के दरभा गांव में एक विवाह में शामिल होने आए हैं। फौरन योजनाबद्ध तरीके से इलाके की घेराबंदी कर बस में वापसी के दौरान इन्हें दबोच लिया गया। पकड़ाए नक्सलियों मेंं दो महिलाएं एवं शेष पुरूष नक्सली हैं। 

श्री सिंहा ने बताया कि पकड़े गए नक्सलियों ने तुमला नाले के पास जवानों से भरी मिनी बस को निशाना बनाया था, जिसमें दो जवान शहीद और 7 घायल हुए थे। कुटरू थाना क्षेत्र के अंतर्गत दरभा गांव में इन नक्सलियों ने सरपंच सोमारू राम मंडावी की धारदार हथियार से हत्या कर दी थी। हथियार बंद नक्सली दरभा गांव पहुंचे थे और उन्होंने मंडावी पर कुल्हाड़ी और डंडे से हमला कर दिया था। मंडावी की हत्या करने के बाद ये नक्सली वहां से फरार हो गए थे, तभी से इन नक्सलियों की तलाश की जा रही थी।

 

No image

केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह अपने दो दिवसीय छत्तीसगढ़ प्रवास के दूसरे दिन आज यहां सेना के हेलीकाप्टर से राजधानी रायपुर पहुंचे। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह भी अंबिकापुर से उनके साथ आए। स्वामी विवेकानंद विमानतल पर मुख्य सचिव अजय सिंह, पुलिस महानिदेशक (जेल एवं होमगार्ड) गिरधारी नायक, पुलिस महानिदेशक (नक्सल ऑपरेशन) डी.एम. अवस्थी, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा, पुलिस महानिरीक्षक रायपुर प्रदीप गुप्ता, कलेक्टर ओ.पी.चौधरी और पुलिस अधीक्षक अमरेश मिश्रा ने विमानतल पर उनका आत्मीय स्वागत किया।
 

No image

राज्य की आम आदमी पार्टी ने दिल्ली तर्ज पर काम करते हुए विधानसभा चुनाव के मद्देनजर अपनी पार्टी से आज 35 प्रत्याशियों का नाम घोषित कर दिया। आप पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष का नाम रायपुर ग्रामीण के लिए चुना गया है। आम आदमी पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में आज विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी

ओर से अधिकृत 35 प्रत्याशियों के नाम घोषित कर दिया गया। इसमें प्रदेशाध्यक्ष संकेत ठाकुर का नाम रायपुर ग्रामीण विधानसभा सीट के लिए चुना गया है। इसी तरह योगेन्द्र सेन-रायपुर उत्तर, उत्तम जायसवाल-रायपुर पश्चिम, डोगेश्वर भारती-आरंग, संतोष दुबे-धरसींवा, मुन्ना बिसेन-रायपुर दक्षिण, चंद्रहास देवांगन-अकलतरा, संजय शर्मा-जांजगीर चांपा, दादूराम मनहर-जैजैपुर, भानु प्रकाश चंद्रा-चंद्रपुर, हरीश चंदेल-कोटा, जसबीर सिंह-बिल्हा, लक्ष्मी प्रसाद टंडन-मस्तुरी, रोहित सिंह आर्या-जगदलपुर, दंती पोयाम-चित्रकोट, रामदेव बघेल-कोंटा, जगमोहन बघेल-बस्तर, कोमल हुपेंडी-भानुप्रतापपुर, पूजा गावड़े-डौंडी-लोहारा, संतराम सिंह सलाम-अंतागढ़, संतोष चंद्राकर-खल्लारी, प्रभाकर ग्वाल-सराईपाली, सोहन लाल कंवर-सामरी, साकेत त्रिपाटी-अंबिकापुर, अशोक कुमार तिर्की-सीतापुर, सुग्रीव राम-रामानुजगंज, कृष्ण कुमार अग्रवाल-दुर्ग, इशु चंदाने-डोंगरगढ़, अनूप अग्रवाल-कोरबा, सुभाष चौहान-सारंगढ़ तथा अमर अग्रवाल का नाम खरसिया विधानसभा सीट के लिए घोषित किया गया है। 
 

No image

पहली पत्नी की हत्या के बाद कोरबा में एक व्यक्ति ने सोमवार को अपनी दूसरी पत्नी की भी हत्या कर दी। मिली जानकारी के मुताबिक पैसे को लेकर विवाद हुआ था, उसके बाद आरोपी ने अपनी पत्नी टिकेतीन बाई समेत घर में मौजूद दो अन्य महिलाओं पर भी लोहे के औजार से हमला कर दिया।

इस वारदात में दो महिलाओं की घटना स्थल पर ही मौत हो गई, जबकि एक महिला गंभीर रूप से घायल है। मरने वालों में आरोपी की दूसरी पत्नी टिकेतीन बाई भी शामिल है।

पुलिस के मुताबिक यह वारदात जिले के पाली पुलिस थाना क्षेत्र के पाली गांजा नाले के पास हुई है। पुलिस ने बताया कि आरोपी ने अपनी पहली पत्नी की भी हत्या कर दी थी, इस मामले में उसे जेल भी हुई थी। तब दूसरी पत्नी ने किसी तरह पैसों की व्यवस्था करके उसे जमानत पर रिहा कराया।

जब हत्यारा पति घर आया तो मुकदमे और जमानत पर खर्च हुए पैसों को लेकर विवाद करने लगा और गुस्से में आकर दूसरी पत्नी और मौसी सास को भी मौत के घाट उतार दिया। इस हमले में हत्यारे की नानी सास भी गंभीर घायल हुई है, जिसे अस्पताल में इलाज में लिए भर्ती कराया गया। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

No image

 केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि माओवादी विकास के सबसे बड़े दुश्मन हैं। नक्सली दूरस्थ इलाकों का विकास ये नही चाहते हैं। माओवादी चाहते है कि गांवों में रहने वाली आदिवासी जनता जिंदगीभर गरीबी झेलते हुए विकास से दूर रहे।

उन्होंने कहा माओवादी संगठनों के बड़े नेता बड़े शहरों में आलीशान बंगलों में रहकर सुख सुविधा की जिंदगी जी रहे है। उनके बच्चे नामी विश्वविद्यालयों और स्कूलों में पढ़ाई कर रहे है। ऐसे माओवादी नेताओं के खिलाफ भी सरकार सख्त कार्रवाई करेगी। उन्हें दुनिया की कोई ताकत नही बचा सकती।

सोमवार को केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह सीआरपीएफ के इस बस्तरिया बटालियन के पहले बैच के पासिंग आउट कार्यक्रम में शामिल हुए। मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बस्तरिया बटालियन न सिर्फ छत्तीसगढ़ बल्कि पूरे देश में अपनी सेवाएं देगी। गृहमंत्री ने कहा कि प्रदेश का जो इलाका बिजली, सड़क जैसी दूसरी सुविधाओं से महरूम है, उसके लिए राज्य सरकार नही, माओवादी जिम्मेदार है।

बस्तरिया बटालियन के जवानों की हौसला अफजाई करते हुए उन्होंने कहा कि इन बेटे बेटियों ने यह साबित कर दिया है कि योग्यताएं सिर्फ शहरों की अट्टालिकाओं से नही, बस्तर जैसे दूरस्थ इलाकों से भी निकलती है।

No image

दंतेवाड़ा के चोलनार में नक्सलियों द्वारा सर्चिंग पर निकले छत्तीसगढ़ पुलिस के जवानों पर ब्लास्ट कर हमला करने से विकासखण्ड चारामा के ग्राम चिनौरी के माटी पुत्र सालिक राम सिन्हा शहीद हो गए। शहीद सालिकराम का 20 मई को जन्म दिन था। बावजूद वे छुट्टी लेकर जन्म दिन मनाने के बजाए नक्सलियों से मुकाबला करने अपने साथियों के साथ निकले थे।

उनके परिवार व दोस्तों ने जन्मदिन की शुभकामनाएं सुबह ही दिए थे।31 मई 2014 को सहायक आरक्षक के पद पर पदस्थ हुआ सालिक राम अपने पीछे पत्नी पर्वती सिन्हा और दो बच्चे बलराम सिन्हा व तामेश्वर सिन्हा को छा़ेड गए।

उनके शहीद होने की खबर लगते ही पुरे ग्राम चिनौरी सहित पूरे विकासखण्ड में शोक की लहर दौड़ गई। परिजनों, बच्चों को यह खबर लगते ही उनके चीखे शुरू हो गई। पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है। ग्रामीणों को सालिक राम के शव के आने का इंतजार हैं।

शहीद सालिकराम ने पांचवीं-आठवीं की शिक्षा ग्राम के स्कूल में तथा हाईस्कूल की पढ़ाई गीदम से की। शहीद के बड़े भाई रत्तीराम सिन्हा ने बताया कि भाइयों में वह सबसे छोटा था। चार-पांच वर्ष पूर्व ही सीएफ कम्पनी में भर्ती हुए थे, इसके पूर्व वे नगर सैनिक थे।

सीएफ में पहली पोस्टिंग किरंदुल में हुआ था। घटना की खबर देने चारामा थाना प्रभारी बृजेश कुशवाह घर पहुंचे थे। परिवार को संत्वना देते हुए उन्होंने बताया कि सोमवार को पूरे सम्मान के साथ उनका शव ग्राम चिनौरी लाया जाएगा, जहां उनका अंतिम संस्कार होगा। विदित हो कि तीन मई को ही नक्सलियों के ब्लॉस्ट में विकासखण्ड के ग्राम डोड़कावाही निवासी लेखराम बघेल शहीद हुए थे।

No image

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने राज्य के दंतेवाड़ा जिले में नक्सलियों की ओर से बारूदी सुरंग विस्फोटक में जिला पुलिस बल के 6 जवानों की शहादत पर गहरा दुख प्रकट किया। डॉ. रमन सिंह ने इन शहीदों के परिवारों प्रति संवेदना प्रकट करते हुए नक्सल वारदात की तीव्र निंदा की है। उन्होंने घायल जवानों के जल्द स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हुए संबंधित अधिकारियों को उनका बेहतर से बेहतर इलाज करवाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हमारे जिला पुलिस बल के जवानों ने सडक़ निर्माण में सुरक्षा देने के लिए कर्तव्य पालन करते हुए अपने प्राणों की आहुति दी है। उनकी यह शहादत हमेशा याद रखी जाएगी।’’ 

छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल और जिला पुलिस बल के जवान चोलनार से किरंदुल के बीच सडक़ निर्माण कार्य की सुरक्षा के लिए डूयटी पर निकले थे, तभी उनका वाहन नक्सलियों की ओर से लगाए गए आईईडी विस्फोटक की चपेट में आ गया। इससे पांच जवान घटनास्थल पर ही शहीद हो गए, जबकि दो घायल जवानों को तत्काल किरंदुल स्थित एनएमडीसी के अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान एक जवान का दम टूट गया। शहीदों में छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के तीन और जिला पुलिस बल के तीन जवान शामिल हैं।

No image

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में रविवार 12 बजे नक्सलियों ने आईईडी में विस्फोट कर दिया। इस हमले में छह जवान शहीद हो गए, जबकि दो जवान गंभीर रूप से घायल हुए हैं। आईजी बस्तर विवेकानंद सिन्हा ने घटना की पुष्टि की है। आईजी सिन्हा ने कहा, ‘‘दंतेवाड़ा जिले के किंरदुल थाना क्षेत्र के चोलनार के पास नक्सलियों ने आईईडी में विस्फोट किया। इसकी चपेट में जीप सवार जिला पुलिस के सात जवान आ गए। इनमें से पांच जवान मौके पर ही शहीद हो गए, वहीं दो जवान गंभीर रूप से घायल हुए हैं।’’


सूत्रों के मुताबिक इस इलाके में नक्सली हमले को लेकर पहले से ही खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट जारी किया हुआ था। गौरतलब है कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह रविवार को छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर का दौरा करने जा रहे हैं। वे नक्सलियों से निपटने के लिए बहुप्रतीक्षित बस्तरिया बटालियन को सीआरपीएम में शामिल कराने के कार्यक्रम में भाग लेंगे। हालांकि उनके आने से पहले हुए इस हमले के बाद सुरक्षा बलों को अलर्ट कर दिया गया है। 


उन्होंने कहा, ‘‘घटना की सूचना मिलने पर तत्काल पुलिस बल को घटना स्थल की ओर रवाना किया गया है। इलाके में अलर्ट जारी कर दिया गया है और गश्त तेज कर दी गई है। अलग-अलग थाना क्षेत्रों से पुलिस की टीमें तलाशी के लिए रवाना की गई है। शहीद जवानों के शवों को वाहन से निकालने का प्रयास किया जा रहा है। घायल जवानों को बेहतर इलाज के लिए रायपुर लाया जा रहा है।’’

आईजी सिन्हा ने कहा कि किरंदुल से चोलनार के बीच सडक़ निर्माण कार्य चल रहा है। निर्माण कार्य का अवलोकन और सुरक्षा देने पुलिस की टीम रवाना हुई थी। वाहन के पुल के करीब पहुंचते ही नक्सलियों ने आईईडी में विस्फोट कर दिया। विस्फोट इतना तेज था कि वाहन के परखच्चे उड़ गए। 
 

No image

 अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल गांधी के रायपुर में आयोजित कार्यक्रम स्वराज सम्मेलन और रोड शो कार्यक्रमों में जिले के कांग्रेसजन बड़ी संख्या में सम्मिलित हुए। 17 मई को बलबीर जुनेजा इंडोर स्टेडियम में और 18 मई को रोड शो के दौरान व्हीआईपी चौक में कांग्रेसजनों ने राहुल का आलोक चन्द्राकर के नेतृत्व में स्वागत किया।

उक्त अवसर पर पूर्व मंत्री राजा देवेंद्र बहादुर, विधायकगण अग्नि चंद्राकर, मकसूदन चंद्राकर, जिलाध्यक्ष आलोक चंद्राकर, प्रभारी महामंत्री हरदेव सिंह ढिल्लो, प्रदेश महामंत्री पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ राजेन्द्र चंद्राकर, लघु वनोपज संघ जिलाध्यक्ष विनोद चंद्राकर, ब्लॉक अध्यक्षगण जसबीर सिंह ढिल्लो, अंकित बागबाहरा, हुलास गिरि गोस्वामी, जनपद सदस्य तेजन चंद्राकर, जिला महामंत्री संजय शर्मा, पूर्व जनपद अध्यक्ष बसंता ठाकुर, प्रदेश सचिव पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ छन्नू साहू, शहर महामंत्री हार्दिक सोना, जिला पंचायत सदस्य गोविन्द साहू  आदि उपस्थित थे ।
 

No image

 छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य के दंतेवाड़ा जिले में आज नक्सलियों द्वारा बारूदी सुरंग विस्फ ोट में जिला पुलिस बल के छह जवानों की शहादत पर गहरा दु:ख व्यक्त किया है। डॉ. सिंह ने इन शहीदों के परिवारों प्रति संवेदना प्रकट की है और इस नक्सल वारदात की तीव्र निंदा की है। डॉ. सिंह ने घायल जवानों के जल्द स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हुए संबंधित अधिकारियों को उनका बेहतर से बेहतर इलाज करवाने के निर्देश दिए है।

मुख्यमंत्री ने कहा- हमारे जिला पुलिस बल के जवानों ने सड़क निर्माण में सुरक्षा देने के लिए कत्र्तव्य पालन करते हुए अपने प्राणों की आहुति दी है। उनकी यह शहादत हमेशा याद रखी जाएगी। ज्ञातव्य है कि छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल और जिला पुलिस बल के जवान चोलनार से किरन्दुल के बीच सड़क निर्माण कार्य की सुरक्षा के लिए डूयटी पर निकले थे। तभी उनका वाहन नक्सलियों द्वारा लगाए गए आई.ई.डी. विस्फोटक की चपेट में आ गया। इससे पांच जवान घटना स्थल पर ही शहीद हो गए, जबकि दो घायल जवानों को तत्काल किरन्दुल स्थित एनएमडीसी के अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान एक जवान की मृृत्यु हो गयी। शहीदों में छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के तीन और जिला पुलिस बल के तीन जवान शामिल है।  मुख्यमंत्री ने कहा है कि यह नक्सलियों की कायरतापूर्ण हरकत है।

इससे यह भी साबित होता है कि नक्सली इस जिले के ग्रामीणों और आदिवासियों तक सड़क जैसी बुनियादी सुविधा भी नही पहुंचने देना चाहते। इससे उनकी जन-विरोधी और विकास विरोधी मानसिकता उजागर होती है। इसके बावजूद हमारे पुलिस बल और सड़क निर्माण से जुड़े अधिकारियों, कर्मचारियों और श्रमिकों का मनोबल बहुत ऊंचा है। दंतेवाड़ा सहित सम्पूर्ण बस्तर संभाग के सभी जिलों में जनता को बारहमासी आवागमन की सुविधा दिलाने के लिए सड़कों का जाल बिछाने हम सब वचनबद्ध है।
 

No image

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान सूरजपुर जिले के ग्राम उचडीह में विशाल आम सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा- नया सूरजपुर जिला विकास की राह पर सूरज की तरह चमकता हुआ लगातार आगे बढ़ रहा है। सूरजपुर को वर्ष 2012 में जिला बनाया गया था। मुख्यमंत्री ने कहा-जिला निर्माण के बाद इस अंचल के किसानों, मजदूरों और आदिवासियों सहित समाज के सभी जरूरतमंद वर्गो के जीवन में काफी बदलाव आया है। जिला बनने से यहां विकास की गति में तेजी आयी है। सूरजपुर प्रदेश में सबसे ज्यादा फल और फूलों का उत्पादन करने वाला जिला है। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान सूरजपुर जिले के उचडीह ग्राम में आयोजित आमसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने आम सभा में इस अंचल के वरिष्ठ आदिवासी नेता, पूर्व मंत्री, पूर्व विधायक और पूर्व संासद स्वर्गीय शिवप्रताप सिंह को विशेष रूप से याद किया और जिले के ओडग़ी स्थित शासकीय महाविद्यालय का नामकरण उनके नाम पर करने की घोषणा की। डॉ. सिंह ने शासकीय महाविद्यालय सिलफिली का नामकरण क्षेत्र के वरिष्ठ आदिवासी नेता पूर्व सांसद स्वर्गीय मुरारी लाल सिंह के नाम पर करने का भी ऐलान किया। 

डॉ. रमन सिंह ने आम सभा में सूरजपुर जिले के विकास के लिए 226 करोड़ 77 लाख रूपए की लागत के विभिन्न कार्यो का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। उन्होंने शासन की कल्याणकारी योजनाओं के अंतर्गत 21 हजार 991 हितग्राहियों को 7 करोड़ 78 लाख रूपए की सामग्री और अनुदान सहायता राशि के चेक वितरित किए। मुख्यमंत्री ने जिले के किसानों को समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के बोनस के रूप में 40 करोड़ की राशि कम्प्यूटर पर क्लिक करके किसानों के खाते में भेजी। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि आगामी चार माह में सूरजपुुर जिले सहित प्रदेश के हर घर में बिजली पहुंचेगी और सभी मजरों-टोलों का शत-प्रतिशत विद्युतीकरण होगा। 

गृह मंत्री रामसेवक पैकरा, श्रम, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री भईयालाल राजवाड़े, राज्य सभा सांसद रामविचार नेताम, पूर्व मंत्री श्रीमती रेणुका सिंह कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थी। मुख्यमंत्री ने कहा-सूरजपुर जिले में किसानों के लिए खेती किसानी के अलावा फल-फूलों के उत्पादन का व्यवसाय भी उनकी आमदानी का अतिरिक्त जरिया बन रहा है। सूरजपुर जिले में 10 हजार डबरियों में मछलीपालन और किसानों को अरहर बीज का मिनी किट देकर दलहन की खेती को प्रोत्साहन दिया जा रहा है, जो सराहनीय है। यह कार्यक्रम सूरजपुर निवासियों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने और उन्हें आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण साबित होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास यात्रा में 2400 करोड़ रूपए की बोनस राशि का वितरण किया जाएगा। इस राशि में से प्रदेश के किसानों को धान बोनस के रूप में 1700 करोड़ रूपए और वनवासियों को तेंदूपत्ता बोनस के रूप में 700 करोड़ रूपए की राशि वितरित की जाएगी। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत सूरजपुर जिले में 40 हजार रसोई गैस कनेक्शन वितरित किए गए हैं। इतने ही रसोई गैस कनेक्शन जिले में और बांटे जाएंगें। मुख्यमंत्री ने बताया कि विकास यात्रा के दौरान प्रदेश में 30 हजार करोड़ रूपए के निर्माण कार्यो का भूमिपूजन और लोकार्पण किया जाएगा। डॉ. सिंह ने मुख्यमंत्री खाद्य सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा बीमा योजना और आयुष्मान भारत योजना सहित अनेक योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सूचना क्रांति योजना के अंतर्गत प्रदेश में 55 लाख लोगों को स्मार्ट फोन नि:शुल्क बांटे जाएंगें।    

मुख्यमंत्री ने सूरजपुर में लगभग 113 करोड़ रूपए के निर्माण कार्यो का लोकार्पण और लगभग 114 करोड़ रूपए के निर्माण कार्यो का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने उंचडीह की आम सभा में तहसील मुख्यालय भैयाथान के लिए 8 करोड़ 24 लाख से निर्मित एम.सी.एच. (जच्चा-बच्चा प्रसूति) केन्द्र भवन, सूरजपुर के लिए 70 लाख रूपए की लागत से निर्मित नवीन जिला परिवहन कार्यालय भवन, शासकीय पॉलिटेक्निक में एक करोड़ 92 लाख रूपए की लागत से निर्मित छात्रावास भवन सहित अधीक्षक आवास और प्रेमनगर विकासखंड के लिए 32 लाख की लागत की मेडिकल मोबाईल यूनिट का लोकार्पण किया। उन्होंने जिन कार्यो का भूमिपूजन और शिलान्यास किया, उनमें 14 करोड़ 57 लाख रूपए की लागत से सूरजपुर में बनने वाले 250-250 सीटों के अनुसूचित जनजाति छात्रावास भवन भी शामिल हैं। इनमें से एक भवन छात्रों के लिए और दूसरा भवन छात्राओं के लिए होगा। उन्होंने एक करोड़ 31 लाख रूपए की लागत से लाईवलीहुड कॉलेज में बनने वाले 50 सीटर बालक छात्रावास भवन और एक करोड़ 77 लाख रूपए की लागत से बनने वाले बालिका छात्रावास भवन का भी शिलान्यास किया। इसके अलावा उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 31 करोड़ की लागत से गरीब परिवार के लोगों के लिए बनने वाले मकानों का और कई ग्रामीण सड़को का भी भूमिपूजन किया। 

No image

लम्बे इन्तजार के बाद केन्द्रीय रिजर्व पुलिस की बस्तरिया बटालियन छत्तीसगढ़ में नक्सल विरोधी अभियान के लिए अब तैयार है, प्रदेश के अंबिकापुर में 21 मई को पासिंग आउट परेड के तुरंत बाद इन बस्तरिया जवानो को बस्तर डिवीजन में नक्सल रोधी अभियान के लिए तैनात किया जाएगा, सीआरपीएफ़  की यह 141 वीं बटालियन होगी जिसका उपनाम बस्तरिया बटालियन रखा गया है, देश के केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह लुंड्रा के केपी गाँव में आयोजित बटालियन के पासिंग आउट परेड की सलामी सोमवार की सुबह लेंगे जिसके बाद अधिकृत रूप से बस्तरिया बटालियन को सक्रीय किया जाएगा, ख़ास बात यह भी है की महिलाओं के प्रतिनिधित्व को पर्याप्त स्थान देते हुए इस बटालियन की संरचना में सरकार की 33 प्रतिशत आरक्षण नीति के अनुरूप रखी गई है,

जानकारी के मुताबिक़ केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह 20 मई को दोपहर 2 बजे सतना हवाई पट्टी से बी.एस.एफ. के हेलीकॉप्टर द्वारा प्रस्थान कर दोपहर बाद 3.30 बजे अंबिकापुर के पीजी कालेज ग्राउंड पहुंचेंगे और 3.45 बजे अंबिकापुर के सर्किट हाऊस पहुंचेंगे। इसी तरह श्री सिंह सायं 7 बजे से 9 बजे तक सी.आर.पी.एफ. की 62 वीं बटालियन के मुख्यालय परिसर पहुंचकर अधिकारियों और जवनों से मुलाकात करेंगे जहां अधिकारी और जवानो के साथ राजनाथ सिंह रात का भोजन भी करेंगे।  केन्द्रीय गृहमंत्री रात्री विश्राम अंबिकापुर के उच्च विश्रामगृह में करेंगे। इसी तरह तय कार्यक्रम के तहत 21 मई सोमवार को सुबह 9.05 बजे सरगुजा जिला अंतर्गत आने वाले लुण्ड्रा जनपद के केपी ग्राम में स्थित केन्द्रीय रिर्जव पुलिस बल के ट्रेनिंग सेंटर में आयोजित पासिंग आऊट परेड की सलामी भी लेंगे। इसके बाद श्री सिंह प्रात: 10.20 बजे 62 वीं बटालियन से प्रस्थान कर प्रात: 10.40 बजे रायपुर के लिए प्रस्थान करेंगे। 

सीआरपीएफ के मापदंडो में छूट के बाद गठित हुई बस्तरिया बटालियन
बस्तरिया बटालियन में नारायणपुर, सुकमा, बीजापुर और दंतेवाडा के प्रतिभागियों को अवसर मिला है, और यह अवसर इसलिए भी ख़ास है क्योकी सीआरपी?फ़ के मापदंडो में छूट देते हुए प्रतिभागियों को चयनित किया गया और कड़ी ट्रेनिंग के बाद अब बटालियन मोर्चा सम्हालने को तैयार है। जनसंपर्क अधिकारी

महानिदेशालय केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के  अधिकृत पत्र के मुताबिक़ बटालियन के नफरी 443 हैं फिर भी पहले चरण में अक्टूबर 2016 के मध्य से जनवरी के अंत तक के.रि.पु. बल द्वारा बस्तर क्षेत्र में विशेष भर्ती अभियान चलाकर 739 अभ्यर्थियों का चयन किया गया था जिसमे अंतत: 189 महिला सहित 534 पुरुष रिकुटों को ए.टी.सी.बिलासपुर और ए.टी.सी.अंबिकापुर में 44 सप्ताह का विशेष और कडा प्रशिक्षण दिया गया, जिसके बाद यह बटालियन तैयार हो सकी है। 

कड़ी ट्रेनिंग के दौर से गुजरे जवान नक्सलियों से लेंगे लोहामहिलाओं की सहभागिता के साथ ही पुरुषो के साथ यह पूरी बटालियन नक्सल मोर्चे पर उनके गढ़ में घुस कर नक्सलियों से दो-दो हाथ करने को तैयार है, बस इंतजार है केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के आगमन और सलामी का।  बतादें की प्रशिक्षण में गोरिल्ला युद्ध, छद्म एवं स्वल्पाहार रहकर लडऩा और जंगल युद्ध की सभी तकनीक से लेस यह बटालियन पासिंग आउट परेड के बाद छातीसगढ़ के नक्सली क्षेत्रों में केद्रीय रिजर्व पुलिस बल की सामान्य ड्यूटी बटालियन एवं कोबरा बटालियन के साथ लडऩे के लिए तैनात किये जायेंगे। 

क्षेत्र और नक्सलियों की रणनीति से वाकिफ होने का मिलेगा फायदागौरतलब है की गत वर्ष अप्रैल की शुरुवात में बस्तरिया बटालियन अस्तित्व में आया जिसको बस्तर क्षेत्र में के.रि.पु. के लडाको के साथ स्थानीय प्रतिनिधित्व को बढाने के लिए बनाया गया है, बटालियन की ख़ास बात यह भी है की स्थानीय प्रतिनिधित्व को बढ़ावा देनें के साथ ही रोजगार से जोडऩा भी था लेकिन सबसे ख़ास यह है की स्थानीय लोगों को नक्सल प्रभावित बस्तर इलाके और नक्सली गतिविधियों की गहरी जानकारी होने की वजह से बटालियन में स्थानीय युवाओ को प्राथमिकता दी गई है और यही कारण है की सीआरपीएफ  के मापदंडो में शारीरिक मानकों में छूट के साथ बल को तैयार किया गया है।  वही यह उम्मीद जताई जा रही है की इस आश्चर्य जनक और महत्वपूर्ण छूट का प्रयोग यदि कारगर साबित हो गया तो आने वाले समय में सीआरपीएफ़  की भारतियों में कम से कम शारीरिक मानको में छूट की संभावना या कहें तो छूट की कमी बढ़ जायेगी।
 

No image

रायपुर. 8वीं की पढ़ाई के दौरान 1962 में चीन पर एक गीत लिखा जिसका शीर्षक है 'हिंदुस्तान हमारा है' यह गीत स्कूल की मैगजीन में छपी। इससे उस बालिका को पूरे स्कूल में पहचान मिल गई। यहीं से शुरू हुआ लेखन का सिलसिला, जो आज तक नहीं थमा। हिंदी, संस्कृत और छत्तीसगढ़ी में रचनाएं लिखने वाली शकुंतला की अब तक सत्रह किताबें छप चुकी हैं। जल्द ही छत्तीसगढ़ी छंद की एक किताब प्रकाशित हो रही है। भिलाई की कवयित्री शकुंतला शर्मा शुक्रवार को एक कार्यक्रम में शामिल होने राजधानी पहुंची। प्रस्तुत है बातचीत के अंश:


कविता की शुरुआत बचपन से ही हो गई। जब मैं अ अनार का भी नहीं जानती थी। मेरी नानी रंभा देवी तिवारी ने मुझे सिखाया कि कविता की रचना किस तरह होती है। जब मैं तीन-चार बरस की थी, तो नानी कविता की पहली लाइन बोलती थीं और फिर दूसरी पंक्ति मेरे लिए होती थी, जिसे मुझे पूरा करना होता था।

आपकी पांच महत्वपूर्ण कृतियां
1. भारत स्वाभिमान
2. रघुवंश
3. कुमार सम्भव - छत्तीसगढी महाकाव्य
4. करगा - छत्तीसगढी लघुकथा
5. चाणक्य नीति का छत्तीसगढ़ी और हिंदी में पद्यानुवाद ।


अच्छे लेखन के लिए सही सोच, उज्जवल भाव, उपयुक्त शब्द चयन और सटीक संदेश आवश्यक है। जनमानस को राह दिखाना, लेखक और कवि का पहला धर्म है। इसका निर्वाह बहुत जरूरी है। लेखक अपना दायित्व भूल गया है और प्रजा भटक गई है। अच्छे लेखन के लिए और कथ्य को रोचक बनाने के लिए, मैं आजकल छंद में लिख रही हूं। बचपन में हमने कबीर सूर और तुलसी को पढ़ा उनके छंद हमें आज भी याद हैं। हमने सोचा, हम भी छंद में लिखें और हम हर जगह छंद में लिख रहे हैं - ब्लॉग में, फेसबुक में और वाट्सएप में भी। मैं तो अक्सर कमेण्ट्स भी छंद में करती हूं। छंद का हमारा एक ग्रुप है, जिसका नाम है 'छंद के छ'।

No image

 दंतेवाड़ा के पास चोलनार गांव में नक्सलियों ने पुलिस की गाड़ी को आईईडी ब्लास्ट के जरिये उड़ा दिया. इस हमले में 6 जवान शहीद हो गए हैं. हमले में 1 जवान के घायल होने की खबर है. घायल जवान को इलाज के लिये रायपुर रेफर किया गया है. घटनास्थल पर राहत और बचाव कार्य शुरू हो गया है. बताया जा रहा है कि थाने से निकलकर जवान एक गाड़ी पर सवार हो कर रोड निर्माण कार्य में सुरक्षा देने जा रहे थे.थाने से कुछ ही दूरी पर एक पुलिया पर नक्सलियों ने आईईडी लगाया था.जैसे ही गाड़ी आईईडी के करीब पहुंची नक्सलियों ने विस्फोट कर उसे उड़ा दिया.गाड़ी के परखच्चे उड़ गए. घटना की पुष्टि करते हुए आईजी विवेकानंद सिन्हा ने बताया है कि पुलिस पार्टी मौके पर पहुंची गयी है.नक्सलियों ने सुरक्षाबलों से दो AK47 और 2 एसएलआर ऑटोमेटिक हथियार लूट भी लूट लिये हैं. कहा जा रहा है कि सुरक्षाबलों ने वाहन पर सवार होकर अंदरूनी इलाकों में जाने की गलती की. जिसका खामियाजा भुगतना पड़ा है. 
 

 

No image

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि जब गरीबों के लिए भरपेट भोजन, स्वाभिमान के साथ इलाज और उनके बच्चों के लिए शिक्षा की व्यवस्था होती है, तब सही मायने में विकास होता है। राज्य सरकार ने गरीबों की इन बुनियादी जरूरतों के लिए पुख्ता इंतजाम सफलतापूर्वक किए हैं। राज्य शासन की योजनाओं से गरीबों के जीवन में सकारात्मक बदलाव आ रहा है। डॉ. सिंह ने आज कोरबा जिले के विकासखण्ड मुख्यालय करतला में प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आयोजित आम सभा को संबोधित करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए। मुख्यमंत्री ने कहा - मैं किसानों को धान बोनस की 1700 करोड़ रूपए की राशि और सूखा राहत मद की राशि के वितरण के लिए विकास यात्रा पर निकला हूं। आज कोरबा जिले के किसानों को 28 करोड़ रूपए के धान बोनस की राशि का वितरण होगा। इनमें करतला क्षेत्र के किसान भी शामिल हैं। 
    मुख्यमंत्री ने करतला की आम सभा में लगभग 184 करोड़ रूपए की लागत के विभिन्न विकास कार्याें का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उन्होंने इनमें से लगभग 16 करोड़ 76 लाख रूपये लागत के 17 विभिन्न कार्यों का लोकार्पण और 167 करोड़ 14 लाख रूपये लागत के 75 कार्यों का शिलान्यास और भूमिपूजन किया। इस अवसर पर नगरीय विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल, लोकसभा सांसद डॉ. बंशीलाल महतो, विधायक श्री लखनलाल देवांगन और पूर्व गृहमंत्री श्री ननकीराम कंवर विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे।
    मुख्यमंत्री ने कहा- करतला क्षेत्र के गांव-गांव में सड़कों का जाल बिछाया गया है। हर मजरे-टोले के सभी घरों में बिजली की रोशनी पहुंचायी जा रही है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार की भारत माला योजना के अंतर्गत बिलासपुर-धरमजयगढ़-रांची तक लगभग 1700 करोड़ रूपए की लागत से 70 किलोमीटर लम्बे 6 लेन सुपर एक्सप्रेसवे का निर्माण किया जाएगा। यह सड़क करतला क्षेत्र से भी होकर निकलेगी। उन्होंने कहा कि भारत नेट परियोजना के अंतर्गत गांव-गांव में इंटरनेट कनेक्टिविटी देने के लिए 3400 किलोमीटर आप्टिकल फाइबर केबल बिछाया जा रहा है। आने वाले तीन महीनों में महाविद्यालयों के सभी विद्यार्थियों सहित 55 लाख लोगों को मुफ्त स्मार्ट फोन वितरित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि करतला क्षेत्र में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत डेढ़ लाख रूपए की लागत के आठ हजार मकानों का निर्माण हो चुका है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में गरीब परिवारों की 40 हजार महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन दिए गए हैं। आने वाले समय में इस क्षेत्र में इतने ही कनेक्शन और दिए जाएंगे। उन्हांेने कहा कि राज्य सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की व्यवस्था की गई है। किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर कृषि ऋण दिया जा रहा है। तेन्दूपत्ता संग्रहण की दर बढ़ाकर 2500 रूपए प्रति मानक बोरा कर दी गई है। 

 

No image

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के सुप्रीमो अजीत जोगी की प्रस्तावित सभा स्थल को निरस्त करने से कार्यकर्ता भड़क गए हैं। पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की शुक्रवार को पार्टी कार्यालय में बैठक हुई। जिसमें लोकसभा प्रभारी ज्ञानेन्द्र उपाध्याय की उपस्थिति में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम का विरोध करने व काला झंडा दिखाने का निर्णय लिया गया।

 लोकसभा प्रभारी उपाध्याय ने कहा है कि भाजपा के लोग अच्छी तरह जानते हैं कि 19 तारीख को प्रस्ताव मुख्यमंत्री की सभा के दूसरे दिन 20 मई को उसी मैदान में अजीत जोगी की सभा होती तो उसकी पूरे प्रदेश में चर्चा होगी। रायपुर व पेण्ड्रा में उमड़ी भीड़ से सभी घबराए हुए है। इसी वजह से 15 दिन पहले से आरक्षित

घंटाघर मैदान के आरक्षण को निरस्त कर दिया गया। जोगी की सभा में लोगों को ले जाने बुक किए गए लगभग 100 बसों को मुख्यमंत्री की सभा के लिए रोक लिया गया है। जनता कांग्रेस मुख्यमंत्री को काला झंडा दिखाएगी। बैठक में जिलाध्यक्ष शिव अग्रवाल अर्चना उपाध्याय, पवन अग्रवाल, दीपनारायण सोनी, सगुना बरमन, राकेश विश्वकर्मा, वैभव शर्मा, विशाल शुक्ला, नंदलाल साहू, रामकुमार ठाकुर, भरत साहू, विन्नी राव, दीपक वर्मा, आशीष गुप्ता, मनसूर शेख, मोहसीन अली समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे। 
 

No image

छ ग के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह की विकास यात्रा 23 मई को धमतरी मे प्रवेश करेगी। यह यात्रा ग्राम श्यामतराई से जिले मे प्रवेश करेगी तथा अम्बेडकर चौक से रोड शो के रुप मे रत्नाबांधा चौक घड़ी चौक सिहावा चौक जालमपुर नहर नाका चौक होते हुये विंध्यवासिनी मन्दिर पहुचेगी वहां से सभास्थल श्री विष्णु हिरवानी एकलव्य खेल परिसर पहुंच कर विशाल जनसभा मे परिणित होगी। भारतीय जनता पार्टी जिला धमतरी इस यात्रा को भव्यता प्रदान करने युद्ध स्तर पर तैयारियों में जुटा हुआ है। समस्त प्रमुख पदाधिकारियों के मध्य कार्य विभाजन कर दिया गया है। जिलाध्यक्ष रामु रोहरा को इस यात्रा हेतु धमतरी विधानसभा प्रभारी नियुक्त किया गया है। श्री श्रवण मरकाम एवं श्रीमती पिंकी शिवराज शाह को सिहावा विधानसभा का प्रभारी बनाया गया है।

सिहावा में यात्रा का कार्यक्रम 6 जून का तय किया गया है। जिला समन्वयक प्रभारी निरंजन सिन्हा को बनाया गया है। सजावट प्रभारी का जिम्मा विजय साहु शिवदत्त उपाध्यय राजीव सिन्हा एवं निलेश लुनिया संभाल रहे हैं। मीडिया प्रभार कविन्द्र जैन एवं अमृत साहु देख रहे हैं। सोशल मीडिया की जिम्मेदारी अविनाश दुबे को दी गयी है। पत्रकार वार्ता प्रमुख कविन्द्र जैन होंगे। वाहन प्रभारी शशी पवार एवं शिवदत्त उपाध्याय को बनाया गया है। मंच प्रभारी कालिदास सिन्हा एवं दिलीप पटेल होंगे। आवास प्रभारी प्रकाश गोलछा एवं चेतन हिंदुजा को बनाया गया है। भूमि पूजन एवं लोकार्पण कार्यक्रम के व्यवस्था प्रभारी श्रीमती अर्चना चौबे एवं श्रीमती रंजना साहु होंगे।

प्रमुख व्यक्तियों से सम्पर्क प्रभार कालिदास सिन्हा एवं कुंजलाल देवांगन जी के जिम्मे है। सांस्कृतिक प्रभारी निर्मल बरडिया एवं शशी पवार नियुक्त किये गये हैं। स्वच्छता प्रभारी हेमन्त बंजारे एवं पप्पू वर्मा को बनाया गया है। भोजन व्यवस्था हेतु बालाराम साहू भगत यादव तेजराम साहू नेहरु निषाद एवं वेदप्रकाश साहू को प्रभारी बनाया गया है। स्वागत व्यवस्था का जिम्मा श्रीमती हेमलता शर्मा के साथ महिला मोर्चा को दिया गया है। युवामोर्चा जिलाध्यक्ष राजीव सिन्हा महेन्द्र पण्डित हेमराज सोनी लक्की डागा एवं कीर्तन मीनपाल मोटर सायकिल रैली की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। सभी मण्डल अध्यक्ष अपने अपने मण्डलों में शक्ति केन्द्र स्तर पर बैठक कर विकास यात्रा के लिये वातावरण तैयार कर रहे हैं। शहर मण्डल अध्यक्ष शिवदत उपाध्याय ने बताया कि शहर के सभी 23 शक्ति केन्द्र मे प्रभारी नियुक्त कर बैठकों का क्रम जारी है। सभी मोर्चों की जिले और मण्डल स्तर की बैठकें सम्पन्न हो चुकी है। अलग अलग योजना बनाकर विकास यात्रा में सभी की भुमिका सुनिश्चित की जा चुकी है। जिलाध्यक्ष रामू रोहरा एवं महामंत्री द्वय कालिदास सिन्हा नागेन्द्र शुक्ला ने समस्त पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं से अपील की है इस यात्रा को सफल एवं सुव्यवस्थित बनाने एवं अपने चहेते मुख्यमंत्री के स्वागत हेतु आने वाले क्षेत्रवासियों के सत्कार हेतु अपनी पूरी उर्जा से कार्य कर यात्रा को भव्यता प्रदान करें। यह जानकारी जिला संवाद प्रमुख कविन्द्र जैन ने दी।
 

No image

विकास यात्रा पर निकले मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह लगातार कांग्रेस पर हमला बोल रहे है। कोरिया जिले के चिरमिरी में शनिवार को सुबह प्रेसवार्ता में कांग्रेस केविकास खोजो यात्रा पर तंज कसते हुए कहा कि राहुल गांधी छत्तीसगढ़ के विकास को देख कर सीख लेना चाहिए क्योंकि अमेठी में तो विकास दिखता नहीं है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस कहां पहुंची इसका आकलन वे स्वयं कर लें। राहुल गांधी के छग दौरे के दौरान दिए एक भाषण में कि उनकी

सरकार आने पर किसानों को कर्ज माफ किया जाएगा के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां-जहां चुनाव अभियान का नेतृत्व राहुल गांधी ने किया है, वहां बड़ी-बड़ी घोषणाएं उन्होंने की है, लेकिन उन सभी राज्यों में कांग्रेस की सरकार हारी है। देश में आज 22 राज्यों में भाजपा की सरकार में है। राहुल के टिकट घोषित करने पर डा. रमन सिंह ने कहा कि ये अच्छी बात है वे 15 अगस्त तक टिकट घोषित कर दें, पर हम तो समय पर ही करेंगे। 
 

No image

 छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में हुए एक भीषण सड़क हादसे में तीन लोगों की मौत हो गयी।  घटना कवर्धा के चिल्फी घाटी की है, जहां आज सुबह 50 लोगों से भरी मेटाडोर पलट गयी। सड़क हादसे में  3 लोगों की मौके पर ही मौत हो गयी,जबकि 20 यात्री गंभीर रूप से जख्मी हो गये।

मिली जानकारी के मुताबिक कवर्घा चिल्फी घाटी के करीब बरमदेव घाट में एक मेटाडोर पलट गयी। सवार यात्रियों के मुताबिक ड्राइवर नशे में धुत था और गाड़ी काफी तेज गति से चला रहा था। हालांकि कई बार उसे धीरे चलाने को भी कहा गया, पर ड्राइवर अपने धुन में रहा, जिसकी वजह से अचानक आये मोड़ पर गाड़ी का बैलेंस बिगड़ गया और ये हादसा हो गया। उस मेटाडोर में आदिवासी समुदाय के लोग सवार थे, जो किसी धार्मिक कार्य से कामाडबरी से रेंगाखार खुटा टोला से लौट रहे थे। तभी अचानक चिल्फी घाटी के करीब घुमावदार बरमदेव घाट पर गाड़ी अनियंत्रित हो कर पलट गई। सवार यत्रियों में 3 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।

घटना के बाद तत्काल मौके पर चीख-पुकार मच गयी। इधर तत्काल मौके पर पहुंचे स्थानीय लोगों ने बचाव कार्य शुरू किया। वहीं चिल्फी घाटी पुलिस भी तत्काल मौके पर पहुंची और घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। 20 लोगों को गंभीरे चोटें आयी है, जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है।

No image

छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल ने पीईटी (प्री इंजीनियरिंग टेस्ट) व पीपीएचटी (प्री फार्मेंसी टेस्ट) के परिणाम जारी कर दिए हैं। पीईटी में भिलाई, दुर्ग के सात्विक बंछोर ने 150 में से 133.568 अंक अर्जित कर टॉप किया है।

दूसरे नंबर पर 128.401 अंकों के साथ डीडी नगर रायपुर के स्नेहिल और तीसरे नंबर पर 127.317 अंकों के साथ अंबिकापुर सरगुजा के प्रियांशु सिंह सोमवंशी हैं। पीपीएचटी में बालोद की जयश्री सर्वा 99.458 अंक अर्जित कर प्रथम स्थान पर हैं।

दूसरे नंबर पर 99.333 अंकों के साथ बिलासपुर के राजू और तीसरे नंबर पर 98.583 अंकों के साथ झारसुगुड़ा के अमन साहू हैं। टॉपटेन सूची, रिजल्ट जानने के लिए वेबसाइट सीजीव्यापमं डॉट च्वाइस डॉट जीओवी डॉट इन पर लागइन किया जा सकता है।

No image

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज शाम दुर्ग से रायपुर विमानतल तक लगभग 55 किलोमीटर लम्बा रोड शो किया जिस दौरान उनका जोरदार स्वागत किया गया। वहीं इसी बीच राहुल कई जगहों पर प्रोटोकॉल तोड़ते हुए भी दिखाई दिए। वह कार्यकर्ताओं से मिलने कई बार बस कांग्रेस अध्यक्ष का रोड शो उनके दुर्ग में बूथ कार्यकर्ताओं के संभागीय सम्मेलन में हिस्सा लेने के बाद दोपहर बाद लगभग तीन बजे शुरू हुआ। वह विशेष वाहन में सवार होकर निकले।

इसमें लोगो के अभिवादन के लिए लिफ्ट से ऊपर पहुंचने एवं संबोधन की भी व्यवस्था थी। इसी वाहन का उन्होने हाल ही में सम्पन्न कर्नाटक चुनाव में इस्तेमाल किया था। राहुल ने वाहन में खड़े होकर लोगो का अभिवादन स्वीकार किया। सड़क के दोनों किनारे खड़े आम लोगो ने हाथ हिलाकर जबकि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नारे लगाकर अभिवादन किया।से नीदुर्ग से लेकर रायपुर एवं विमानतल तक कई जगहों पर कांग्रेस नेताओं ने स्वागत के लिए मंच बनाए थे लेकिन सुरक्षा कारणों से वह पूर्व निर्धारित स्थानों पर ही मंचों पर पहुंचे। राहुल के साथ रोड शो में पार्टी के राज्य प्रभारी पी.एल.पुनिया के साथ ही प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल, राज्य चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष डा. चरणदास महंत एवं नेता प्रतिपक्ष टी एस सिंहदेव वरिष्ठ नेता भी थे।

रोड शो के काफिले में कांग्रेस के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं का हुजूम भी था। चे उतरे। लगभग 55 किलोमीटर के रोड शो को पूरा करने में चार घंटे से अधिक लगे। वहीं इस रोड शो के साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष का दो दिवसीय दौरा सम्पन्न हो गया। वह वीरवार सुबह रायपुर पहुंचे थे।उन्होने यहां पार्टी द्वारा आयोजित चार राज्यों के पंचायत प्रतिनिधियों के सम्मेलन को संबोधित किया उसके बाद वह सीतापुर(सरगुजा)एवं कोटमी(बिलासपुर) में आदिवासी सम्मेलनों में शामिल हुए। उन्होने आज बिलासपुर एवं दुर्ग में संभाग स्तरीय बूथ कार्यकर्ताओं के सम्मेलनों को सम्बोधित किया। 

No image

छग व्यवसायिक परीक्षा मंडल(व्यापमं) ने बीए बीएड/ बीएससी बीएड की प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन सहित परीक्षा तिथियों की घोषणा शुक्रवार को की है। मंडल की ओर से 18 मई से निर्धारित शुल्क सहित ऑनलाइन आवेदन 12 जून रात्रि 11:59 बजे तक स्वीकार किए जाएंगे।

जिसकी परीक्षा सभी पांचों संभागीय मुख्यालयों में 1 जुलाई को सुबह 10 से 12:15 बजे तक आयोजित की जाएगी। परीक्षा के पूर्व अभ्यर्थी अपने प्रवेश पत्र 25 जून से विभागीय वेबसाइट से डाउनलोड कर पाएंगे। इच्छुक अभ्यर्थी निर्धारित तिथि तक ऑनलाइन आवेदन के साथ शुल्क जमा कर परीक्षा में बैठ सकते हैं।

सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए 200 रुपये, ओबीसी के लिए 150 रुपये और अनु. जाति, जनजाति व नि:शक्तजनों के लिए 100 शुल्क निर्धारित किया गया है।इससे पहले वर्ष स्नातक डिग्री के बाद ही एडमिशन मिलता था, लेकिन इस साल से इस नियम में बदलाव किये गए हैं. इस बदलाव के तहत छात्र १२ वीं के बाद सीधे ही इसमें प्रवेश ले सकेंगे, उनका एक वर्ष जाया होने से बच जाएगा।

वर्तमान में छात्र १२वीं के बाद स्नातक की उपाधि लेकर ही बीएड में एडमिशन लेते थे, बीएड के बाद एमएड के लिए जा सकेंगे। वर्तमान पैटर्न में उन्हें बीएड करने में पांच वर्ष का समय लगता है, जिसमें स्नातक के तीन व बीएड के दो वर्ष शामिल हैं। इस बदलाव से छात्र स्नातक की डिग्री लेने से बच जाएंगे और चार वर्षों में ही वे बीएड की उपाधि प्राप्त कर सकेंगे।

बीएड के कोर्स में परवर्तन आने से स्टूडेंट्स का पूरा एक साल तो बचेगा, इतर अब स्नातक करने की भी जरुरत नहीं है, सीधे बीएड की उपाधि प्राप्त कर सकेंगे साथ ही उन्हें डिग्री के साथ साथ विषय विशेषज्ञ बनने काभी मौका मिलेगा। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार संकाय विशेष का पाठ्यक्रम भी इस कोर्स में शामिल करने की बात चल चल रही है, जिससे वे हायर सेकेंडरी यानी 12 वीं के उत्तीर्ण विषयों पर भी अध्ययन कर विशेषज्ञ बन सकेंगे।

No image

मासूम बच्ची से दुष्कर्म करने वाले को न्यायालय ने ताउम्र जेल में रहने की सजा सुनाई। अभियुक्त वृन्दा नगर छावनी भिलाई निवासी दीपक चौहान (32 वर्ष) ने 9 साल की बच्ची से दुष्कर्म किया था। दोष साबित होने पर न्यायाधीश शुभ्रा पचौरी ने उसे जीवनभर जेल में रहने की सजा दी।

इसके अलावा पॉक्सो एक्ट की धारा के तहत आजीवन कारावास और जान से मारने की धमकी देने की धारा के तहत १ वर्ष करावास की सजा सुनाई। न्यायाधीश १६ हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया। जुर्माना अदा न करने पर अभियुक्त को तीन माह अतिरिक्त कारावास में रहना होगा। सभी सजाएं साथ-साथ चलेगी।

जिले में यह पहला मामला है जिसमें अभियुक्त को ताउम्र जेल में रहना होगा। घटना वर्ष २०१६ की है। १४ मई की रात ८ बजे अभियुक्त ने ९ साल की मासूम बच्ची को बहला फुसला कर आंध्रा स्कूल के पास वंृदानगर छावनी स्थित अपने घर में ले गया। वहां उसके साथ दुष्कर्म किया। बच्ची दर्दसे रोने लगी तब मामले का पता चला। बच्ची के परिजनों ने थाना में शिकायत की।

प्रकरण का अवलोकन किया गया। प्रकरण की लगातार परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए और वर्तमान में मासूम छोटी बालिकाओं के प्रति लगातार बढ़ती लंैगिक अपराध की घटनाओं को देखते हुए आरोपी के साथ उदारता बरतना इस न्यायालय के मत में उचित प्रतीत नहीं होता।

वर्तमान प्रकरण में पीडि़ता अभियुक्त से १६ वर्ष छोटी है। उसके साथ दुष्कर्म का अपराध किया है। इसलिए विचारोपरांत आजीवन कारावास की सजा सुनाई जाती है। जिसका आशय अभियुक्त के नैसर्गिक जीवन के शेष के लिए कारावास होगा।

न्यायाधीश ने फैसले में कहा है कि पीडि़ता के साथ हुई घटना की क्षतिपूर्ति धन से नहीं की जा सकती। फिर भी शारीरिक मानसिक एव स्वास्थ्य और भविष्य को देखते हुए प्रतिकर मिलना चाहिए। अभियुक्त अगर अर्थदण्ड की राशि जमा नहीं करता है तो नियमानुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पीडि़ता को प्रतिकर दिलाए।

अतिरिक्त लोक अभियोजक कमल वर्मा ने बताया कि इस प्रकरण में नौ गवाह थे। सभी गवाहों ने घटना का समर्थन किया। इसके बाद हमने न्यायालय से अनुरोध किया कि घटना प्रमाणित है। आरोपी के खिलाफ उदारता दिखाना उचति नहीं है। जिसे न्यायालय ने स्वीकार किया और फैसला हमारे पक्ष में सुनाया।

No image

क्षेत्र में पुलिस और नक्‍सलियों के बीच मुठभेड़ की खबर है। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार इस मुठभेड़ में कई नक्‍सली मारे गए हैं हालांकि इसकी अभी अाधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।एसपी अभिषेक मीना ने इस मुठभेड़ की पुष्टि की है। मुठभेड़ का क्षेत्र तुमीरपाड़ बताया गया है। डीआरजी और एसटीएफ के दल के साथ नक्‍सलियों की मुठभेड़ हुई।

No image

राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी आज प्रदेश के दिग्गज नेताओं के साथ एक अहम बैठक में शामिल होंगे। बैठक में विधानसभा चुनाव को लेकर कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा होगी। 
कांग्रेस सूत्रों की माने तो इस बैठक में पीसीसी चीफ भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव, वरिष्ठ नेता सत्यनारायण शर्मा, डा. चरणदास महंत, ताम्रध्वज साहू, रविन्द्र चौबे, मोहम्मद अकबर, धनेन्द्र साहू सहित अन्य वरिष्ठ नेता आदि शामिल होंगे। इस बैठक के पूर्व श्री गांधी आज बिलासपुर और दुर्ग के संवाद कार्यक्रम में शामिल होंगे। इसमें हजारों की संख्या में बूथ पदाधिकारियों की उपस्थित रहेगी। इधर बैठक को लेकर कहा जा रहा है कि दुर्ग के रविशंकर स्टेडियम में आयाजित संवाद कार्यक्रम के ठीक बाद श्री गांधी

वरिष्ठ नेताओं से चर्चा करने वाले हैं। इस बैठक में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति बनेगी, इसके अलावा चुनाव को लेकर श्री गांधी कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा करेंगे और कांग्रेस नेताओं को टिप्स देंगे। यह बैठक शाम 4 से 4.30 बजे के आसपास होने की संभावना है। बैठक के तत्काल बाद वे गांधी-पटेल चौक पहुंचेंगे। यहां माल्यार्पण कार्यक्रम में शामिल होने के बाद उनका रोड शो शुरू होगा। भिलाई के डा. भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा स्थली के पास उनका काफिला रूकेगा, यहां माल्र्यापण के बाद उनका रोड शो रायपुर के लिए रवाना हो जाएगा। 

 

No image

कुआकोंडा थाना क्षेत्र के फु लपाड गांव के डुमान पारा में नक्सलियों ने एक ग्रामीण की धार-धार हथियार से गला रेतकर हत्त्या कर दी। मृतक का नाम लिंगा कुंजाम बतया जा रहा है। ज्ञात हो कि कुछ दिन पहले ही नक्सलियो ने जन अदालत लगा कर लिंगा के बेटे मुकेश कुंजाम की की थी बेदम पिटाई। बेटा मुकेश तब से गांव में नही रहता है।

मृतक ग्रामीण लिंगा कुंजाम के दोनों बेटे सोनाराम कुंजाम और मुकेश कुंजाम को साल भर पहले भी नक्सलियों ने गांव छोडऩे का फरमान सुनाया था। परिवार पर 1 लाख 50 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया था। अब कल देर रात कुआकोंडा थानाक्षेत्र में नक्सलियों ने इस खूनी खेल को अंजाम दिया। इधर गांव में वारदात के बाद सन्नाटा पसरा हुआ है। नक्सलियों के डर से लोग पीडि़त परिवार को सांत्वना देने तक नहीं पहुंच रहे हैं। फिलहाल फ ोर्स घटनास्थल तक नहीं पहुँची है।

No image

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के मेगा रोड शो को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के तगड़े इंतजाम किए हैं। वहीं यातायात विभाग ने भी रोड शो को देखते हुए कुछ मार्गों को डायवर्ट कर दिया है तो कुछ मार्गों को दोपहर 1 बजे से बंद कर दिया जाएगा। 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राहुल गांधी के मेगा रोड शो को देखते हुए यातायात विभाग ने दोपहर 01 बजे से दुर्ग की ओर से आने वाले सभी भारी वाहनों को प्रतिबंधित कर दिया है। भारी वाहनों को 01 बजे तक ही रायपुर की ओर रवाना होने दिया जाएगा। इसी तरह रायपुर से दुर्ग की ओर जाने वाले वाहनों को शाम 4 बजे से रोक दिया जा एगा। इसके अलावा मार्ग में खड़े भारी वाहनों को भी मुख्य मार्ग से हटाना शुरू कर दिया गया है। इसके अलावा वीआईपी के लिए पार्किंग स्थल स्टेडयम के पास एनसीसी कार्यालय के करीब दिया जाएगा। यहां से

वीआईपी सीधे कार्यक्रम स्थल तक पहुंच सकेंगे। धमधा-भिलाई की ओर से आने वाले वाहनों के लिए पॉलीटेक्निक कालेज में पार्किंग दिया गया है। उतई-पाटन-रूआबांधा रूट के वाहनों के लिए महिला समृद्धि बाजार के सामने मैदान में पार्किंग व्यवस्था दी गई है। दुर्ग शहर में हैवी वाहनों की आवाजाही करीब 4 घंटों के लिए बाधित होगी। दोपहर 1 बजे से शाम 7 बजे तक इन वाहनों को जगह-जगह रोक दिया जाएगा। 

 

No image

एनएमडीसी किरंदुल में हुई भर्ती में स्थानीय बेरोजगारों को नहीं लिए जाने का आरोप लगाते हुए धरने पर बैठे आदिवासी समाज के लोगों ने कल सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया। निर्धारित कार्यक्रम के तहत आदिवासी महासभा के लोग किरंदुल में चक्काजाम करने व एनएमडीसी का काम रोकने सुबह 4 से 5 बजे के बीच सड़क पर उतर गए थे। प्रदर्शन के दौरान किसी प्रकार का विवाद या उपद्रव न हो, इसके लिए पुलिस के जवान पहले से तैनात किए गए थे। एनएमडीसी कार्यालय के पास आंदोलनकारियों के पहुंचते ही पुलिस ने सभी 60 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसके बाद एनएमडीसी के सुबह 4 बजे व दोपहर की शिफ्ट के सभी कर्मचारी काम पर गए। इस आंदोलन में शामिल होने के लिए कड़मपाल, किरंदुल, दुगेली व अन्य गांव के लोग पहुंचे थे। 

भर्ती प्रक्रिया से पहले भी आदिवासी समाज के लोगों ने बचेली और किरंदुल परियोजना में आंदोलन किया था। 32 फीसदी आरक्षण स्थानीय को दिए जाने की सहमति के बाद समाज ने आंदोलन खत्म किया था। एसडीओपी धीरेंद्र पटेल ने कहा कि अभी चक्काजाम करने वाले 60 लोगों को 151 के तहत गिरफ्तार किया गया है। इसके बाद भी चक्काजाम या उपद्रव की कोशिश की गई तो आईपीसी की धारा के तहत कार्रवाई की जाएगी। 

अखिल भारतीय आदिवासी महासभा के राज्य परिषद सदस्य बईलोचन श्रीवास्तव ने कहा कि आंदोलन को कुचलने के लिए लोगों को गिरफ्तार करने से कुछ नहीं होगा। उन्होंने कहा कि एनएमडीसी में स्थानीय बेरोजगारों को पहले प्राथमिक देनी चाहिए। जब तक मांग पूरी नहीं होती तब तक आंदोलन करते रहेंगे। आदिवासी समाज के नेताओं ने कहा कि जब बाहरी लोगों को यहां पर नौकरी दी जाएगी तो स्थानीय स्तर के बेरोजगार क्या करेंगे।
 

 

No image

 पूर्व केंद्रीय मंत्री और आदिवासी नेता अरविंद नेताम की गुरुवार को कांग्रेस में वापसी हो गई। छह सालों में बदली हुई परिस्थितियों के बीच कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने दोबारा अरविंद नेताम का कांग्रेस प्रवेश करवाया है। इधर कांग्रेस प्रवेश के बाद अरविंद नेताम ने कहा कि राजनीति में खट्टा-मीठा जैसा कोई अनुभव नहीं होता है यहां लंबे समय के लिए न तो कोई दोस्त होता है न कोई दुश्मन होता है। कांग्रेस की राजनीति पर उन्होंने कहा कि दो बार उन्होंने खुद पार्टी छोड़ी तो एक

बार उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया। उनका कहना था कि कांग्रेस में एक ऐसा भी दौर था जब सीनियर नेताओं को किनारे लगाया जा रहा था लेकिन आज वह दौर बदल गया है। उन्होंने दो टूक कहा कि वर्तमान में कांग्रेस के रूटीन ढांचे में कई परिवर्तन की जरूरत है। इनमें सबसे बड़ा परिवर्तन जिला और ब्लाक कांग्रेस कमेटी को मजबूत बनाने के साथ उनकी मॉनीटरिंग की व्यवस्था में होना चाहिए। आदिवासी राजनीति के सवाल पर उनका कहना था कि अब समय बदल गया है सिर्फ आदिवासी ही नहीं बल्कि हर वर्ग के लोगों को साथ में लेकर काम करने का समय आ गया है। 
 

No image

भैरमगढ़ ब्लॉक के मिरतूर गंाव में नक्सलियों के लगाए आईईडी ब्लास्ट की चपेट में आकर एक स्कूली बालक संजय ओयामी (12) की मौत हो गई, वहीं एक अन्य बालक बबलू कड़ती (11) घायल हो गया। ये घटना 29 अपै्रल की है लेकिन नक्सली भय से परिजनों ने पुलिस को इसकी सूचना नहीं दी थी। गुरूवार को मिरतूर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई। बताया गया है कि स्कूली बच्चे मिरतूर से बेचापाल बाजार जा रहे थे। तभी उनके पैर के पास विस्फोट हुआ। संजय का अंतिम संस्कार कर दिया गया है जबकि बबलू का इलाज जिला हॉस्पिटल में चल रहा है। 
 

No image

 मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह विकास यात्रा के दौरान शुक्रवार को कोरबा जिला के विकासखंड करतला में आयोजित आमसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस और राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर जमकर हमला बोला। डा. सिंह ने कहा कि 50-60 साल तक देश में राज करने के अलावा कांग्रेस ने गरीबों, किसानों व आदिवासियों के लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी छत्तीसगढ़ में प्रशिक्षण देने के बहाने यहां का विकास देखने आये हुए है। उन्होंने कहा कि इतने सालों तक राज करके भी जो विकास उनके द्वारा नहीं हो पाया उस विकास को देखने के लिए यहां आये है। 

मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने देश में 50-60 साल तक राज किया है। मगर गरीबों, किसानों के लिए उन्होंने कुछ नहीं किया। ना ही गरीबों को ईलाज के लिए एक रूपये भी दिया और ना ही किसानों को बोनस दिया। उन्होंने कहा कि आज हम गरीबों के स्वास्थ्य की चिंता करते हुए जहां उनके ईलाज के लिए स्मार्ट कार्ड के जरिए 50 हजार रूपये की राशि उपलब्ध करा रहे है, वहीं किसानों को बोनस भी दे रहे है। डा. सिंह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस आज बोनस-बोनस चिल्ला रहे है, और जब हम बोनस दे रहे है तो इससे भी उनके पेट में दर्द हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के किसानों को 1700 करोड़ रूपये का बोनस व सूखा राहत का पैसा मैं खुद गांव-गांव जाकर बांट रहा हूं। आज एक बटन दबाउंगा तो कोरबा के किसानों के खातों में भी बोनस की राशि तुरंत आ जाएगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक तरफ बोनस की मांग करते है जब बोनस दे रहे है तो उन्हें तकलीफ हो रही है। इसी तकलीफ से कांग्रेसी छत्तीसगढ़ में विकास खोजो यात्रा पर निकले है। उन्होंने कहा कि सारे प्रश्रों का जवाब यहां की जनता के पास है मैं यहां कोई नई बात बोलने नहीं आया हूं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में किसानों को 14 प्रतिशत ब्याज में ऋण मिलता था जो भाजपा के शासनकाल में 0 प्रतिशत पर ऋण दिया जा रहा है। डा. सिंह ने कहा कि मैं विकास यात्रा में यहां की जनता को धन्यवाद देने आया हूं। एक नहीं, दो नहीं, बल्कि तीन बार आपने हमे चुना। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चुना है। उन्होंने कहा कि कांगे्रस के शासनकाल में गरीबों के घर में लकड़ी व कोयला से खाना बनाने में दिनभर निकल जाता था। लेकिन केन्द्र में भाजपा की सरकार और नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद घर-घर में गैस सिलेण्डर की सुविधा दी जा रही है। जिससे हमारी बहनें अब आसानी से खाना बनाती है। 

मुख्यमंत्री ने राहुल गांधी के छग दौरे को लेकर कहा कि जो टीम हारती है उस टीम के कोच को बदल दिया जाता है, लेकिन कांग्रेस ऐसी टीम है जिसके बार-बार हारने के बाद भी उसके कोच को बदला नहीं जा रहा है। ऐसे में टीम कैसे जीतेगी। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी छत्तीसगढ़ प्रशिक्षण देने नहीं बल्कि यहां का विकास देखने आये है। 50-60 साल में छत्तीसगढ़ में जो विकास नहीं हो पाया वो विकास को हमारी सरकार ने 14-15 साल में कर दिखाया है। मुख्यमंत्री ने अपने दौरे के दौरान कोरबा जिला वासियों को आज 184 करोड़ रूपये के विकास कार्यों की कई सौगातें भी दी। 

No image

दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने दो अलग-अलग वारदातों में एक व्यक्ति की हत्या कर दी और सड़क निर्माण में लगे वाहनों को आग के हवाले कर दिया। पहली वारदात कुआकंडा इलाके में हुई, जहां पर नक्सलियों ने लिंगा कुंजाम नाम के व्यक्ति की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी। मृतक लिंगा पर नक्सलियों ने पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाया था और वह फुलपाड के डुमान पारा का रहना वाला था। बताता जा रहा है कि कुछ दिनों पहले भी नक्सलियों ने मृतक के बेटे के साथ मारपीट की थी। पुलिस को वारदात की सूचना मिग गई है, लेकिन फिलहाल कोई एफआईआर दर्ज नहीं हुई है।

दूसरी वारदात भांसी थाना क्षेत्र के मासापारा में हुई जहां पर सड़क निर्माण में लगे उपकरणों को नक्सलियों ने आग के हवाले कर दिया। नक्सलियों ने मिक्सर मशीन और ट्रेक्टर को आग लगा दी। इसके साथ ही नक्सलियों ने सड़क निर्माण में लगे मजदूरों के साथ मारपीट भी की।

No image

बुधवार को थाना कोतरारोड के ग्राम कोतरा मौहारीपारा में रहने वाली श्रीमती रामकुमारी सारथी पति जीवनलाल सारथी उम्र 52 वर्ष द्वारा अपने पुत्र दिलीप कुमार सारथी उम्र 27 साल की जलने से फौत होने की सूचना दी गई थी, सूचना पर थाना कोतरारोड़ में कार्यरत सउनि डी.पी. भारद्वाज हमराह स्टाफ के साथ घटनास्थल गये, जहां मृतक की मां श्रीमती रामकुमारी सारथी के रिपोर्ट पर मर्ग क्र0 25/18 धारा 174 एवं मृतक की दूसरी पत्नी जानकी सिदार के विरूद्ध अप0क्र0 135/18 धारा 302, 201 त पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।


पीडि़ता रामकुमारी सारथी ने पुलिस को दिये अपने कथन में बतायी कि सोमवार को दिलीप कुमार सारथी की दोनों पत्नी जानकी सारथी और जानकी सिदार अपने पति दिलीप सारथी से झगड़ा किये थे तथा उसी दिन बड़ी बहू जानकी सारथी अपने मायके चली गई थी। मंगलवार के रात्रि 7-8 बजे परिवार के लोग खाना खाकर सोये थे, दिलीप सारथी और जानकी सिदार आंगन मे अलग अलग खाट पर सोने के लिये बिछाये थे और दोनो रात्रि मे आपस मे झगडा हो रहे थे तब दोनो को समझाई थी। दिनांक 16.05.18 को भोर 4/00 बजे  चिल्लाने की आवाज सुनकर जागी और दिलीप सारथी तथा जानकी सिदार को ढुंढी जो अपने खाट पर नहीं थे, रसोई कमरा से धुंआ निकल रहा था जहां कमरा अंदर जानकी सिदार दिलीप सारथी के ऊपर मिट्टी तेल डालकर उसे आग से जलाकर उसकी हत्या कर इसे धक्का देकर भाग गयी।


रिपोर्ट पर उपरोक्त अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया, विवेचना दरम्यान आरोपी जानकी सिदार पति दिलीप कुमार सारथी उम्र 25 वर्ष को हिरासत में लेकर पूछताछ किया गया, जिसमें घरेलू परिवारिक विवाद में अपने पति की हत्या करना बतायी है। आरोपिया जानकी सिदार ने बताया कि दिनांक बुधवार की रात्रि करीब 02:30 बजे दिलीप सारथी से झगड़ा मारपीट हुआ तब दोनों झगडते हुये रसोई पास कमरा के पास गये जहां दिलीप सारथी की हाथ से गला दबायी तो दिलीप बेहोश हो गया जिसके ऊपर घर के पुराने कपड़े तथा मिट्टी तेल डालकर आग लगा दी, जिससे दिलीप सारथी जलकर फौत हो गया। आरोपिया जानकी सिदार को गिरफ्तार कर आज न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है।
 

No image

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के 18 मई को रोड शो की तैयारियां तेज हो गई है। वहीं राहुल गांधी के रोड शो के लिए मार्ग और स्वागत प्वाइंट भी तय कर लिया गया है। स्वागत-सत्कार के लिए दुर्ग से रायपुर के मध्य 24 से ज्यादा स्थान चिन्हांकित किया गया है। प्रत्येक प्वाइंट पर कांग्रेसजनों के द्वारा श्री गांधी का व्य स्वागत किया जाएगा। कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का रोड शो दुर्ग के पटेल-गांधी चौक से प्रारंभ होगा। श्री गांधी के साथ प्रदेश कांग्रेस के दिग्गज नेता और

पदाधिकारी भी शामिल होंगे। करीब 50 किलोमीटर के लंबे रोड शो के दौरान श्री गांधी का दुर्ग में भव्य स्वागत होगा, इसके बाद उनकी रोड शो शुरू होगी। दुर्ग के पटेल-गांधी चौक से वे न्यू बस स्टैण्ड, राजेंद्र पार्क चौक, मालवीय नगर चौक, वाय शेप ओव्हरब्रिज, बटालियन, नेहरू नगर चौक होते हुए कोसानगर टोल प्लाजा, घड़ी चौक सुपेला, चंद्रा-मौर्या टाकीज, न्यू बसंत टाकीज, पावर हाउस चौक तक आएंगे। इसके बाद उनका काफिला अण्डा चौक, खुर्सीपार गेट, मिनी स्टेडियम, डबरापारा चौक, भिलाई-3, सिरसा गेट, चरौदा, जंजगीरी चौक, दुग्ध संघ, कुम्हारी, कुम्हारी टोल प्लाजा, खारून नदी पुल, रायपुर, महाकौशल फ्यूल्स, रॉलास मोटर्स, चंदनीडीह, टाटीबंध चौक, मोहबाबाजार, आमानाका, यूनिवर्सिटी, राजकुमार कालेज, वंदना ऑटो सेंटर, सखाराम दुबे स्कूल, ईदगाहभाठा, लाखेनगर चौक, टिल्लू चौक, पुरानीबस्ती, बुढ़ेश्वर चौक, स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स, श्याम टाकीज, सप्रेशाला मैदान, बिजली आफिस चौक, नगर निगम कार्यालय, महिला थाना चौक, राजीव गांधी चौक, मोतीबाग, घड़ी चौक, कलेक्टोरेट कार्यालय के सामने से मुड़कर राजभवन मार्ग पर गुरू घासीदास संग्रहालय के सामने से होकर सूर्यनमस्कार चौक, शांति नगर मोड़, शंकर नगर चौक, मरीन ड्राइव, तेलीबांधा,

व्हीआईपी रोड, फुंडहर, टेमरी होते हुए माना विमानतल तक पहुंचेंगे, यहां से वे सीधे दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।  इधर शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विकास उपाध्याय भी अपने समर्थकों के साथ और कमेटी के विभिन्न पदाधिकारियों के साथ स्वागत की तैयारियों में जुटे हुए हैं। श्री उपाध्याय और शहर जिला कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारी राहुल गांधी के स्वागत के लिए जोरदार तैयारियां कर रखी है। टाटीबंध चौक से लेकर माना विमानतल तक विभिन्न प्वाइंटों पर कांग्रेस के स्थानीय नेता और कांग्रेसजनों द्वारा श्री गांधी का स्वागत करेंगे। रायपुर जिले की सीमा से लेकर माना विमानतल तक स्थानीय कांग्रेसजन काफिले में शामिल होंगे। 
 

No image

 46 सौ रूपए ग्रेड पे के साथ ही स्टाफ बढ़ाने और अन्य मांगों को लेकर आज राज्य भर के 3 हजार से ज्यादा स्टाफ नर्सों ने हड़ताल शुरू कर दी है। इससे प्रदेश के सबसे बड़े अंबेडकर अस्पताल के साथ ही जिला अस्पताल और अन्य शासकीय अस्पतालों में कामकाज बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है। 


ज्ञात हो कि स्टाफ नर्सों ने आज से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है। राज्य भर में 3000 से ज्यादा स्टाफ नर्स कार्यरत हैं। प्रदेश के विभिन्न शासकीय अस्पतालों, जिला चिकित्सालयों में इनकी सेवाएं ली जा रही है। राजधानी स्थित अंबेडकर अस्पताल में कार्यरत नर्सों ने आज से अनिश्चितकालीन हड़ताल का आगाज कर दिया है। हड़ताली नर्सें ईदगाहभाठा मैदान पर धरनें में बैठ गई हैं। अंबेडकर अस्पताल में 330 के आसपास स्टाफ नर्सें हैं, इन नर्सों के भरोसे अस्पताल का प्रत्येक वार्ड चलता है। आज से शुरू हुई हड़ताल से न केवल अस्पताल की व्यवस्था गड़बड़ा गई है, बल्कि मरीजों और उनके परिजन भी बेहाल हो रहे हैं। चिकित्सकीय सुविधा भी बुरी तरह से बाधित हो रही है। हड़ताली नर्सों ने ग्रेड पे  4600 रूपए करने, नर्सिंग कैडर वेतनमान में वृद्धि करने, स्टाफ की संख्या बढ़ाए जाने, नर्सिंग लॉज दिए जाने, नर्सिंग आफिसर का पदनाम सेवा में जोड़े जाने सहित अन्य मांगें शामिल है। 
 

No image

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह 20 मई को पुन: छत्तीसगढ़ प्रवास पर आ रहे है। इस बार वे अंबिकापुर जाएंगे। 21 मई को सवेरे 9.05 बजे सरगुजा जिले के केपी ग्राम (विकासखण्ड-लुण्ड्रा) स्थित केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के ट्रेनिंग सेंटर में बस्तरिया बटालियन की पासिंग आऊट परेड की सलामी लेंगे। इस मौके पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह सहित क्षेत्र के प्रभारी मंत्री, विधायक आदि भी रहेंगे। 


केन्द्रीय गृृह मंत्री निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 20 मई को दोपहर दो बजे सतना से होकर अपरान्ह 3.35 बजे दरिमा (अम्बिकापुर) हवाई पट्टी पहुंचेंगे। राजनाथ सिंह शाम को सीआपीएफ की 62वीं बटालियन के मुख्यालय परिसर पहुंचेंगे और वहां अधिकारियों और जवानों से मुलाकात करेंगे। वो रात्रि विश्राम अम्बिकापुर में करेंगे। केन्द्रीय गृृह मंत्री मुख्यमंत्री डॉ. सिंह के साथ अगले दिन 21 मई को

बस्तरिया बटालियन की 62वीं आऊट परेड के कार्यक्रम में शामिल होने के बाद सवेरे 10.40 बजे दरिमा हवाई पट्टी से रायपुर के लिए प्रस्थान करेंगे। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह 21 मई को बस्तरिया बटालियन की पासिंग आऊट परेड के कार्यक्रम मेंशमिल होने के लिए कोरबा से सवेरे 8.45 बजे हेलीकॉप्टर द्वारा अम्बिकापुर पहुंचेंगे।ज्ञात हो कि राजनाथ सिंह इससे पहले 12 मई को छग प्रवास पर आये थे। उन्होंने दंतेवाड़ा में रमन विकास यात्रा का शुभारंभ किया था। इस तरह श्री सिंह एक सप्ताह के बाद पुन: छग प्रवास पर आ रहे है। 
 

No image

नगर निगम क्षेत्र के 35 हजार बीपीएल परिवारों को शासन की संचार क्रांति योजना के तहत मुफ्त मोबाइल फोन दिया जाएगा। इसके लिए निगम के अधिकारी कर्मचारी 10 दिन तक वार्डों में शिविर लगाकर परिवारों से आवेदन लेंगे। आवेदनों के आधार पर पात्र परिवारों का चयन कर मोबाइल वितरण किया जाएगा। महापौर चंद्रिका चंद्राकर और कमिश्नर एसके सुन्दरानी ने गुरुवार को डॉटा सेंटर में 3 सेक्टर अधिकारी, 16 नोडल अधिकारी व 53 कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया।

बैठक में महापौर चंद्रिका चंद्राकर ने बताया कि निगम के 60 वार्डो के लिए 16 स्कूल भवनों में 10 दिन का शिविर लगाया जाएगा। शिविर सुबह 10 से शाम 5 बजे तक चलेगा। शिविर में बीपीएल परिवारों से आवेदन लेकर सूची तैयार की जाएगी। प्राप्त आवेदन के आधार पर दावा अपात्ति लिया जाएगा। इसके बाद पात्र पाए गए हितग्राहियों का अंतिम चयन सूची जारी किया जाएगा। शिविर 18 मई से 3 जून तक चलेगा। शिविर में हितग्राहियों को आधार कार्ड, राशन कार्ड व बैंक पास बुक लेकर आना होगा।

0 चंद्रशेखर स्कूल नयापारा-नयापारा, राजीव नगर, बघेरा। 0 गयाबाई प्राथमिक शाला गया नगर - मठपारा, गयानगर, मरारपारा, ठेठवार पारा। 0 दयानंद स्कूल शंकर नगर-गिरधारी नगर, शंकर नगर, शंकर नगर पूर्व, मोहर नगर, मोहन नगर पूर्व। 0 मिडिल स्कूल सिकोला भाठा- सिकोला भाठा, सिकोला बस्ती, करहीडीह वार्ड। 0 जोन कार्यालय आदित्य नगर- औद्योगिक नगर वार्ड 17 व 18 शहीद भगत सिंह वार्ड 19 व 20, तितुरडीह और स्टेशन पारा वार्ड।

0 किल्ला  विद्यापीठ-दीपक नगर, आमदी मंदिर वार्ड, गायत्री मंदिर वार्ड, संतराबाड़ी वार्ड।0 महात्मा गांधी स्कूल-किल्ला मंदिर वार्ड, तकिया पारा, पोलसाय पारा, पचरी पारा, अस्पताल वार्ड और तमेर पारा। 0 ईरा पब्लिक स्कूल-आपापुरा वार्ड, ब्राम्हण पारा, चंडीमंदिर वार्ड,  पारा।0 पुरानी गंज मंडी - रामदेव मंदिर वार्ड, गंज पारा, आजाद वार्ड, मिल पारा, कचहरी वार्ड। 0 मिडिल स्कूल कसारीडीह-सुराना कालेज वार्ड, केलाबाड़ी वार्ड, कसारीडीह वार्ड 42 व 43, गुरुघासीदास वार्ड।

0 विश्वदीप स्कूल-पद्मनाभपुर वार्ड 45 व 46 । 0 प्राइमरी स्कूल पुलिस लाइन-सिविल लाइन वार्ड 47 उत्तर, सिविल लाइन वार्ड 48 दक्षिण। 0 जोन कार्यालय बोरसी - बोरसी वार्ड 49, बोरसी 50, बोरसी 51, बोरसी वार्ड 52। 0 प्राइमरी स्कूल पोटियाकला-पोटिया वार्ड 53, पोटिया वार्ड 54 व पुलगांव वार्ड 55। 0 मिडिल स्कूल उरला-उरला वार्ड 57 व 58 के लिए। 0 प्राइमरी स्कूल कातुलबोड़-कातुलबोड वार्ड 59 व 6 0 के लिए।

No image

छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले में एक नबालिग को शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। एक नाबालिग से दुष्कर्म के मामले मेंं पुलिस ने बालोदगहन निवासी सोनू उर्फ महेन्द्र (19) पिता सुरेश सेन को गिरफ्तार किया है। बताया गया है कि पीडि़ता  बताया जा रहा है की आरोपी युवक अपने दोस्त के सागर के घर आना-जाना था। इस बीच उसके पड़ोस में रहे वाली लड़की से प्रेम हो गया था।

इसके बाद दोनों ने नवंबर-2017 में आरोपी युवक ने मौका पाकर सागर के घर बुलाकर शादी का झांसा देकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया। इसके बाद आए दिन वे एक-दूसरे से मोबाइल सेकुछ दिनों बाद पीड़ित लड़की को पेट में अचानक असहनीय दर्द उठा, जिसके बाद परिजन उसे अस्पताल लेकर आए।अस्पताल में जांच के दौरान पता चला की पीड़िता 5 माह के गर्भ से है। पीड़िता के गर्भ होने की जानकारी परिवार वालो को हुई तो उनके होश उड़ गए। इसके बाद लडक़ी ने अपने परिजनों को सब कुछ सच-सच बता दिया। बातचीत करते रहते थे। 

इसके बाद परिजन लड़की को लेकर सिटी कोतवाली पहुंचकर आरोपी सोनू उर्फ महेन्द्र (19) के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई। बहरहाल, पुलिस ने आरोपी महेन्द्र के खिलाफ धारा ३६३, ३७६, ५०६ और ४, ६ पाक्सो एक्ट के तहत जुर्म दर्ज कर लिया है और आरोपी को गिरफ्तार लिया है ।

 

 

No image

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की योजना संचार क्रांति योजना स्काई के तहत नगर निगम क्षेत्र में 33963 हितग्राहियों को स्मार्ट मोबाइल फ ोन नि:शुल्क दिया जाएगा। योजना के तहत चरणबद्ध रूप से की जाने वाली कार्रवाई के तहत निगम के जोन कार्यालयों में हितग्राहियों के पंजीयन व चिन्हांकन का कार्य किया जाएगा। 18 मई को हितग्राहियों की ड्राफ्ट सूची प्रकाशित की जाएगी। आयुक्त रणबीर शर्मा ने योजना के सुचारू क्रियान्वयन के लिए अधीक्षण अभियंता भागीरथ वर्मा को योजना का नोडल अधिकारी नियुक्त कर योजना के त्रुटिरहित क्रियान्वयन के निर्देश दिए हैं। वर्ष 2007 की बीपीएल सर्वे सूची में शामिल हितग्राहियों को स्मार्ट मोबाइल फोन दिए जाने की योजना है। आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के लोग संचार क्रांति के युग में मोबाइल फ ोन जैसी महत्वपूर्ण सुविधा का लाभ ले सकें। यह योजना ग्रामीण क्षेत्रोंए कॉलेजों व नगरीय निकाय क्षेत्रों के लिए अलग.अलग लागू की गई है। निगम क्षेत्र में 33963 हितग्राहियों को मोबाइल फोन दिए जाएंगे। 
योजना के तहत 18 मई को हितग्राहियों की ड्राफ्ट सूची का प्रकाशन जोन

कार्यालयों में किया जाएगा। जोन कार्यालयों में ही शिविर लगाकर 18 मई से 25 मई तक ड्राफ्ट सूची के हितग्राहियों के आवेदन.पत्र भरवाए जाएंगे। 19 से 28 मई तक भरे हुए आवेदन पत्र को स्काई पोर्टल में प्रविष्टि कराई जाएगी। 18 से 20 मई तक हितग्राहियों की ड्राफ्ट सूची पर दावा आपत्ति आमंत्रित की जाएगी तथा 21 से 23 मई के बीच नए हितग्राहियों के नाम का संबंधित विभाग से अनुमोदन किया जाएगा। आयुक्त ने सभी जोन कमिश्नरों को कहा है कि संचार क्रांति योजना स्काई के तहत हितग्राहियों के पंजीयन व चिन्हांकन के संबंध में शासन से निर्धारित कार्यक्रम के अनुरूप त्रुटिरहित कार्रवाई करें। इसके लिए जोन कार्यालयों में शिविर लगाएं। उन्होंने जोन कार्यालयों में लगाए जाने वाले शिविरों के सफल संचालन व त्रुटिरहित कार्रवाई के लिए अन्य सहायक अधिकारी कर्मचारियों की तैनाती भी कर दी है।
 

No image

 एक महिला के साथ पूर्व परिचित युवक ने दुष्कर्म किया और गले से चेन लूटकर फ रार हो गया। इस घटना की शिकायत थाना में पीडि़ता ने दर्ज कराई है। पुलिस मामला दर्ज कर फ रार आरोपी की पतासाजी कर रही है। कटघोरा थाना क्षेत्र में रहने वाली एक महिला की अभी डेढ़ माह पहले ही शादी हुई है। वह मायके आई हुई थी, इस दौरान पूर्व परिचित बांकीमोंगरा निवासी पंकज राजपूत 23 घर पहुंचा, उस वक्त महिला अकेली थी। इसका फायदा उठाते हुए उसने महिला के साथ छेड़छाड़ शुरू कर दिया। विरोध करने पर जान से मारने की धमकी दी। महिला काफ ी भयभीत हो गई थी। दुष्कर्म के बाद युवक उसके गले से सोने की चेन लूटकर भाग निकला। घटना की सूचना महिला ने परिजनों को दी। परिजनों ने इस घटना की शिकायत कटघोरा थाने में दर्ज कराई। पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ धारा 376, 506, 392 के तहत मामला पंजीबद्घ कर विवेचना शुरू कर दी है। आरोपी की तलाश पुलिस द्वारा की जा रही है।
 

No image

हिन्दुस्तान में पहली बार लोकतंत्र की आवाज को दबाने की पूरी कोशिश हो रही है।  70 साल में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब विपक्ष को पूरी तरह से दबाने का प्रयास हो रहा है। यही नहीं देश के अधिकांश वर्गों को डराने का खेल भी जारी है। आज पूरा देश डर के माहौल में है। उक्त बातें कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज राजधानी रायपुर में आयोजित पंचायती राज कार्यक्रम में कही। इंडोर स्टेडियम में आयोजित इस कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के साथ ही मध्यप्रदेश, झारखंड और ओडि़सा से भी हजारों की संख्या में प्रतिनिधि उपस्थित हुए हैं। श्री गांधी ने कहा कि सरकार अब

तानाशाही रवैया अपना रही है। देश में डर का माहौल पैदा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पंचायतों को मजबूत करने का निर्णय कांग्रेस का ही था। आज पंचायतों को ही दबाने का प्रयास हो रहा है। श्री गांधी ने हरियाणा का उदाहरण देते हुए कहा कि हरियाणा में कहा गया कि पंचायत प्रतिनिधि वही बन सकता है जो कि आठवीं अथवा दसवीं पास हो।  अब सवाल यह उठता है कि जब पंचायतों के प्रतिनिधि पढ़े-लिखे और आठवीं-दसवीं पास होना चाहिए तो एमपी और एमएलए के बारे में यह बातें क्यों नहीं कही जाती? इससे ही सिद्ध होता है कि सरकार नहीं चाहती तो गांव-गरीब की आवाज बुलंद हो। आज देश में गरीब किसानों के कर्ज माफ नहीं हो सकते, लेकिन बड़े-बड़े पूंजीपतियों के, उद्योगपतियों के कर्ज आसानी से माफ हो गए। देश के हर संस्थान में आरएसएस अपने लोगों को बिठाते जा रही है। उन्होंने न्यायपालिका के संदर्भ में कहा कि हालात को पूरी तरह से बिगाडऩे का प्रयास हो रहा है, न्यायाधीशों को भी डराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में और देश के अन्य राज्यों में अब जहां भी कांग्रेस की सरकार बनेगी, वहां जनता की बातों को सुना जाएगा, जनता से सलाह लेकर अब कानून और योजनाएं तैयार होंगी। यदि कांग्रेस का कोई भी मुख्यमंत्री इस काम में अक्षम साबित होगा तो उसे तत्काल बदल दिया जाएगा। 

कांग्रेस ने किया पंचायतों को मजबूत :पंचायती राज सम्मेलन को उद्घाटन अवसरपर कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने कहा कि पिछ ले 15 साल सेछत्त्तीसगढ़ में भाजपा की सरकार है और 4 सालों से केन्द्र में। लेकिन इन सालों में सरकार ने पंचायती राज संस्थाओं को कमजोर करने का ही काम किया है। उन्होंने कहा कि ऐसे-ऐसे कदम उठाए गए जिससे ये संस्थाएं कमजोर हो जाएं। श्री पुनिया ने कहा कि भाजपा ने संस्थाओं के अधिकार, अधिकारियों को दे दिए। बजट में कटौती की गई। उन्होंने कहा कि वित्त विभाग के माध्यम से सीधे पंचायतों को पैसा आया, लेकिन सरकार ने हिटलरशाही निर्णय लेते हुए पैसा वापस ले लिया। इसका कारण भी स्पष्ट था, सरकार चाहती थी कि पंचायतों के पैसों से रिलायंस कंपनी का मोबाइल टॉवर लगे, लेकिन कांग्रेस के जोरदार विरोध के बाद सरकार को यह निर्णय वापस लेना पड़ा। 

 

No image

सर्व आदिवासी समाज के नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरविंद नेताम की कांग्रेस में पुन: वापसी हो गई। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के राजधानी रायपुर के इंडोर स्टेडियम में गुरूवार को आयोजित पंचायती राज सम्मेलन कार्यक्रम के दौरान छग के प्रभारी पीएल पुनिया ने श्री नेताम की कांग्रेस में वापसी का ऐलान किया। 

ज्ञात हो कि अरविंद नेताम कांग्रेस से बस्तर में लंबे समय तक सांसद रहे हैं। बस्तर में कांग्रेस को बेहद मजबूत मंच देने में उनकी अहम भूमिका रही है। अरविंद नेताम कांग्रेस छोड़ कर पीए संगमा के साथ सक्रिय थे और बीते करीब पांच वर्षों से सर्व आदिवासी मंच के नेता के रूप में  वे सक्रिय है। अरविंद नेताम की कांग्रेस में वापसी से कांग्रेस को विधानसभा चुनाव की दृष्टि से काफी फायदा मिल सकता है। 
 

No image

 कांग्रेस के राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दो दिवसीय छत्तीसगढ़ दौरे पर गुरूवार को रायपुर पहुंचे। यहां  स्वामी विवेकानंद विमानतल पर राहुल गांधी का छग के प्रभारी पीएल पुनिया, प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल, नेताप्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव सहित अन्य पदाधिकारियों ने उनका आत्मीय स्वागत किया। 

राहुल गांधी दो दिनों के छग दौरे पर आये हुए है। श्री गांधी आज और कल प्रदेश के चार संभागों में रैली और सभा कर कांग्रेस नेताओं में जोश भरेंगे। राहुल इन दो दिनों में चार संभागों में तीन सभाएं लेंगे और दो जगहों पर कार्यकर्ताओं से सीधे वाद करेंगे। आज छग पहुंचने के बाद वे राजधानी रायपुर में स्थित इंडोर स्टेडियम में आयोजित पंचायती राज सम्मेलन में कार्यकर्ताओं से सीधे वाद कर रहे है। 

No image

घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्र गढ़चिरौली (महाराष्ट्र) से मानव तस्करी का बड़ा मामला सामने आया है। यहां के 11 नाबालिगों समेत २१ लोगों को चोरी-छिपे गुजरात ले जाया जा रहा था। दुर्ग सिटी कोतवाली पुलिस फिलहाल इसकी पुष्टि नहीं कर रही है, लेकिन संदेह के आधार पर मध्यप्रदेश के बैतूल निवासी अतुल हलधर पिता अहीर को हिरासत में लिया है।

राहुल गांधी  की सभा को लेकर जिले में अलर्ट है। इस दौरान पुलिस शहर में आने-जाने वालों पर नजर रखे हुए है। इस बीच बुधवार दोपहर को सूचना मिली कि बस स्टैंड पर कुछ आदिवासी हैं। पुलिस तत्काल वहां पहुंची। इन सभी को कोतवाली थाना लाकर पूछताछ की। इसमें खुलासा हुआ कि अतुल हलधर उन सभी को काम दिलाने के लिए गढ़चिरौली से गुजरात ले जा रहा था। अतुल से पूछताछ में मामला संदिग्ध लगने पर पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया।

आदिवासियों में 12 नाबालिग थे। इनको देर शाम बाल संरक्षण समिति (सीडब्लूसी) में पेश किया गया। इनमें से चार ने अपना आधार कार्ड दिखाया, जिससे उनके बालिग होने की पुष्टि हुई। इन्हें वापस पुलिस के हवाले कर दिया गया। इन चारों को पुलिस ने एहतियात के तौर पर सखी सहेली केंद्र में रखा है। सीडब्लूसी ने शेष आठ में से सात नाबालिग लड़कियों को बालिका गृह और एक लड़के को बालगृह में रखने का निर्देश दिया।

सीडब्लूसी ने नाबालिगों की काउंसलिंग कराई। करीब तीन घंटे काउंसलिंग में भाषा को लेकर काफी परेशानी हुई। इनमें से केवल एक लड़की टूटी-फूटी हिन्दी बोल पाई, उसी के माध्यम से काउसंलिग की गई।पुलिस पूछताछ में अतुल ने बताया कि वह मूलत: बैतूल, मध्यप्रदेश का रहने वाला है। कुछ दिन पहले बांदे (कांकेर) में अपने रिश्तेदार के यहां गया था। वहां से परिजन की अनुमति लेकर बच्चों को दुर्ग लाया। यहां से उनको गुजरात ले जा रहा था। वहां टाइल्स फैक्ट्री में जहां वह खुद काम कर चुका है, इन सभी को उसी फैक्ट्री में काम दिलाना था।

अतुल आदिवासियों और बच्चों को लेकर दोपहर 1२ बजे बस स्टैंड पहुंचे थे। कुछ देर बस स्टैंड में बिताने के बाद वे ऑटो में बैठकर रेलवे स्टेशन की ओर रवाना हो रहे थे। इसी बीच सिटी कोतवाली की पेट्रोलिंग टीम बस स्टैंड पहुंची और ऑटो चालक को निर्देश दिया कि वे सभी को लेकर सिटी कोतवाली पहुंचे। इसके बाद पुलिस ने पूछताछ शुरू की।

सिटी कोतवाली प्रभारी सिद्धार्थ बघेल ने बताया कि जिन्हें सीडब्ल्यूसी में प्रस्तुत किया गया है वे सभी नक्सल प्रभावित क्षेत्र के बच्चे हैं। हमने परिजन को सूचना दे दी है। उनके दुर्ग पहुंचने पर मामला स्पष्ट होगा। अभी कुछ भी कह पाना संभव नहीं है। हम इस मामले में गंभीरता से जांच कर रहे हैं।

सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष पुष्पा पटेल ने बताया कि पुलिस ने सीडब्ल्यूसी में 12 को पेश किया जिसमें ४ बालिग निकले। सात नाबालिग लड़कियों को बालिका गृह में रखने का निर्देश दिया गया है। एक नाबालिग को बालक गृह में रखा गया है। मामला प्रथम दृष्टया संदिग्ध है। परिजन का बयान भी दर्ज किया जाएगा।

No image

रेलवे स्टेशन के पास बांसटाल स्थित होटल यांत्रिक के कमरा नंबर 105 में रविवार की शाम अंबिकापुर की अपूर्वा तिवारी (27) की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली। लगातार 24 घंटे तक हुई पूछताछ के दौरान बुधवार की शाम विपिन दुबे टूट गया। उसने बताया कि अपूर्वा बार-बार पत्नी से तलाक लेकर शादी करने के लिए दबाव बना रही थी।

होटल के कमरे में 11 मई की दोपहर 3.30 बजे वह इसी बात को लेकर विवाद करने लगी। समझाने के बाद भी नहीं मानी। तब गुस्से में आकर उसके नाक-मुंह को हथेली से दबाकर तौलिये से गला घोंट दिया। छटपटाने पर सिर व प्राइवेट पार्ट पर मुक्के से ताबड़तोड़ वार कर दिया।

कुछ देर बाद वह शांत पड़ गई। लाश को देखकर फंसने के डर से कमरा बाहर से बंदकर भाग निकला। विपिन के इस कबूलनामे के बाद पुलिस ने विधिवत उसकी गिरफ्तारी की। गुरुवार को उसे हत्या के केस में कोर्ट में पेश किया जाएगा।

गंज थाना प्रभारी मोहसीन खान ने बताया कि अपूर्वा तिवारी का प्रेमी विपिन ही उसका हत्यारा निकला। पूछताछ में विपिन ने बताया कि अपूर्वा से वर्ष 2012 से उसका प्रेम संबंध था। वह भी उसे चाहता था लेकिन घर वालों की मर्जी से तीन साल पहले दूसरी जगह शादी करनी पड़ी। उसकी एक बच्ची भी है।

शादी के बाद वह अपूर्वा से संबंध नहीं रखना चाहता था, लेकिन फोन पर वह मिलने के लिए बुलाती थी, नहीं जाने पर घर तक पहुंच जाती थी। मेरी पत्नी और घर वालों को इस संबंध के बारे में जानकारी हुई तो विवाद होने लगा। पत्नी संबंध तोड़ने को कहती थी और अपूर्वा तलाक लेकर शादी करने के लिए दबाव बनाती थी। वह दोराहे पर फंस गया था।

विपिन ने बताया कि रायपुर आने के बाद वह अपूर्वा को लेकर आर्य समाज मंदिर बैजनाथपारा में शादी करने के संबंध में जानकारी लेने गया था। वहां से लौटने के बाद होटल के कमरे में अपूर्वा शादी करने और पत्नी को तलाक देने को लेकर विवाद करने लगी थी।

अपूर्वा तिवारी के परिजनों ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि पेटी कांट्रेक्टर का काम करने वाले विपिन दुबे ने तीन साल पहले अपूर्वा की महिला बाल विकास विभाग में नौकरी लगवाने का झांसा देकर उसकी मां से एक लाख रुपये लिया था। अपूर्वा पैसे लौटाने को कहती थी तो वह टालमटोल करता था।

अपूर्वा की हत्या करने के बाद आरोपी लाश के पास करीब डेढ़ घंटे तक बैठा रहा। इस दौरान वह पुलिस से बचने के उपाय सोचता रहा। शाम पांच बजे वह दरवाजे पर बाहर से ताला लगाकर रेलवे स्टेशन पहुंचा और वहां से ट्रेन में बैठकर मांढर तक गया। वहां से ट्रक और फिर रास्ते में बस तथा अन्य साधनों से दो दिन बाद अंबिकापुर पहुंचकर 13 मई को गांधी नगर थाने में यह कहकर सरेंडर किया कि अपूर्वा ने अचानक फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी, डरकर वह वहां से भाग निकला था।

जिस तौलिये से विपिन ने अपूर्वा का गला घोटा, उसे गंज पुलिस ने सुबूत के तौर पर जब्त कर लिया है। पीएम रिपोर्ट में गला दबाने से मौत और गले, चेहरे, सिर तथा प्राइवेट पार्ट में चोट आने का उल्लेख डाक्टरों ने पहले ही कर दिया था। इसके आधार पर ही पुलिस ने हत्या का केस दर्ज किया।

विपिन दुबे के छोटे भाई नितिन दुबे के साथ ही अपूर्वा के चाचा प्रतापपुर में तहसीलदार जेपी तिवारी तथा अन्य लोगों का पुलिस ने बयान दर्ज किया। नितिन ने बताया कि अपूर्वा से प्रेम संबंध को लेकर अक्सर घर में विवाद होता था। भाभी लगातार यह रिश्ता खत्म करने को कहती थी। जीपी तिवारी ने कहा कि विपिन ने नौकरी लगाने के नाम पर रुपये लाख ठगे थे। इसे लेकर भी अपूर्वा का विपिन से विवाद होता था।

No image

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के 18 मई को रोड शो की तैयारियां तेज हो गई है। वहीं राहुल गांधी के रोड शो के लिए मार्ग और स्वागत प्वाइंट भी तय कर लिया गया है। स्वात-सत्कार के लिए दुर्ग से रायपुर के मध्य 24 से ज्यादा स्थान चिन्हांकित किया गया है। कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का रोड शो दुर्ग के पटेल-गांधी चौक से प्रारंभ होगा। श्री गांधी के साथ प्रदेश कांग्रेस के दिग्गज नेता और पदाधिकारी भी शामिल होंगे। करीब 50 किलोमीटर के लंबे रोड शो के दौरान श्री गांधी का दुर्ग में भव्य स्वागत होगा, इसके बाद उनकी रोड शो शुरू होगी। दुर्ग के पटेल-गांधी चौक से वे न्यू बस स्टैण्ड, राजेंद्र पार्क चौक,

मालवीय नगर चौक, वाय शेप ओव्हरब्रिज, बटालियन, नेहरू नगर चौक होते हुए कोसानगर टोल प्लाजा, घड़ी चौक सुपेला, चंद्रा-मौर्या टाकीज, न्यू बसंत टाकीज, पावर हाउस चौक तक आएंगे। इसके बाद उनका काफिला अण्डा चौक, खुर्सीपार गेट, मिनी स्टेडियम, डबरापारा चौक, भिलाई-3, सिरसा गेट, चरौदा, जंजगीरी चौक, दुग्ध संघ, कुम्हारी, कुम्हारी टोल प्लाजा, खारून नदी पुल, रायपुर, महाकौशल फ्यूल्स, रॉलास मोटर्स, चंदनीडीह, टाटीबंध चौक, मोहबाबाजार, आमानाका, यूनिवर्सिटी, राजकुमार कालेज, वंदना ऑटो सेंटर, सखाराम दुबे

स्कूल, ईदगाहभाठा, लाखेनगर चौक, टिल्लू चौक, पुरानीबस्ती, बुढ़ेश्वर चौक, स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स, श्याम टाकीज, सप्रेशाला मैदान, बिजली आफिस चौक, नगर निगम कार्यालय, महिला थाना चौक, राजीव गांधी चौक, मोतीबाग, घड़ी चौक, कलेक्टोरेट कार्यालय के सामने से मुड़कर राजभवन मार्ग पर गुरू घासीदास संग्रहालय के सामने से होकर सूर्यनमस्कार चौक, शांति नगर मोड़, शंकर नगर चौक, मरीन ड्राइव, तेलीबांधा, व्हीआईपी रोड, फुंडहर, टेमरी होते हुए माना विमानतल तक पहुंचेंगे, यहां से वे सीधे दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।  

 

No image

केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के छत्तीसगढ़ दौरे को देखते हुए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के विकास यात्रा की तारीख में एक दिन का बदलाव किया गया है। विकास यात्रा 17, 18 व 19 के बजाए अब 18, 19 व 20 तारीख को निकाली जाएगी। तारीख के अलावा कार्यक्रमों कोई फेरबदल नहीं किया गया। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह 20 मई को छग के अंबिकापुर प्रवास पर आ रहे है। ज्ञात हो कि इससे पहले राजनाथ सिंह विकास यात्रा का शुभारंभ करने 12 मई को छग प्रवास पर आये थे। उन्होंने दंतेवाड़ा में आमसभा को संबोधित कर तथा विकास यात्रा को हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया था। 
 

No image

देश में पत्रकारों का शुरू से सम्मान रहा है। देश को स्वतंत्र कराने में भी पत्रकारों का बहुत बड़ा योगदान रहा है। उक्त बातें देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान राजधानी रायपुर में स्थित कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए कही। श्री वेंकैया नायडू ने कहा कि मुझे पत्रकारिता बहुत पसंद हैं क्योंकि मैंने कहीं न कहीं इसी से हिंदी सीखी हैं। हिन्दूस्तान में हिंदी के बिना चल पाना संभव नही है। उन्होंने कहा कि आपके इस विश्वविद्यालय के दीक्षांत में शामिल होने पर मैं बहुत खुश हूं क्योंकि मैंने भी कुशाभाऊ ठाकरे के साथ काम  किया है। मैं उनको नमन करता हूं। उन्होंने सदैव सादा जीवन और उच्च विचार का असली मतलब समझाया। मुझे इस बात पर भी खुशी हो रही है कि पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी के लिखे गीत को यहां कुलगीत का दर्जा दिया गया है। 

उपराष्ट्रपति ने कुशाभाऊ ठाकरे विवि की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस विश्वविद्यालय की स्थापना को 14 साल हुए हैं। इतने कम समय में जो कामयाबी हासिल की है वह काबिले तारीफ  है। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता में नई बीमारी आ गई है, खासकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में। आज न्यूज और व्यूज में फर्क खत्म हो गया है। मीडिया अब उद्योग में बदल गया है। आपको समझना होगा समाचार लोगों को जागरूक करने के लिए है न कि कमीशन के लिए। आज लोग इस बात को भूल गए हैं। उपराष्ट्रपति ने यह भी कहा कि आज हम अपनी मातृभाषा को भूलकर अंग्रेजी को अपना रहे हैं। यह दुर्भाग्य है कि हम आगे बढऩे के लिए अपनी मातृभाषा को भूलकर अंग्रेजी को अपना रहे हैं। उपराष्ट्रपति ने समारोह में विवि में पत्रकारिता की पढ़ाई करने वाले छात्र-छात्राओं को उपाधि भी प्रदान की। 

No image

 देश के उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु 16 मई को एक दिवसीय छत्तीसगढ़ प्रवास पर राजधानी रायपुर आ रहे है। वे यहां कुशाभाऊ ठाकरे विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शामिल होंगे। 

उपराष्ट्रपति के रायपुर आगमन पर एयरपोर्ट से लेकर कार्यक्रम स्थल तक उनकी सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम रहेगा। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस कंट्रोल रूम में आईजी प्रदीप गुप्ता के नेतृत्व में आज एक बैठक भी हुई। जिसमें वीवीआईपी सुरक्षा, एसपी एमएल कोटवानी भी शामिल रहे। बता दें कि उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु 16 मई को दिल्ली से रवाना होकर सुबह 9.20 बजे स्वामी विवेकानंद विमानतल रायपुर पहुचेंगे। वे यहां से रवाना होकर सुबह 9.50 बजे कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय रायपुर पहुंचेंगे तथा यहां आयोजित दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे। कार्यक्रम में शामिल होने के बाद वे यहां से रवाना होकर 11.55 बजे विमानतल पहुंचेंगे तथा भोपाल के लिए रवाना होंगे।
 

No image

 छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल रायपुर द्वारा बी.एस.सी नर्सिंग एवं प्री.एम.सी.ए. की परीक्षा आगामी 17 मई को आयोजित की जाएगी। यह परीक्षा दो पाली में आयोजित होगी। प्रथम पाली में बी.एस.सी. नर्सिंग की परीक्षा सुबह 10.00 से 12.15 बजे तक एवं द्वितीय पाली में प्री.एम.सी.ए. की परीक्षा दोपहर 2 बजे से 5.15 बजे तक रायपुर शहर स्थित 14 परीक्षा केन्द्रों में आयोजित होगी।
परीक्षा के सुचारू संचालन के लिए डिप्टी कलेक्टर श्रीमती सीमा ठाकुर को परीक्षा प्रभारी अधिकारी, सहायक परियोजना अधिकारी श्री के.एस.पटले को सहायक नोडल अधिकारी बनाया गया है। परीक्षा के लिए कलेक्टोरेट के कक्ष क्रमांक-6 में कंट्रोल रूम बनाया गया है, जिसका दूरभाष नंबर 0771-2413233 है।

No image

उरगा के मसान रोड पर खेत में मिली युवती की लाश की शिनाख्ती हो गई है। मृतिका चांपा 25 निवासी कौशियल यादव के रूप में कई गई है, जिसकी शिनाख्ती परिजनों ने की है । वहीं उरगा पुलिस मामले की जांच में जुटी गई है।मृतिका के सास जानकी बाई ने बताया कि गांव में कोर्ट मैरिज करने के बाद कमाने-खाने कोरबा आए हुए थे। और उसके बेटे की मौत कब और किन परिस्थितियों में हुई है यह उसे भी नहीं मालूम। उसकी बहू की लाश देखकर उसे ऐसा लगता है कि उसके साथ किसी ने गलत कृत्य कर उसकी हत्या कर दी है। उरगा गाँव के सरपंच लाल जगत ने बताया कि युवती अर्धनग्न अवस्था में थी। ऐसा लग रहा है कि उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना शुरू कर दी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मामले का और खुलासा हो सकेगा।

क्या है मामला-उरगा थाना अंतर्गत मसान रोड पर 1 दिन पहले खेत पर युवती की लाश मिली थी। उरगा पुलिस शव की शिनाख्त में जुटी हुई थी युवती के हाथ में गोदना से पति का नाम लिखा हुआ था। जिसके आधार पर पुलिस ने चांपा निवासी 25 वर्षीय कौशिल्या नामक युवती की रूप में शिनाख्त कल उसके परिजनों को सौंपी। मृतका के परिजनों ने पहले तो उसकी सड़ी गली लाश देखकर पहले पहचान करने से इनकार किया फिर उसके हाथ पर लिखे उसके पति सत्यम के नाम को देख कर उसकी पहचान की। फिर मृतक के परिजनों ने उसके एक 4 वर्षीय बच्चे की खोजबीन शुरू की जो उसकी मां के साथ रहती थी। तब पता चला कि उसका बालक कुसमुंडा क्षेत्र में लापता हो गया था और उसे बाल कल्याण समिति को सौंपा गया है।

10 साल पहले कोर्ट मैरेज की थी-युवती के परिजनों ने बताया कौशल्या और उसका पति सत्यम 10 साल पहले कोर्ट मैरिज किए थे और उसके पति की मौत हुए 2 साल हुए हैं युवती के दो बच्चे हैं युवती एक 3 वर्षीय शिवा मासूम को लेकर कुसमुंडा कमाने खाने आई हुई थी

No image

जिले को दोरनापाल में पुलिस मुखबिर होने के शक में एक बार फिर नक्सलियों ने ग्रामीण की हत्या कर दी। ग्रामीण की हत्या कर चिंतागुफा के तेमेलवाड़ा गांव में शव फेंक दिया। वहीं एक अन्य युवक की बेदम पिटाई की है। जानकारी के मुताबिक पुलिस से मुखबिरी के शक में नक्सलियों ने 3 दिन पहले दो युवकों का अपहरण किया था। इसमें से एक युवक की उन्होंने बेदम पिटाई की तो दूसरे की हत्या कर उसका शव चिंतागुफा के तेमेलवाड़ा गांव में फेंक दिया। नक्सलियों की इस हरकत में गांव और आसपास के ग्रामीण दहशत में हैं।गौरतलब हो कि बीते 5 मई को ही दोरनापाल इलाके में नक्सलियों ने एनएच 30 पर टाटा 407 वाहन को आग के हवाले कर दिया था। माओवादियों ने पर्चा फेंक महाराष्ट्र के गढ़चिरोली में मारे गए साथियों को शहीद बताया था।
 

No image

कर्नाटक में भाजपा की जीत से देश सहित प्रदेश के भाजपाई अपनी खुशी का इंतजार कर रहे हैं। विकास यात्रा से लौटने पर मंगलवार को पुलिस ग्राउंड हैलीपेड में हेलीकॉप्टर से सीएम डा. रमन सिंह के उतरते ही भाजपा के कार्यकताओं ने जमकर आतिशबाजी की और अपनी खुशी का इजहार किया। प्रदेश के मुखिया डा. रमन सिंह ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि कर्नाटक चुनाव में भाजपा की जीत तो तय थी। देश की जनता कांग्रेस को हमेशा नकारते जा रही है और यह 23वां राज्य है जहां भाजपा ने जीत हासिल की है।

डा. रमन सिंह ने कहा कि भाजपा की लगातार जीत से यह तय है कि छत्तीसगढ़ में भी फिर से भाजपा की सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी जहां-जहां जा रहे हैं वहां कांग्रेस का बंटाधार होते जा रहा है। अभी कर्नाटक चुनाव में भी गए थे वहां पर भी कांग्रेस की हार हुई है। लगातार देश की जनता कांग्रेस को नकारने लगी है। इसी वजह से भारतीय जनता पार्टी की लगातार जीत हो रही है। 
मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने कहा कि विकाय यात्रा को लेकर जनता मे ंउत्साह है। यात्रा के दौरान बस्तर की जनता विकास को लेकर काफी खुश नजर आई। ऐसे में वहां की जनता भी निश्चित ही भारतीय जनता पार्टी को चुनने वाली है। भाजपा लगातार छत्तीसगढ़ में विकास कर रही है और इसी विकास की यात्रा पर हर साल भाजपा विकास यात्रा निकालती है। 
 

No image

अर्जुनी थाना क्षेत्र के कोलियारी गांव के पास हाईवा ने बच्चे को रौंदा दिया। घटना सुबह 9 बजे की है। दरअसल कोलियारी गांव के पास तेज रफ्तार से आ रही हाइवा ने साइकिल सवार परिवार को कुचल दिया। वहीं अपने मां-पिता के साथ साइकिल में सवार होकर जा रही बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई। जिससे राहगीर और ग्रामीण आक्रोशित होकर हाइवा में आग लगा दिए।

खबर मिलते ही पुलिस बल मौके पर पहुंच गई है और हाईवा को बुझाया गया। लगातार इस मार्ग से रसभरी हाईवा गुजरती है और जनप्रतिनिधि और ग्रामीणों के द्वारा लगातार हाईवा बंद करने की मांग की जाती रही है लेकिन प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। घटना की जानकारी मिलते ही विधायक गुरमुख सिंह होरा कांग्रेस जिलाध्यक्ष लेखराम साहू कांग्रेसियों के साथ मौके पर पहुंच कर धरना में बैठ गए हैं इससे चक्का जाम की स्थिति बन गई है।
 

No image

छ्त्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिले दंतेवाड़ा में मंगलवार को नक्सलियों ने जमकर उत्पात मचाया। यहां गलीनाला स्थित आकाशनगर में नक्सलियों ने एनएमडीसी बचेली के पंप हाऊस में आग लगा दी, जिससे काफी नुकसान हुआ है।

मिली जानकारी के मुताबिक नक्सलियों ने घटनास्थल पर कुछ बैनर व पोस्टर भी लगाए हैं, जिसमें कार्लमार्क्स के 200 वें जन्मदिन को उत्साह से मनाने की अपील की गई है। आगजनी की वारदात के बाद पुलिस पार्टी घटना की ओर रवाना हो चुकी है। बचेली थाना क्षेत्र के एसडीओपी धीरेंद्र पटेल ने वारदात की पुष्टि की है।

No image

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के रूझान में भाजपा को भारी बहुमत मिलने पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने इस जीत को ऐतिहासिक जीत बताया है। उन्होंने इस जीत की बधाई राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को फोन पर दी। 

डा. सिंह ने इस जीत के लिए कर्नाटक की जनता को धन्यवाद दिया है। साथ ही मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को फोन पर इस जीत की बधाई दी। डा. सिंह ने कहा कि भाजपा को मिली इस ऐतिहासिक जीत के बाद कहा कि देश में अब कांग्रेस खोजो अभियान चलाने की जरूरत पड़ेगी। डा. सिंह ने कहा कि देश से 80 प्रतिशत कांग्रेस गायब हो गई है। ऐसा लग रहा है कि देश में अब कांग्रेस खोजो यात्रा निकालने की जरूरत पड़ेगी। 
 

No image

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की विकास यात्रा रथ रविवार को सुकमा के गादीरास पहुंची। इस दौरान सीएम सिंह ने विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि जिले का चेहरा बदल रहा है। सरकार ने यहां के लोगों के लिए सड़कों का जाल बिछाया है ताकि यहां की यहां की जनता मुख्य धारा से जुड़ सके। सुकमा और कोंटा के बीच सड़क निर्माण करना मेरा सपना था, वहां ऐसी सड़क का निर्माण कराया जा रहा है कि कोंटा जाने के लिए मुख्यमंत्री हेलीकाप्टर से नहीं अपनी गाड़ी से जा सके। शिक्षा के क्षेत्र में बच्चे आगे बढ़ रहे हैं, नक्सली आतंक के खिलाफ हम स्वास्थ्य, शिक्षा और विकास से लड़ाई जीत रहे है। सरकार की योजनाएं अंतिम व्यक्ति तक पहुंच रही है इससे बड़ी बात मेरे लिए कुछ नहीं हो सकती।
उन्होंने आगे कहा कि जिन जगहों पर तेंदुपत्ता खरीदी ठेकेदार नहीं कर रहे है, वहां पर सरकार स्वयं खरीदी करेगी। जिन इलाकों में नक्सल समस्या सामने आ रही है वहां खरीदी का समय बढ़ाया जाएगा। 

उन्होंने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में हमारी पार्टी कुछ वोटों से पीछे रह गई थी, लेकिन इस बार हम कोई मौका नहीं देंगे। सरकार यहां की जनता के लिए काम कर रही है ये बात वो भली—भांति जानते हैं। यह कवासी लखमा का गढ़ नहीं है, हमारे नेताओं की आपसी लड़ाई हमें चुनाव में नुकसान पहुंचाती है। इस बार हम कोई भी मौका लखमा को नहीं देंगे, पार्टी कार्यकर्ता एक होकर कार्य कर रहे हैं। 
 

No image

 मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह विकास यात्रा के तीसरे दिन सोमवार को बस्तर संभाग के कोण्डागांव, कांकेर एवं नारायणपुर के प्रवास पर है। कोण्डागांव में आज सुबह प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए डा. सिंह ने कहा कि बस्तर में रेल, सड़क, एयर कनेक्टविटी के बाद राज्य सरकार अब इंटरनेट का भी जाल बिछाएगी। पूरे बस्तर में सड़कों के जाल के साथ ही इंटरनेट सुविधाओं का भी विकास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में 50 लाख स्मार्टफोन बांटे जाएंगे। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास यात्रा के दौरान 30 हजार करोड़ रुपए के विकास कार्य किए जाएंगे। इसमें बिजली से संबंधित सुविधाओं के लिए ऊर्जा विभाग के लगभग 2000 करोड़ रुपए के कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण होगा। भारत नेट परियोजना के तहत 2500 करोड़ रुपए के कार्य भी शुरू किए जाएंगे। डॉ. सिंह ने बताया कि विकास यात्रा के दौरान प्रदेश के 12 लाख किसानों को 1700 करोड़ रुपए के धान बोनस और 120 करोड़ रूपए की चना प्रोत्साहन राशि सहित 12 लाख 50 हजार तेंदूपत्ता संग्राहकों को लगभग 700 करोड़ रुपए का बोनस भी दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि 12 लाख 60 हजार परिवारों को आबादी पट्टों और प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत 12 लाख परिवारों को रसोई गैस कनेक्शनों का भी वितरण होगा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की विकास यात्रा पहले चरण में प्रदेश के 62 विधान सभा क्षेत्रों में पहुंचेगी। प्रथम चरण में 53 आम समाओं, 39 स्थानों पर स्वागत सभाओं और 16 स्थानों पर रोड शो का आयोजन किया जाएगा। 
मुख्यमंत्री ने प्रेसवार्ता में वरिष्ठ पत्रकार गोविंदलाल वोरा के निधन का उल्लेख करते हुए दुख व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि गोविंद लाल वोरा ने राजनीति से दूर पूरा जीवन पत्रकारिता को समर्पित कर दिया। पहले यह खबर आई थी कि उनके स्वास्थ्य में सुधार आ रहा है लेकिन कल रात उनके निधन की दुखद खबर आई। डॉ. सिंह ने श्री वोरा को एक मिनट का मौन धारण कर विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की।
 

No image

राज्य सभा सांसद बनने के बाद डॉ. सरोज पांडेय और सांसद ताम्रध्वज साहू पहली बार रेलवे स्टेशन पर हमसफर एक्सप्रेस के स्वागत के बहाने एक मंच पर आए। उधर उत्साहित समर्थक दलीय प्रतिद्वंद्विता नहीं छोड़ पाए और शक्ति प्रदर्शन की तर्ज पर अपने-अपने नेताओं के पक्ष में नारेबाजी पर उतर आए। नेताओं ने एक साथ हरी झंडी दिखाकर ट्रेन को रवाना किया।

इंदौर और पुरी के बीच शुरू की गई नई साप्ताहिक हमसफर एक्सप्रेस रविवार को पहली बार दुर्ग रेलवे स्टेशन पहुंची। दुर्ग से इस रूट पर ट्रेन की मांग लंबे समय से की जा रही थी। इसलिए इसे बड़ी उपलब्धि के रूप में भी देखा जा रहा है। संभवत : इसी के चलते दोनों सांसद समर्थकों के हुजूम के साथ ट्रेन का स्वागत करने के लिए रेलवे स्टेशन पहुंचे थे। सुबह 10.20 बजे जैसे ही ट्रेन प्लेटफार्म पर आई समर्थन ने उनके नाम पर जिंदाबाद के नारे लगाना शुरू कर दिए। सांसद ताम्रध्वज साहू ने नारेबाजी को रोक दिया। सरोज पांडेय के समर्थक लगातार नारेबाजी करते रहे। नारेबाजी का क्रम ट्रेन की रवानगी तक चलता रहा। विधायक अरुण वोरा,महापौर चंद्रिका चंद्राकर, जिला भाजपा अध्यक्ष उषा टावरी सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे। ट्रेन के पहुंचने से पहले सांसद ताम्रध्वज साहू ने सरोज पांडेय का मुंह मीठा कराया। दरअसल दोनों नेता करीब 20 मिनट पहले ही स्टेशन पहुंच गए थे। रेलवे के अधिकारियों ने यहां गेस्ट रूम में दोनों के बैठने व नाश्ते की व्यवस्था की थी। इस दौरान जैसे ही दोनों के बीच बातचीत शुरू हुई साहू ने मिठाई उठाकर सरोज की ओर बढ़ाई और ठिठोली करते हुए मुंह मीठा करने कहा। ट्रेन के इंतजार में भले ही दोनों नेता एक कमरे में बैठकर बातचीत करते रहे, लेकिन प्लेटफार्म में उनके समर्थक खेमे में बंटे रहे। नेताओं के ट्रेन के स्वागत के लिए प्लेटफार्म पर पहुंचने के बाद नेता अलग-अलग खड़े रहे। ट्रेन पहुंचने पर सरोज पांडेय ने साहू को स्वागत के लिए बुलाया, तब कार्यकर्ता एक-दूसरे के नजदीक आए। दोनों नेताओं को प्लेटफार्म में पहुंचने के बाद भी करीब 10 मिनट तक ट्रेन का इंतजार करना पड़ा। इस दौरान सांसद सरोज पांडेय ने बुजुर्गों के लिए चलाए जाने वाली गाड़ी में बैठकर ट्रेन का इंतजार किया। दरअसल पिछले दिनों सीढिय़ों से गिर जाने के कारण उनके पैर में चोट लगी है। दर्द होने की शिकायत की तो समर्थकों ने गाड़ी बुलाकर उन्हें बैठा दिया।

No image

नक्सलियों की इस हरकत ने भारतीय रेलवे को भी सकते में डाल दिया है। दक्षिण बस्तर में नक्सलियों ने उपद्रव मचाते रविवार की देर रात केके लाइन पर पेड़ गिराकर ट्रेन यातायात ठप्प कर दिया। सोमवार की तड़के 6 बजे डीआरजी (डिस्ट्रीक्ट रिजर्व गार्ड) जवान जब पेड़ को हटाने पहुंचे तो नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग भी की। मुठभेड़ के दौरान नक्सलियों ने आइईडी ब्लास्ट कर कमालूर रेलवे स्टेशन पर खड़ी एक जेसीबी और ट्रेलर में भी आगजनी की।


दंतेवाड़ा के एडिशनल एसपी गोरखनाथ बघेल ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि रविवार की देर रात नक्सलियों ने दंतेवाड़ा के पंडेवार में एक पेड़ काटकर गिरा दिया था। इस वजह से किरंदुल-कोत्तावलसा रेलमार्ग बाधित हो गया था। सोमवार की सुबह डीआरजी जवान रेलमार्ग पर गिरे पेड़ को हटाकर यातायात सुचारु करने गए हुए थे। इस दौरान सुबह 6 बजे के करीब वहां पहले से एम्बुश लगाकर बैठे नक्सलियों ने जवानों पर हमला कर दिया। जवानों ने भी नक्सलियों पर काउंटर फायरिंग की तभी नक्सलियों ने आइइडी विस्फोट कर दिया। जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली भाग खड़े हुए। हालांकि जाते-जाते नक्सलियों ने कमालूर रेलवे स्टेशन पर खड़ी एक जेसीबी और एक ट्रेलर को आग के हवाले कर दिया। नक्सलियों ने जवानों को नुकसान पहुंचाने के लिए ती आइइडी बिछा रखे थे। लेकिन वे एक ही आइइडी में विस्फोट कर सके।

मुठभेड़ के बाद सर्चिंग के दौरान सशस्त्र बल के जवानों ने घटनास्थल से वाकी-टाकी सेट बरामद किया है। जवान इलाके में सर्चिंग ऑपरेशन में जुटे हुए हैं। यह पहली बार नहीं है जब दक्षिण बस्तर में माओवादियों ने रेलवे को निशाना बनाया है। इससे पहले भी कई बार ट्रेन को निशाना बनाया जा चुका है। अब तक दो दर्जन से अधिक बार मालगाड़ी को डीरेल करने की कोशिश जा चुकी है। इसमें कई बार वे सफल भी हुए हैं। मालूम हो, इस ट्रैक से बैलाडीला से लौह अयस्क ले जाया जाता है।

No image

रायपुर. दसवीं-बारवीं की परीक्षा में असफल या पूरक छात्रों को माशिमं ने दोबारा मौका दे रहा है। बोर्ड परीक्षा में पूरक आए छात्र-छात्राओं को जून के अंतिम सप्ताह में परीक्षा देने का मौका मिलेगा। वहीं इनके साथ ही असफल छात्रों को जून में क्रेडिट योजना के तहत दोबारा परीक्षा देने का माध्यमिक शिक्षा मंडल एक मौका दे रहा रहा है।

क्रेडिट योजना के तहत एेसे विद्यार्थी परीक्षा में सम्मलित हो पाएंगे जिन्होंने कम से कम दो विषयों में परीक्षा पास की है। माशिमं के 10वीं-12वीं में फेल छात्रों की संख्या 1 लाख 30 हजार 765 है,तो वहीं पूरक छात्रों की संख्या 55 हजार 331 है । एेसे में इन छात्रों को राज्य ओपन स्कूल की क्रेडिट योजना के तहत जून में दोबारा परीक्षा देने का अवसर प्रदान किया जा रहा है। 

प्रदेश में बारहवीं की परीक्षा में 14 हजार 737 छात्राएं पूरक रही तो वही 14 हजार 286 छात्र पूरक है। सर्वाधिक कला विषय में 9 हजार 157 छात्राओं को पूरक प्राप्तांक मिला है। वही इसी विषय में पूरक छात्रों की संख्या 7 हजार 139 है माध्यमिक शिक्षा मंडल के अध्यक्ष गौरव द्विवेदी ने बताया कि पूरक आए विद्यार्थीयों को अगले साल की मुख्य परीक्षा के लिए इंतजार नही करना पडेग़ा, पूरक आए छात्रों को मई के अंतिम सप्ताह से आवेदन कर सकेंगे। यह सुविधा ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों के लिए मिलेगी। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम 9 मई को जारी कर दिए।

12वीं का परिणाम 77 फीसदी रहा। 12वीं के रिजल्ट में 79.40 लड़कियां उत्तीर्ण हुईं, जबकि लड़क 74.45 प्रतिशत उत्तीर्ण हुए। 10वीं का परिणाम 68 फीसदी इसके बाद स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप ने 10वीं का रिजल्ट घोषित किया। इस वर्ष 10वीं का परिणाम 68.04 फीसदी रहा। जिसमें 69.40 प्रतिशत लड़कियां उत्तीर्ण रहीं। जबकि 66.42 लड़के उत्तीर्ण हुए।

No image

स्टेशन रोड स्थित होटल यांत्रिक में एक युवती की हत्या हो गई। उसके साथ ठहरा युवक फरार है। हत्या में उसका हाथ होना बताया जा रहा है। दोनों दो दिन पहले होटल में ठहरे थे। युवक-युवती अंबिकापुर हैं। रविवार को होटल में युवती का शव मिला। शव डिकंपोज हो चुका है। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर गायब युवक की तलाश शुरू कर दी है। होटल यांत्रिक में इससे पहले सेक्स रैकेट व अन्य घटनाएं सामने आ चुकी है।

पुलिस के मुताबिक स्टेशन रोड स्थित होटल यांत्रिक में रविवार को शाम करीब 5 बजे कमरा नंबर 105 से तेज दुर्गंध आने लगी। कमरे में बाहर से ताला लगा था। इसकी सूचना होटल प्रबंधन ने पुलिस को दी। इसके बाद ताला तोड़ा गया। भीतर बिस्तर में युवती की लाश पड़ी थी। शव अर्धनग्न अवस्था में था। पूरा शरीर फूल चुका था। सडऩ होने की वजह से उसमें से दुर्गंध आ रही थी। होटल में पहचान संबंधी दस्तावेजों के आधार पर मृतका की शिनाख्त अपूर्वा तिवारी (27) के रूप में की गई है। उसके साथ ठहरने वाला विपिन दुबे (37) है, जो फरार है। कमरे में शराब की बोतल भी मिली है। दोनों अंबिकापुर के हैं। और 11 मई को सुबह सवा 8 बजे होटल पहुंचे थे। दोनों ने होटल में ठहरने का कारण रायपुर में परीक्षा देने आना बताया था।


युवती का शरीर डिकंपोज हो चुका है। आशंका जताई जा रही है कि जिस दिन अपूर्वा और विपिन होटल में ठहरे थे। उसी दिन विपिन ने उसकी हत्या कर दी और बाहर से ताला लगाकर फरार हो गया। तीन दिन हो जाने के कारण शव डिकंपोज होने लगा है। 11 मई को कमरे में ठहरते समय ही दोनों एक साथ दिखे थे। इसके बाद से दोनों को किसी ने नहीं देखा। अगले दिन कमरे में ताला लगा था, तब होटल के मैनेजर ने युवक के मोबाइल में कॉल किया। उसका मोबाइल बंद मिला। फिर रविवार को भी फोन किया, तो भी उसका नंबर बंद मिला। इस बीच कमरे से दुर्गंध आना शुरू हो गया था। रविवार शाम को दुर्गंध बढ़ गई। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई।


अंबिकापुर में विपिन के परिजनों ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई है। बताया जाता है कि युवक तीन दिन पहले कार लेकर निकला है, जो अब तक नहीं पहुंचा है। युवती के परिजनों का भी पता चल गया है। पुलिस ने उसके परिजनों को सूचना दे दी है। युवती का शव मरच्यूरी में रखा गया है।


युवती की पहचान हो गई है। परिजनों को सूचना दे दी गई है। युवक की तलाश की जा रही है। प्रथम दृष्टया मामला हत्या का है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुष्टि हो सकेगी। -मोहसीन खान, टीआई, गंज, रायपुर

No image

भ्रष्‍टाचार और कालेधन को मिटाने का वादा कर सत्‍ता में आई मोदी सरकार कुछ दिनों में चार साल की हो जाएगी। चार सालों के कामकाज को लेकर देश भर में बहस छिड़ी हुई है। कुछ लोगों का कहना है कि केंद्र ने अपने वादे पूरे किए तो कुछ का कहना है कि सरकार वादों को पूरा करने में जुटी दिखाई देती है। कोई कह रहा है कि पीएम के कथनी और करनी में अंतर है। लेकिन एक संस्था के सर्वे में जो बातें सामने आई है वो भाजपा के लिए राहत देने वाली है। संस्‍था के सर्वे में मोदी सरकार को फर्स्ट डिवीजन से पास बताया गया है।


सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म लोकल सर्किल्स के सर्वे में हर 10 में से 6 लोगों का मानना है कि मोदी सरकार अपने वादे पूरे करने में कामयाब रही है। सर्वे में शामिल लोगों में तीन चौथाई ने भारत की पाकिस्तान के खिलाफ नीति का समर्थन किया है। सर्वे के मुताबिक 54 फीसद लोग मानते हैं कि टैक्स टेररिज्‍म घटा है। डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) योजना सफल रही है।


56% लोग मानते हैं कि मोदी सरकार अपने वादों को पूरा करने के लिए सही ट्रैक पर जा रही है। 2017 के इसी सर्वे में 59 फीसद लोगों की यही राय थी। यानी एक साल में तीन प्रतिशत की गिरावट आई है। 2016 में यही आंकड़ा 64 फीसद यानी सरकार की विश्वसनीयता में लगातार कमी आ रही है। सरकार को सबसे बड़ी राहत जीएसटी और नोटबंदी के मोर्चे पर मिली है। 32 प्रतिशत लोगों का कहना है कि जीएसटी के बाद उनका रोजमर्रा का खर्च घटा है। 60 प्रतिशत लोगों का मानना है कि कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ।


इस सर्वे का आंकड़ा लोकसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी के माथे पर चिंता बढ़ाने वाला है। लोगों की शिकायत है कि सांसद अपने क्षेत्र में समय नहीं दे रहे हैं। आपको बता दें कि पीएम लगातार सांसदों के साथ बैठक कर इस बात जोर देतें हैं कि अपने क्षेत्र की जनता के साथ संपर्क बनाएं।

No image

रायपुर. खमतराई इलाके के रावाणाठा में आज सुबह एक तेल और घी के गोदाम में भीषण आग लग गई। इस आगजनी की विभीषिका का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आग बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड की 8 वाहनें लगाई गई, इसके अलावा एसडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंच गई थी।


सूत्रों ने बताया कि आगजनी की घटना आज सुबह करीब 06 बजे की है। रावाभाठा स्थित एक तेल और घी के गोदाम में लगी आग की सूचना स्थानीय लोगों ने दमकल विभाग और पुलिस थाने में दी। इस समय मार्निंग वॉक में निकले कुछ लोगों ने तथा गोदाम के आसपास रहने वाले लोगों ने यहां से धुंआ निकलते देखा तो सकते में आ गए। तत्काल पुलिस को और दमकल विभाग को इसकी सूचना दी। इसके बाद मौके पर दमकल की दो वाहनें पहुंची थी। दमकल कर्मी आग बुझाने का जतन कर ही रहे थे कि अचानक आग भड़क उठी और देखते ही देखते आग ने पूरे गोदाम को अपनी चपेट में ले लिया। बताया जाता है कि यह गोदाम धारा ब्राण्ड के रिफाइन ऑयल की है, इसके संचालक राजीव गुप्ता हैं। आगजनी की सूचना खमतराई थाने तक भी पहुंची।

यहां से भी पेट्रोलिंग पार्टियां मौके पर पहुंची और भीड़ को घटना स्थल से दूर किया। इस दौरान दमकल की आधा दर्जन वाहनें और मौके पर पहुंची। इस तरह करीब 08 वाहनें आग बुझाने में जुटी रही। आग को फैलता देख और जान-माल के नुकसान को बचाने के लिए तत्काल एसडीआरएफ की टीम को सूचित किया गया। कुछ ही समय में एसडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंच गई थी। इस आगजनी से कितना नुकसान हुआ है, आग कैसे लगी, इसका पता नहीं चल पाया था। 

 

No image

कांग्रेस शहर जिला अध्यक्ष विकास उपाध्याय द्वारा अपने फेसबुक पेज पर मंत्री राजेश मूणत के खिलाफ गलत जानकारी देते हुए कमीशन खोरी व भ्रष्टाचार का आरोप लगाने का भाजपा कार्यकर्ताओं ने पुरजोर व कड़ा विरोध किया है।

वहीं भाजपा कार्यकर्ताओं ने विकास उपाध्याय के खिलाफ सोशल मीडिया में दुष्प्रचार करने का आरोप लगाते हुए गुढिय़ारी थाने में  एफआईआर दर्ज कर जल्द से जल्द दोषी को गिरफतार करने की मांग की है। गौरतलब है कि इन दिनों सभी दलों के नेता सोशल मीडिया में काफी एक्टिव हैं। वहीं दल के आधार पर नेता कार्यकर्ता एक दूसरे को घेरने में लगे रहते हैं। साथ ही कार्टुन बनाकर मजाक बनाने का कार्य भी करते हैं। इसी कड़ी में कांग्रेस शहर जिला अध्यक्ष विकास उपाध्याय ने रामनगर क्षेत्र में विशाल दिशा निर्देशक बोर्डो का बीते दिन आए आंधी-तुफान में गिरना कहते हुए आमजन को नुकसान होने की बात कही है। बोर्ड को खड़ा करने मेें लापरवाही बरतने और लोक निर्माण मंत्री पर कमीशन खोरी और भ्रष्टाचार का आरोप भी लगाया है। जबकि वास्तविकता यह है कि वे विशाल बोर्ड मार्च माह में लोक निर्माण विभाग द्वारा संबंधित सड़क चैड़ीकरण और डिवाडर के निर्माण के दौरान सुरक्षित तरीके से निकाल कर खाली स्थान पर व्यवस्थित तौर पर रखा गया है। कांग्रेसी विकास उपाध्याय द्वारा इस तरह की झूठी जानकारी देने व फेसबुक पर पोस्ट करने से भाजपा कार्यकर्ता भड़के उठे। उन्होंने विकास पर आरोप लगाया कि वे सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए झूठ का सहारा ले रहे हैं। साथ जनता का गुमराह कर मंत्री राजेश मूणत को बदनाम कर रहे हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं ने विकास उपाध्याय के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए सोशल मीडिया में ही लाईव चलाकर सत्यता उजागर की है।

साथ ही लगातार सोशल मीडिया में हो रहे इस तरह के दुष्प्रचार को तत्काल रोकने और दोषी विकास के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जल्द जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है। थाने में शिकायत करने मंडल अध्यक्ष पवन केशरवनी, बजरंग खण्डेलवाल, प्रकाश यादव, दीनानाथ शर्मा, विनोद अग्रवाल, प्रितम ठाकुर, विशेष विद्रोही, राजेश देवांगन, पुरूषोत्तम मोवले, खेमलाल साहू, शुभम यादव, राजकुमार यादव, लक्ष्मी यादव, कल्याणी वर्मा, रत्ना ठाकुर, शमसुन निशा सहित सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे।     
 

No image

भाजपा सरकार के नाकामी,महिला उत्पीडऩ , स्थानीय समस्या के विरोध में जिले के युवक कांग्रेस नेताओं ने आज कचहरी चौक में हल्ला बोल कर कलेक्टर कार्यालय का घेराव करने का कार्यक्रम रखा गया है,पर युवक कांग्रेस के पंडाल में जितने कार्यकर्ता दिखाई दे रहे कही उससे ज्यादा तामझाम पुलिस ने की है।

लिंक रोड, मेंन रोड को बेरिकेड्स लगा कर जाम कर दिया है, मात्र थोड़ी सी जगह आने जाने वालों के लिए े है। पुलिस की इस वयवस्था से आने जाने वाले भारी वाहनों व राहगीरों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। हजारो की संख्या में जगह जगह पुलिस के जवान मौजूद है। पुरा एन एच् 49 रोड पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है। ऐसा लग रहा  मानो कोई बड़े नेता का आगमन होने जा रहा हो। पुलिस की इस व्यवस्था सेआमजन खासे नाराज है। इस तरह देखा जाय तो  जितनी संख्या युवक कांग्रेस नेताओं की नही है उससे ज्यादा पुलिस के जवान नजर आ रहे है।

No image

विकास खोजो यात्रा में आज कांग्रेसजनों का काफिला मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह के गोद लिए गांव सुरगी पहुंची। इसके अलावा सांसद अभिषेक के गोद लिए गांव भोथीपारखुर्द में भी कांग्रेसजनों ने ग्रामीणों से मुलाकात की। पीसीसी चीफ भूपेश बघेल ने कहा कि इन दोनों गांवों की हालत बेहद खराब है। पेयजल सहित अन्य समस्याओं से ग्रामीण जूझ रहे हैं। उन्होंने कहा कि हंडी में चावल पका है या नहीं यह एक-दो दाने दबाकर देखा जाता है, पूरी हंडी के चावल को जांचने की जरूरत नहीं पड़ती। ठीक इसी तरह से जब मुख्यमंत्री और सांसद के गोद लिए गांव की हालत देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश में विकास की हालत क्या है। 

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि 15 सालों में डा. रमन सिंह अपने गोद लिए गांव में पेयजल की समुचित व्यवस्था नहीं करा पाए हैं। उज्जवला योजना, मध्यान्ह भोजन योजना में बच्चों को भी ठीक ढंग से भोजन नहीं मिल पा रहा है। किसानों में भारी आक्रोश है, न तो उन्हें मुआवजा मिला है और न ही बीमा की राशि मिली है और न ही बोनस मिल रहा है। बिजली महंगी हो चुकी है, मनरेगा में 200 दिन के काम का दावा किया जाता है, मगर एक सप्ताह का काम ही दे रहे हैं, इसके अलावा मजदूरों को भुगतान नहीं हो रहा है। मनरेगा योजना की भी हालत खराब है। इनके सांसद के गोद लिए गांव में निस्तार के लिए पानी की भारी कमी है। ग्रामीण स्वयं के उपक्रम से और आपस में चंदा करके पांच किलोमीटर लंबा नाली बनाकर पानी लाने को मजबुर हुए हैं। यही हालत ग्राम सुरगी का है, जहां 3-3 दिनों तक पानी नहीं मिल पा रहा है। सिंचाई की बात छोड़ दिया जाए तो ग्रामीणों को पेयजल तक नसीब नहीं हो पा रहा है। हैंडपंप सूख चुके हैं, नल बंद पड़े हैं, नलों की टोटियां सूख चुकी हैं।

ये विकास है और ये हमने उनके निर्वाचन क्षेत्र में देखा है। आज स्थिति यह है कि यदि विकास देखना है  तो डा. साहब के निर्वाचन क्षेत्र में और उनके गोद लिए गांव में देखें। ग्रामीणों की जो समस्याएं हैं, उनका निदान करें।  यहां बेरोजगार युवा होटल-ठेले चलाने को मजबुर हो गए हैं। मुद्रा योजना में 2-3 लाख रूपए के लोन के लिए युवा बेरोजगार सालों से चक्कर काटने को मजबुर हैं, मगर उन्हें लोन नहीं मिल पा रहा है। हांडी में चावल पका है या नहीं पका है, यह एक दाना दबाकर देख लिया जाता है।

पूरे हंडी को जांचने की जरूरत नहीं पड़ती। इसी तरह से आज कांग्रेसजनों ने डा. साहब के गोद लिए गांव में तथा सांसद के गोद लिए गांव में जाकर देख लिया है। वहां विकास नाम की कोई चीज नहीं है। भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी की भेंट चढ़े हुए विकास कार्य के नाम पर गुणवत्ताहीन काम हुए हैं। किसानों में, मजदूरों में, महिला वर्ग में भारी आक्रोश हैं। उज्जवला योजना में माताएं-बहनें रिफलिंग नहीं करा पा रही हैं, जो सिलेंडरों की रिफलिंग करवा चुकी हैं उनके खातों में भी सबसिडी का पैसा जमा नहीं हुआ है। विकास के काम केवल कागजों में हो रहा है, धरातल में विकास क्या है, यह जनता भी देख रही है। 
 

No image

 छत्तीसगढ़ में डा. रमन सिंह की सरकार ने पिछले 15 सालों में जितने विकास कार्य और जनकल्याण के कार्य किए हैं, वह काबिले तारीफ है। आज छग का पीडीएस सिस्टम न केवल देश में विख्यात है, बल्कि अब विदेश के लोग भी इस सिस्टम को समझने आ रहे हैं। यह न केवल छत्तीसगढ़ के लिए बल्कि देश के लिए भी गौरव की बात है। गांव, गरीब, किसान और समाज के रह वर्ग की चिंता करने वाले ऐसे सरकार की जितनी भी तारीफ की जाए, कम है। 

उक्त बातें केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज दंतेवाड़ा में आयोजित एक विशाल सभा को संबोधित करते हुए कही। राज्य सरकार के विकास यात्रा को हरी झंडी दिखाने पहुंचे केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह और राज्य की भाजपा सरकार की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने जिस शालीनता से और गंभीरता से विकास कार्यों का बीड़ा उठाया और इसे लगातार पूरा करते आ रहे हंै, यह सच में प्रशंसा की बात है। उन्होंने कहा कि आज से राज्य सरकार का विकास यात्रा शुरू हो रहा है। इस यात्रा के माध्यम से राज्य सरकार जनता से प्रत्यक्ष मुलाकात करेगी। अब तक सरकार ने जनकल्याण के कितने काम पूरा किया और क्या करने वाले हैं, इसकी जानकारी दी जाएगी। इसके अलावा यात्रा के माध्यम से वे जनसमस्याओं से भी अवगत होंगे और इसे दूर करने का प्रयास करेंगे। 

उन्होंने कहा कि पिछले 15 सालों से डा. रमन सिंह प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में काम करते आ रहे हैं। वे स्वयं भी उत्तरप्रदेश के मुखिया के रूप में काम कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने देश के कई सीएम को देखा है, उनके काम करने के तरीकों से वाकिफ हैं, लेकिन जिस तरह से डा. रमन सिंह अपना काम बखूबी अंजाम देते हंैं, ऐसा मुख्यमंत्री उन्होंने आज तक नहीं देखा है। उन्होंने कहा कि ऐसा मुख्यमंत्री जो हर समय अपने प्रदेशवासियों की चिंता करता है, ऐसा सीएम जो बेटियों को पैदल स्कूल जाने नहीं देता, उनके लिए साइकिल मुहैया कराता है, देश में कोई नहीं है। श्री सिंह ने कहा कि गरीबों के लिए रोजगार, उपचार की व्यवस्था, किसानों के फसल खराब होने पर बीमा की योजना। गरीब, मेहनतकशों के लिए उनके रोजगार के लिए औजार उपलब्ध कराने वाला मुख्यमंत्री एकलौते डा. रमन सिंह है। उन्होंने कहा कि आदिवासियों तक बिजली, पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य पहुंचाने वाले और उनके हाथों में स्मार्ट फोन पहुंचाने वाले मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह के काम करने का अंदाज सबसे अलग है। 

केन्द्रीय गृहमंत्री ने कहा कि जब वे छत्तीसगढ़ में प्रभारी थे, तब भी वे छत्तीसगढ़ को करीब से जानते थे। विकास के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि तब के छत्तीसगढ़ और अब के छत्तीसगढ़ में कितना अंतर आ गया है, यह इस बात से पता चल जाता है कि तब बस्तर में कोई पीएम, सीएम नहीं आते थे। जिन गांवों में बूंद-बूंद पानी के लिए लोग तरसते थे, आज वहां पेयजल संकट खत्म हो चुका है। उन्होंने कहा कि अपने कार्यकाल में अब तक डा. रमन सिंह ने कई ऐसे काम करके दिखाए हैं, जो देश-दुनिया के लिए प्रेरणा स्त्रोत बना है। उन्होंने कहा कि गरीबों का विकास किए बिना राज्य का विकास नहीं हो सकता। यह बात राज्य सरकार भलीभांति समझती है। आज तक किसी भी सरकार ने गरीबों की चिंतानहीं की, आदिवासियों की चिंता नहीं की, यह काम केवल डा. रमन सिंह की सरकार ने की। आदिवासियों का बैंक एकाउंट, बाहुल्य क्षेत्रों में स्वास्थ्य,शिक्षा की व्यवथा अब तक की सरकारों ने क्यों नहीं की? उन्होंने कहा कि गरीबों के लिए गरीबों की तबियत खराब होने पर अब उन्हें एक साल में 5 लाख तक का मुफ्त इलाज मिलेगा। राज्य सरकार ने स्मार्ट कार्ड योजना शुरू की, जिसमें जनता को 50 हजार तक का मुफ्त इलाज की सुविधा मिल रही है। ऐसी राज्य सरकार को और ऐसे डा. रमन सिंह की सरकार फिर से बननी ही चाहिए।

केन्द्रीय गृृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आदिवासी समाज का आभार जताते हुए कहा कि नक्सली ही आदिवासियों के सबसे बड़े दुश्मन हैं। उन्होंने नक्सलियों के बहकावे में न आने के लिए आदिवासी समाज का आभार जताया। उन्होंने कहा कि आज राज्य सरकार ने हजारों करोड़ का विकास कार्य का लोकार्पण भी किया है। इसमें 18 करोड़ का बायपास रोड बनेगा जो कि कटे कल्याण से होते हुए गुजरेगा।  किरंदुल में गौरवपथ का निर्माण, 13 करोड़ में आवासहीनों के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरूआत की गई है। इसके अलावा दंतेवाड़ा जिले में 26 हजार लोगों तक शुद्ध पेयजल की सुविधा शुरू की गई है। अब तक राज्य में सवा लाख लोगों को आवास उपलब्ध कराया जा चुका है। अब लक्ष्य 7 लाख लोगों को आवास उपलब्ध कराने का है। 


 

No image

 विकास यात्रा का शुभारंभ करने केन्द्रीय  गृहमंत्री राजनाथ सिंह विशेष विमान से आज छत्तीसगढ़ के जगदलपुर एयरपोर्ट पहुंचे, जहां प्रदेश संगठन केपदाधिकारियों ने उनका आत्मीय स्वागत किया। श्री सिंह के यहां पहुंचने के बाद वे दंतेवाड़ा के लिए रवाना हो गए। 

केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह आज दंतेवाड़ा में मां दंतेश्वरी मां की पूजा अर्चना करने के बाद भाजपा की विकास यात्रा को झंडी दिखाकर इसका शुभारंभ करेंगे। राजनाथ सिंह के साथ विशेष विमान से छग प्रदेश के प्रभारी अनिल जैन भी जगदलपुर पहुंचे हुए है। इधर मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह के भी जगदलपुर पहुंचने पर भाजपा के नेताओं ने उनका एयरपोर्ट पर स्वागत किया। राजनाथ सिंह का एयरपोर्ट मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय, धरमलाल कौशिक, दयालदास बघेल, संतोष बाफना, सुनील सोनी सहित बीजेपी के दिग्गज नेताओं ने स्वागत किया।
 

No image

 प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान अंतर्गत अब तक 4 लाख से अधिक गर्भवती महिलाओं को लाभ मिला है। इस अभियान में निजी चिकित्सकों की भागीदारी से गर्भवती माताओं को लाभ मिल रहा है। भारत सरकार की इस अभिनव पहल से गर्भवती माताओं की जांच, परीक्षण, दवाई आदि नि:शुल्क किया जा रहा है। योजना में निजी चिकित्सकों की भागीदारी अच्छी होने के चलते कई गर्भवती माताओं की जांच व परीक्षण किये जाने में सुरक्षित मातृत्व को ध्यान में रखकर निजी चिकित्सक जन्मदर बड़ाने के लिए उत्साह पूर्वक कार्य कर रहे है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार 4 लाख 4 हजार गर्भवती महिलाओं को योजना का लाभ मिल चुका है। विगत 9 मई को 15 से 20 हजार गर्भवती महिलाओं की जांच  की गई।  इस अभियान में सरकारी एवं निजी चिकित्सालयों में कार्यरत स्त्रीरोग विशेषज्ञों का निरंतर सहयोग मिल रहा है। गर्भवती महिलाओं की सोनोग्राफी जांच, रक्त, मूत्र, बीपी शुगर आदि की जांच भी की जा रही है। संचालक छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य सेवाओं से मिली जानकारी के अनुसार गर्भवती महिलाओं को आईएपए दवा, फोलिक टेबलेट,त कैल्सियम टेबलेट, विटामिन डी एवं अन्य दवाएं नि:शुल्क वितरित की जा रही है। 

 

No image

विकास यात्रा शुरु होने के ठीक पहले नक्सलियों ने 2 आईईडी बम लगाकर अपनी उपस्थिती दर्ज करा दी है। दरअशल आज 12 मई को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह विकास यात्रा की शुरुआत करने वाले है। वहीं नारायणपुर में 2 आईईडी बम मिलने से इलाके में दहशत का माहौल है। जबकि इस विकास यात्रा का सुनहरे मौके पर नक्सलियों ने जिले के ओरछा मार्ग पर 2 आईईडी बम लगा कर दहशत फैलाने की नाकाम कोशिश की है।

हालांकि पुलिस बस्तर के चप्पे-चप्पे पर तैनात है। बताया जाता है कि नारायणपुर ओरछा मार्ग में झोरी नाला के पास आईडी बम मिला है। 10 और 15 किलो के 2 आईईडी बम मिले हैं। सूचना पर बीडीएस की टीम मौके पर पहुंची और आईईडी बम को सुरक्षित निष्क्रिय किया। बता दें कि नक्सलियों ने पुलिस पार्टी को नुकसान पहुंचाने के इरादे से बम लगाया था। मामला धनोरा थाने इलाके का बताया जा रहा है।

 

No image

 भिलाई इस्पात संयंत्र के सिटर प्लांट में 3 ठेका मजदूरों की मौत के मामले में प्रबंधन ने 2 डीजीएम विजय रथ और वीके उपाध्याय को सस्पेंड कर दिया है।संयंत्रप्रबंधन ने इन दोनों को ही प्रथमद्रष्टया दोषी माना है। शनिवार को ये जानकारी बीएसपी के जानकार सूत्रों ने दी। उन्होंने बताया कि पुलिस ने इस मामले में 8 लोगों के खिलाफ लापरवाही का मामला दर्ज किया है। मामले की तहकीकात जारी है।

दरअसल पिछले 3 दिनों के अंदर सिटर सेक्शन में 3 ठेका मजदूरों की मौतें हुई थीं। शुक्रवार को भी इसमें एक मजदूर का हाथ दब गया था। सहकर्मियों की सावधानी की वजह से वो बच गया।  इसमें प्रबंधन के कुछ लोगों की लापरवाही का मामला सामने आया था। ऐसे में प्रबंधन ने ये कदम उठाया है।
 

No image

 इंदौर एवं पुरी के मध्य एक नई साप्ताहिक हमसफर एक्सप्रेस सेवा का शुभारंभ श्रीमती सुमित्रा महाजन, माननीय लोकसभा अध्यक्ष के द्वारा दिनांक 12 मई, 2018 (शनिवार) को सायंकाल 18.15 बजे इंदौर से हरी झंडी दिखाकर किया जाएगा ।
शुभारंभ के दिन दिनांक 12 मई, 2018 को इंदौर रेलवे स्टेशन से इंदौर-पुरी-इंदौर, हमसफर एक्सप्रेस सेवा को एक स्पेशल ट्रेन के रूप में स्पेशल समय-सारणी के अनुसार चलाई जाएगी। यह स्पेशल इंदौर स्टेशन से 18.15 रवाना होकर भोपाल, इटारसी के रास्ते अगले दिन नागपुर 06.25 बजे, राजनांदगांव 09.50 बजे, दुर्ग 10.20 बजे, रायपुर 10.55 बजे, बिलासपुर 12.45 बजे एवं झारसुगुड़ा, संबलपुर, भुवनेश्वर के रास्ते मध्य रात्रि 01.55 बजे पुरी पहुचेगी।

इस गाड़ी की नियमित सेवा दिनांक 22 मई, 2018 (मंगलवार) को इंदौर से एवं  दिनांक 23 मई, 2018 (बुधवार) को पुरी से 19317ध्19318 इंदौर-पुरी-इंदौर, साप्ताहिक हमसफर एक्सप्रेस सेवा के रूप में अपने नियमित समय-सारणी के अनुसार चलाई जाएगी । 19317 इंदौर-पुरी, साप्ताहिक हमसफर एक्सप्रेस इंदौर से पुरी के लिए प्रत्येक मंगलवार को चलेगी। इसी प्रकार  19318  पुरी-इंदौर, साप्ताहिक हमसफर एक्सप्रेस पुरी से इंदौर के लिए प्रत्येक बुधवार को चलेगी।
 

No image

 छग शिक्षक संघ एवं विभिन्न संगठनों के  आव्हान पर आज शिक्षाकर्मियों ने बूढ़ापारा धरना स्थल में संयोजक वीरेंद्र दुबे केदार जैन एवं गोपी साहू सहित अन्य पदाधिकारियों के नेतृत्व में हजारों की संख्या में महापंचायत में पहुंचकर शासन की नीतियों के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराया। संघ के संयोजक वीरेंद्र दुबे ने बताया कि कई वर्षों से शिक्षाकर्मी संविलियन एवं अन्य मांगों जैसे वेतन विसंगति पदोन्नति वेतनमान समयमान आदि को लेकर शासन प्रशासन के जिम्मेदारों से विभिन्न धरना प्रदर्शनों के माध्यम से ज्ञापन देकर मांग पूरी करते रहे है। गत वर्ष तीन माह से भी अधिक चले धरने को मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद निशर्त समाप्त किया गया था।

मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव के  नेतृत्व में कमेटी गठन करने के तीन माह के उपरांत आई रिपोर्ट के आधार पर निर्णय लेने का आश्वासन दिया था। समयावधि गुजरने के उपरांत भी शिक्षाकर्मियों का संविलियन नहीं किया गया । सरकार की वादाखिलाफी के खिलाफ महापंचायत का आयोजन कर उन्होंने मुख्यमंत्री से शिक्षाकर्मियों के हित में संविलियन/शासकीयकरण एवं विभिन्न मांगों को पूर्ण करने का आग्रह किया है। शिक्षाकर्मियों के धरने में आज प्रदेश के 27 जिलों के शिक्षाकर्मियों ने हजारों की तादाद में धरना स्थल पहुंचकर बूढ़ापारा मार्ग का यातायात भी प्रभावित किया।
 

No image

अप्रैल माह में गर्मी बदली एवं असमय वर्षा के कारण तापमान में उतार चढ़ाव होता रहा। मई माह में आसमान साफ होते ही अब गर्मी ने अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिये है। 43 डिग्री तापमान पार होते ही मेकाहारा एवं जिला अस्तपाल में प्रतिदिन 1000 हजार मरीज ओपीडी में आ रहे है। मेकाहारा की जनसंपर्क अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार गर्मी बढ़ते ही उल्टी दस्त वायरल फीवरडीहाईडे्रशन एवं चक्कर की बीमारियों से ग्रसित मरीज अस्पताल पहुंच रहे है। मेकाहारा की  चिकित्सक डा. स्वाति साहू ने आम लोगों से धूप में सिर ढ़ककर, पानी उबालकर पीने, एवं बाहरी सड़े गले खादय पदार्थ लोगों से न खाने की अपील की है।
 

No image

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डा. एसके पाटिल सहित विश्वविद्यालय के 7 अधिकारियों, कर्मचारियों व अन्य के द्वारा शासकीय राशि का गबन व 1 करोड़ 26 लाख 70 हजार 880 रूपए के भ्रष्टाचार किए जाने के मामले में न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी के आदेश की कॉपी लेकर एफआईआर कराने की मांग को लेकर थाना पहुंचे युवा जनता कांग्रेस जे के प्रदेश अध्यक्ष विनोद तिवारी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। कोर्ट के आदेश के संदभ्र में विनोद तिवारी कोर्अ की कॉपी लेकर तेलीबांधा थाना पहुंचे थे, जहां दोषियों के खिलाफ कार्यवाही न करते हुए  उल्टे दोषियों को राज्य शासन के इशारे पर संरक्षण देते हुए शिकायतकर्ता विनोद तिवारी सहित युवा जनता कांग्रेस जे के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को भेज दिया गया। जिसके विरोध में रायपुर संभाग के युवा जनता कांग्रेस जे के सभी पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं के द्वारा आज शाम 4 बजे राज्य शासन का पुतला दहन किया जाएगा। 

 

No image

महत्वपूर्ण)(रायपुर) केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह का मिनट टू मिनट कार्यक्रम तय
0-कल दंतेवाड़ा में विकास यात्रा को दिखाएंगे हरी झंडी 
रायपुर, 11 मई (आरएनएस)। राज्य सरकार के विकास यात्रा की शुरूआत कल दंतेवाड़ा से होगी। विकास यात्रा को हरी झंडी दिखाने केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह का कल प्रदेश आगमन होगा। श्री सिंह बीएसएफ के विशेष विमान से जगदलपुर पहुंचेंगे और यहां विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होने के बाद वापस दिल्ली लौट जाएंगे। 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह बीएसएफ के विशेष विमान से सुबह 9 बजे दिल्ली रवाना होंगे। उनका विमान सुबह 11 बजे जगदलपुर एयरपोर्ट पहुंचेगा। यहां से वे बीएसएफ के ही हैलीकॉप्टर से दंतेवाड़ा के लिए रवाना होंगे और पुलिस लाईन करली दंतेवाड़ा पहुंचेंगे। सुबह 11.45 बज े वे सड़क मार्ग से मां दंतेश्वरी मंदिर पहुंचेंगे और यहां पूजा-अर्चना, दर्शन पश्चात सुबह 11.50 बजे दंतेश्वरी मंदिर से हाईस्कूल मैदान दंतेवाड़ा के लिए प्रस्थान करेंगे। यहां दोपहर 12.30 बजे आयोजित विशाल आमसभा को संबोधित करेंगे तथा हाईस्कूल मैदान से राज्य सरकार द्वारा कल से प्रारंभ की जा रही विकास यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगे। दोपहर 1.45 बजे वे सड़क मार्ग से ही सर्किट हाउस के लिए रवाना हो जाएंगे।  सर्किट  हाउस से दोपहर 2.20 बजे वे पुलिस लाईन करली के लिए रवाना होंगे और 2.30 बजे हेलीकॉप्टर से वापस जगदलपुर के लिए रवाना हो जाएंगे। जगदलपुर एयरपोर्ट में दोपहर 3.10 बजे पहुंचकर बीएसएफ के विशेष विमान से वापस दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे। 
 

No image

 छत्तीसगढ़ शासन की पुनर्वास एवं आत्म समर्पण नीति से प्रभावित, पुलिस द्वारा चलाये गये नक्सल विरोधी अभियान से दबाव में आकर व जनजागरण अभियान से प्रेरित होकर, समाज की मुख्य धारा में शामिल होने की इच्छा, आंध्रप्रदेश के बड़े नक्सली लीडरों की प्रताडऩा एवं भेदभाव से प्रताडि़त होकर 4 सक्रिय नक्सलियों ने सुकमा पुलिस के समक्ष देशी कट्टे के साथ आत्मसमर्पण कर दिया। आत्मसमर्पित सभी माओवादी जनमिलिशिया सदस्य हैं और छत्तीसगढ़ के मूल निवासी हैं। 
एसपी अभिषेक मीणा ने बताया कि सरेंडर नक्सलियों में मिलिशिया कमांडर माड़ा व प्रकाश, डीएकेएमएस (दंडकारण्य आदिवासी किसान मजदूर संघ) अध्यक्ष सिंगा एवं पूर्व डीएकेएमएस अध्यक्ष हिड़मा शामिल हैं।

एक अन्य कार्रवाई में चिंतलनार थाना क्षेत्र के जंगल में दबिश देकर पुलिस ने दो स्थायी वारंटी नक्सलियों नागाराम निवासी कुंजाम हुर्रा एवं तोंगगुड़ा निवासी मड़कम सुक्का को गिरफ्तार किया है। स्थायी वारंटी नक्सली हुर्रा व सुक्का दोनों माओवादी संगठन में मिलिशिया सदस्य के रूप में सक्रिय थे। नक्सली हुर्रा मोरपल्ली के पास आईईडी विस्फोट कर जवान को घायल करने, नागाराम के ग्रामीण नुप्पो चैतू की हत्या करने एवं सुक्का तोंगगुड़ा निवासी ग्रामीण पोडिय़म पोज्जा से मारपीट करने की नक्सली वारदात में शामिल होने के आरोपी है। 
 

No image

शिक्षाकर्मियों की ओर से महापंचायत के लिए बूढ़ातालाब धरना स्थल के लिए मांगी गई अनुमति को आखिरकार जिलाप्रशासन ने हरी झंडी दे दी है। कल सुबह 11 बजे से यहां हजारों की संख्या में शिक्षाकर्मी जुटेंगे। ज्ञात हो कि कुछ दिनों पूर्व ही शिक्षाकर्मियों के एक प्रतिनिधि मंडल ने जिला प्रशासन को लिखित आवेदन देकर अपने महापंचायत कार्यक्रम के लिए बूढ़ापारा धरना स्थल के लिए अनुमति मांगी थी। तब जिला प्रशासन ने अनुमति नहीं दी थी।

आज जिला प्रशासन ने मोर्चा के संचालकों की एक बैठक बुलाई थी, जिसमें शिक्षाकर्मी नेताओं के साथ ही कलेक्टर ओपी चौधरी, एसपी अमरेश मिश्रा, एएसपी सिटी विजय अग्रवाल के अलावा यातायात और प्रशासन के भी कुछ चुनिंदा अधिकारी उपस्थित थे। बताया जाता है कि मोर्चा के संचालक वीरेन्द्र दुबे, विकास राजपूत सहित अन्य प्रतिनिधि मंडलों के साथ जिला और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों की चर्चा हुई, जिसमें मोर्चा ने अपने एजेंडे की जानकारी दी और मोर्चा की मंशा स्पष्ट की। इसके बाद जिला प्रशासन ने शर्तों के आधार पर धरना स्थल के लिए अनुमति दे दी है। 

ज्ञात हो कि संविलियन सहित अन्य मांगों को लेकर शिक्षाकर्मी लंबे समय से आंदोलनरत है। शिक्षाकर्मियों की मुख्य मांग संविलियन है, जिसे लेकर राज्य शासन और प्रदेश के एक लाख 80 हजार शिक्षाकर्मियों के बीच खींचतान चल रही है। शिक्षाकर्मी किसी भी कीमत पर संविलियन हासिल करना चाहते हैं। इसके लिए शिक्षाकर्मियों ने कल महापंचायत का आव्हान किया है। इस महापंचायत में प्रदेश भर से हजारों शिक्षाकर्मियों के राजधानी में जुटने का दावा किया जा रहा है। बहरहाल यह माना जा रहा है कि कल के महापंचायत में शिक्षाकर्मी संविलियन को लेकर अपना अंतिम निर्णय सर्वसम्मति से तय करेंगे और इसके बाद आगे की रणनीति तय करेंगे। 

 

No image

शहर और आसपास के हाट-बाजारों से मंडी में विक्रय हेतु विभिन्न सामग्री लाने वाले व्यापारियों से माल बिकने के पहले ही जीएसटी वसूले जाने के कुछ मामले सामने आए हैं, जिससे जीएसटी विभाग के इस कदम की जमकर चर्चा हो रही है। 
इस संबंध में यह भी विशेष तथ्य है कि प्रदेश के बाहर माल बेचे जाने पर ई बिल रखने का प्रावधान है लेकिन राज्य के अंदर माल की बिक्री पर अभी टैक्स का कोई प्रावधान नहीं है। इसके चलते माल बिक्री से पहले जीएसटी लगाने की कार्रवाई अनुचित है। इस संबंध में कुछ व्यापारियों ने कहा कि जानकारी के अभाव में भी कर्मचारी यदि माल बेचने से जीएसटी वसूलते हैं तो यह अनुचित है। एक जून से यदि छग के अंदर भी ई.बिल का सिस्टम शुरू होता है तो उसकी व्यवस्था नियमानुसार रहेगी। लेकिन माल बेचने से पहले ही टैक्स लगाना समझ से परे है। ऐसे में व्यापारियों को दोहरी मार पड़ेगी।

50 हजार रुपए का यदि किसी का कोई माल है तो उसे 2500 रुपए टैक्स और उतना ही जुर्माना भरना पड़ेगा। वहीं जीएसटी विभाग के सूत्रों का कहना है कि किसी भी व्यापारी को अनावश्यक रूप से परेशान नहीं करने की कोशिश की जाएगी। जीएसटी विभाग ने इस संबंध में स्पष्ट किया है कि इस तरह का व्यवसाय करने वालों को अपने पास मंडी की रसीद आवश्यक रूप से रखनी होगी, फिर भी कोई अनावश्यक रूप से परेशान करता है तो उसके खिलाफ  कार्रवाई होगी। 

No image

 पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के अंतर्गत आने वाले महाविद्यालयों में अध्ययनरत समस्त नियमित छात्र-छात्राओं(बीए/बीएससी/बीकाम  प्रथम द्वितीय तृतीय एवं समस्त् स्नातकोत्तर कक्षाओं)को सूचित किया गया है कि शासन की महत्वपूर्ण योजना सूचना क्रांति के तहत उन्हें स्मार्ट फोन का वितरण किया जाना है। इस हेतु पंजीयन फार्म भरने के साथ ही नियमित छात्र-छात्राओं को अपना आधार कार्ड बैंक खाता क्रमांक एवं परिवार के सदस्यों का आधार नंबर उल्लेखित किया जाना अनिवार्य है। पंजीयन फार्म में जानकारी भरने का कार्य एक मई से 11 मई तक सुनिश्चित किया गया है। छात्र संघ अध्यक्ष वैभव सिंह ठाकुर द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार स्मार्ट फोन वितरण कार्य के दौरान लापरवाही नहीं बरतने के संबंध में समस्त महाविद्यालयों के स्टाफ को सर्तकता बरतने बाबत आगह किया गया है। इसके साथ ही ठाकुर ने बताया कि उपरोक्त दस्तावेज नहीं होने की स्थिति में बिना  पंजीयन के विद्यार्थियों को स्मार्ट फोन नहीं मिलेगा। उन्होंने बताया कि स्मार्ट फोन वितरण की तिथि आगे बढ़ाने के लिए कुलपति से आग्रह किया गया है। संभवत: स्मार्ट फोन वितरण की तिथि बढ़ जाएगी।

No image

 

नगर निगम जगदलपुर के पास 32 टैंकर हैं लेकिन इनमें से 6 टैंकर को खराब होकर अपनी मरम्मत की बाट जोह रहे हैं। शेष टैंकरों में से कुछ ऐसे हैं जिनसे पानी ले जाने के लिए उनके द्वारा जल रिसाव की समस्या बनी ही रहती है। यह भी इस संबंध में विशेष तथ्य है कि कुछ समय पहले तक 22 टैंकर ही खराब हो गए थे लेकिन इनमें से सुधार के बाद अब 26 टैंकर ही सेवाएं दे रहे हैं। इस संबंध में यह भी उल्लेखनीय है कि 6 टैंकरों में से विधायक निधि तथा अन्य दाताओं के द्वारा दिए गए दान से टैंकर शामिल हैं। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर निगम अमले द्वारा टैंकरों की रख रखाव की जिम्मेदारी ठीक से निर्वहन नहीं की जाती है और इन टैंकरों को देखने के लिए कोई जिम्मेदारी भी उन्हें नहीं दी गई है। जिसका परिणाम यह हो रहा है कि इस गीष्मकाल में अभी भी 6 टैंकर निष्क्रिय पड़े हैं जबकि बचे हुए टैंकर जल समस्या वाले वार्डों में ऐन केन प्रकारेण अपनी सेवाएं दे रहे हैं। इस संबंध में यह भी जानकारी मिली है कि खराब टैंकरों के मेंनटेन्स व सुधार के नाम पर लाखों रूपए की राशि भी खर्च कर दी गई है। जबकि एक टैंकर तो करीब 10 लाख रूपए में ही आ जाता है। मेंटेनेंस के नाम पर लाखों रूपए की राशि तो निगम के खाते से निकल जाती है लेकिन टैंकर कभी ठीक से सेवाएं नहीं दे पाती है। इस संबंध में इस वर्ष चुनाव की संभावना के मददेनजर जब विधायक से शहर में व्याप्त जल समस्या के बारे में पूछा गया तो उन्होंने जवाब दिया कि उनके द्वारा जल समस्या की पूर्ति के लिए 10 नए टैंकर दो वर्ष पूर्व ही प्रदान किए गए थे। अभी इतने अच्छे हैं और कितने खराब हैं इसकी जानकारी लेकर वे अपना कदम उठाएंगे।
 

No image

कृषि विवि के कुलपति के साथ 7 लोगों पर दर्ज होगा एफआईआर : विनोद तिवारी 
रायपुर. युवा जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जोगी) के प्रदेश अध्यक्ष विनोद तिवारी ने बताया कि फर्जी तरीके से बैक डेट पर निर्माण कार्य के खर्च का चेक जारी करने के मामले में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति सहित 7 लोगों पर अपराध दर्ज करने कोर्ट ने आदेश जारी किया है।

एक प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए विनोद तिवारी ने बताया कि इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डा. एसके पाटिल सहित 7 लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले पर कोर्ट में अपील की गई थी। अपील पर प्रथम श्रेणी दंडाधिकारी न्यायधीश अनंत दीप तिर्की की अदालत में सुनवाई हुई। यहां कोर्ट ने तेलीबांधा थाना पुलिस को आरोपियों के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज करने का आदेश जारी किया है। श्री तिवारी ने बताया कि आरोपियों पर फर्जी तरीके से बैक डेट पर निर्माण कार्य के खर्च का चेक जारी करने का आरोप है। 

No image

 कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के प्रदेश दौरे को देखते हुए आज पीसीसी नेताओं ने उनके कार्यक्रम की रूपरेखा तय की। कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि17 तारीख को श्री गांधी यहां पहुंचेगे। पंचायती राज कार्यक्रम का शुभारंभ कार्यक्रम में शामिल होने के बाद वे सीतापुर विधानसभा में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे। इसके पश्चात पेण्ड्रा में वन अधिकार सभा का संबोधित करेंगे। यहां राहुल गांधी के साथ ही गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के नेता भी उपस्थित रहेंगे। इसके अलावा एकता परिषद के राजगोपाल भी इस कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं, इसका प्रयास किया जा रहा है।

आज पीसीसी चीफ ने कांग्रेस भवन में राहुल गांधी के प्रस्तावित कार्यक्रमों की तैयारियों को लेकर एक बैठक की है। उन्होंने बताया कि 17 को विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होने के बाद श्री गांधी का रात्रि विश्राम बिलासपुर में होगा। दूसरे दिन 18 मई को वे बिलासपुर के संकल्प शिविर में भाग लेंगे। यहां से वे दुर्ग आएंगे और यहां के संकल्प शिविर में शामिल होंगे। श्री बघेल ने बताया कि राज्य के 32 विधानसभा इलाकों में कांग्रेस का संकल्प शिविर संपन्न हो चुका है। श्री गांधी के प्रदेश आगमन को देखते हुए एक मेगा रोड शो की भी तैयारी है। श्री बघेल ने बताया कि राज्य सरकार विकास यात्रा करने वाले हैं, हम विकास खोजो यात्रा निकालेंगे। इसके लिए उसी स्थान का चयन किया गया है, जहां से राज्य सरकार के द्वारा विकास यात्रा की शुरूआत की जाएगी। दंतेवाड़ा से यह यात्रा उसी रास्तों से गुजरेगी जहां से सरकार की विकास यात्रा गुजरेगी। विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होने के बाद श्री गांधी प्रदेश पदाधिकारियों से भी मुलाकात कर प्रत्यक्ष चर्चा करेंगे

No image

यज्ञेश को बधाई देते हुए कहा-तुम्हे आईएएस बनना है सफलता बनाये रखना
रायपुर, 09 मई (आरएनएस)। मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने बुधवार को प्रदेश में 10वीं बोर्ड परीक्षा में टॉप करने वाले जशपुर के होनहार यज्ञेश सिंह चौहान से फोन पर बातचीत करते हुए उसे बधाई देते हुए शुभकामनाएं दी।

मुख्यमंत्री ने यज्ञेश से फोन पर कहा कि बहुत अच्छा लगा कि तुमने सामान्य परिस्थितियों में अच्छा काम किया। उन्होंने यज्ञेश का प्रोत्साहित करते हुए कहा कि इस सफलता को आगे भी बनाए रखना है और तुम्हे आईएएस बनना। डा. सिंह ने यज्ञेश से उनके पिता के बारे में पूछा कि वे क्या करते है। यज्ञेश ने बताया कि उनके पिताजी शिक्षक है। यह सुनते ही डा. सिंह ने दोबारा यज्ञेश को शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने बारहवीं बोर्ड परीक्षा में टॉप करने वाले बलौदाबाजार सिमगा के शिव कुमार पाण्डे को भी बधाई एवं शुभकामनाएं दी। 
 

No image

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) की 10वीं व 12वीं बोर्ड का रिजल्ट बुधवार को जारी कर दिया। दोनों बोर्ड परीक्षाओं में एक बार फिर छात्राओं ने बाजी मारी। छात्रों की अपेक्षा छात्राओं के उत्तीर्ण होने का प्रतिशत अधिक रहा। 
सुबह स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप ने आज माशिमं कार्यालय में दोनों परीक्षाओं का रिजल्ट जारी किया। बारहवीं में परीक्षा परिणाम इस बार  77 प्रतिशत रहा। जिसमें लड़किया आगे रही। 79.40 प्रतिशत छात्राएं और 74.45 छात्र उत्तीर्ण हुए, वहीं 10 वीं की परीक्षा परिणाम 68.40 प्रतिशत रहा। इसमें भी छात्राएं आगे रही। छात्राएं 69.40 व छात्र 66.42 प्रतिशत उत्तीर्ण हुए। 12वीं परीक्षा में बलौदाबाजार सिमगा के शिव कुमार पाण्डे ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है, वहीं जशपुर के यज्ञश सिंह चौहान ने 10वीं में टॉप किया है। बारहवीं बोर्ड में इस साल दो लाख 67 हजार 936 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, वहीं 10वीं में 3 लाख 96 हजार विद्यार्थी शामिल हुए थे। बारहवीं बोर्ड का परीक्षा परिणाम मंडल की वेबसाइट सीजीबीएसई के अलावा अन्य वेबसाइट पर देखा जा सकेगा। 


टॉप-10 सूची में लड़के आगे रहे:दसवीं और बारहवीं के परिणाम आज जारी किए गए। परीक्षा में जहां लड़कियां आगे रही, वहीं दसवीं के टॉपर सूची में लड़के आगे रहे। दसवीं की टॉपर सूची में 15 विद्यार्थियों को शामिल किया गया है। 
दसवीं के टॉपर:
1. यज्ञेश सिंह चौहान - 98.33
2. मानसिंह मिश्रा- 98.00
3. अनुराग दुबे- 97.67
4. मोहित साहू- 97.50,  महेश्वरी साई- 97.50
5.भास्कर यादव-97.17, रौशन तिवारी, 9717
6. विनीता पटेल-97.00
7. जाह्नवी पटेल- 96.83,  तन्नू यादव- 96.83, जया पांडेय-96.83, तुषार-96..83, प्रकाश कश्यप- 96.83 चुनेश्वरी साहू-96.83
8.स्पंदन दास- 96.67,  मानस पटेल- 96.67, अर्चना नंदे-96.67, पूजा पटेल -96.67, आदर्श कुमार महतो,96.67 
9. योगराज यादव- 96.50, दिनेश भोई -96.50, अमन सुषमाकर-96.50,अमिषा 96.50, नंदलाल-96.50
10 गणेश कुमार मेश्राम, 96.33

बारहवीं के टॉपर:पहले स्थान पर बलौदाबाजार के सिमगा के शिवकुमार पांडे
दूसरे स्थान पर बिलासपुर की संध्या कौशिक (97.40)
तीसरे स्थान पर दुर्ग के शुभम गंधर्व (97.20)
तीसरे स्थान पर भिलाई के शुभम कुमार गुप्ता (97.40)
चौथे स्थान पर दुर्ग के विनय चौहान (96.80)
चौथे स्थान पर बिलासपुर के हेमंत कुमार साहू (96.80)
चौथे स्थान पर रायगढ़ के अंकित उपाध्याय  (96.80)
पांचवें स्थान पर दुर्ग की यशस्वी वर्मा  (96.40)
पांचवें स्थान पर राजनांदगांव के नोहर  (96.40)
पांचवें स्थान पर बिलासपुर के कपिल साय  (96.40)
छठवें स्थान पर रायपुर के ऋषभ देव कुर्रे (96.20)
छठवें स्थान पर जांजगीर के आलोक कुमार होता  (96.20)
छठवें स्थान पर कोरबा के शिवम कंवर  (96.20)
सातवें स्थान पर आस्था लता  (96)
सातवें स्थान पर बिलासपुर के आयुष सिंह ठाकुर  (96)
सातवें स्थान पर बिलासपुर की अदिति पांडे  (96)
सातवें स्थान पर डुमनहिल संध्या सिंह  (96)
आठवें स्थान पर जांजगीर के बलौदा के दिनेश  (95.80)
आठवें स्थान पर बिलासपुर प्रकाश कुमार (95.80)
नौवें स्थान पर राजनांदगांव की चंचल वर्मा (95.60)
नौवें स्थान पर बिलासपुर के शुभम विश्वकर्मा (95.60)
नौवें स्थान पर रायगढ़ की अंचल गुप्ता (95.60)
दसवें स्थान पर कसडोल के कडगी के दीपक कुमार जायसवाल (95.20)
दसवें स्थान पर बलौदाबाजार की दुर्गेश्वरी साहू  (95.20)
दसवें स्थान पर रायपुर के हरीश कुमार रात्रे  (95.20)
दसवें स्थान पर राजनांदगांव के घनश्याम कुमार वर्मा  (95.20)
दसवें स्थान पर बिलासपुर अमित कुमार  (95.20)
दसवें स्थान पर बिलासपुर की सुरुचि साहू  (95.20)
दसवें स्थान पर रायगढ़ के विनय कुमार महंत  (95.20)
 

No image

पूरे प्रदेश में रमन सिंह की विकास की चिडिय़ा खोज पोस्ट कार्ड अभियान चलाया जा रहा है। एनएसयूआई विधानसभा अध्यक्ष मोहम्मद शाहबाज राजवानी ने बताया कि युवाओं को रोजगार नहीं मिल पा रहा है। छत्तीसगढ़ में शिक्षा व्यवस्था सुधारने सरकार कोई पहल नहीं कर रही है। शासकीय स्कूल के जर्जर भवन, शिक्षकों, पुस्तक, गणवेश, लाइब्रेरी की कमी रमन सरकार की नाकामी को दर्शाता है। इस दौरान युवा कांग्रेस अध्यक्ष निखिलकांत साहू, एनएसयूआई जिलाध्यक्ष रत्नेश साहू, पूर्व छात्रसंघ सचिव सन्नी यादव, आदेश राठौर, संकेत इंगोले, देवेश बाघमारे, दीपक साहू, मनीष निर्मलकर, जितेन्द साहू, मनीष साहू, सागर नेताम, आशीष चंदाकर, कान्हा प्रधार्न आशीष सिक्का आदि उपस्थित थे।
 

No image

 एक नाबालिग युवती से दुष्कर्म करने की कोशिश के मामले में भखारा पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार कर लिया है । पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार भखारा थाना क्षेत्र के ग्राम भेलवाकुदा निवासी योगेश कुमार ने  रविवार की रात एक नाबालिग युवती के घर घुसकर छेडख़ानी और दुष्कर्म करने का प्रयास किया। सोमवार की दोपहर पीडि़त युवती अपने परिजनों के साथ भखारा थाने में जाकर रिपोर्ट दर्ज कराई है। रिपोर्ट के आधार पर आरोपी युवक को धारा 456 354 506 और पाक्सो एक्ट के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है

No image

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल गांधी के 17 मई को पेण्ड्रा में प्रस्तावित सभा के लिए कांग्रेस की ओर से तैयारियां शुरू हो गई है। वरिष्ठ नेता डा. चरण दास महंत और रामदयाल उईके आज पेण्ड्रा में सभास्थल का चयन करने वाले हैं। 

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का 17 मई को पेण्ड्रा में एक आमसभा प्रस्तावित है। इसके लिए कांग्रेस की ओर से जोरदार तैयारियां शुरू कर दी गई है। पार्टी के वरिष्ठ नेता डा. चरणदास महंत और रामदयाल उईके आज पेण्ड्रा पहुंचकर आमसभा के लिए स्थल चयन करेंगे। इसके अलावा वे यहां के कार्यकर्ताओं और जिकांग्रेस से निकले पूर्व मुख्यमंत्री और जनता कांग्रेस के प्रमुख अजीत जोगी की भी सभा पेण्ड्रा में प्रस्तावित है।ला पदाधिकारियों से मुलाकात कर आवश्यक दिशा-निर्देश देंगे। इधर एक लिहाज से कांग्रेस और जनता कांग्रेस दोनों पेण्ड्रा में एक-दूसरे के सामने आ गए हैं।  जनता कांग्रेस से अमित जोगी भी आज क्षेत्र के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों की एक बैठक लेने वाले हैं। बैठक में पार्टी प्रमुख की सभा को सफल बनाने रणनीति बनाई जाएगी। इस बैठक में धरमजीत सिंह, गुलाब  सिंह और देवव्रत सिंह आदि भी शामिल होंगे। 

No image

भिलाई स्टील प्लांट के भीतर मंगलवार तड़के हुये एक हादसे में कर्मचारी की मौत हो गई। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस्पात संयंत्र के सिटंर प्लांट में कार्य करते समय संयंत्र कर्मी कमल वर्मा कनवेयर बेल्ट में फंस गया। जिसके कारण कमल की मौके पर ही मौत हो गई। इधर घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय भटटी पुलिस थाने की टीम मौके पर पहुंची। शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना के बाद संयंत्र में मौके का जायजा लेने पहुंचे बीएसपी के आला अधिकारियों ने हादसे के बारे में कुछ भी कहने से इंकार किया है। अधिकारियों ने उक्त हादसे की जांच के आदेश दे दिये है। 

 

No image

छ.ग. व्यावसायिक परीक्षा मंडल रायपुर द्वारा आयोजित प्री पालिटेक्निक टेस्ट (पीपीटी) प्रवेश परीक्षा गुरूवार 10 मई को प्रात: 10 बजे से अपरांह 01.15 बजे तक तीन परीक्षा केंद्रों में संपन्न होगी। उक्त परीक्षा में कुल 1451 परीक्षार्थी सम्मिलित होंगे। उक्त परीक्षा के सुचारू संचालन हेतु सहायक परियोजना अधिकारी जिला शिक्षा कार्यालय कोरबा एच.आर. मिरेन्द्र को सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।


कलेक्टर मो.कैसर अब्दुल हक द्वारा उक्त परीक्षा हेतु तीन प्रशासनिक पर्यवेक्षक (आबजर्वर) की नियुक्ति कर दिया गया है। जारी आदेश के अनुसार पीपीटी परीक्षा हेतु परीक्षा केंद्र शासकीय ईव्हीपीजी महाविद्यालय रजगामार रोड कोरबा हेतु महाप्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्वोग एम.एल.कुशरे, शासकीय मिनीमाता कन्या कालेज घंटाघर के पास कोरबा हेतु जिला महिला बाल विकास अधिकारी आदित्य शर्मा और सरस्वती हायर सेकेण्डरी स्कूल सीएसईबी कोरबा हेतु उप संचालक जिला योजना एवं सांख्यिकी एम.एस. कंवर को आब्जर्वर नियुक्त किया गया है। इसके अलावा कार्यपालन अभियंता जल संसाधन कोरबा आर.पी.शुक्ला और उप संचालक औद्योगिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा विजय कुमार सोनी को रिर्जव पर्यवेक्षक के रुप में रखा गया है। परीक्षा केन्द्रों के आकस्मिक निरीक्षण  हेतु उडऩ दस्ता दल गठित किया गया है।

इनमें जिला आयुर्वेद अधिकारी डा. तेजराम राठिया, सहायक सांख्यिकी अधिकारी जिला शिक्षा कार्यालय एम.आर.डहरिया और व्याख्याता पंचायत शासकीय हाईस्कूल कोथारी श्रीमती अनिता राठौर शामिल हैं। और रिजर्व दल में व्याख्याता पंचायत शासकीय हायर सेकेण्डरी हा. बालको रेशम प्रसाद दुबे और व्याख्याता पंचायत शासकीय हाई स्कूल कोरकोमा श्रीमती माधुरी त्रिपाठी शामिल हैं। परीक्षार्थियों की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए शासकीय ई.व्ही.पी.जी. महाविद्यालय रजगामार रोड कोरबा को मार्गदर्शन केंद्र बनाया गया है। 
 

No image

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, भिलाई ने अपने एमटेक प्रोग्राम इन डिपार्टमेंट ऑफ कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग, मेकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, फिजिक्स, केमिस्ट्री और मेथेमेटिक्स के लिए इच्छुक व योग्य आवेदकों से आवेदन मंगवाए हैं। यह आवेदन शैक्षणिक सत्र 2018-19 के लिए आमंत्रित किए गए हैं। संस्थान के एमटेक प्रोग्राम में एडमिशन के लिए इच्छुक आवेदकों को एंट्रेंस एग्जाम/इंटरव्यू पास करना होगा। प्रोग्राम में प्रवेश के लिए आवेदक 14 मई 2018 को शाम 5 बजे तक ऑनलाइन आवेदन फॉर्म जमा करवा सकते हैं। संस्थान में 2018-19 के शैक्षणिक सत्र की शुरुआत जुलाई 2018 में करवाई जाएगी।

संस्थान के एमटेक प्रोग्राम में एडमिशन के लिए जरूरी है कि आवेदकों के पास न्यूनतम 60 प्रतिशत माक्र्स के साथ इंजीनियरिंग या टेक्नोलॉजी में बैचलर्स डिग्री हो। एससी/एसटी आवेदकों के बैचलर्स डिग्री में न्यूनतम 55 प्रतिशत माक्र्स होने चाहिए। जिन आवेदकों के पास न्यूनतम 60 प्रतिशत के साथ साइंस में मास्टर्स डिग्री हो, वह भी आवेदन के योग्य होंगे। इसके साथ ही आवेदकों के पास वैध गेट स्कोर भी जरूरी है।

रेग्यूलर कैटेगिरी में कुछ सिलेक्टेड अभ्यर्थियों को इंस्टीट्यूट फेलोशिप भी उपलब्ध करवाई जाएगी। हालांकि, इसके लिए कुछ मानक तय किए गए हैं। इंस्टीट्यूट फेलोशिप हासिल करने के लिए जरूरी है कि आवेदकों के पास इंजीनियरिंग/टेक्नोलॉजी में बैचलर्स डिग्री हो या फिर साइंस में मास्टर्स डिग्री या समकक्ष हो। साथ ही आवेदकों के पास वैध गेट स्कोर भी हो। इसके साथ ही फेलोशिप के लिए आवेदकों के पास आईआईटी से 8.0 सीपीआई/सीजीपीए के साथ बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी की डिग्री होनी जरूरी है।

एमटेक प्रोग्राम में दाखिले के लिए इच्छुक व योग्य आवेदक 14 मई 2018 को शाम 5 बजे तक तक आवेदन फॉर्म भरकर जमा करवा सकते हैं। कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग के लिए 18-19 जून 2018 को, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के लिए 20-21 जून 2018 को, मेकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए 22-23 जून 2018 को, फिजिक्स के लिए 21 जून 2018 को, केमिस्ट्री के लिए 19 जून 2018 को और मेथेमेटिक्स के लिए 23 जून 2018 को लिखित परीक्षा और इंटरव्यू आयोजित करवाए जाएंगे।

आईआईटी, भिलाई के एमटेक प्रोग्राम में एडमिशन के लिए इच्छुक आवेदक संस्थान की वेबसाइट www.iitbhilai.ac.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन फॉर्म भरने के साथ ही आवेदकों को आवेदन फीस भी जमा करवानी होगी। आवेदकों को 200 रुपए की आवेदन फीस जमा करवानी होगी। एससी/ एसटी/ पीडब्ल्यूडी कैटेगिरी के आवेदकों क ो 100 रुपए की फीस भरनी होगी। आवेदकों को यह आवेदन फीस स्टेट बैंक कलेक्ट के जरिए ही जमा करानी होगी।

No image

छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल, रायपुर द्वारा प्री.पॉलिटेक्निक टेस्ट परीक्षा आगामी 10 मई को आयोजित की जाएगी। यह परीक्षा प्रात: 10 बजे से दोपहर 1.15 बजे तक रायपुर शहर स्थित 6 परीक्षा केन्द्रों में आयोजित होगी। जिन परीक्षा केंद्रों में परीक्षा संचालित होने है उसमें शहीद संजय यादव शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला संजय नगर, वर्धमान द स्कूल नहर रोड कृष्णा नगर संतोषी नगर, कृति इस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एण्ड इंजीनियरिंग, नालेज विपेज ज्ञान गंगा स्कूल के पास विधानसभा रोड ग्राम नरदहा, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मठपुरेना रिंग रोड नं.-1, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अमलीडीह, रायपुर वार्ड क्रं. 46 डॉ. राजेन्द्र प्रसाद वार्ड, पोस्ट रविग्राम एवं निवेदिता कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला गुरूनानक चौक शामिल है। परीक्षा के सुचारू संचालन के लिए डिप्टी कलेक्टर  सीमा ठाकुर को परीक्षा प्रभारी अधिकारी, सहायक परियोजना अधिकारी  के.एस.पटले को सहायक नोडल अधिकारी बनाया गया है। परीक्षा के लिए कलेक्टोरेट के कक्ष क्रमांक-6 में कंट्रोल रूम बनाया गया है। जिसका दूरभाष नंबर 0771-2413233 है।
 

No image

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा पहली बार 10वीं और 12वीं का रिजल्ट एक ही दिन 9 मई को जारी करने जा रहा है। शिक्षा मंत्री केदार कश्यप माशिमं कार्यालय में सुबह 10 बजे इसकी घोषणा करेंगे। 

प्रदेश के 10वीं और 12वीं की परीक्षा दिलाने वाले छात्र-छात्राओं को अपने रिजल्ट का इंतजार अब खत्म होने जा रहा है। माशिमं द्वारा दोनों का परीक्षा परिणाम 9 मई को जारी करने जा रहा है। प्रदेश में और 10वीं और 12वीं के छात्र-छात्राओं के लिए पहला मौका होगा जब दोनों कक्षाओं के परिणाम एक साथ घोषित किये जाएंगे। हालांकि पिछली बार की तुलना में इस बार परिणाम देरी से जारी किये जा रहे है। पिछले वर्ष 21 अप्रैल को 10वीं का और 27 अप्रैल को 12वीं का परिणाम जारी किया गया था। जबकि इस बार काफी विलंब से जारी किया जा रहा है। 
 

No image

लोक निर्माण मंत्री राजेश मूणत ने कहा कि शहीद स्मारक भवन को धरोहर के रूप में विकसित किया जाएगा। मूणत ने आज शाम यहां अपने निवास कार्यालय में शहीर स्मारक भवन के उन्नयन हेतु अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में उपस्थित लोक निर्माण विभाग और मोर रायपुर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट नगर निगम रायपुर के अधिकारियों को इस संबंध में महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिए।

मूणत ने अधिकारियों से कहा कि शहीद स्मारक भवन का ऐसे भव्य तरीके से उन्नयन होना चाहिए, जिससे शहर की प्रमुख धरोहर के रूप में अन्य राज्यों के लिए उदाहरण साबित हो सके। उन्होंने मौके पर उपस्थित अधिकारियों को जल्द से जल्द उन्नयन कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। बैठक में लाखे नगर स्थित हिन्द स्पोर्टिंग मैदान को बहुउद्देशीय स्टेडियम बनाने पर भी चर्चा की गई। इस अवसर पर रायपुर नगर निगम के महापौर प्रमोद दुबे, सभापति प्रफुल्ल विश्वकर्मा, लोक निर्माण विभाग के विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी अनिल राय, रायपुर नगर निगम कमिश्नर रजत बंसल सहित अनेक अधिकारी उपस्थित थे।
 

No image

छत्तीसगढ़ के बलौदा बाजार जिले में स्थित बार नवापारा अभ्यारण के आसपास स्थित गावो के लोगो मे इन दिनों दहशत का आलम देखा जा रहा है।अभ्यारण से सटे गावो में अकसर जंगली जानवर किसी भी वक्त आ धमकते हैऔर लोगो के पालतू जानवरों को अपना शिकार बनाते हैं।

इसी क्रम में आज यहाँ बारनवापारा के जंगल से एक तेंदुआ भटकते हुए डमरू गांव पहुँच गया है. लोगों को इस बात की खबर लगते ही दहशत का माहौल है. वन विभाग की टीम मौके पर पहुँचकर ग्रामीणों को तेंदुवे से दूर रहने की हिदायत  दे रहे थे।बाद में रेस्क्यू टीम पहुँची और तेंदुवे को पकडऩे की कोशिश कर रहे थे। तभी तेंदुवे ने रेस्क्यू टीम के मेंबर डॉ वर्मा पर हमला बोल दिया।डॉ वर्मा को इलाज के लिए बलौदा बाज़ार के जिला अस्पताल भेज दिया गया है

No image

 शिक्षाकर्मियों की मांगों को लेकर राज्य सरकार की हाई पावर कमेटी के साथ दो बार शिक्षाकर्मी पदाधिकारियों की हुई बैठक में कोई नतीजा नहीं निकलने के बाद एक बार फिर से 11 मई से राजधानी में आंदोलन का ऐलान करने वाले शिक्षाकर्मी मोर्चा को बूढ़ातालाब धरना स्थल पर धरना देने की अनुमति जिला प्रशासन से नहीं मिली। 

शिक्षाकर्मी मोर्चा के पदाधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल आज जिला कलेक्टर पहुंचा था और 11 मई को राजधानी में महापंचायत के द्वारा किये जाने वाला धरना प्रदर्शन की अनुमति के लिए जिला कलेक्टर से मुलाकात की। हालांकि कलेक्टर ने यह कहकर अभी अनुमति नहीं दी कि पहले वे इस संबंध में शासन के अधिकारियों से बातचीत करेंगे। कलेक्टर ने शिक्षाकर्मी के प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया कि शासन के अधिकारियों से बातचीत कर धरना स्थल तय करेंगे। कांग्रेस ने शिक्षाकर्मियों के महापंचायत को दिया समर्थन:प्रदेशभर के शिक्षाकर्मियों द्वारा अपनी मांगों को लेकर 11 मई को राजधानी में महापंचायत का किये गये ऐलान का समर्थन आज कांग्रेस ने भी कर दिया। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने अपने बयान में शिक्षाकर्मियों को समर्थन देने की घोषणा की है। साथ ही शिक्षाकर्मियों को कहा है कि इस बार वे सरकार के आश्वासन में नहीं आये। 
 

No image

छत्तीसगढ़ में भाजपा सरकार द्वारा अपने 15 साल के कार्यकाल में किये गये कार्यों के आधार पर विकास यात्रा का आयोजन 12 मई से शुरु किया जा रहा है। इस संबंध में मुख्यमंत्री, मंत्रीमंडल के सहयोगी मंत्री विभिन्न आयोगों, मंडलों, निगम के अध्यक्षों एवं कार्यकर्ताओं द्वारा विकास यात्रा के दौरान सरकार की उपलब्धि जन-जन तक पहुंचाने के लिए जोर शोर से तैयारियां की जा रही है।

आरएसएस के सदस्य सुरेश सुरंगे से मिली जानकारी के अनुसार विकास यात्रा के दौरान पार्टी द्वारा दी गई जिम्मेदारी के तहत सभी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को जन समस्याओं का निराकरण शासन के अधिकारियों के सहयोग से शिविर में ही त्वरित रूप से किये जाने के निर्देश भाजपा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने हाल ही में हुई बैठक में दिये है। सुरंगे के अनुसार पार्टी हर हाल में विकास यात्रा के दौरान मिलने वाली समस्याओं का तत्काल प्रभाव से निराकरण करने के लिए कृत संकल्पित है। संभाग वार पार्टी पदाधिकारियों को दी गई जिम्मेदारी के तहत उनके क्षेत्र में आने वाली समस्याओं का निराकरण संभाग आयुक्तों एवं जिलाधीशों के सहयोग से किया जायेगा। साथ ही लंबित समस्याओं का निदान भी विकास यात्रा के दौरान किया जायेगा। सुरेश ने समस्त प्रदेशवासियों से अपनी समस्याओं का समाधान विकास यात्रा के दौरान लगने वाले शिविरों में कराये जाने की अपील की है। 

 

 

No image

शराब के नशे में पिता द्वारा अपनी पुत्री से अश्लील हरकत करने का मामला प्रकाश में आया है। प्रार्थिया की शिकायत पर सिविल लाईन पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार किया है

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ताजनगर पंडरी निवासी 13 वर्षीय प्रार्थिया ने थाने में शिकायत किया कि उसका पिता आरोपी राजीतलाल  बेसरा 55 वर्ष शराब  के नशे में प्रार्थिया से अश्लील हरकत कर रहा था। जिससे प्रार्थिया की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी को धारा 354,506 ताहि 8,12 पास्को एक्ट के गिरफ्तार कर लिया है।
 

No image

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के रायपुर मंडल के अंतर्गत बिल्हा-दाधापारा के बीच में गर्डर बिछाने एवं ओएचई सहित अनेक बहुविभागीय कार्य के लिए दो दिनों का लिया गया ब्लाक के कारण आज अंतिम दिन भी कई ट्रेनें प्रभावित है। 
रायपुर रेल मंडल कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार  ट्राफिक कम पावर ब्लॅाक रविवार एवं सोमवार को रात्रि 22.10 बजे से 01.10 बजे तक, एवं अगला ब्लॉक 02.30 बजे से 04.30 बजे अर्थात कुल 05 घंटे का ब्लॉक लिया जा रहा है। इसके  फलस्वरूप  बिलासपुर  एवं  रायपुर  के  बीच  कुछ  गाडिय़ों  को  रद्द  किया गया है तो कुछ गाडिय़ों को गंतव्य से पहले समाप्त किया जाएगा।

ये ट्रेनें है आज प्रभावित -15231 बरौनी-गोंदिया एक्स को आज उसलापुर में समाप्त करते हुये 15232 गोंदिया-बरौनी एक्स बनाकर बरौनी के लिए रवाना की जायेगी। अत: यह गाड़ी उसलापुर-गोंदिया के मध्य आज रद्द है। इसी प्रकार 06 मई को ईतवारी से छुटने वाली गाड़ी 58112 ईतवारी-टाटानगर पैसेंजर आज ईतवारी से बिलासपुर के मध्य रद्द रही। यह ट्रेन बिलासपुर से टाटानगर के लिए रवाना होगी। गाड़ी 58203 गेवरारोड-रायपुर पैसेंजर  भी आज बिलासपुर-रायपुर के बीच रद्द है। इसके अलावा रायपुर से छूटने वाली गाड़ी 58205 रायपुर-ईतवारी पैसेंजर आज रद्द है। पैसेंजर गाडिय़ों के अलावा कुछ एक्सप्रेस गाडिय़ो को भी नियंत्रित कर चलाया जाएगा। इसमें 12860 हावड़ा-मुम्बई गीतांजली एक्सप्रेस को आज बिलासपुर में लगभग 00.15 मिनट नियंत्रित की जायेगी, जबकि 12833 अहमदाबाद-हावड़ा एक्सप्रेस को भाटापारा एवं बिल्हा में लगभग 00.45 मिनट नियंत्रित की जायेगी। वहीं 12859 मुम्बई-हावड़ा गीतांजली एक्सप्रेस को रायपुर में लगभग 00.30 मिनट नियंत्रित की जायेगी। 

कल प्रभावित रहने वाली ट्रेनें -इसी प्रकार 8 मई को ईतवारी से छूटने वाली 58206 ईतवारी-रायपुर पैसेंजर एवं रायपुर से छूटने वाली 58202 रायपुर-बिलासपुर पैसेंजर रद्द रहेगी।
 

No image

 खैरागढ़ पुलिस ने एक नक्सली समर्थक को ?गिरफ्तार किया है। पुलिस ने नक्सलियों के सामान को ले जाते हुए उक्त नक्सली समर्थक को अरेस्ट किया। मामले में पुलिस आरोपी से पूछताछ और जांच पड़ताल कर रही है। बताया जाता है कि नक्सली समर्थक अश्वनी वर्मा,महरूमखुर्द द्वारा बाइक से दैनिक उपयोग के सामान पहुंचाया जा रहा था। आरोपी के पास सेसामान और उसकी लिस्ट बरामद की गई है। पुलिस ने आरोपी द्वारा देवरी इलाके में सक्रिय टाडा एरिया कमेटी, विस्तार प्लाटून 2, 3 और 55 के सदस्यों के दी गई सामान की सूची को पहुंचाते हुए नवागांव के पास गिरफ्तार किया है।
 

No image

 भोपालपट्टनम क्षेत्र में एक नाबालिग युवती के साथ बलात्कार कर एम एम एस बनाने वाले कथित डॉक्टर को फ् आखिरकार पुलिस ने पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार कर लिया है । इस पर राजनीतिक संरक्षण होने का आरोप  लगाया गया था और कांग्रेस पार्टी की जांच दल ने  इस मामले में  पुलिस को आंदोलन की चेतावनी भी दी थी 

गत 22 अप्रैल को भोपालपट्टनम क्षेत्र के एक चिकित्सक प्रकाश मल्लिक पर बलात्कार का आरोप लगने के बाद एफ आई आर दर्ज की गई थी और इस मामले को कांग्रेस पार्टी ने राजनीतिक रंग देने की कोशिश की जिसके बाद इस आरोपी को पकडऩे पुलिस अधीक्षक मनोज गर्ग ने एक टीम गठित किया था जिसने पश्चिम बंगाल में आरोपी प्रकाश मलिक को गिरफ्तार किया।

 एसपी मनोज गर्ग ने  पत्रकार वार्ता में बताया कि पिछले 22 अप्रैल से आरोपी प्रकाश मल्लिक फरार चल रहा था पुलिस लगातार मोबाइल और लोकेशन ट्रेस कर रही थी बहुत ही जद्दोजहद के बाद प्रकाश मलिक का पता चल पाया । पुलिस की अलग-अलग टीम अलग-अलग जगह पर उसकी पतासाजी करने में लगी हुई थी लगातार  उसके पीछे लगी हुई थी। आरोपी प्रकाश मलिक ने नाबालिग युवती से दुष्कर्म कर वीडियो बनाकर उसे ब्लैकमेल कर रहा था इसके बाद पीड़ित ने थाने में आकर मामले की जानकारी दी थी ।पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा &76 ,506 लैंगिक अपराध अधिनियम के तहत के तहत जुर्म कायम कर उसकी पतासाजी में जुटी हुई थी।पूरे मामले पर राजनीति रही हावी

प्रकाश मलिक के खिलाफ एफआईआर होने के बाद उसकी गिरफ्तारी नहीं होने पर कांग्रेस पार्टी के जिलाध्यक्ष विक्रम सिंह मंडावी और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की सदस्य नीना रावतिया ने फोटोग्राफ्स जारी कर  इस मामले पर  सीधे तौर पर वन मंत्री और विधायक  महेश गागड़ा को  गिरने की कोशिश की  और प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने इस मामले में जांच कमेटी का गठन किया था  जिन्होंने सीधे तौर पर  आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने पर चक्का जाम करने की चेतावनी भी दी थी ।वन मंत्री ने भी दिखाई गंभीरतासत्तारूढ़ दल भाजपा को घेरने के लिए कांग्रेस पार्टी ने जैसा ही वन मंत्री को लपेटना प्रारंभ किया वैसे ही वन मंत्री महेश गागड़ा ने पुलिस अधीक्षक प्रकाश गर्ग से  चर्चा कर आरोपी की तत्काल गिरफ्तारी  करने के आदेश दिए थे  । इस मामले पर वन मंत्री ने  सीधे तौर पर कांग्रेस पार्टी को राजनीतिकरण करने का आरोप भी मढा़ था ।
 

No image

जिले के गुंडरदेही जनपद पंचायत के ग्राम खर्रा में पंचायत द्वारा बनाये गए नवनिर्मित पानी की टंकी गिरने से 2 बच्चो की दर्दनाक मौत हो गई है वही एक घायल है। आप को बता दे कि ग्राम पंचायत खर्रा में कुछ ही दिन पहले पानी की टंकी का निर्माण करवाया गया था।

शनिवार को पहली बार टंकी मे पानी भरा गया था। जब ग्रामीण आज सुबह टंकी से पानी के लिए गए तो कुछ बच्चे भी पानी भरने साथ हो लिए। इस दौरान अचानक पानी की टंकी ढह गयी जिसमे 12 वर्ष के पंकज 10 वर्ष की दुर्गा की मौके पर मौत हो गयी। वही 10 वर्षीय निशु घायल हो गयी। निशु को ग्रामीणों के द्वारा तत्काल गुंडरदेही अस्पताल इलाज के लिये लाया जहा उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है।

घटना की जानकारी मिलते ही गुंडरदेही पुलिस मौके पर पहुची। यहाँ पहुंचने पर पुलिस को भी ग्रामीणों का आक्रोश देखने को मिला। पानी टंकी निर्माण के समय से ही ग्रामीण इसकी गुणवक्ता को लेकर सवाल खड़ा कर रहे थे। इस घटना के बाद से ग्राम पंचायत के सरपंच सहित पंच गांव से भाग कर थाने में जा कर बैठ गए हैं। इस दुर्घटना के बाद से ग्रामीणों में बेहद आक्रोश हैं।

No image

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के रायपुर मंडल के अंतर्गत बिल्हा-दाधापारा के बीच में गर्डर बिछाने एवं ओएचई सहित अनेक बहुविभागीय कार्य के लिए आज से दो दिनों तक ट्राफिक कम पावर ब्लॅाक लिया जा रहा है। इसके चलते आज और कल कई ट्रेनें प्रभावित रहेंगी। रायपुर रेल मंडल कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार  ट्राफिक कम पावर ब्लॅाक रविवार एवं सोमवार को रात्रि 22.10 बजे से 1.10 बजे तक, एवं अगला ब्लॉक 2.30 बजे से 4.30 बजे अर्थात कुल 5 घंटे का ब्लॉक लिया जा रहा है। इसके  फलस्वरूप  बिलासपुर  एवं  रायपुर  के  बीच  कुछ  गाडिय़ों  को  रद्द  किया गया है तो कुछ गाडिय़ों को गंतव्य से पहले समाप्त किया जाएगा।

15159/15160 दुर्ग-छपरा-दुर्ग सारनाथ एक्स. 28 अप्रैल एवं 05 मई, 2018 (शनिवार) को छपरा से रवाना होने वाली 15159 छपरा-दुर्ग सारनाथ एक्स. को बिलासपुर में समाप्त करते हुये  29 अप्रैल एवं 6 मई, 2018 (रविवार) को 15160 दुर्ग-छपरा सारनाथ एक्स. बनाकर छपरा के लिए रवाना की जायेगी। अत: यह गाड़ी बिलासपुर- दुर्ग-बिलासपुर के मध्य रद्द रहेगी। 

15231/15232 बरौनी-गोंदिया-बरौनी एक्स  28 अप्रैल एवं 05 मई, 2018 (शनिवार) को बरौनी से छूटने वाली 15231 बरौनी-गोंदिया एक्स को उसलापुर में समाप्त करते हुये   30  अप्रैल  एवं  7  मई,  2018  (सोमवार)  को  15232 गोंदिया-बरौनी एक्स बनाकर बरौनी के लिए रवाना की जायेगी। अत: यह गाडी  उसलापुर-गोंदिया- उसलापुर के मध्य रद्द रहेगी। 18241/18242 दुर्ग-अंबिकापुर-दुर्ग एक्स.  28 अप्रैल एवं 05 मई, 2018 (शनिवार) को अंबिकापुर से छूटने वाली 18242 अंबिकापुर-दुर्ग एक्स को उसलापुर में समाप्त करते हुये   29  अप्रैल  एवं  06  मई,  2018  (रविवार)  को  18241 दुर्ग-अंबिकापुर एक्स बनाकर अंबिकापुर के लिए रवाना की जायेगी। अत: यह गाड़ी  उसलापुर-दुर्ग- उसलापुर के मध्य रद्द रहेगी। 

58111 टाटानगर-इतवारी पैसेंजर  29 अप्रैल एवं 06 मई, 2018 (रविवार) को टाटानगर से छुटने वाली 58111 टाटानगर-इतवारी पैसेंजर को  बिलासपुर में ही समाप्त की  जायेगी। अत:  यह  गाड़ी  बिलासपुर-इतवारी  के  मध्य  रद्द रहेगी।  
58112 ईतवारी-टाटानगर पैसेंजर  29 अप्रैल एवं 06 मई, 2018 (रविवार) को ईतवारी से छुटने वाली 58112 इतवारी-टाटानगर पैसेंजर  बिलासपुर-इतवारी के मध्य रद्द रहेगी।  यह गाड्ी  30 अप्रैल एवं 07 मई, 2018 को बिलासपुर से ही बिलासपुर-ईतवारी-बिलासपुर के मध्य रद्द रहेगी। 04 58203 गेवरारोड-रायपुर पैसेंजर  30 अप्रैल एवं 07 मई, 2018 (सोमवार) को गेवरारोड से छूटने वाली 58203 गेवरारोड-रायपुर पैसेंजर बिलासपुर-रायपुर के बीच रद्द रहेगी। 

रद्द होने वाली गाडिय़ां: 58205 रायपुर-ईतवारी पैसेंजर   30 अप्रैल एवं 07 मई, 2018 को रायपुर से छुटने वाली रद्द रहेगी। 58206 ईतवारी-रायपुर पैसेंजर   01 एवं 08 मई, 2018 को ईतवारी से छुटने वाली रद्द रहेगी। 58202 रायपुर-बिलासपुर पैसेंजर   01 एवं 08 मई, 2018 को रायपुर से छुटने  वाली रद्द रहेगी। 

 

No image

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि जब भी कोई अपराध घटित होता है, तो वास्तव में उसका पहला शिकार राज्य होता है और मुख्यमंत्री होने के नाते मुझे लगता है कि मैं ही इस अपराध का पहला शिकार हूं।

उन्होंने कहा-इसलिए जब जनता किसी अपराध का शिकार होती है, तो उसकी ओर से अपराधी को पकडऩा और पीडि़त पक्ष को न्याय दिलाना सरकार की जिम्मेदारी होती है। मुख्यमंत्री ने आज यहां नया रायपुर के छत्तीसगढ़ संवाद भवन में  आपराधिक प्रकरणों के लिए न्याय प्रणाली (क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम) विषय पर आयोजित एक दिवसीय सम्मेलन का शुभारंभ करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए। जिला न्यायाधीशों, जिला दंडाधिकारियों (जिला कलेक्टरों), अभियोजन अधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों के लिए यह राज्य स्तरीय सम्मेलन प्रदेश सरकार, छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट और छत्तीसगढ़ राज्य न्यायिक अकादमी द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया गया। दीप प्रज्ज्वलन और राष्ट्रगान के साथ सम्मेलन का शुभारंभ हुआ, जिसकी अध्यक्षता छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति श्री टी.बी. राधाकृष्णन ने की। सम्मेलन में क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम के तहत अपराधों की वैज्ञानिक विवेचना, प्रभावी अभियोजन और तेज गति से सुनवाई के लिए नई तकनीक और नए औजारों को बढ़ावा देने के बारे में विचार विमर्श हुआ।  मुख्य अतिथि की आसंदी से सम्मेलन को संबोधित करते हुए डॉ. रमन सिंह ने कहा-वास्तव में अपराध नियंत्रण और अपराधियों को सजा दिलाने के अलावा पीडि़त पक्ष को उचित समय पर न्याय दिलाना सबसे बड़ी चुनौती है, जिस पर हमें विशेष रूप से ध्यान देना होगा। डॉ. सिंह ने कहा- लोकतंत्र में विधायिका, न्यायपालिका और कार्यपालिका की त्रिवेणी ही कानून का राज स्थापित करने का माध्यम बनती हैं।

No image

बदेर रात भीषण सड़क हादसे में  एक युवा व्यवसायी की मौत हो गयी। वहीं मृतक व्यवसायी के सगे भाई समेत दो गंभीर रूप से जख्मी हो गए। हादसा बीएमडब्लू कार की पेड़ में टकराने से हुई है।मृतक युवा व्यवसायी का नाम गणपत साहू है। मृतक गणपत और सगे भाई राकेश के पिता जुगुत राम साहू शहर के प्रतिष्ठित कपड़ा और ज्वेलरी कारोबारी हैं

मिली जानकारी के मुताबिक ज्वेलरी व्यपारी गणपत साहू अपने भाई राकेश साहू और दोस्त गजपाल साहू के साथ ज्वेलरी और कपड़े की खरीददारी करके वापस अपने बीएमडब्लू कार से लौट रहे थे।रात 11 बजे के करीब खरोरा पलारी रोड पर गांव भैंसा कर्मा के बीच तेज़ रफ़्तार कार कर पेड़ से टकरा गयी, इस घटना में गनपत, राकेश और गजपाल तीनों गंभीर रूप से जख्मी हो गए।

घटना की सूचना के बाद तत्काल मौके पर पुलिस पहुंची और घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। जहां गणपत साहू की मौत हो गयी, वहीं राकेश और गजपाल को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है। इधर हादसे में कार  चकनाचूर हो गयी है।

No image

 छत्तीसगढ़ संचार क्रांति योजना के तहत जिले के सभी महाविद्यालयों के छात्र-छात्राओं को मोबाइल का वितरण किया जाएगा। उच्च शिक्षा विभाग ने इस संबंध सभी शासकीय एवं अशासकीय महाविद्यालयों को आदेश जारी कर दिया है।
 मोबाइल पाने के लिए पात्र विद्यार्थियों को विभाग द्वारा जारी निर्धारित प्रारूप में आवेदन करना होगा। मोबाइल का वितरण इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग एवं चिप्स के सहयोग से किया जाएगा। जानकारी के मुताबिक संचार क्रांति योजना(स्काई) के तहत प्रदेशभर में 50 लाख ग्रामीणों के साथ 5 लाख

महाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं को स्मार्ट फोन का वितरण होना है। इसी के तहत जिले में भी विकास  यात्रा के दौरान मोबाइल का वितरण किया जाएगा। ज्ञात हो कि जिले में 15 महाविद्यालयों में लगभग 25 हजार छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। 
जानकारी के मुताबिक स्मार्ट फोन में  सरकार की योजनाओं की जानकारी रहेगी। सरकार का प्रयास है कि जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी महाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं के माध्यम से नागरिकों तक पहुंचे।

No image

राजधानी रायपुर में पीलिया से हुई मौत के मामले में गृहमंत्री रामसेवक पैकरा का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि मौत तो स्वाभाविक है सबकी। जहां जिसकी और जिस कारण से मौत लिखी होती है, वैसे ही मौत होती है। चाहे फि र वह पीलिया हो या फि र अन्य बीमारी से ही मौत क्यों न हो। चिकित्सा विभाग की टीम मामले में जांच पड़ताल कर रही है। रामसेवक पैकरा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के भी मंत्री हैं, जो पूरे प्रदेश में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति के लिए स्थापित किया गया शासकीय विभाग है। 

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी और गृह विभाग के मंत्री रामसेवक पैकरा शनिवार को निजी प्रवास पर कोरबा आये थे। सीएसईबी वीआईपी गेस्ट हाउस में पत्रकारों से चर्चा करते हुए उन्होंंने कहा कि रायपुर में हुई मौत पानी से हुई या फिर किसी अन्य बीमारी की वजह से। इसकी जांच के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। गृहमंत्री का बयान उस वक्त आया है, जब रायपुर में पीलिया से अब तक सात लोगों की मौत हो चुकी है और हाईकोर्ट को मामले में संज्ञान लेना पड़ा है।

उल्लेखनीय है कि रायपुर में गर्मी का मौसम शुरू  होने के साथ ही शुद्ध पेयजल का संकट पैदा हो गया है। अनेक इलाकों के निवासी दूषित पानी का खाने-पीने के लिए उपयोग करने के लिए मजबूर हो गये हैं। पीलिया से हो रही मौतों को छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट बिलासपुर ने भी संज्ञान में लिया है और रायपुर में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। ऐसे में गृहमंत्री रामसेवक पैकरा जो लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के भी मंत्री हैं, रायपुर में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित करने की जगह दूषित पेयजल जन्य पीलिया से हो रही मौतों को स्वभाविक बता रहे हैं। 

 

No image

छत्तीसगढ़ में खाकी एक बार फिर दागदार हुई। दरअसल, महासमुंद जिले के बुंदेली पुलिस चौकी में तैनात आशिक मिजाज पुलिसकर्मी ने पुलिस महकमे ही नहीं समाज को भी शर्मसार कर दिया है। कोर्ट ने शर्मसार कर देने वाली वारदात मामले की सुनवाई करते हुए दोषी पुलिसकर्मी उसके दोस्त को 10-10 वर्ष की सश्रम कारावास और 2 हजार रुपए अर्थदंड की सजा सुनाई है।

दरअसल, घटना 17 अगस्त 2016 महासमुंद जिले के बुंदेली पुलिस चौकी की है। पीडि़ता ने थाना तेंदूकोना में लिखित आवेदन दिया था कि 17 अगस्त 2016 को बुंदेली पुलिस चौकी में अपने पति के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने गई थी। चौकी में तैनात मोहर्रिर ने इसकी जानकारी चौकी प्रभारी गजानंद साहू को फोन पर दी तो उन्होंने महिला को रोकने के लिए कहा। रात करीब 9 बजे गजानंद साहू अपने दोस्त आकेश सिन्हा के साथ पुलिस चौकी पहुंचे।

महिला को लेकर वह चौकी के पीछे कमरे में चले गए। चौकी प्रभारी गजानंद साहू ने पीडि़त महिला के बच्चे को पकड़ लिया और उसके सामने आकेश सिन्हा ने दुराचार किया। फिर चौकी प्रभारी ने महिला के साथ अपनी हवस की भूख मिटाई। इसके बाद चौकी प्रभारी ने पीडि़ता को धमकी दी कि घटना के बारे में किसी को बताया तो अंदर कर दूंगा। बाद में महिला ने दोनों पुलिसकर्मियों की थाना तेंदूकोना में शिकायत की। पीडि़ता की रिपोर्ट पर पुलिस ने आकेश सिन्हा और गजानंद साहू को गिरफ्तार किया था।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश निधि शर्मा तिवारी की फास्ट ट्रैक कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए बुंदेली पुलिस चौकी के तत्कालीन प्रभारी एएसआई गजानदं साहू और उनके साथी आकेश सिन्हा को महिला से दुष्कर्म का दोषी करार दिया। फास्ट ट्रैक कोर्ट ने आरोप सिद्ध होने के बाद दोनों दोषी पुलिसकर्मियों को 10-10 वर्ष की सश्रम कारावास और 2 हजार रुपए अर्थदंड की सजा सुनाई है।

No image

राजधानी में पीलिया का दंश झेल रहे लोग इलाज कराते-कराते कर्ज में डूब चुके हैं। वहीं कोर्ट में सारी व्यवस्थाएं बनाने का दावा करने वाला प्रशासन पीडि़तों की कोई मदद नहीं कर रहा है। चर्चा के दौरान पीडि़त परिवारों का दर्द छलक उठा। 45 वर्षीय परमेश्वर सागर बुक बाइंडिंग का करते हैं, उनके परिवार में दो बच्चों (17-18 वर्ष) समेत उन्हें भी पीलिया होने पर दो माह से इलाज करा रहे हैं। इस दौरान वे न तो नौकरी पर जा सके और न जिम्मेदारों ने उनकी कोई आर्थिक मदद की। इससे उनका इलाज सहित कुल कर्ज 25 हजार रुपए के लगभग पहुंच गया है, जिसे अब वे किसी तरह चुकाएंगे।

वहीं, साहू परिवार के 5 लोग इससे ग्रसित हैं, जो कि पिछले एक माह से डॉक्टरों का चक्कर लगा कर 20 हजार रुपए खर्च कर चुके हैं। उनके परिवार के 8 से 25 वर्ष तक के बच्चे पीलिया से प्रभावित हैं। शशि साहू नामक एक गृहणी ने बताया कि उनके पुत्र रोहन साहू (16 वर्ष) को पीलिया हुआ था।

रायपुर के कलक्टर ओपी चौधरी ने कहा कि शासकीय अस्पतालों में मरीजों के लिए पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश सीएमएचओ को दिए गए हैं। साथ ही स्मार्ट कार्ड के माध्यम से भी इलाज में आर्थिक सहायता मिल पा रही है।रायपुर के सीएमएचओ डॉ. केएस शांडिल्य ने कहा कि हमने जिला अस्पताल और आंबेडकर में मरीजों की व्यवस्था बनाई है। उनके लिए समय पर गाड़ी की भी व्यवस्था की जा रही है।

इसी बीच पिछले दिनों इस आपदा में अपनी जान गंवा चुकी गर्भवती देवांगन महिला के परिवार के लोगों ने भयवश किराए के उस मकान को ही खाली कर दिया है। आसपास के निवासियों ने बताया कि उनका परिवार उनकी मौत से व्यथित था और संक्रमण परिवार के अन्य सदस्यों को न हो इसे देखते हुए उन्होंने मकान खाली कर दिया। वहीं मृतक प्रेम यादव के परिवार की आर्थिक स्थिति खराब होती जा रही है, वे परिवार में इकलौते कमाने वाले थे। उनके जाने से परिवार संघर्षमय जीवन व्यतीत करना पड़ रहा है।

निगम की ओर से 15 हजार से अधिक प्रभावितों को जल आपूर्ति के लिए महज 3 स्थायी व 2 रनिंग टैंकर लगाए गए हैं, जो कि नाकाफी हैं। साथ ही निगम कोर्ट में जवाब पेश किया कि उनकी ओर से 3 मई तक 31 टैंकर व 4 मई देर शाम तक 28 टैंकर सप्लाई की गई।  के पिछले अंक में लोगों के पानी नहीं भरने की खबर प्रकाशित की गई थी। आज भी पड़ताल में कई परिवारों ने टैंकर आने से इंकार कर दिया।

प्रशासनिक लापरवाही का शिकार हो रहे मरीजों का विश्वास स्वास्थ्य विभाग से भी भरोसा उठ गया है। इस इलाके के संभावित मरीज शिविरों के बजाए निजी अस्पतालों में जाकर जांच और इलाज करा रहे हैं, जिस वजह से स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन को उनकी कोई जानकारी ही नहीं मिल पा रही है। एेसे में वे मरीज फालोअप के लिए शिविरों में पहुंच रहे हैं और उनकी संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है। कोर्ट कमिश्नरों के दौरे तक यह आंकड़ा 104 था।

No image

छत्तीसगढ़ संचार क्रांति योजना के तहत सरकार प्रदेशभर के 45 लाख लोगों को स्मार्टफोन के साथ इंटरनेट डाटा और फ्री कॉलिंग सुविधा इसी महीने से देने जा रही है। मुख्यमंत्री  ने बजट पेश करते हुए सूचना क्रांति के तहत प्रदेश 45 लाख लोगों को मुफ्त स्मार्टफोन उपलब्ध कराने की घोषणा की थी। इसके अंतर्गत स्मार्टफोन धारकों को यह सुविधा पहले छह महीने तक ही मुफ्त मिलेगी।

प्रदेश के 45 लाख परिवारों को सरकारी स्मार्टफोन का वितरण मई महीने से शुरू होगा। यह वितरण सितम्बर 2018 तक होना है। मतलब इस वर्ष नवम्बर से अगले वर्ष मार्च तक लोगों को एक जीबी डाटा प्रतिदिन और 100 मिनट की कॉलिंग मुफ्त में उपलब्ध होगी। जिस मोबाइल सेवा प्रदाता रिलायंस जियो से सरकार यह सुविधा ले रही है, सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना 2011 के आधार पर चिह्नित ग्रामीण परिवार की महिला प्रमुख या अन्य महिला। नगरीय विकास विभाग की परिभाषा अनुसार चिह्नित शहरी गरीब परिवार की महिला प्रमुख य अन्य महिला। तकनीकी और गैर तकनीकी कॉलेजों में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थी। जिन परिवारों में महिला सदस्य नहीं है, वहां पुरुषों को मोबाइल दिया जाएगा।उसे इसके लिए 30 रुपया प्रति महीने की दर से भुगतान करेगी।

No image

 रामकुंड उछला तालाब के पास युवक पर ब्लेड से हमला करने का मामला प्रकाश में आया है। प्रार्थी की शिकायत पर आजाद चौक पुलिस ने आरोपी अपचारी बालक को गिरफ्तार किया है।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रार्थी रवि साहू पिता बजरंग साहू 22 वर्ष रामकुंड आजाद चौक का रहने वाला है। बताया जजाता है कि बीती रात करीब 12 बजे प्रार्थी रामकुंड उछला तालाब के पास बैठा था तभी 17 वर्षीय अपचारी बालक प्रार्थी के पास आया और नशा करने के लिए पैसा मांगा। प्रार्थी द्वारा पैसे नहीं देने पर आरोपी ने प्रार्थी पर ब्लेड से हमला कर चोट पहुंचाया। प्रार्थी की शिकायत पर आजाद चौक पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 294,506,327 के तहत अपराध दर्ज कर गिरफ्तार किया है।

No image

 जिले के पिपरिया थाना क्षेत्र के ग्राम गांगपुर में हुए एक दर्दनाक सड़क हादसे में एक युवक की जान चली गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार यहाँ एक तेज़ रफ़्तार बोर वाहन ने तीन युवकों को अपनी चपेट में ले लिया जिसके बाद मौके पर एक युवक की मौत हो गई। इधर घटना के बाद गुस्साए लोगो ने हंगामा खड़ा कर दिया । जिसके बाद स्थिति को नियंत्रण के लिए मुख्यालय से अतिरिक्त पुलिस बल से भेजना पड़ा । उक्त सड़क हादसा  बीते रात की बताई जा रही है अभी भी इलाके में तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है जिसके मद्देनजर अतिरिक्त पुलिस बल के जवानों द्वारा इलाके में चोकसी रखी जा रही है।
 

No image

आजाद चौक पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर एक सटोरिए को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के पास से नगदी 23650 रूपए सहित सट्टा पट्टी जब्त किया है।
आजाद चौक थाना से मिली जानकारी के अनुसार कल रात पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली की आईपीएल मैच कलकत्ता एवं चेन्नई के बीच चल रहे मैच में भोईपारा आजाद चौक में एक युवक सट्टा चला रहा है।

सूचना पर मौके में पहुंची पुलिस ने आरोपी दिलीप नागदेव पिता स्व. निश्चल नागदेव 47 वर्ष निवासी भोईपारा को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के पास से सट्टा पट्टी सहित नगदी 23650 रूपए, सेटअप बाक्स, टीवी व पेन जब्त किया है। मामले में पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 4-क जुआ एक्ट के तहत कार्रवाई की है।
 

No image

 मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत जिले के युवाओं को स्वरोजगार स्थापित करने के लिए वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए 31 मई तक आवेदन मंगाए गए है। जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक ने बताया कि इस योजना के तहत युवाओं को उद्योग, सेवा एवं व्यवसाय के लिए वित्तीय संस्थानों के माध्यम से 25 लाख, 10 लाख एवं 2 लाख रूपए तक का ऋण उपलब्ध कराया जाएगा।

इसके लिए युवाओं का न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता कक्षा आठवीं उत्तीर्ण, आयु 18 से 35 के मध्य होना चाहिए। छत्तीसगढ़ का निवासी हो, आवेदक के परिवार की वार्षिक आय 3 लाख से अधिक नहीं होना चाहिए वह किसी भी बैंक से ऋण चूककर्ता न हो, भारत तथा राज्य शासन के योजना के तहत पूर्व में अनुदान का लाभ न लिया हो। ऐसे आवेदक कार्यालय, जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र, पुराना तहसील परिसर कार्यालय,महासमुंद में नि:शुल्क निर्धारित प्रपत्र में आवेदन पत्र प्राप्त कर सकते हैं। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए कार्यालय में उपस्थित होकर अथवा दूरभाष क्रमांक 07723-223115 में संपर्क कर सकते है। 

No image

 ड्यूटी में तैनात गार्ड द्वारा किशोरी से दुष्कर्म करने का मामला प्रकाश में आया है। प्रार्थिया की शिकायत पर राजेन्द्र नगर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अमलीडीह न्यू राजेन्द्र नगर निवासी 40 वर्षीय प्रार्थिया ने थाने में शिकायत किया कि आरोपी राजेश चौहान निवासी कटंगी बालाघाट का रहने वाला है। आरोपी यहां मानवीय विहार अमलीडीह में गार्ड का नौकरी करता है। बताया जाता है कि 1 मई के दोपहर आरोपी ने प्रार्थिया की 15 वर्षीय पुत्री को अपने गार्ड रूम में ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। प्रार्थिया की शिकायत पर राजेन्द्र नगर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 376 ताहि 4 पास्को एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया है। 
 

No image

शादी से पहले युवती से दुष्कर्म कर  उसका अश्लील विडियों बनाने वाले युवक के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया हैं युवती अब अपने ससुराल चांपा में रहती हैं लेकिन  युवक उसे ब्लैकमेल कर रहा हैं जिससे परेशान हो कर युवती ने सरिया थाने में रिपोर्ट दर्ज करायी हैं युवती ने बताया कि विवाह के पूर्व सरिया का हेमचंद अग्रवाल का घर में आना-जाना था ।

जनवरी 15 में एक दिन जब युवती हेमचंद अग्रवाल के घर घुमने गई थी तब उसके घर मे कोई नही था और हेमचंद अग्रवाल युवती को अकेली पाकर उसके साथ दुष्कर्म किया और पहले से कमरे में छिपाकर रखे कैमरे से अश्लील विडियो बनाकर रख लिया । उसके बाद हेमचंद अग्रवाल युवती को विडियो दिखा कर दबाव बनाकर शारिरिक शोषण एवं मानसिक प्रताडना देना शुरू कर दिया । युवती के विवाह के बाद भी हेमचंद अग्रवाल युवती से सम्पर्क कर विडियो वायरल कर चरित्र खराब करने की धमकी देने लगा, जिसके बाद युवती द्वारा थाना सरिया में आवेदन देकर रिपोर्ट दर्ज करायी गयी जिसपर  हेमचंद अग्रवाल के विरुध्द धारा 376,354(ग),509(ख) भादंवि, 67 के तहत दर्ज किया   है ।
 

No image

 अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल गांधी के 17-18 मई को संभावित छत्तीसगढ़ प्रवास के पूर्व ही पार्टी के अध्यक्ष के बुलाए पर आज पीसीसी चीफ भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया और नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव दिल्ली रवाना होने वाले हैं। 

कांग्रेस सूत्रों की माने तो पार्टी अध्यक्ष ने तीनों ही नेताओं के साथ चर्चा की इच्छा जताई है। यह बैठक कल शनिवार को दिल्ली में होने वाली है। इस बैठक में शामिल होने के लिए आज देर शाम प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया के साथ पीसीसी चीफ भूपेश बघेल दिल्ली रवाना हो जाएंगे। वहीं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव आज दोपहर बाद दिल्ली रवाना होने वाले हैं।

माना जा रहा है कि कल होने वाली इस बैठक में प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर चर्चा होगी। इसके अलावा पार्टी अध्यक्ष श्री गांधी के 17 और 18 मई को संभावित छत्तीसगढ़ आगमन को लेकर भी चर्चा होगी। बैठक में ही श्री गांधी के कार्यक्रम भी तय हो सकता है। चुनावी रणनीति के साथ ही वर्तमान में प्रदेश की राजनीति को गरमाने वाले पत्थलगढ़ी के मुद्दे को लेकर भी चर्चा हो सकती है। 
 

No image

 जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के सुप्रीमो एवं पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी चुनावी शंखनाद करने के बाद प्रदेश में पहली आमसभा 20 मई को कोरबा में लेंगे। इसके लिए पार्टी कार्यकर्ता तैयारी में जुट गए हैं। चार मई को चैंबर भवन में कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार करने पदाधिकारियों की बैठक आयोजित की गई है।

रायपुर में जन्मदिन के बहाने श्री जोगी ने मिशन 2018 की शुरुआत कर दी है। अब प्रत्येक जिले का दौरा कर सभा लेने जुट गए हैं। पार्टी के प्रदेश कार्यालय ने इसकी रूपरेखा तैयार कर सभी जिला पदाधिकारियों को सूचित कर दिया है। इसके साथ ही जिला इकाई ने भी अपने स्तर पर तैयारी आरंभ कर दी है। आगामी 20 मई को श्री जोगी का प्रवास तय हो चुका है। कार्यकर्ता अपने स्तर पर तैयारी में जुट गए हैं। चैंबर ऑफ कॉमर्स के भवन में शुक्रवार की शाम चार बजे बैठक आयोजित की गई है।

इस दौरान कार्यक्रम की संपूर्ण रूपरेखा तैयार कर पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। विधानसभा प्रभारी पवन अग्रवाल ने बताया कि कार्यक्रम स्थल का चयन अभी नहीं किया गया है। लगभग तीस हजार लोगों की भीड़ एकत्र होने की उम्मीद है। सभा दोपहर 2.30 बजे से शुरू होगी। श्री जोगी रविवार की रात रुकेंगे अथवा नहीं, इस बारे में अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। जकांछ सुप्रीमो श्री जोगी की सभा को लेकर राजनीति हलचल तेज हो गई है। श्री जोगी की नजर कोरबा जिले की चारों विधानसभा सीट पर टिकी है। वर्तमान में यहां तीन सीट कांग्रेस एवं एक भाजपा के पास है। सभा में प्रदेश स्तर के वरिष्ठ नेताओं के शामिल होने की संभावना जताई जा रही है।

No image

सुकमा जिले के कोंटा क्षेत्र से पुलिस-नक्सल मुठभेड़ की ख़बर आ रही है। यहाँ सुरक्षा बलों ने एक इनामी नक्सली को मार गिराने मे सफलता हासिल की है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक़ सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ मे एरिया कमांडर सोयम कामा को ढेर कर दिया है। मारे गये नक्सली सोयम कामा पर 5 लाख का इनाम घोषित था।50 से ज्यादा नक्सल वारदातों में शामिल कामा का कोंटा क्षेत्र मे दहशत था।
पुलिस अधिकारियों के अनुशार सर्चिंग पर निकले संयुक्त सुरक्षा दस्ते का सामना नक्सलियों से हो गया था। जहां हुए मुठभेड़ मे पुलिस ने एक नक्सली को मार गिराया है। गश्ती दल के वापस लौटने पर विस्तृत जानकारी प्राप्त हो सकेगी।

 

No image

कांग्रेस और जोगी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच बुधवार को दो बार जमकर मारपीट हुई। दोनों पक्ष के 7 लोग जख्मी हुए हैं। घायलों में तीन कांग्रेस के व चार जोगी कांग्रेस के हैं। जामुल नगर पालिका अध्यक्ष सरोजनी चंद्राकर का बेटा कुणाल चंद्राकर को गंभीर चोट आई है। उसे चंदूलाल चंद्राकर अस्पताल में दाखिल करया गया है।

मारपीट की दो अलग-अलग घटनाओं में जामुल पुलिस व सुपेला पुलिस ने काउंटर केस दर्ज किया है। मारपीट की पहली घटना जामुल की है। वहां कांग्रेस का संकल्प शिविर था। वहीं जामुल में ही जोगी कांग्रेस की बैठक थी। जिसमें ५०० कांग्रेसियों का जोगी कांग्रेस में शामिल होने का दावा किया गया।

जोगी कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आरोप है कि इससे तिलमिलाए कांग्रेस के 20 से अधिक कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला कर दिया। इसमें जोगी कांग्रेस के ईश्वर उपाध्याय, संजय गुरुपंच, पार्षद युवराज वैष्णव और हितेश पठारे को चोट लगी है। कांग्रेसियों का आरोप है कि जोगी कांग्रेस के लोग वाट्सऐप पर पर्सनल मामलों को पोस्ट करते हैं।

इसे लेकर कई बार समझाइश भी दी गई कि राजनीति अलग है, पर्सनल पोस्ट न करें। इसी बात को लेकर जोगी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से बहस हुई। इस पर जोगी कांग्रेस के कार्यर्ताओं ने मारपीट की। जिसमें कांग्रेस के कार्यकर्ता कुणाल, अनिवनाश चंद्राकर, शहबाज खान और मुर्तुजा को चोट लगी है।

जामुल पुलिस मुलाहिजा कराने शास्त्री अस्पताल लेकर आई। पार्षद हरीश वर्मा ने बताया कि अस्पताल में जोगी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने कुणाल चंद्राकर व अन्य कार्यकर्ताओं को दौड़ाकर मारा। से फिर मारपीट की। अस्पताल से चंद्रा-मौर्या तक दौड़ाकर पीटा। कुणाल के सिर पर गंभीर चोट आई। उसे नाली में फेक दिए थे।

No image

सैन्य खर्च के मामले में भारत अब दुनियाभर के देशों में पांचवे पायदान पर आ गया है। 2017 में भारत के सैन्य खर्च में साढ़े पांच फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, इसी के साथ भारत ने फ्रांस को पीछे छोड़ दिया है। चीन में भी बढ़ोतरी लगभग इसी दर से हुई है। सैन्य खर्च के मामले में अमरीका पहले और चीन दूसरे स्थान पर है। कुल वैश्विक सैन्य खर्च में 60 फीसदी अकेले भारत और चीन का है। यह जानकारी स्वीडन के स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (सिपरी) की सालाना रिपोर्ट में सामने आई है।


2016 की तुलना में 2017 में भारत ने सैन्य खर्च साढ़े पांच फीसदी बढ़ाया है। इस खर्च में 14 लाख मौजूदा और करीब 20 लाख रिटायर्ड सैन्यकर्मियों की जरूरतें भी शामिल हैं। 2017 में भारत का सैन्य खर्च 4.26 लाख करोड़ रुपए रहा। हालांकि अभी भी सैन्य खर्च के मामले में चीन भारत से 3.6 गुना आगे है। चीन ने अपना सैन्य खर्च 5.6% (करीब 80 हजार करोड़ रुपए) तक बढ़ाते हुए 15.19 लाख करोड़ रुपए कर दिया।


सिपरी के मुताबिक 2017 में वैश्विक सैन्य खर्च में 2016 के मुकाबले 1.1 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है। 2017 में खर्च का आंकड़ा 115.92 लाख करोड़ रुपए का रहा, जो वैश्विक जीडीपी का 2.2 फीसदी है। 2016 में 2016 में कुल सैन्य खर्च 112 लाख करोड़ रुपए था।


पश्चिमी देशों के साथ इन दिनों रूस के रिश्ते पहले से और खराब हुए हैं। सीरिया विवाद के चलते अमरीका से पारंपरिक तनातनी के हालात और खराब हुए हैं। लेकिन इस सबके बावजूद रूस का सैन्य खर्च एक साल में करीब 20 फीसदी घटकर 2016 के मुकाबले 4.41

लाख करोड़ रुपए रह गया है। आपको बता दें कि हाल ही में राजनयिक विवाद के चलते स्थितियां और खराब हुई हैं, हालांकि यह 2018 का विवाद है। दूसरी तरफ अमरीका ने 2010 से लगातार घटते सैन्य खर्च को इस बार बढ़ाया है। 2017 में अमरीका 40.66 लाख करोड़ रुपए खर्च करने के साथ शीर्ष पर रहा।

No image

 जिले में मंगलवार शाम को अचानक आई आंधी और बारिश के बाद आकाशीय बिजली गिरने से चार लोगों की मौत हो गई जबकि दो गंभीर रूप से घायल हो गए। कोरर क्षेत्र के ग्राम सेलेगांव में दोपहर तीन बजे पांच लोग बाड़ी में कर रहे थे, तभी तेज हवाओं और बारिश के साथ बिजली चमकने लगी। इस दौरान सोनावा जांगड़ा, सूरज  व कुमारी बाई आकाशीय बिजली की चपेट में आ गए और उनकी मौके पर मौत हो गई, जबकि कुशल जांगड़, सांवत राण घायल हो गए।

घटना की जानकारी होते ही ग्रामीणों ने उन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनका इलाज जारी है। वहीं कनेचुर में एक युवक की मौत हो गई। इस घटना के बाद गांव में शोक का माहौल बना हुआ है। इधर खबर मिलते ही कोरर थाना प्रभारी भानुप्रताप साव अपनी टीम के साथ घटना स्थल पहुंचे। इसी थाना क्षेत्र के ग्राम कनेचुर के कान्ता भी नयापारा में बिजली गिरने से घायल हो गए। उन्हें तत्काल भानुप्रतापपुर अस्पताल ले जाया गया लेकिन डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

प्रदेश में लगातार मौसम में बदलाव के कारण एेसी घटनाएं हो रही है। राज्य में रोजाना मौसम में बदलाव हो रहें है। राजधानी समेत प्रदेश के कई इलाकों क्षेत्रों में मंगलवार शाम करीब 4.30 बजे मौसम में बदलाव और तेज हवाओं के साथ आंधी चली। जिससे के अलग-अलग हिस्सों में आधा दर्जन से ज्यादा विजली और एक दो जगह पेड़ भी गिरे। इससे बिजली सप्लाई कई इलाकों में प्रभावित रही। आज भी दोपहर के बाद मौसम में बदलाव की आशंका जताई जा रही है। अंधड़ में अंधड़ और तुफान के कारण कई होल्डिग़ गिर गए और कई पेड़ भी गिरे।

कई इलाकों में घंटो बिजली बंद कई इलाकों में पेड़ भी गिरे
राजधानी में तेज आंधी और बारिश के कारण कई इलाकों में देर रात तक अंधेरे में डूबे रहे। खासकर गुढि़यारी में रात करीब नौ बजे तक बिजली बंद थी। कुछ जगह पर तेज हवा के कारण ट्रांसफार्मर में दिक्कत आई तो कुछ जगहों पर बिजली के तार भी टूटकर गिरे।

No image

शहर के प्रतिष्ठित सराफा व्यापारी को पुलिस ने सट्टा का कारोबार करते हुए गिरफ्तार किया है। उसके पास से 45 हजार नगद व लाखों का पट्टी जब्त की गई है। मामले का खुलासा थोड़ी ही देर में दुर्ग सिटी कोतवाली पुलिस करेगी। मिली जानकारी के अनुसार पकड़ा गया आरोपी सराफा का बड़ा व्यापारी है। पुलिस गिरफ्त में आते ही व्यापारियों में हड़कंप मच गया है।

सट्टा कारोबार में दुर्ग संभाग के लोगों के संलिप्त होने का आंकड़ा तेजी से बढ़ता जा रहा है। ३० अप्रैल को राजनांदगांव में हाइटेक तरीके से आईपीएल में सट्टा खिला रहे दो आरोपियों को पुलिस ने पकडऩे में सफलता हासिल की थी। ये दोनों आरोपी व्हाट्स-अप में गु्रप बनाकर रविवार को राजस्थान और हैदराबाद के बीच हुए मैच में सट्टा खिलाने का कर रहे थे। पुलिस ने दोनों आरोपियों के पास से 79 हजार रूपए नगद और 15 लाख रूपए की सट्टा-पट्टी बरामद की थी।

राजनांदगांव की बसंतपुर पुलिस ने जीवन कॉलोनी में छापा मारकर दो आरोपियों को हाइटेक तरीके क्रिकेट सट्टा खिलाते पकड़ा था। पुलिस ने सुमित पिता अशोक मनिहार उम्र 30 वर्ष निवासी जीवन कॉलोनी और पवन कुमार देशमुख उम्र 32 वर्ष निवासी जीवन कॉलोनी को रंगे हाथों पकड़ा था।

फटाफअ क्रिकेट के संस्करण आईपीएल की शुरूआत से ही पुलिस लगातार क्रिकेट में सट्टा खिलाने वालों पर कार्रवाई करने के लिए संदिग्ध लोगों पर नजर रख रही थी और ३० अप्रैल को पुलिस ने एक और कार्रवाई की थी।पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पकड़े गए दोनों आरोपी सुमीत और पवन रविवार को हुए राजस्थान रायल्स और सनराइजर हैदराबाद के बीच हुए मैच में हर बॉल पर रन और विकेट में दांव खिलाने का काम कर रहे थे।

इन दोनों आरोपियों ने एक व्हाट्स-अप गु्रप बनाया था। लोगों को गु्रप में जोड़कर ये बिल्कुल नए तरीके से ग्राहकों से हर बॉल पर दांव लगाने का काम कर रहे थे। पुलिस ने आरोपियों को ऐसा करते हुए सुमीत के घर में रंगे हाथों पकड़ा था।ये 
आईपीएल में सट्टा खिला रहे आरोपियों के पास से पुलिस ने मौके पर 79 हजार रूपए नगद और 15 लाख रूपए की सट्टा-पट्टी के साथ ही 4 नग मोबाइल, एक नग एलईडी टीव्ही जब्त किया है। बसंतपुर पुलिस आरोपियों के खिलाफ 4 क जुआ एक्ट के तहत कार्रवाई की थी।


क्रिकेट की आड़ में सट्टा खिला रहे आारोपियों के खिलाफ पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है। इससे पूर्व भी पुलिस ने शनिवार को मुंबई और चेन्नई के बीच हुए मैच के दौरान सट्टा खिला रहे नंदई के राहुल सोनकर के घर में छापा मारकर सट्टा-पट्टी लिखते देवा पिता गेंदलाल सोनकर उम्र 27 वर्ष निवासी नंदई और राहुल पिता गेंदलाल सोनकर उम्र 30 वर्ष निवासी नंदई को रंगे हाथों पकड़ा था।

बसंतपुर पुलिस ने इन आरोपियों के पास से लगभग 5 लाख रूपए की सट्टा-पट्टी और नगदी 22 हजार 690 रूपए नगद बरामद किए थे। साथ ही चार नग मोबाइल जब्त किया गया था। आईपीए क्रिकेट सट्टे के खिलाफ राजनांदगांव पुलिस की यह लगातार तीसरी कार्रवाई थी।

No image

राजधानी में पीलिया से हो रही मौतों पर हाईकोर्ट ने मंगलवार को सख्त आदेश सुनाया है। 4 साल पहले प्रदूषित पानी को लेकर मनोज देवांगन की दायर जनहित याचिका पर जस्टिस टीबी राधाकृष्णन एवं जस्टिस शरद कुमार गुप्ता की युगलपीठ ने इसे आपदा घोषित करते हुए जोन क्रमांक-2 के प्रभावित मोवा नहरपारा क्षेत्र को 48 घंटे के भीतर खाली कराने के आदेश दिए हैं।

कोर्ट ने कहा- अब तक रायपुर के प्रभावित क्षेत्र में 6 लोगों की मौत हो चुकी है और 104 लोग पीलिया से बुरी तरह प्रभावित हैं। इन परिस्थितियों में कोर्ट चुप नहीं बैठ सकता। नगर निगम अपने खर्चे से इन क्षेत्र के रहवासियों को अस्थायी कैंपों में शिफ्ट करे और इनके खाने-पीने का भी पुख्ता इंतजाम करें। साथ ही इनके घरों की सुरक्षा का जिम्मा राज्य शासन, नगर निगम तथा पुलिस का होगा। इससे पहले मुआवजे के लिए दायर जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने इसे गंभीर मामला मानते हुए राज्य के सभी नगर निगमों को पानी की जांच करने के निर्देश दिए थे।

 

No image

साढ़े तीन साल की मासूम अपने घर के सामने खेल रही थी। गांव का ही एक 21 साल का शादीशुदा युवक उसे पेप्सी खिलाने के बहाने उठा ले गया और गांव के आंगनबाड़ी केन्द्र के पीछे उसके साथ दुष्कर्म किया। मासूम जब रोने लगी तो आरोपी उसे वहीं पर छोड़कर भाग गया। पीडि़ता ने अपनी मां को सिसकते हुए इशारों में घटना से वाकिफ कराया। पाटन पुलिस ने पीडि़त पिता की शिकायत पर आरोपी ओम प्रकाश को गिरफ्तार कर धारा 375, 5, 6 पाक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई की है। आरोपी चरवाहा है। बच्ची का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

घटना मंगलवार को दोपहर करीब 3 बजे रवेली पाटन थाना क्षेत्र की है। मासूम अपने घर के सामने दुर्गा पंडाल के पास खेल रही थी। आरोपी इस बीच वहां पहुंचा। बच्ची को पैसे दिए और कहा कि जा अपने के लिए पेप्सी और मेरे लिए गुटखा लाना। बच्ची अपनी दुकान से पेप्सी और गुटखा लेकर उसके पास आ गई। इस बीच आरोपी उसे आंगनबाड़ी के बरामदे में ले गया और दुष्कर्म किया। जब वह चिल्लाने लगी तो आरोपी उसे छोड़कर भाग गया।

ऐसे लोग सेक्सुअल परवेटेड बीमारी के मरीज होते हंै। ये सेक्स के प्रति अलग नजरिया रखते हैं। इनकी सेक्स की कटेगरी अलग-अलग होती है। कई ऐसे लोग होते हैं जिन्हे बच्चों के साथ सेक्सुअल से सेटिफेक्शन मिलता है। इस मानसिकता वालों को साइकोलॉजी विशेषज्ञों से संपर्क करना चाहिए। इसमें पैरेट्स को बच्चियों के साथ कम से कम १८ वर्ष की उम्र तक बहुत देने की आवश्यकता है। उन्हें बहुत संभाल कर रखना है।

यह एक ऐसी प्रवृत्ति है कि क्लोज रिलेशन में भी बच्चे पीडि़त के शिकार हो जाते हैं। ऐसे रोगी उनकी मानसिकता जब चरम सीमा पर पहुंच जाती है तो इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे बैठते हंै। एसडीओपी पाटन माधुरी घिरही ने बताया कि साढ़े तीन साल की बच्ची अपने घर के सामने खेल रही थी। आरोपी उसे बहला फुसला कर आंगनबाड़ी के पीछे ले गया। जहां उसके साथ अनाचार किया है। आरोपी से पूछताछ की जा रही है। बच्ची अस्पताल में भर्ती है।

बच्ची रोते-बिलखते हुए घर पहुंची और सिसकते हुए इशारों में अपनी मां को घटनाक्रम से वाकिफ कराया। उसके प्राइवेट पार्ट से ब्लड निकल रहा था। वह दर्द के मारे सिसक रही थी। मां तत्काल उक्त बच्ची को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लेकर पहुंची। इस बीच डॉक्टर ने चेकअप के बाद बताया कि मासूम के साथ लैंगिक अपराध हुआ है।

पॉस्को एक्ट में 12 साल तक की नाबालिग से अनाचार के आरोपी को फांसी की सजा का अध्यादेश केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में मंजूर हो चुका है। इसके साथ ही यह कानून देशभर में लागू हो गया हैं। आगामी राज्यसभा और लोकसभा सत्र में इसे पेशकर छह महीने के भीतर पास कराया जाएगा। दरअसल देशभर में लगातार मासूमों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं सामने आ रहीं हैं। इन घटनाओं ने हर किसी को झकझोर कर रख दिया है। इसलिए पॉस्को एक्ट में संशोधन कर दरिंदों को फांसी की सजा का प्रावधान किया गया है।

No image

 राजधानी रायपुर के कमल विहार के पीडि़त भू-स्वामियों ने अपनी जमीन वापस लेने के लिए अब राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री के अलावा प्रदेश के मुख्यमंत्री और आवास मंत्री जिला कलेक्टर के नाम से ज्ञापन भेजेंगे। कमल विहार के पीडि़त भू-स्वामी एवं कांग्रेस नेता शेख शकील ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद कमल विहार के पीडि़त उन भू-स्वामियों को आरडीए द्वारा न तो जमीन वापस की जा रही है और न ही उन्हें उचित मुआवजा दिया जा रहा है।

श्री शकील ने बताया कि अपनी जमीन वापस लेने के लिए भू-स्वामियों द्वारा लंबे समय से प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए पूर्व में कई मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह से भी मुलाकात कर चुके है। लेकिन आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी जब पीडि़तों भू-स्वामियों को आरडीए द्वारा जमीन नहीं देने से नाराज होकर कई बार पीडि़तों ने आरडीए दफ्तर एवं वहां के अधिकारियों का भी घेराव कर चुके है। लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला। आखिरकर अब थकहारकर पीडि़त भू-स्वामियों ने न्याय की गुहार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से लगाने का निर्णय लिया है।

भू-स्वामियों की बैठक में निर्णय लिया गया है कि 2 मई को पीडि़त लोग जिला कलेक्टर के माध्यम से राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजेंगे। इसके अलावा वे प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं आवास मंत्री को भी ज्ञापन भेजेंगे। इस संबंध में  बुधवार को रायपुर कलेक्टर को दोपहर 12 बजे ज्ञापन सौंपा जाएगा।

No image

 जेईई मेंस के रिजल्ट में न केवल रायपुर के बल्क प्रदेश भर के विद्यार्थियों ने अच्छी सफलता पाई है। खास बात यह है कि इस बार आदिवासी बाहुल क्षेत्रों से भी विद्यार्थियों को सफलता मिली है। प्रदेश भर के 356 में से 112 छात्रों को मेंस के एग्जाम में कामयाबी मिली है। 

जेईई मेंस 2018 का परीक्षा परिणाम प्रदेश के छात्रों के लिए काफी सुखद साबित हुआ है। रयापुर के 90 छात्रों में से 40 को सफलता मिली है। इनमें 59 छात्रों में 17 को सफलता मिली है। इसी तरह अंबिकापुर के 51 में से 16, बिलसपुर 50 में 11, दुर्ग में 65 में 21, आदिवासी बाहुल क्षेत्र बस्तर के 41 में से 7 परीक्षार्थियों को सफलता मिली है।  इस तरह प्रदेश भर से कुल 356 में से 112 छात्रों को कामयाबी मिली है। सबसे सुखद बात यह रही है कि राज्य शासन के पहल पर शुरू की गई संस्था प्रयास के छात्रों को सर्वाधिक सफलता मिली है। 

No image

 शहर के पंडरीपानी स्थित 0-6 वर्ष के अनाथ बच्चों को आश्रय देने वाली संस्था मातृ निलयम में जब देर रात एससी में शार्ट सर्किट से भीषण आग लग गई तो संस्था की 3 महिला कर्मचारी 'मर्दानी' के रुप में दिखी। अपनी जान की बाजी लगा कर इन महिला कर्मचारियों ने सब्बल से एक लोहे के गेट को उखाड़ा। वहींं दूसरे लोहे के गेट, जो लकड़ी के दरवाजे व जाली से पूरी तरह से पैक किया गया था। उसे काट कर 17 मासूमों को बचाने के लिए रास्ता बनाया। खास बात तो यह है कि मौका देख भागने वाले आशियाना संस्था के बच्चों ने भी उक्त महिलाओं का भरपूर साथ दिया। धुंए से भरे कमरे से मासूम को अपनी गोद में लेकर पास के नीलांचल संस्था की ओर दौड़ते हुए नजर आए।

रविवार की देर रात तेज आंधी, पानी व आकाशीय बिजली के बीच 17 मासूम बच्चों का जिंदगी खतरे में पड़ गई थी। मिली जानकारी के अनुसार रात करीब 9.45 में आकाशीय बिजली चमकी तो पंडरीपानी स्थित अनाथ बच्चों की संस्था मातृ निलयम के एसी में शार्ट सर्किट हो गया। इससे एसी के अंदल लगे पाट्र्स, जलकर नीचे गिरने लगे। जिसकी वजह से संस्था का आफिस धंू- धंू कर जलने लगा।

आफिस के बंद गेट से जब धुंआ बाहर बरामदे की ओर निकलना शुरु हुआ तो केयर टेकर सरस्वती, अनिता दास व सुनीता के पैरों तले जमीन खिसक गई। उन्हें यह समझते देर ना लगी कि संस्था के बंद आफिस में आग लग गई है। जिसका धुंआ तेजी से बाहर बरामदे की तरफ आ रहा है। उसके बाद तीनों महिला कर्मचारी ने अपनी जान की परवाह किए बगैर मर्दानी के रुप में दिखी। वहीं संस्था में रखे सब्बल के जरिए बरामदे में लगे लोहा के गेट को सबसे पहले उखाड़ा।

 

No image

 प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह कल 01 मई को प्रात: 11.50 बजे राजधानी रायपुर स्थित पुलिस ग्राउंड हेलीपैड से हेलीकाप्टर द्वारा प्रस्थान कर दोपहर 01.05 बजे जिले के विकासखंड सोनहत के ग्राम नटवाही स्थित हेलीपैड पहुंचेंगे। मुख्यमंत्री डॉ.सिंह दोपहर 01.05 बजे से दोपहर 01.20 बजे तक ग्राम नटवाही के आदिषक्ति मां गांगीरानी मदिर परिसर में आयोजित सामूहिक विवाह तथा विभिन्न विकास और निर्माण कार्यों का भूमिपूजन एवं लोकापर्ण कार्यक्रम में षामिल होंगे। मुख्यमंत्री डॉ.सिंह दोपहर 01.20 बजे से दोपहर 02 बजे तक चेरवा समाज के सम्मेलन एवं सामग्री और प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम में षामिल होंगे। तत्पष्चात मुख्यमंत्री डॉ.सिंह ग्राम नटवाही स्थित हेलीपैड से हेलीकाप्टर द्वारा प्रस्थान कर

दोपहर 02.20 बजे विकासखंड मनेन्द्रगढ स्थित हैलीपैड पहुंचेंगे और वहां दोपहर 02.25 बजे से दोपहर  02.35 बजे तक विभिन्न विकास कार्यों का भूमिपूजन एवं लोकार्पण करेंगे। मुख्यमंत्री डॉ.सिंह दोपहर 02.35 बजे से अपरान्ह     03 बजे तक आम जनता को संबोधित करेंगे। मुख्यमंत्री डॉ.सिंह अपरान्ह   03 बजे से  अपरान्ह 03.10 बजे तक सामग्री एवं प्रमाण पत्र वितरण करेंगे। मुख्यमंत्री डॉ.सिंह अपरान्ह 03.15 बजे विकासखंड मनेन्द्रगढ स्थित हैलीपैड से  हेलीकाप्टर द्वारा राजधानी रायपुर के लिए प्रस्थान करेंगे।

No image

 आगामी विधानसभा चुनाव तक दो चरणों में चलने वाली प्रदेश सरकार की विकास यात्रा 11 मई को दंतेवाड़ा से शुरू होगी। उसी दिन देर शाम जगदलपुर में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह का रोड शो होगा और रात में ही हाता मैदान में जनसभा होगी। दूसरे दिन विकास यात्रा का काफिला कोंडागांव जिले की ओर प्रस्थान कर जाएगा। 

रायपुर में विकास यात्रा की तैयारी को लेकर आयोजित बैठक में शामिल होकर लौटे विधायक संतोष बाफना व जिला भाजपा के पदाधिकारियों से चर्चा करने पर मिली जानकारी के अनुसार विकास यात्रा के पहले ही दिन के कार्यक्रम में जगदलपुर भी शामिल है। 11 से 13 मई तक विकास यात्रा बस्तर संभाग के दंतेवाड़ा, कोंडागांव और कांकेर जिले में रहेगी। फिर यहां से बालोद जिले के लिए प्रस्थान कर जाएगी।

दंतेवाड़ा में विकास यात्रा की शुरूआत कर मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह हेलीकाप्टर में बस्तर जिले के बास्तानार ब्लाक मुख्यालय किलेपाल पहुंचेंगे। यहां जनसभा जारी रहेगी और इसी दौरान विकास यात्रा का काफिला भी सड़क मार्ग से किलेपाल पहुंच जाएगा। सीएम यहां से रथ में सवार होकर तोकापाल के रायकोट और केशलूर में रूककर जनसभा को संबोधित करेंगे। इसके बाद विकास यात्रा का काफिला देर शाम छह बजे के आसपास जगदलपुर पहुंचेगा और यहां शहर में रोड शो करने के बाद हाता मैदान में जनसभा होगी। 

दूसरे दिन सुबह पत्रवार्ता लेने के बाद विकास यात्रा 12 मई को कोंडागांव की ओर रवाना हो जाएगी। रास्ते में बस्तर, भानपुरी, दहिकोंगा, बनियागांव में सभा का आयोजन किया जाएगा। रात्रि विश्राम कोंडागांव में करने के बाद तीसरे दिन 13 मई को विकास यात्रा कोंडागांव से कांकेर के लिए प्रस्थान करेगी। बस्तर संभाग से 13 मई की रात कांकेर पहुंचकर इसके अगले दिन विकास यात्रा बालोद जिले के लिए रवाना हो जाएगी।

बस्तर संभाग में पहले चरण की विकास यात्रा की तैयारियों के संबंध में विकास यात्रा के प्रदेश प्रभारी मंत्री राजेश मूणत मंगलवार को यहां भाजपा कार्यालय में भाजपा की संभागीय बैठक लेंगे। जिसमें विकास यात्रा के संभागीय प्रभारी प्रदेश महामंत्री डॉ सुभाऊ कश्यप, प्रदेश मंत्री किरण देव, सांसद दिनेश कश्यप, मंत्री केदार कश्यप व महेश गागड़ा, विधायक संतोष बाफना सभी जिलों के पार्टी जिला अध्यक्ष व अनुषांगिक संगठनों के अध्यक्ष भी उपस्थित रहेंगे।विधानसभा चुनाव 2013 के पहले भी विकास यात्रा 6 मई 2013 को दंतेवाड़ा से शुरू हुई थी। उस समय पार्टी के राष्ट्रीय नेता लालकृष्ण आड़वाणी ने दंतेवाड़ा में झंडी दिखाकर विकास यात्रा को रवाना किया था। तब दंतेवाड़ा से विकास यात्रा रवाना होकर गीदम,ए बागमुडीपनेड़ा, किलेपाल, केशलूर होकर उसी दिन जगदलपुर पहुंची थी। 6 मई को ही रात में यहां शहर में रोड शो और जनसभा हुई थी। दूसरे दिन 7 मई को विकास यात्रा का काफिला कोंडागांव जिले के लिए रवाना हुआ था।
 

No image

 छत्तीसगढ़ तैराकी संघ भिलाई जिला दुर्ग की ओर से मई माह के अंतिम सप्ताह में राज्य स्तरीय तैराकी प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। प्रतियोगिता में भाग लेने हेतु जिला खिलाडिय़ों का चयन ट्रायल प्रियदर्शिनी इंदिरा स्टेडियम स्थित तरणताल में सात मई को दोपहर 3 बजे से किया जाएगा।

जिला तैराकी संघ के अध्यक्ष राजेंद्र पटेरिया एवं सचिव नसीम अख्तर खान ने बताया कि जिला तैराकी संघ से पंजीकृत खिलाड़ी जो अपना पंजीयन 30 अप्रैल तक की निर्धारित तिथि में करा चुके हैंए उन्हें भाग लेने की पात्रता होगी। प्रतियोगिता में सब जूनियर और जूनियर ग्रुप के खिलाड़ी भाग लेंगे। जिन्हें विभिन्न गु्रप में रखा गया है। ग्रुप एक में 15 से 17 वर्ष के खिलाड़ी, जिनका जन्म 2001 से 2003 तथा गु्रप दो में 13 से 14 वर्ष, जिनका जन्म 2004 एवं 2005 में होगा एवं गु्रप  तीन में 11 से 12 वर्ष आयु के खिलाड़ी, जिनका जन्म 2006 एवं 2007 में होगा तथा गु्रप चार में नौ से 10 वर्ष के खिलाड़ी जिनका जन्म 2008 एवं 2009 में होगा, उन्हीं खिलाडिय़ों को भाग लेने की पात्रता होगी। प्रतियोगिता में फ्र ी स्टाइल बेक स्ट्रोक, ब्रस्ट स्ट्रोक, बटर फ्लाई, आइएम, फ्री स्टाइल रिले एवं मिडले रिले के लिए खिलाडिय़ों का चयन होना है। स्वीमिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से राष्ट्रीय 35वीं सब जूनियर तथा 45वीं जूनियर एच्ेटिक स्वीमिंग चैंपियनशिप 24 जून से 29 जून तक महाराष्ट्र के पुणे में आयोजित है।

No image

  बांगो थाना के एक गांव में एलपीजी गैस रिसने से कमरे में आग लग गई। हादसे में घर के तीन सदस्य बुरी तरह झुलस गए। उन्हें उपचार के लिए पोड़ी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। जहां से उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है।

जानकारी के अनुसार ग्राम कोनकोना के पास स्थित बनिया गांव में संतराम अपनी पत्नी व बहन के साथ निवास करता है। उसकी पत्नी बसंती व बहन करीना बाई रसोई घर में चूल्हे पर खाना पका रही थी। एलपीजी के छोटे सिलेंडर को एक पेटी में बंद करके रखा था। शाम को जब संतराम घर आया तो उसे रसोई घर के पेटी से कुछ रिसाव होने आवाज आने लगी। गैस रिसने की आशंका पर संतराम ने जैसे ही पेटी को खोला, सिलेंडर से निकल रहा गैस चूल्हे के संपर्क में आकर धधक उठा। इससे पूरे कमरे में आग लग गई। इसकी चपेट में आकर करीना, बसंती व संतराम झुलस गए। घर वालों ने उन्हें आनन फ ानन में पोड़ी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। जहां से उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है। घरवालों ने काफ ी मशक्कत बाद आग पर काबू पाया। इस मामले की शिकायत अब तक बांगो थाने में नहीं की गई है।
 

No image

  भीषण गर्मी में दूषित पानी का सेवन संक्रामक बीमारी का कारण बन जाती है।कोरबा में हालात ऐसे हैं कि लोगों रकम खर्च करने के बाद भी शुद्ध पेयजल नसीब नही हो पा रहा है। फूड एंड सेफ्टी डिपार्टमेंट के अफसरों ने कई सालों से जिले के किसी भी वाटर पैकेजिंग प्लांट के पानी की जांच नहीं की और न ही गर्मी शुरू होने पर किसी भी प्लांट का दौरा किया। यही कारण है कि इस साल भी धड़ल्ले से बगैर पैकेजिंग डेट लिखे पानी पाउच की सप्लाई दुकानों में की जा रही है। अलग-अलग कंपनियों के पानी पाउच में बेस्ट बिफोर वन मंथ तो लिखा हुआ है, लेकिन पानी की पैकेजिंग कब की गई यह तिथि अंकित नहीं है। यही नहीं पिछले कई साल से फूड एंड सेफ्टी डिपार्टमेंट ने एक भी दुकानदार या कंपनी में जाकर पानी की जांच करना तक मुनासिब नहीं समझा है। अधिकांश कंपनियों के पानी पाउच में उत्पादन तिथि ही नहीं है।

यही नहीं पानी कौन से महीने में पैक किया गया, यह भी पैकेट में अंकित नहीं है। जिला एवं इसके अलावा दूसरे जिले का पानी पाउच भी जिले में धड़ल्ले से बिक रहा है। दो रुपए में मिलने वाला ठंडा पानी लोगों के लिए सुविधाजनक तो है, लेकिन हकीकत यह है कि पानी पाउच तैयार करने में मानकों का पालन नहीं किया जाता। पैकेज्ड वाटर प्लांट संचालित करने के लिए भारतीय मानक ब्यूरो ने मानक तय किया है, जिस पर कोई ध्यान ही नहीं देता। किसी भी पानी पाउच में डब्यूएचओ का एगमार्क, एफएसएसएआई नंबर, उत्पादन तिथि लिखा होना जरूरी है। बावजूद इस पर ध्यान नहीं दिया जाता।

शहर के बाजार में विभिन्न कंपनियों के पानी पाउच धड़ल्ले से बिक रहे हैं।  अधिकांश दुकानों में कई कंपनियों का पानी पाउच मिल रहा है। अधिकांश पाउच में बेस्ट बिफोर वन मंथ जरूर लिखा रहता है लेकिन पानी की पैकेजिंग कब की गई थी, यह नहीं लिखा रहता। भारतीय मानक ब्यूरो ने पैकेज्ड पानी प्लांट संचालन के लिए कई कड़े नियम तय किए हैं। प्रमुख रूप से प्लांट के पानी की नियमित चेकिंग के लिए एक निजी लैब और लैब टेक्नीशियन की तैनाती होनी चाहिए। पानी का टैंक और पाइप स्टील के होने चाहिए। भूजल दोहन के लिए संबंधित स्थानीय निकाय या ग्राम पंचायत से अनापत्ति प्रमाण पत्र भी लिया गया हो। पीने योग्य पानी 80 से 95 टीडीएस का होना चाहिए, पर बाजार में बेचा जा रहा पानी कितने टीडीएस का है। इसकी जांच सालों से नहीं हुई है। 
 

No image

 वनोपज एकत्रित कर थके-हारे घर लौटे पति ने भोजन निकालने कहा, लेकिन पत्नी ने आनाकानी की तो नाराज होकर पति ने उसकी पिटाई शुरू कर दी। इस बुरी कदर पीटा कि पत्नी की दर्दनाक मौत हो गई। लेमरू पुलिस ने आरोपी के खिलाफ  हत्या का मामला पंजीबद्ध कर गिरफ्तार कर लिया है।


जानकारी के अनुसार लेमरू के कंसरा गांव स्थित खोरसीडुग्गु मोहल्ला में निवासरत बंधुराम धनुहार 32 वर्ष शनिवार को चार बीनने नजदीक के जंगल गया था। दोपहर करीब 12 बजे वापस घर लौटा, उस वक्त उसकी पत्नी सुनीता बाई 28 वर्ष घर में जमीन पर सो रही थी। बंधुराम ने तेज भूख लगने की बात कहते हुए जल्दी भोजन निकालने कहा। सुनीता बाई उसकी बात को अनसुना कर दी और सोई रही। इसकी वजह से बंधुराम भड़क गया और पत्नी को बाल पकड़कर उठाया। इसे लेकर दोनों के बीच विवाद होने लगा।

जुबान चलाने की बात कहते हुए बंधुराम बेदम पीटने लगा। नौबत यह आ गई कि सुनीता की मौके पर ही मौत हो गई। सांसें थम गई तो बंधुराम गांव में ही रहने वाले अपने पिता निर्मल धनुहार और मां बिरसो बाई के घर पहुंचकर घटनाक्रम की जानकारी दी। निर्मल अपने बेटे के घर पहुंचा और बहू की स्थिति का जायजा लिया, वह दम तोड़ चुकी थी। इसके बाद निर्मल ने अपने बेटे को लेमरू थाने ले गया और पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पोस्टमार्टम व अन्य प्रक्रिया पूर्ण करने के बाद अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया है। आरोपी के खिलाफ  हत्या का मामला धारा 302 के तहत पंजीबद्ध किया गया है। आरोपी को न्यायालय पेश किया गया। जहां जमानत रद्द होने पर जिला जेल दाखिल कर दिया गया।

No image

  छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रभारी पीएल पुनिया पांच दिवसीय छग दौरे पर आज शाम को रायपुर आएंगे। श्री पुनिया अपने दौरे के दौरान प्रदेश के कई जिलों में आयोजित कार्यक्रमों में शामिल होंगे। श्री पुनिया 1 मई को भिलाई के लिए रवाना होंगे। वहां वे प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल के साथ बेमेतरा जिले के साजा में किसान मजदूर दिवस कार्यक्रम में शामिल होने जाएंगे। 2 मई को वे मोहला के गांव हिद्दड़ में आयोजित विधानसभा स्तरीय संकल्प शिविर में शामिल होंगे। इसी दिन शाम को दल्लीराजहरा के डौंडीलोहारा में आयोजित विधानसभा स्तरीय संकल्प शिविर में शामिल होंगे। 3 मई को पाटन में विधानसभा स्तरीय संकल्प शिविर में भी शामिल होंगे। इसी दिन बालोद और दुर्ग के चंद्रखुरी में आयोजित संकल्प शिविर में शामिल होंगे। 4 मई को पुनिया गुण्डरदेही में आयोजित संकल्प शिविर में शामिल होंगे। 
 

No image

भले ही पुलिया मरम्मत के नाम पर कोरबा की तीन जोड़ी पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया गया हो। परंतु अन्य एक्सप्रेस ट्रेनों में यात्रियों को राहत मिलेगी।शादी सीजन व छुट्टियों का दौर चल रहा है। लोग अपने रिश्तेदारों के घर पहुंचने के लिए ट्रेन में ही ज्यादा सफर करते हैं। ऐसे में उनके लिए अच्छी खबर है। वेटिंग कंफर्म नहीं होने पर ई-टिकट कैंसिल होने के सिस्टम में रेलवे ने छुट्टियों की भीड़ को देखते हुए थोड़ा बदलाव किया है। अभी वेटिंग कंफर्म नहीं होने पर ई-टिकट कैंसिल हो जाता है। बदलाव ये हुआ है कि अगर उसी रूट पर दूसरी ट्रेन हुई और उसमें सीट खाली रही तो टिकट कैंसिल होने के बजाय यात्री विकल्प के तौर पर उस ट्रेन में सफर कर सकते हैं। रेलवे ने इस योजना को ही विकल्प का नाम दिया है। स्कीम में दूसरी ट्रेन का टिकट महंगा भी हुआ तो यात्रियों से अतिरिक्त चार्ज नहीं वसूला जाएगा ।बुकिंग के दौरान विकल्प स्कीम का कॉलम दिया होता है। इसमें यस या कैंसिल में से किसी एक को सेलेक्ट करना होता है। यस करने पर विकल्प स्कीम उस टिकट पर लागू हो जाएगी। अगर चुनी गई ट्रेन में वेटिंग क्लियर नहीं हुई तो उसी रूट की अगली ट्रेन में सीट खाली रहने पर यात्री को सफर की सूचना मिल जाएगी। इस योजना से यात्रियों को राहत मिलेगी। 


विकल्प योजना ऑनलाइन व ई-टिकट पर ही लागू रहेगी, क्योंकि ऐसे ही टिकट वेटिंग होने पर सीधे कैंसिल हो जाते हैं इसलिए सफर भी रद्द करना पड़ता है। आईआरसीटीसी के आईडी से ई-टिकट बुक करने विकल्प स्कीम चुनने का कॉलम दिया गया है। वेटिंग टिकट रहने से रेलवे को रिफंड करने की मजबूरी है। स्कीम के तहत रेलवे को प्रति साल रिफंड के तौर पर दी जाने वाली 7 हजार 500 करोड़ रुपए की राशि बचेगी। अफसरों की मानें तो ट्रेनों में सीटें खाली है तो बेहतर यही होगा कि वेटिंग यात्री इसका लाभ उठाएं। ऐसे में टिकट का पैसा वापस नहीं करना पड़ेगा। साथ ही यात्रियों को भी राहत मिलेगी। ऑनलाइन टिकट पर योजना सफल रही तो इसका विस्तार खिड़की से लिए गए टिकट पर भी किया जाएगा। इससे अधिक से अधिक यात्रियों को विकल्प योजना का लाभ मिल सकेगा। ट्रेनों में भी सीटें खाली नहीं रहेंगी। प्रत्येक सीट का उपयोग हो सकेगा। रेलवे की इस नई योजना से यात्रियों को राहत मिलेगी।
 

No image

मान्यता है कि तन और मन की शुद्धता के लिए हर दिन नहाना बेहद जरूरी है इसीलिए हमारे बड़े-बुजुर्ग हर दिन नहाने की सलाह देते हैंस लेकिन क्या सच में ये बात सही है हर दिन नहाने का और साफ-सफाई का कोई कनेक्शन है।

कई बारगी हम हर दिन यहां तक कि दिन में 2 बार नहाते हैं ताकि बाहर से आई हुई गंदगी और इंफेक्शन खत्म हो सके लेकिन ये बात सही नहीं है। Columbia University School of Nursing में हुए एक रिसर्च के मुताबिक हर दिन नहाने से या साबुन का इस्तेमाल करने से इंफेक्शन वाली बीमारियों का खतरा कम नहीं होता।

बीमारियों को दूर करने के लिए नहाने से बेहतर तरीका है कि हाथों को बार-बार धोया जाए इससे संक्रमण कम फैलता है। इसके अलावा कीटाणुओं को दूर रखने के लिए हर दिन कपड़े बदलने चाहिए क्योंकि हर दिन पूरे शरीर में साबुन और शैम्पू का इस्तेमाल करने से स्किन और बालों का नैचुरल ऑयल खत्म होता है। जिसकी वजह से बालों और त्वचा की चमक खत्म होती है और हम वक्त से पहले ही बूढ़े नजर आने लगते हैं।

 

No image

 छत्तीसगढ़ के युवाओं के लिए वायु सेना में भर्ती हेतु रायगढ़ जिले में 16 मई 2018 से 21 मई 2018 तक वायु सेना में ग्रुप- वाय आई.ए.एफ. (सिक्योरिटी) पद पर भर्ती रैली का आयोजन किया जा रहा है। कोरबा जिले के युवाओं को 19 मई 2018 को मिनी स्टेडियम रायगढ़ में कलेक्टर कार्यालय के सामने प्रात: 4 बजे रिपोर्टिंग करनी है।

जन्मतिथि 13 जनवरी 1998 से 02 जनवरी 2002 के मध्य हो ऊंचाई 152.5 से.मी. हायर सेकेण्डरी परीक्षा में 50 प्रतिशत अंक एवं अग्रेजी विषय में 50 प्रतिशत अंक होना अनिवार्य है रैली में भाग ले सकते है। संपर्क वायुसेना के वेबसाईट डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डाट इंडियन एयर फ ोर्स डाट एनआईसी डाट इन पर लॉगऑन कर सकते है, या जिला रोजगार अधिकारी कोरबा से संपर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते है।
 

No image

गुजरात के गिर सोमनाथ जिले में स्थित उना तहसील के दलित परिवारों ने अपने धर्मांतरण का ऐलान किया है। दरअसल चार दलित परिवारों ने 2016 में गो रक्षकों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। इनके साथ सैकड़ों दलित परिवारों ने धर्म बदलकर बौद्ध धर्म अपनाने का ऐलान किया है।

दलित परिवारों के धर्मांतरण का यह कार्यक्रम गिर सोमनाथ जिले के मोटा समाढियाला गांव में आयोजित किया जाएगा। आपको बता दें कि गो रक्षकों ने इसी गांव में दलितों के साथ मारपीट की थी। जिस सरवैया परिवार के चार लोग मारपीट के शिकार हुए थे उसके एक ने मीडिया को बताया, 'हम 20 अप्रैल को कलेक्टर को 29 अप्रैल को बौद्ध धर्म अपनाने के बारे में सूचित कर चुके हैं। हमने अपने समुदाय के सदस्यों एवं अन्य से कार्यक्रम के लिए समर्थन की मांग की है।

कार्यक्रम में सैकड़ों दलित बौद्ध धर्म अपनाएंगे। जुलाई 2016 में मोटा समाढियाला गांव के सरवैया परिवार के चार सदस्यों सहित सात दलितों का जुलूस निकाला गया था और उनके साथ मारपीट की गई थी। यह काम कथित रूप से मृत गाय का चमड़ा उतारने के कारण किया गया था। इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद राष्ट्रीय स्तर पर हंगामा मचा था। कई जिलों में मिलाकर हजारों दलित परिवार अब तक बौद्ध धर्म अपना चुके हैं। एक सामाजिक संस्था की रिपोर्ट के मुताबिक, उना की घटना से पहले हर साल करीब 500 से 600 धर्मांतरण के मामले सामने आते थे, लेकिन इसके बाद धर्मांतरण करने वालों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हुई है।

No image

दिल्ली में एक ढोंगी तांत्रिक द्वारा विवाहिता को हवस का शिकार बनाने का मामल सामने आया है। बता दें कि तंत्रमंत्र और अंधविश्वास के चक्कर में आकर महिला ढोंगी तांत्रिक के चक्कर में पड़ गई थी। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी तांत्रिक फरार हो गया। तांत्रिक महिला के यहां किराए पर रहता था।

घटना बाहरी दिल्ली के अमन विहार इलाके की है। जहां महिला अपने पति और 3 बच्चों के साथ रहती है। पीड़िता की मां ने बताया कि लगभग एक साल पहले उस्मान नामक एक आदमी उनके यहां किराये पर रहने आया था। उसे किराए पर रख लिया गया था। वह अकेला ही वहां रहता था। पीड़िता की मां ने बताया कि वह एक तांत्रिक था। किराएदार झाड़ फूंक और तंत्र मंत्र ? का काम करता था। यही नहीं वह अपने आपको पहुंचा हुआ तांत्रिक बताया करता था। इसी दौरान शबनम और उस किरायेदार तांत्रिक के बीच बातचीत शुरुूहो गई। पीड़िता की मां ने बताया कि उस ढोंगी तांत्रिक ने पीड़िता से खाना बनाकर देने की बात कही, जिसके बदले वो हर महीने उसे कुछ पैसे देता था पीड़िता की मानें तो कुछ दिन तक सब ठीक चलता रहा। इसी दौरान अचानक शबनम की तबीयत खराब होने लगी। तांत्रिक उस्मान ने महिला को बताया कि उस पर कोई भूत का साया है। वो पीड़िता को ताबीज़ भी देता था और उसे अपने साथ निजामुद्दीन दरगाह ले जाया करता था।

No image

समाज के अतिसंवेदनशील वर्गों के प्रति लोगों की उपेक्षा की मानसिकता हमेशा ही एक सामाजिक समस्या के रूप में उभरती रही है। समाज में उचित स्थान व सम्मान पाने के लिए ये तबका आज भी संघर्षरत है।

भारत में दिव्यांग बच्चों को गोद लेने में प्रति वर्ष हो रही कमी इसी समस्या का दूसरा पहलू है। भारतीय अनाथ बच्चों के पालन-पोषण, देखभाल व गोद लेने संबंधी प्रक्रियाओं की मानिटरिंग करने वाली नोडल एजेंसी केन्द्रीय दत्तक संसाधन प्राधिकरण के ताजा आंकड़ों की मानें तो भारतीय माता-पिता द्वारा दिव्यांग बच्चों को गोद लेने की संख्या में साल-दर-साल कमी हो रही है, जबकि विदेशियों द्वारा गोद लेने की संख्या में पिछले वर्ष पचास फीसदी का इजाफा हुआ है।


भारत सरकार के बाल विकास मंत्रालय की इस एजेंसी के मुताबिक दिव्यांग बच्चों को गोद लेने के संबंध में भारतीय माता-पिता की तुलना में विदेशी माता-पिता का अनुपात अधिक है। इस अनुपात में बड़ा अंतर हैरान करने वाला है। भारतीय जहां एक बच्चा गोद लेते हैं वहीं विदेशी सात बच्चों को गोद लेते हैं। एजेंसी के अनुसार, भारतीयों ने वर्ष 2015-16 में 76, 2016-17 में 49 जबकि 2017-18 में 46 दिव्यांग बच्चों को ही गोद लिया। जबकि विदेशियों ने जहां वर्ष 2016-17 में 237 दिव्यांग बच्चों को गोद लिया, वहीं 2017-18 में 355 बच्चों को अपनाया। लिहाजा, विदेशियों द्वारा बेहतर पहल करना संतोषजनक तो है लेकिन भारतीयों द्वारा दिव्यांग बच्चों से परहेज़ करने से समाज को कोई प्रेरणा नहीं मिल रही।


इतना ही नहीं, सामान्य बच्चों के मुकाबले दिव्यांगों की उपेक्षा से इस संवेदनशील वर्ग के मुख्य धारा में आने की चुनौती और भी गहरी होती जा रही है। लेकिन, हमें समझना होगा कि दिव्यांगों की उपेक्षा के लिए समाज की संकुचित विचारधारा तो जिम्मेदार है ही, इसके अलावा दिव्यांगों के लिए समुचित सामाजिक सुरक्षा का अभाव और दूसरी अन्य सुविधाओं की कमी भी अहम वजहें हैं। स्कूली शिक्षा में रुकावट, सार्वजनिक जगहों तक पहुंच की समस्या और रोजगार का अभाव कुछ ऐसे पहलू हैं जो भारतीयों को दिव्यांगों को गोद लेने से रोकते हैं। ये सभी वे पहलू हैं जो किसी भी व्यक्ति के जीवन में बेहद जरूरी होते हैं। ये पहलू व्यक्ति को बेहतर जीवनशैली प्रदान करने में अहम भूमिका निभाते हैं। यही कारण है कि भारतीयों में एक प्रकार का डर व्याप्त होता है कि दिव्यांगों को गोद लेने से सामने आने वाली चुनौतियों से वे और दिव्यांग व्यक्ति कैसे लड़ेंगे।


विदेशियों द्वारा गोद लेने की संख्या में वृद्धि इस बात का परिचायक है कि उनके देशों में दिव्यांगों के लिए उचित सुविधाओं की व्यवस्था है। अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस समेत कई ऐसे देश हैं जहां दिव्यांगों के लिए न केवल एक नीति है, बल्कि शिक्षा एवं रोजगार के विशेष प्रावधान भी हैं। कहने को तो भारत सरकार ने भी दिव्यांगों के अधिकार के लिए 2015 में बिल पास किया है। लेकिन समस्या यह है कि देश के लगभग 8 करोड़ दिव्यांगों को अभी भी बेहतर शिक्षा, रोजगार और सामाजिक सुरक्षा का इंतज़ार है। इससे इतर, अगर समाज में कमज़ोर तबकों के प्रति लोगों की मानसिकता की बात करें तो आज इस वैज्ञानिक दौर में भी उपेक्षा का दौर बदस्तूर जारी है।


दिव्यांगों के प्रति लोगों का नज़रिया अभी भी नहीं बदला है। क्या हमें स्टीफऩ हॉकिंग याद नहीं है? महज 22 वर्ष की उम्र में उन्हें एक लाइलाज बीमारी हो जाती है, फिर भी वह दुनिया को कई वैज्ञानिक खोजों का तोहफा देते हैं। इस प्रकार लकवाग्रस्त हो गए कि शरीर का सिर्फ दस फीसदी भाग ही काम करता था, फिर भी उन्होंने वैज्ञानिक कार्यों को कभी विराम नहीं दिया। इतना ही नहीं, भारत में भी कई दिव्यांगों ने शिक्षा और खेल के क्षेत्र में देश का नाम रोशन किया है। क्या हाल ही में इंडियन ब्लाइंड टीम द्वारा विश्व कप क्रिकेट जीतने की उपलब्धि को हम भूल बैठे हैं? क्या दिव्यांगों द्वारा वर्ष 2016 में पेरालंपिक खेल में चार पदक जीत कर सबसे अच्छा प्रदर्शन करने की उपलब्धि पर हमने ग़ौर नहीं किया ?


दरअसल हमारा देश उपलब्धियों के कई कारनामों का गवाह बना है, लेकिन हम दिव्यांगों के प्रति अपनी विचारधारा बदलने को तैयार नहीं हैं। हमें समझना होगा कि उन्हें हमारे स्नेह और देखभाल की जरूरत है। समझना होगा कि उन्हें कुछ करने के लिए एक प्रोत्साहन की दरकार है जो हमारे माध्यम से ही मिल सकता है। हम सरकार को चाहे कितना भी दोष दें, लेकिन सच्चाई यही है कि सबसे पहले हमें अपनी सोच बदलनी होगी।


अगर हम समाज में एक सकारात्मक सोच की धारा बहा पाते हैं तो यक़ीनन दिव्यांगों को अपनाना भी एक उपलब्धि साबित होगी। इतना ही नहीं, अगर हमने दरियादिली दिखाई तो हमारे दिव्यांगों को विदेश जाने की भी आवश्यकता नहीं होगी। जरूरत है तो केवल एक नेक कोशिश करने की।

No image

एम्स के रेजिडेंट डॉक्टरों की हड़ताल शनिवार शाम खत्म हो गई। एम्स के लगभग 2000 हड़ताली रेजिडेंट डॉक्टर अब अपने काम पर लौट गए हैं। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में एक सीनियर डॉक्टर द्वारा जूनियर डॉक्टर को थप्पड़ मार दिए जाने की घटना के बाद ये डॉक्टर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए थे।

बता दें कि इससे पहले प्रोफेसर ने घटना के लिए माफी मांग ली थी लेकिन हड़ताली डॉक्टर राजी नहीं हुए थे। कल 30 और जूनियर डॉक्‍टरों ने उक्त सीनियर डॉक्‍टर पर अभद्र भाषा और अपशब्दों का इस्‍तेमाल करने का आरोप लगाया था । एम्‍स प्रशासन पिछले दो दिन से लगातार रेजिडेंट डॉक्‍टरों से बात करने का प्रयास कर रहा था। अब राजेंद्र प्रसाद सेंटर के चीफ डॉक्टर अतुल कुमार को हटाने के बाद रेजिडेंट डॉक्टरों ने यह हड़ताल खत्म की है।

रेजिडेंट डॉक्टर गुरुवार से हड़ताल पर थे और डॉक्टर अतुल कुमार के इस्तीफे की मांग कर रहे थे। फिलहाल एम्स प्रशासन मामले की जांच कर रहा है। मामले की जांच पूरी होने तक अतुल कुमार को आरपीसी चीफ के पद से हटा दिया गया है। रेजिडेंट डॉक्टरों की हड़ताल के चलते अस्पताल की सेवाओं पर बहुत बुरा असर पड़ा था। इमरजेंसी और आईसीयू छोड़कर सभी अन्य सेवाओं में मरीज हलकान होते रहे। एम्स रेसिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष हरजीत भट्टी ने कल कहा "हमारी लड़ाई संकाय सदस्यों और वर्तमान कार्य संस्कृति में बदलाव लाने के लिए है। अब हम ऐसे रेजिडेंट नहीं होंगे जो दुर्व्यवहार और शारीरिक रूप से हमला किए जाने के बावजूद काम करते रहेंगे। हम किसी भी व्यवहार के खिलाफ विरोध करेंगे जो पेशेवर नहीं है। इसलिए हम डॉ राजेंद्र प्रसाद केंद्र के ओप्थाल्मिक साइंसेज के प्रमुख पद से हटने की मांग करते हैं।"

हड़ताल का सबसे ज्यादा असर सबसे ज्यादा ओपीडी की सेवाओं पर असर पड़ा। मरीजों को खासी परेशानियों से जूझना पड़ा। बीच-बीच में एम्स प्रशासन हड़ताली डॉक्टरों को मनाने की कोशिश करता रहा और मामले की जांच के लिए एक कमेटी भी गठित की गई हालांकि रेजिडेंट डॉक्टर नहीं माने। अंततः जब अतुल कुमार को उनके पद से हटाया गया, तब जाकर इन्होंने अपनी हड़ताल खत्म की।

No image

रायपुर. केन्द्रीय वित्तमंत्रालय द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार सभी प्रकार की विक्रित वस्तुओं पर जीएसटी कर लगाया जा रहा है। जिससे स्वास्थ्य सेवा भी अछूती नहीं रह गई है।

सोशल मीडिया पर इन दिनों जीवन रक्षक दवाओं पर जम कर बहस चल रही है। ट्वीटर फालोअर शरद राव के अनुसार आपातकालीन दवाओं में भी लगने वाले जीएसटी के चलते 350 रुपये की दवाई खरीदने पर जीएसटी कर मरीज को 42 रूपये पटाना पड़ रहा है। वहीं हार्ट, किडनी एवं कैंसर जैसी संक्रामक बीमारियों की दवाओं के मंहगे दर पर  बिकने के कारण जीएसटी दरों में वृध्दि के चलते मरीजों को परेशानी हो रही है।

आरटीआई कार्यकर्ता डॉ. चंद्रमणी तिवारी ने केन्द्रीय वित्तमंत्री  अरुण जेटली से दवाओं के मूल्यों में जीएसटी कर न जोडऩे की अपील करते हुए मरीजों को राहत पहुंचाने की मांग की है। 

No image

रायपुर. खरोरा थाना क्षेत्र के ग्राम भैंसा के निकट कल दोपहर हुए एक सड़क हादसे में बाइक सवार एक युवक की मौत हो गई, वहीं दूसरा गंभीर रूप से घायल हो गया। पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर ट्रक चालक के खिलाफ जुर्म दर्ज किया है। 


पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रार्थी तोरण कुमार साहू पिता शिव कुमार साहू निवासी ग्राम खरतोरा कल दोपहर अपनी मोटर साइकिल क्रमांक सीजी 04 एचएम 1388 में अपने एक साथी धनंजय साहू को बिठाकर खरोरा से ग्राम संडी जा रहा था। इसी दौरान ग्राम भैंसा के पूर्व पुलिया के पास पलारी की ओर से आ रही एक तेज रफ्तार ट्रक क्रमांक सीजी 07 सीए 8274 के चालक ने लापरवाहीपूर्वक गाड़ी चलाते हुए बाइक सवारों को सामने से ठोकर मार दिया।

 

हादसे में दोनों युवक बुरी तरह से जख्मी हो गए। आसपास के लोगों ने तथा राहगीरों की मदद से दोनों घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। यहां चिकित्कों ने जांच उपरांत घायल धनंजय को मृत घोषित कर दिया। हादसे के बाद यहां आसपास के ग्रामीणों में जोरदार रोष देखने को मिला। ग्रामीणों ने मुख्य मार्ग में काफी देर तक हंगामा किया। इस बीच पहुंची पुलिस ने किसी तरह से ग्रामीणों को शांत कराते हुए मार्ग पुन: खुलवाया। बहरहाल पुलिस ने आरोपी ट्रक चालक के खिलाफ अपराध दर्ज कर प्रकरण जांच में लिया है। 

No image

जगदलपुर. केबल विस्तार के दौरान यदि निजी संचार कंपनियों की मशीनरी से बीएसएनएल का ओएफसी कटा तो एजेंसी बतौर दंड संबंधित संचार कंपनी से डेढ़ लाख रूपए प्रति पाइंट वसूल करेगी। बीएसएनएल के जीएम तोषक कुमार मरकाम ने बताया कि यह प्रावधान पहले से है। अब कड़ाई से पालन किया जाएगा। 

उल्लेखनीय हैँ कि पिछले कुछ समय से निजी संचार कंपनियां बस्तर में ओएफसी का जाल बिछा रही है। ऐसे में आए दिन बीएसएनएल का ओएफसी केबल कट जाता है और इसका खामियाजा सीधे तौर पर उपभोक्ताओं को भोगता है। बीएसएनएल ने अब तय किया है कि किसी भी जगह पर यदि केबल कटता है तो संबंधित संचार कंपनी से प्रति पाइंट डेढ़ लाख रूपए की वसूली सख्ती से करेगा।

No image

 प्रदेश में पड़ रही भीषण गर्मी के साथ ही शहर में पेयजल संकट लगातार गहराता जा रहा है। इधर शहर के अधिकांश मोहल्लों में तथा कालोनियों में पानी के लिए मारामारी की स्थिति बनी हुई है। 


प्रदेश में इन दिनों पड़ रही जोरदार गर्मी के साथ ही पेयजल की किल्लत लगातार बढ़ती जा रही है। दूसरी ओर शहर में फैली पीलिया के चलते लोग भी पानी को लेकर सकते में हैं। नलों में आने वाले पानी के दूषित होने की आशंका भी लोगों को डराए हुए है। पीलिया से अब तक 5 लोगों की मौत से भी शहरवासी दहशत में हैं। इस पर भीषण गर्मी और पानी की अत्यधिक मांग से अफसर भी बेहाल हैं। शहर के आउटर के इलाकों के साथ ही अंदरुनी बस्तियों में, मोहल्लों में तथा कालोनियों में पानी की लगातार किल्लत बनी हुई है।

लोगों के बीच पानी को लेकर मारामारी की नौबत बन रही है। इधर शहर की जीवन दायिनी खारून का जलस्तर भी लगातार नीचे जा रहा है। इसके अलावा शहर के आउटर की कालोनियों में तथा रिहायशी इलाकों में भी नलकूप दम तोड़ रहे हैं। शहर के खम्हारडीह जैसे इलाकों में भी बोर सूख चुका है। लिहाजा शहर की एक बड़ी आबादी के सामने इस समय पेयजल का संकट बना हुआ है। अब तक निस्तारी का साधन रहे तालाब भी इस कदर प्रदूषित हो चुके हैं कि इनके सहारे निस्तारी अब संभव नहीं है। कुल मिलाकर शहर की एक बड़ आबादी पानी टैंकरों के सहारे हैं। अभी भीषण गर्मी का पूरा सीजन बचा हुआ है।

No image

 मौजूदा शिक्षा सत्र आज शनिवार 28 अप्रैल से खत्म हो गया। हालांकि 30 अप्रैल अंतिम कार्य दिवस था लेकिन 29 को रविवार और 30 को बुद्ध पूर्णिमा के चलते अवकाश रहेगा। दरअसल 2016-17 और 2017-18 के पिछले 2 सालों में शिक्षा सत्र 1 अप्रैल से शुरू किया गया था लेकिन 2 साल में ही शिक्षा विभाग की यह व्यवस्था फेल हो गई। इसके चलते 2018-19 में पुरानी टाइमिंग को फिर से लागू किया जा रहा है।


अब विगत सत्र की तरह यह सत्र भी 16 जून को शुरू किया जाएगा। यही वजह है कि जब सत्र की शुरुआत ही लेट हो रही है तो दाखिलों की प्रक्रिया भी आगे बढ़ जाएगी। गर्मी की छुट्टियों में जो पालक चाहेंगे वे अपने बच्चों को विभिन्न कक्षाओं में दाखिला दिलवा सकते हैं। यदि इस दौरान कोई छूट जाता है तो वे स्कूल खुलने के बाद एडमिशन ले सकते हैं। वहीं विभाग द्वारा 31 जुलाई तक दाखिले खुले रखने के निर्देश सभी प्राचार्यों को जारी कर दिए हैं। हालांकि शालाओं में पढ़ाई जून के तीसरे हफ्ते तक रूटीन में आ जाएगी।


इंग्लिश मीडियम की अधिकांश शालाओं में स्थानीय सभी कक्षाओं के नतीजे मार्च के अंत तक घोषित कर दिए जाते हैं। इसके बाद एक अप्रैल से नए सत्र के साथ अगली कक्षाएं शुरू हो जाती हैं। इसी की तर्ज पर शिक्षा विभाग ने 2 साल पहले अप्रैल से सरकारी स्कूलों में भी इस व्यवस्था को लागू कर दिया। जिला शिक्षा अधिकारी राजेंद्र झा ने बताया कि महकमें ने उच्च स्तर पर सत्र 16 जून से शुरू करने का फैसला लिया है। इसको ध्यान में रखते हुए इस बार नई व्यवस्था जिले भर की शालाओं में लागू करने के निर्देश जारी किए गए हैं।


अभी पिछले 2 साल तक अप्रैल से स्कूलों में पढ़ाई शुरू करवाई जा रही थी। एक महीने की पढ़ाई के बाद गर्मी की छुट्टियां विद्यार्थियों को दी जाती थीं। यहां दिक्कत यह थी कि इन दिनों तेज गर्मी के कारण ज्यादातर छात्र स्कूल ही नहीं आते थे। इससे जो मंशा लेकर एक अप्रैल से शालाएं लगाई जाती थी वो पूरी नहीं हो रही थी। इतना ही नहीं जून में स्कूल खुलने के 10-12 दिन बाद तक भी विद्यार्थियों की हाजरी नियमित नहीं हो पाती थी। इन सभी परिस्थितियों को देखते हुए इस बार बड़ा फैसला लेते हुए विभाग ने पुरानी व्यवस्था को फिर से लागू कर दिया है।

No image


 मामूली बात पर एक युवक ने दूसरे युवक से मारपीट धारदार हथियार से मारकर चोट पहुंचाया। प्रार्थी की शिकायत पर गोलबाजार पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया है।


पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रार्थी शिवा जगत पिता श्याम जगत 20 वर्ष अर्जुन नगर गोलबाजार का रहने वाला है। बताया जाता है कि कल दोपहर शारदा मंदिर के पास प्रार्थी ने आरोपी हरी से कहा कि मोटरसायकल धीरे चलाओ। जिस पर आरोपी नाराज हो गया और प्रार्थी से विवाद कर धारदार हथियार से पेट पर मारकर चोट पहुंचाया। प्रार्थी की शिकायत पर गोलबाजार पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 294,506,324 के तहत अपराध दर्ज किया है।

No image

 पाली क्षेत्र में संजीवनी व महतारी एक्सप्रेस की सेवाओं का बुरा हाल है। 102 और 108 में बार-बार कॉल करने के बाद भी न केवल देरी की जाती हैए कई बार एंबुलेंस नहीं होने की बात कहते हुए कॉल सेंटर से नजदीकी सेंटर से मदद मांगने मजबूर किया जाता है। कुछ  ऐसी ही मुश्किल से जूझकर किसी तरह अस्पताल पहुंची गर्भवति का प्रसव कराया गया। पर बच्चा कमजोर होने के कारण उसे सिम्स रेफ र किया गया, जिसे बिलासपुर लेकर जाने भी एंबुलेंस की वक्त पर नहीं आई। जब तक वे सिम्स पहुंच पाते, बच्चे ने दम तोड़ दिया। परिजनों ने आपात सेवाओं में बदहाली व लापरवाही का आरोप लगाया है।


शासन की महत्वपूर्ण योजना संजीवनी एवं महतारी योजना का लाभ नहीं मिलने की एक ऐसी ही शिकायत सामने आई है। पाली के ही वार्ड नंबर.10 निवासी यादव परिवार की बेटी को प्रसव पीड़ा शुरू हुईए जिसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पाली में भर्ती कराया गया था। ड्यूटी पर मौजूद महिला चिकित्सक के भरोसे प्रसव कराया गयाए लेकिन बच्चा कमजोर होने की स्थिति में उसे बेबी केयर यूनिट में रखा गया। तड़के 3.30 बजे स्थिति बिगडऩे पर चिकित्सक ने बच्चे को बिलासपुर रेफर कर दिया। इसके लिए जब परिजनों ने महतारी व संजीवनी सेवा का लाभ लेने के लिए इमरजेंसी नंबर डॉयल कियाए दोनों सुविधाएं उपलब्ध नहीं हो सकी।

कॉल सेंटर रायपुर ने इंतजार करने कहा और उसके बाद कभी हरदीबाजारए कोरबा तो कभी रतनपुर से सेवा लेने कॉल किया। इस दौरान लगभग दो घंटे का समय निकल गया। विलंब होने की स्थिति में परिजनों ने स्थानीय स्तर पर निजी वाहन बुकिंग करायाए लेकिन हॉस्पिटल ने ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध नहीं कराया। मजबूरी में परिजनों को इमरजेंसी सेवा का इंतजार करना पड़ा। तब कहीं जाकर संजीवनी की सेवा प्राप्त हुई। परिवार के सदस्य बच्चे को लेकर सिम्स पहुंच पातेए इससे पहले ही बच्चे ने दम तोड़ दिया। परिजनों ने स्वास्थ्य विभाग पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।


परिजनों का कहना है कि यह पहला मामला नहीं है। इससे पूर्व भी कई बार महतारी और संजीवनी सेवा ने अपने हाथ खड़े कर दिए। हाल ही में लाफा क्षेत्र की एक गर्भवती महिला को भी संजीवनी व महतारी का इंतजार करते.करते घर में ही डिलीवरी कराने मजबूर होना पड़ा। सौभाग्य रहा की जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। इसी तरह ग्राम पोटापानी के आश्रित मोहल्ला सोनाईपुर वार्ड क्रमांक दो के पंच धन सिंह की तबियत खराब हो जाने की स्थिति में 108 डायल किया गयाए पर संजीवनी एक्सप्रेस को खराब होना बताया गयाए जिसके बाद मालवाहक ऑटो में

No image



 राज्य शासन द्वारा सभी स्कूलों को हाईटेक करने के लिए योजनाएं बनाई जा रही , लेकिन सभी स्कूलों को हाईटेक बनाने में दर्जनों बाधाएं हैं। सबसे बड़ी बाधा दूरस्थ अंचलों तथा गांवों में स्थापित स्कूलों में बिजली ही सबसे बड़ी बाधा के रूप में सामने आ रही है। 


प्राप्त जानकारी के अनुसार सभी स्कूलों में से करीब पांच सौ ऐसे स्कूल हैं जहां बिजली ही नहीं है। साथ ही बस्तर के दुरूह क्षेत्रों में नेटवर्क की समस्या भी दूसरी सबसे बड़ी बाधा है। उल्लेखनीय है कि मुख्यालय के आसपास के गांवों में ही जब नेटवर्क हमेशा उपलब्ध नहीं रहता और लोगों को भारत संचार निगम के नेटवर्क से राहत नहीं मिलती तो वह दूसरे नेटवर्क के लिए प्रयास करता है।

लेकिन उसके बावजूद उन्हें नेटवर्क के मामले में निराश होना पड़ता है। इसके कारण स्कूलों को आनलाईन करने की हाईटेक बनाने की योजना फिलहाल ठंडे बस्ते में जा सकती है। बस्तर में नेटवर्क की समस्या सबसे बड़ी है। इसके साथ ही सभी स्कूलों में पढ़ाने वाले कई अध्यापक भी हाईटेक प्रणाली का उपयोग भी करना  नहीं जानते। 


इस प्रकार की समस्या बस्तर जिले के पांच सौ स्कूलों में आ रही है और इन्हें हाईटेक बनाने के लिए विभाग को कड़ी मशक्कत करनी पड़ सकती है। अभी तक जिले के विभिन्न विखं के अंतर्गत 17 सौ से अधिक स्कूलों में टेबलेट बांटा जा चुका है। उनमें से भी सभी स्कूलों को यह टेबलेट बांटा जाना बाकी है। इस प्रकार से सभी स्कूलों को हाईटेक प्रणाली से जोडऩे की गंभीर समस्या बस्तर में सामने आ रही है। 
 

No image

 छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में आज सुबह पुलिस ने नक्सली कैम्प पर दबिश देकर 11 वर्दीधारी नक्सलियों को मार गिराया, जिनमें से 2 के शव बरामद कर लिए गए हैं। पुलिस ने कैम्प को ध्वस्त कर दिया है। मौके से 11 बंदूकें, गोलाबारूद समेत अन्य सामग्रियां जब्त की गयी हैं।  


बस्तर आईजी विवेकानंद सिंहा एवं डीआईजी पी सुंदरराज ने बताया कि सूचना मिली थी कि बुरकापाल क्षेत्र के जंगल में नक्सलियों ने कैम्प बनाया है। फौरन ही डीआरजी एवं डीएफ का संयुक्त बल रवाना किया गया, जिसने योजनाबद्ध तरीके से इलाके की घेराबंदी शुरू कर दी। पुलिस की मौजूदगी भांपते ही नक्सलियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस बल ने भी मोर्चा संभालते हुए फायरिंग की। लगभग दो घंटे तक दोनों ओर से हुयी रूक-रूककर गोलीबारी के बाद अंतत: नक्सली जंगल में भाग खड़े हुए। 


अधिकारियों ने बताया कि घटनास्थल की सर्चिंग के दौरान एक पुरूष एवं एक महिला नक्सलियों के शव बरामद किए गए हैं, जिनकी शिनाख्त की जा रही है। उन्होंने बताया कि मौके से बरामद 11 बंदूकें एवं मुठभेड़ स्थल पर मौजूद परिस्थितिजन्य साक्ष्य, खून के धब्बे एवं घसीटे जाने के चिन्हों से यह प्रमाणित होता है कि मुठभेड़ में कम से कम 11 नक्सली मारे गए हैं और कई लहुलूहान हुए हैं, बाकी साथियों के शव नक्सली अपने साथ ले जाने में सफल हो गए। 11 नक्सलियों के मारे जाने की इस बात से भी पुष्टि होती है, नक्सली कभी हथियार छोड़कर नहीं भागते और 11 बंदूकों का मिलना स्वयं प्रमाण है। 


 

No image

 जवाहर नवोदय विद्यालय सलोरा, छुरी, मे विद्यालय प्रबंधन समिति की बैठक आहूत की गई । बैठक में समिति के अध्यक्ष कलेक्टर मो.अब्दुल कैसर हक ने अध्यक्षता की जिसमें श्रीमती शिम्मी नाहिद, श्री के.पी.मनहर, सहायक संचालक शिक्षा, श्री आर.के.सक्सेना, प्राचार्य शासकीय पी.जी.कॉलेज कोरबा, श्री एस.के.गोबिल, प्राध्यापक शासकीय पी.जी.कॉलेज, श्री एस.रहमान एसडीओ, लोक निर्माण विभाग, डॉ.एस.आर.सिरसो, चिकित्सा अधिकारी छुरी, श्री भगवात सांडिल्य पालक प्रतिनिधि, श्रीमती प्रतिभा यादव पालक प्रतिनिधि उपस्थित रहे।
बैठक उपरांत जिलाधीश ने विद्यालय का निरीक्षण किया तथा बोर्ड कक्षा के विद्यार्थियों को भी प्रेरक उद्बोधन दिया। ब'चों से चर्चा करते हुए कलेक्टर मो हक ने कहा कि विद्यार्थियों में सीखने का जूनून होना आवश्यक है। सीखने की प्रक्रिया सदैव चलते रहनी चाहिए। जीवन की निरन्तरता के लिए सीखना एवं संघर्ष करना अति आवश्यक है ।

सीखने के लिए विद्यालय के अतिरिक्त पर्यावरण और बाहरी दुनिया में अनेक अवसर छिपे होते है। उन्होंने देश के प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का उदाहरण देते हुए कहा कि उनकी सीखने की क्षमता अद्भुत व प्रेरणा दायी है। उन्होने छात्रों से अपील की कि सीखने की क्षमता को कभी कम न होने दें।
इस अवसर पर विद्यालय के प्राचार्य श्री देवेन्द्र कुमार जैन ने सभी सदस्यों का स्वागत किया।

विद्यालय प्रबंधन समिति की बैठक के अवसर पर श्री ओ.पी.चौरसिया, श्री एस.के.अनंत, श्रीमती अनीमा लकड़ा, श्री मानव यादव, श्री डी.के.बी.नंदेश्वर, श्रीमती लक्ष्मी पाटले, श्री ए.के.त्रिपाठी, श्री एम.के.मिश्रा, श्री आर.के.माझी, श्री अरूण कुमार दास, श्रीमती कुलेश्वरी साहू, श्री बी.के.वर्मा, श्रीमती बीना लकड़ा, सुश्री सरोजनी तिग्गा, श्री ए.के.मिश्रा, श्री एम.बी.पोर्ते, श्री एम.के.पाण्डेय, श्री आर.के.भोसले, श्रीमती पी.मोहंती, श्री यषवंत बेडेकर, श्री मानसिंह बड़ोदिया, श्रीमती श्रुति बेडेकर सहित समस्त शैक्षिक अषैक्षिक कर्मचारी उपस्थित थे ।

No image

 छत्तीसगढ़ सरकार ने अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए एक फरमान जारी कर कोर्ट जाने से पहले पहनावा ठीक करने की हिदायत दी है। सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि न्यायालय में सभी सरकारी पदाधिकारी साफ.-सुथरे परिधानों में ही उपस्थित हों। इस आदेश के बाद कोर्ट में जाने के समय कैजुअल ड्रेस जैसे, जींस, फैंसी शर्ट, टी-शर्ट, रंगीन चश्मा और रंग-बिरंगे कपड़े पहनने पर पूरी तरह से रोक होगी।

जारी निर्देश की सूचना उच्च न्यायालय के महाधिवक्ता, मुख्य सचिव के उपसचिव और विधि एवं विधायी विभाग को भी दी गई है। इसमें इस बात को लेकर भी नाराजगी जताई गई है कि दिसम्बर-२०१७ में विधि-विधायी विभाग ने भी न्यायालय के निर्देश का पालन करने के लिए पत्र लिखा था। इसके बाद भी कुछ अधिकारी इसका गंभीरता से पालन नहीं कर रहे हैं। गौरतलब है कि एेसे कई मौके आए है कि जब अफसरों को अपने पहनावे के कारण कोर्ट में शार्मिंदा होना पड़ा। कोर्ट में न्यायाधीशों ने अफसरों के पहनावे को लेकर आपत्ति भी जताई है।

No image

 छत्तीसगढ़ के नक्सली प्रभावित बीजापुर में शुक्रवार को सुरक्षा बलों को बड़ी सफलता मिली। सुरक्षा बलों के साथ हुए मुठभेड़ में 7 नक्सली ढेर हो गए। मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों में दो पुरुष और 5 महिलाएं शामिल हैं। सुरक्षा बलों ने नक्सलियों के शव भी बरामद किए हैं। मुठभेड़ के बाद सुरक्षा बलों ने भारी मात्रा में हथियार और नक्सली साहित्य भी जब्त किए हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक बीजापुर इलाके में सुरक्षा बलों को बड़ी सफलता मिली है। मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों से रॉकेट लॉन्चर, हैंडग्रेनेड, रिवॉल्वर, 4 एसबीबीएल, 1 एसएलआर, 1 थ्रीनॉट थ्री, नक्सली वर्दी और साहित्य जब्त किए गए हैं।

बतादें कि बीते २२ अप्रैल को छत्तीसगढ़ सीमा से लगे महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में सुरक्षाबल ने इतापल्ली के बोरिया जंगल में हुई मुठभेड़ में इनामी माओवादी कमांडर श्रीकांत, साईनाथ समेत १६ माओवादियों को मार गिराया।

बताया जा रहा है कि पिछले 4 साल में माओवादियों के खिलाफ गढ़चिरौली पुलिस व सुरक्षाबल की यह सबसे बड़ी कामयाबी है। गढ़चिरौली पुलिस ने बताया कि माओवादियों के खिलाफ सुरक्षाबलों की यह कार्रवाई उस समय हुई है, जब इलाके में तेंदूपत्ता तोडऩे का सीजन चल रहा है।

गढ़चिरौली पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गढ़चिरौली थाना क्षेत्र के कसनपुर इलाके में रविवार सुबह 11 बजे महाराष्ट्र पुलिस ने खुफिया जानकारी के आधार पर तलाशी अभियान चलाया। जंगल में माओवादियों का मजमा लगा हुआ था।

पुलिस व माओवादियों के बीच इस दौरान आमने-सामने गोलीबारी हुई। गढ़चिरौली पुलिस व सी-60 के जवानों ने 16 माओवादियों को ढेर कर दिया। घटना में कई माओवादियों के घायल होने की संभावना है। इस अभियान को सी-60 कमांडो और महाराष्ट्र पुलिस ने अंजाम दिया।

No image

 शादी समारोह में शामिल होने कारीड़ागरी से खैरवार खुर्द जाते वक्त लोरमी-पण्डरिया के मुख्य मार्ग के बोड़तरा एवं हरदी के बीच टायर फटने से टवेरा गाड़ी सडक़ पर पलट गई। इस घटना में वाहन में सवार एक युवक की मौत हो गई। तीन महिलाओं को गंभीर चोटें लगी हैं, जिन्हें सिम्स रिफर किया गया है। 6 अन्य वाहन में सवार लोग घायल हो गए हैं, जिनका इलाज सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लोरमी में किया जा रहा है। पुलिस के द्वारा मामले में मर्ग कायम कर लिया गया है। वही घायल राम प्यारी इलाज के दौरान बार बार अपने पति के बारे में पूछताछ कर रही है। जबकि इस घटना में उसके पति की मौके पर ही मौत हो चुकी थी।


मिली जानकारी के अनुसार लोरमी विकासखण्ड के ग्राम पंचायत कारीड़ागरी के गौतम यादव उपसरपंच पिता तिजराम (32), रामप्यारी पति गौतम यादव (30), ललातिन बाई पति मेलन यादव (70), अनिता पति रघुनंदन यादव (33), दिनेष यादव पिता उमेंद (26), पुष्पाबाई पति दिनेष यादव (20), राजेष्वरी यादव (5), खुषबु यादव (8), ग्राम के सरपंच पुत्र किषुन कुर्रे पिता नर्मदा प्रसाद (28) सभी कारोड़ोगरी निवासी टवेरा वाहन सीजी 10 के 1100 में सवार होकर विवाह समारोह में शामिल होने खैरवार खुर्द जा रहे थे। वाहन को विरेन्द्र कुर्रे पिता नर्मदा प्रसाद (25) चला रहा था। लोरमी-पण्डरिया मुख्य मार्ग के ग्राम बोड़तरा एवं हरदी के बीच हरदी नाला के पास पहुंचे थे कि अचानक गाड़ी का पिछला टायर फट गया और गाड़ी अनियंत्रित होकर पलट गई। गाड़ी पलटने पर उसमें सवार महिला, बच्चे चीख पुकार करने लगे। वहां से गुजर रहे पंडरिया निवासी तुलेष कश्यप के द्वारा सुझबुझ दिखाते हुए एवं राहगीरों की मदद से गाड़ी के कांच को तोडक़र सभी सवार घायलों को निकालकर 108 की मदद से लोरमी सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र भेजा। हादसे के दौरान गौतम पिता तिजराम (32) उपसरंपच की सिर में गंभीर चोट लगने के कारण मौके पर ही मौत हो गई थी।

वहीं सवार रामप्यारी पति गौतम यादव के पैर में मुॅह एवं सिर में चोट आई है। ललातिन बाई पति मेलन यादव के सिर एवं ऑख में गंभीर चोट लगी है। अनिता पति रघुनंदन यादव की सिर एवं चेहरे तथा ऑख के पास गंभीर चोट लगी है। इनका प्राथमिक उपचार कर रिफर कर दिया गया है। वहीं दिनेष यादव पिता उमेंद, पुष्पाबाई पति दिनेष यादव, राजेष्वरी यादव, खुषबु यादव तथा विरेन्द्र कुर्रे को सिर एवं हाथ पैर में चोट आई है। इनका इलाज लोरमी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में चल रहा है। इस दौरान पुलिस के द्वारा मर्ग कायम कर 174, 279, 337, 304 ए के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया है। वहीं मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। 
 

 सडक़ हादसे के बाद जब सभी घायलों को निकाला गया तो गौतम की मौत की खबर से उसके परिजन बिलखने लगे। जब सभी को लोरमी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया, इस दौरान देखा गया कि गौतम के परिजन उसकी बहन उसके जीवन के लिए सभी को बोलती रही की एक बार हमारे गौतम को देख लिजिए। मृतक की पत्नी रामप्यारी हादसे के बाद हॉस्पिटल पहुंचने पर जब उसे होश आया तो लगातार अपने पति के बारे में पूछताछ करने लगी।

लेकिन रामप्यारी को उसके पति गौतम की मौत की कोई जानकारी नहीं दी गई। बस वह बार-बार अपने पति की जानकारी लेने अस्पताल में जो भी आ जा रहा था उससे पूछ रही थी। फिर भी किसी ने हिम्मत जुटाकर उसे उसके पति की मौत की खबर नहीं दे पा रहे थे। क्योंकि रामप्यारी को भी गंभीर चोट 
 

No image

 गुरुनानक मार्केट से छावनी चौक तक गौरव पथ का निर्माण किया गया है। शासन ने वर्ष २००७ में इस योजना के तहत निगम को ७ करोड़ रुपए जारी किए थे पर वर्तमान में यहां सड़क को देखकर गौरवपथ जैसा गर्व होता ही नहीं है। स्वीकृति के अनुसा दिसंबर 2008 तक कार्य पूर्ण हो जाना था। गौरव पथ की शुरुआत गुरुनानक मार्केट से और समाप्त छावनी चौक पर होना था। शुरू और अंत में स्वागत द्वार बनाने की प्लानिंग थी। सड़क के दोनों और फुटपाथ बनाया जाना था। विडंबना है कि ११ साल बाद भी नहीं बन पाया है। इसके साथ सड़क के किनारे बाउंड्रीवाल को आकर्षक बनाना था। डिवाइडर में पेड़ लगाए जाने थे। लाइटिंग की पर्याप्त व्यवस्था की जानी थी।

गौरव पथ के दोनों ओर जिस तरह की सुंदरता की बात ठेका शर्तों में कही गई थी, वह कहीं नजर नहीं आती। शुरू से ही सड़क के अलग-अलग हिस्से में मरम्मत कार्य किया जा रहा है। अब तो सड़क में जगह-जगह गड्डे हो चुके हैं जिसमें लगातार दुर्घटनाएं हो रही हैं।

गौरव पथ से हर दिन औद्योगिक क्षेत्र, हाऊसिंग बोर्ड, नंदनी रोड, जामुल, कैंप एरिया, जवाहर नगर के हजारों लोग जाना आना करते हैं। जिला कांग्रेस, सचिव मनीष जग्यासी ने कहा कि इस गौरव पथ की उपेक्षा व अपूर्ण कार्य की शिकायत राज्यपाल से करेंगे। इसके बाद भी इसे पूर्ण नहीं किया गया, तो आंदोलन किया जाएगा।

वैशाली नगर चौकी के सामने, बैकुंठ धाम विद्युत मंडल के पास के गड्ढों में मुरम डाल दिए हैं, जिसकी वजह से गाडिय़ां चलने से धूल उड़ रही है। यहां से गुजरने वाले लोगों का जीना दूभर हो गया है। स्ट्रीट लाइट तक पूरी नहीं जलती।

No image

कोरबा लोकसभा के अंतर्गत आने वाली सभी आठ विधानसभा क्षेत्रों के विस्तारकों की बैठक गुरुवार को पंचवटी में आयोजित की गयी। बैठक में भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष व कोरबा जिला संगठन प्रभारी दीपक पटेल, कोरबा जिला महामंत्री द्वय तरुण मिश्रा, संजय भावनानी की उपस्थिति में सभी विस्तारकों के कार्यों की समीक्षा की गई। तीन घंटे तक इस चली बैठक में सभी आठ विधानसभा क्षेत्रों के विस्तारक उपस्थित थे।

इस बैठक के बाद भारतीय जनता पार्टी जिला कोरबा की अति आवश्यक बैठक जिला कार्यालय दीनदयाल कुंंज में रखी गयी। इसमें जिला व मंडल पदाधिकारी, प्रदेश पदाधिकारी, मोर्चा के अध्यक्ष महामंत्री उपस्थित रहे। बैठक में जिले के संगठन प्रभारी पटेल ने कहा कि प्रत्येक कार्यकर्ताओं को सरकार की सभी योजनाओं की जानकारी होनी चाहिए।

समाज के प्रत्येक वर्ग के लिए चल रही विशेष योजनाओं की जानकारी आकड़ों सहित होनी चाहिए। प्रदेश में भाजपा के सरकार की चौथी पारी का ताला खोलने के लिए कोरबा जिले की चारों सीटो को जीतने से ही वह चाबी मिलेगी, आने वाले समय में सभी पूर्व निर्धारित कार्यक्रम को पूर्ण करते हुए प्रदेश में चौथी बार सरकार बनाने में कोरबा जिले की भूमिका का निर्वहन करना है। उन्होंने एक बूथ 20 यूथ सहित अनेक संगठनात्मक विषयों पर भी चर्चा की। बैठक का संचालन जिला महामंत्री संजय भावनानी ने किया।

 

No image

 प्रधानमंत्री की महत्वकांशी योजना आयुष्मान भारत योजना के तहत रायपुर जिले में 40 वेलनेस सेंटर का शुभारंभ 27 अप्रैल से होगा। ये वेलनेस सेंटर जिले के चारों विकासखण्डों में शुरू किए जाएंगे। हर विकासखंड में 10 सेटंर प्रारंभ किए जा रहे हैं। रायपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद रमेश बैस के मुख्य आतिथ्य और लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अजय चंद्राकर की अध्यक्षता में यह शुभारंभ कार्यक्रम 27 अप्रैेल को सुबह 10 बजे प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में आयोजित होगा।

इस अवसर पर आरंग के विधायक नवीन मारकण्डेय, जिला पंचायत रायपुर अध्यक्ष शारदा देवी वर्मा, जनपद पंचायत आरंग की अध्यक्ष पुष्पा पिन्टू कुर्रे तथा मंदिर हसौद कीे सरपंच धनमत गायकवाड़ विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगी।

आयुष्मान भारत योजना के तहत 8 से 10 गांव के बीच एक उप स्वास्थ्य केन्द्र को वेलनेस सेंटर के रूप में विकसित किया जा रहा है। इन वेलनेस सेंटरों में मातृत्व स्वास्थ्य, शिशु स्वास्थ्य, टीकाकरण, किशोर स्वास्थ्य, डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, कैंसर, अंधत्व, श्रवण बाधित रोग, रोग प्रबंधन एवं उपचार, ओरल हेल्थ, मेंटल हेल्थ,  एवं एक्सरसाइज, काउंसिलिंग आदि की चिकित्सा मुहैया हो सकेंगी।

No image

 छत्तीसगढ़ के सरकारी विभागों में 20 हजार करोड़ रुपए का कोई हिसाब-किताब नहीं है। यह आंकड़ा बीते 10 साल का है। सूचना के अधिकार के तहत महालेखाकार (लेखा परीक्षा), छत्तीसगढ़ की रिपोर्ट में यह तथ्य सामने आया है।

आंकड़े बेहद ही चौंकाने वाले हैं। 2005-06 से 2015-16 तक की ऑडिट रिपोर्ट में मिली अनियमितता का हिसाब महालेखाकार से मांगा गया था। महालेखाकार ने शासन के विभागों को तीन सेक्टरों में विभाजित कर रिपोर्ट तैयार की है। जिसमें जनरल सेक्टर, सोशल सेक्टर, इकोनामिक सेक्टर शामिल है। तीनों सेक्टरों में कुल 20716 करोड़ 88 लाख रुपए का हिसाब प्रदेश के विभागों में नहीं मिला।

बीते 10 वर्षों में तीनों सेक्टर मिलाकर 20716.88 करोड़ रुपए की गफलत कैग ने उजागर की है। जनरल सेक्टर में सबसे ज्यादा 2503 करोड़ 39 लाख रुपए का हिसाब नहीं होने का जिक्र कैग ने किया है। अहम बात यह है सोशल सेक्टर में करने वाले विभागों में यह मामला सबसे अधिक है। इनमें कुल 12044 करोड़ 46 लाख रुपए का हिसाब नहीं मिला है। दूसरे स्थान पर 8622 करोड़ 79लाख रुपए का हिसाब आर्थिक क्षेत्र के विभागों में नहीं मिला।

No image

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के संस्थापक एवं सुप्रीमो अजीत जोगी के जन्मदिन को ऐतिहासिक बनाने के लिए पार्टी के समस्त पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता जुटे हुए है। राजधानी रायपुर के साईंस कॉलेज मैदान में अब तक पार्टी का सबसे बड़ा सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। इस आयोजन के लिए बकायता रूट मैप भी तैयार किया गया है, ताकि कार्यक्रम में प्रदेशभर से पहुंचने वाले पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को किसी प्रकार की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ा।

 
पार्टी के मीडिया प्रवक्ता सुब्रत डे के अनुसार 29 अप्रैल जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के सुप्रीमो अजीत जोगी के जन्मदिवस पर साइंस कॉलेज मैदान रायपुर में एक विराट महासम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ की जनता के बीच श्री जोगी की अपार लोकप्रियता और पार्टी को मिल रहे भरपूर जनसमर्थन को देखते हुए 29 अप्रैल को आयोजित किये जाने वाला महासम्मेलन छत्तीसगढ़ के सत्रह वर्षों के इतिहास में अब तक का सबसे बड़े जनसभा का रूप लेगा। श्री जोगी इस कार्यक्रम में चुनावी अभियान का शंखनाद करेंगे।

प्रदेशभर से आये हजारों कार्यकर्ताओं के बीच श्री जोगी मिशन साथ दो (72) का आगाज करेंगे। विधानसभा चुनावों में 72 सीटें जीतने का लक्ष्य लेकर इस दिन से पार्टी के कार्यकर्ता पूरे जोर शोर से जुट जायेंगे। श्री डे ने बताया कि मिशन साथ दो (72 ) केवल एक आंकड़ा नहीं, बल्कि जोगी और जनता के बीच की अभिव्यक्ति है। जकांछ (जे) द्वारा राज्य हित और जनहित के लिए चलाये जा रहे आंदलनों को मिल रहे भारी जनसमर्थन से स्पष्ट है कि, भाजपा राज से त्रस्त जनता, अब जोगी जी का साथ चाहती है।

छत्तीसगढ़ की ढाई करोड़ जनता के इस विशवास को एक मजबूत जनादेश में बदलने के लिए मिशन साथ दो (72) का लक्ष्य रखा गया है। मिशन साथ दो (72) के अनावरण के पश्चात, 72 सीटों को जीतने के लक्ष्य प्राप्ति के लिए इस दिन पार्टी विधानसभावार पार्टी का घोषणा पत्र यानि शपथ पत्र जारी किये जायेंगे जो निम्रानुसार रहेगा। 


छत्तीसगढ़ की सत्रह वर्षों की राजनीति में जनता ने कभी नहीं पुरे होने वाले घोषणा पत्र देखें हैं। इसी कारणवश पार्टी ने यह तय किया है कि लोगों के प्रति प्रतिबद्ध और जवाबदार बनने के लिए एवं राजनीति में पारदर्शिता लाने घोषणा पत्र के रूप में पार्टी शपथ पत्र जारी करेगी यानि पार्टी लोगों को यह शपथ देती है कि वो सत्ता में आते ही विधानसभा वार वादों को पूरा करेगी।   
 

No image

फरसगांव थाना क्षेत्र में हाईवे मार्ग में ट्रक की चपेट में आने से बाइक पर सवार तीन युवकों की मौके पर मौत हो गई। हादसे में बाइक समेत युवक करीब 100 मीटर तक घिसटते रहे। हादसे में ट्रक के चारों पहिए निकल गए और टायर फट गया। 

बीती रात शासकीय मदिरा दुकान फरसगांव में कार्यरत कोण्डागांव निवासी तीन कर्मचारी गितांशु नाग पिता पूरण सिंह नाग 25 वर्ष, डोंगरीपारा, सुरेश पटेल पिता शिवशंकर पटेल 25 वर्ष विवेकानंद पारा एवं चंद्र प्रकाश देवांगन पिता मंगल राम देवांगन 29 वर्ष डोंगरी पारा निवासी फरसगांव मदिरा दुकान को बंद कर स्टाक चेक करने पश्चात अपने घर कोण्डागाँव के लिए रवाना हुए परन्तु जगदलपुर से रायपुर की और गिट्टी भरकर जा रही तेज रफ़्तार ट्रक सीजी 19 एच 0424 ने सिरपुर मोड़ पर रात्रि 10.15 बजे मोटर साइकिल सीजी 17 केसी 6415 में कोण्डागाँव घर जा रहे थे। तभी तेज रफ़्तार ट्रक ने अपनी चपेट में आने से तीनों युवकों की मौत हो गई

 दुर्घटना इतनी भीषण थी की युवक बाइक समेट 100 मीटर तक घिटते रहे। हादसे में नेशनल हाइवे के दूसरी तरफ बनी नाली में जाकर ट्रक पलट गया। तीनों युवको को गंभीर चोट आई और शरीर विक्षित हो गया जिसके कारण घटना स्थल पर तीनो की मौत हो गई।

दुर्घटना में ट्रक के चार पहिये ट्रक से अलग हो गए और दो टायर भी फट गया घटना पश्चात ट्रक ड्राइवर मोके से फरार हो गया फरसगांव मदिरा दुकान में सुरेश पटेल सुपरवाइजर, गितांशु नाग सेल्समैन, चंद्र प्रकाश देवांगन गार्ड के पद पर नियुक्त थे प्रतिदिन कोण्डागाँव से फरसगांव बस से आना जाना करते थे आज ही तीनों नवयुवक मोटरसाइकिल से आये थे वापसी के दौरान अपनी जान गवा बैठे। 
 

No image

जिले में बढ़ती गर्मी को देखते हुए जिला शिक्षा विभाग ने शासकीय और प्राइवेट स्कूल सीबीएसई और आईसीएसई स्कूलों को बंद करने का आदेश जारी कर दिया। इसके अलावा अन्य कार्य को निरतंर जारी रहेंगे। जिला शिक्षा अधिकारी ने मंगलवार को आदेश जारी करते हुए सभी शासकीय और प्राइवेट स्कूल में अध्यापन कार्य पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है।

स्कूल अब नए शिक्षासत्र में शुरू होंगे। स्कूल बंद होने के बाद भी शाला से जुड़े अन्य कार्य इसमें बोर्ड परीक्षा मूल्याकंन, स्थानीय परीक्षा मूल्याकंन के कार्य जारी रखने का आदेश दिया है। मालूम हो की भीषण गर्मी के चलते पहले ही शिक्षा विभाग ने एक आदेश जारी करते हुए कहा था कि प्राथमिक स्कूल और प्रायमरी स्कूल के समय में बदलाव करते हुए सुबह 7 बजे से कक्षाएं संचालित करने का आदेश जारी किया था।

आदेश जारी होने के बाद सभी स्कूल की कक्षाएं सुबह संचालित हो रही थीं, लेकिन पिछले दो सप्ताह से भीषण गर्माी के चलते तापमान 40 डिग्री के पार हो चुका है। बच्चों को स्कूल से लौटते समय काफी परेशानियों का समाना करना पड़ रहा था, क्योंकि पढाई के साथ-साथ मध्यान भोजन के लिए बच्चों को स्कूल जाना ही पड़ रहा था।
 

No image

गुरुकुल की नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म के आरोप में 56 माह से जेल में बंद आसाराम व उसके सेवादारों को लेकर आखिरकार फैसला सुना दिया गया है। न्यायाधीश मधुसूदन शर्मा ने बड़ा फैसला सुनाते हुए आसाराम को दोषी करार दे दिया है। कोर्ट का फैसला आते ही पुलगांव पुलिस ने  के ग्राम बेलौदी में बने आसाराम के आश्रम में दबिश दिया।

सुरक्षा को देखते हुए वहां की स्थिति का जायजा लिया। दोपहर तक पुलिस यहां माहौल का जायजा लेती रही। पुलिस के कदमों की आहट सुनकर आसाराम के अनुयायियों में हड़कंप मचा रहा। यहां आश्रम में वे पूजा पाठ कर रहे थे। पुलिस ने बताया कि फैसले के मद्देनजर आश्रम में दबिश दी गई थी। ताकि किसी भी तरह की अप्रिय स्थिति से निपटा जा सके।

 

No image

अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति कानून को लेकर छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने केन्द्र और राज्य की बीजेपी पर सरकार पर निशाना साधा।

छत्तीसगढ़ कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष शिवकुमार डहरिया और आदिवासी कांग्रेस अध्यक्ष शिशुपाल सोरी ने बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए सरकार परदोनों नेताओं ने कहा कि एससीएसटी एक्ट में बदलाव को लेकर दुविधा की स्थिति बनी हुई है। सरकार वंचित वर्ग की नाराजगी को संभाल पाने में नाकाम साबित हुई है। शिशुपाल सोरी ने कहा कि जिस मंशा के साथ वंचित वर्ग के लिए कानून बनाया गया था उसका ख्याल रखना चाहिए। आज भी आदिवासी और दलित वर्ग को प्रताडि़त किया जा रहा है। कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

No image

बुधवार को टाटा 407 में बंकर बनाकर गांजा तस्करी करने के अनोखे मामले का पुलिस ने खुलासा किया। मुखबिर से मिली सूचना पर पुलिस ने सघन जांच अभियान चलाया। पासिंग गाड़ी से 30 लाख रुपए का गंाजा जब्त किया। जिसका वजन लगभग 1000 किलो है।

पुलिस के मुताबिक टाटा मेटाडोर गाड़ी ओडिसा से पेंड्रा रोड जा रही थी। सूचना मिलते ही पुलिस ने बाफना टोल प्लाजा, मोहन नगर थाना क्षेत्र में गाड़ी को घेराबंदी करके पकड़ा। शुरूआत में खाली गाड़ी देख पुलिस को मामला समझ ही नहीं आया।

जांच अधिकारी सूचना को गलत मान रहे थे। इसी बीच सख्ती से पूछताछ करने पर खुलासा हुआ कि मेटाडेार में बंकर बना हुआ है। जिसमेे लगभग तीस लाख रुपए कीमत का गांजा रखा हुआ है।

गांजा तस्करी करने के लिए तस्करों ने अपना गया था। ड्राइवर व चालक के बीच में स्टील प्लेट से बंकर बनाया गया था। उपरी हिस्से को नट बोल्ड से पैक कर दिया गया था। उसके उपर तालपतरी ढंका गया था।

पुलिस ने बताया कि आरोपी सुधांशु उम्र 35 साल और कार्तिक मंडल, उम्र 34 ने गांजा की बदबू छिपाने रास्तेभर मिट्टी तेल का छिड़काव गाड़ी में करते रहे। रास्ते में गाड़ी रूकने पर केवल मिट्टी तेल की बदबू आ रही थी। गांजा तस्करी के अनोखे मामले से पुलिस के अब कान खड़े हो गए हैं।

No image

सूचना के अधिकार अधिनियम की जानकारी न देना हाउसिंग बोर्ड के जन सूचना अधिकारी को अब महंगा पड़ गया। राज्य सूचना आयोग ने उन पर 25000 रुपए का जुर्माना लगाया है। साथ ही आवेदक को भी 5 सौ रुपए क्षतिपूर्ती देने का आदेश दिया है। यह राशि 30 दिन के भीतर देने को कहा गया है।

राज्य सूचना आयोग ने 20 मार्च 2017 को सुनवाई करते हुए यह आदेश पारित किया है। इतना ही नहीं आयोग न यह भी कहा है कि आवेदक की दूसरी अपील को स्वीकार करते हुए सूचना के अधिकार अधिनियम की धारा 19(08)(क)(1) के तहत संपदा अधिकारी प्ररिक्षेत्र 2 हाउसिंग बोर्ड संभाग-3 सड्डू को निर्देशित किया है कि अपीलार्थी के आवेदन की स्पष्ट जानकारी पत्र के जारी होने की 30 दिन के भीतर नि:शुल्क दिया जाए।

इसके तहत आम जनता किसी भी सरकारी दफ्तर के कार्य से संबधित जानकारी मांग सकती है । संबधित विभाग को 30 दिन के भीतर व्यक्ति को जानकारी देनी पड़ती है ।

आरटीआई कार्याकर्ता शेषनारायण शर्मा ने 16 दिसंबर 2016 को हाउंसिंग बोर्ड के सड्डू संभाग से मकानों के आवंटितों की जानकारी मकान नंबर समेत मांगी थी। लेकिन उन्हें एक माह तक जानकारी नहीं मिली उसके बाद प्रथम अपील लगाई गई। प्रथम अपीली अधिकारी द्वारा भी कोई पत्र व्यवहार नहीं किया गया और न ही जानकारी दी गई। जिसके बाद मामला राज्य सूचना अयोग के पास पहुंचा।

No image

आजादी के बाद डॉक्टरों ने कहा था कि देश से जल्द ही मलेरिया जैसी बीमारी खत्म हो जाएगी। जबकि कई देशों में मलेरिया जैसी कोई बीमारी ही नहीं है। हम विश्व मलेरिया दिवस मना रहे हैं। देश में मलेरिया के जड़ से खत्म करने सरकार लाख कोशिश कर रही है, लेकिन जमीनी स्तर पर कुछ और बयां कर रही है। कबीरधाम जिले में हर वर्ष लोगों को मलेरिया से बचने जागरुकता अभियान चलाया जाता है। वहीं मलेरिया के मरीजों का विशेष इलाज भी किया जाता है। गांव व शहर में मलेरिया न फैले इसके लिए कई उपाए किए जाते हैं।

स्वास्थ्य विभाग लगातार मलेरिया जिले में कम होने के दांवे भी करती है, लेकिन यह खोखला ही साबित होते हैं। कई ऐसे गांव हैं जहां के दर्जनों लोग मलेरिया के शिकार हुए हैं। जागरुकता की कमी व स्वच्छता नहीं होने के कारण इस प्रकार की बीमारी का सामना लोगो को करना पड़ रहा है। इधर स्वास्थ्य विभाग के प्रयास भी सार्थक नहीं हो रहे है|

जिले में तीन वर्ष में ही 22 हजार 541 लोग मलेरिया की चपेट में आ गए। मलेरिया ने केवल लोगों को बीमार नहीं किया है बल्की 16 लोगों को मौत के घाट भी उतार दिया। मलेरिया से ग्रसित होकर लोगों ने अपनी जान भी गवां रहे हैं। वर्ष 2016 में चार की मौत हुई थी। इसी प्रकार वर्ष 2017 में 7 और 2018 में 5 लोगों की मौत मलेरिया से हो चुकी है।

मलेरिया की रोकथाम व पीडि़तो के इलाज के लिए हर वर्ष करीब 8 से 10 लाख रुपए केंद्र व राज्य सरकार द्वारा स्वास्थ्य विभाग को भेजा जाता है। लेकिन जिले में मलेरिया की बीमारी मे कमी नहीं रही है। वर्ष 2016 में वनांचल गांव में आदिवासी बैगा परिवारों को मच्छरदानी का वितरण भी किया गया था। इसी प्रकार इस वर्ष भी मच्छरदानी का वितरण किया गया है। वहीं विभाग का प्रचार-प्रसार कम होने के कारण लोग अब भी जागरुक नहीं हो सके हैं। मच्छरदानी का उपयोग नहीं करते हैं। यहां तक की पीडि़त को दवाई देने के बाद भी वे सेवन नहीं करते हैं।

No image

सड़क पर जा रही ट्रक अचानक से खड़ी हो गई इसी बीच पीछे से तेज गति में आ रही यात्री बस उससे टकरा गई। इस हादसे में आठ लोग घायल हो गए हैं। जिसमें से दो की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। मौके पर पुलिस की टीम पहुंच गई है मामले की जांच की जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार ये घटना धरमजयगढ़ से हाटी के बीच बेहरामार गांव के पास लगभग साढे चार से पांच बजे के बीच हुई है। बताया जा रह है कि से जशपुर चलने वाली राजहंस बस धरमजयगढ़ की ओर जा रही थी। बताया गया कि दोनो गाड़ी यानि की ट्रक एनएल 01एए 0778 और बस सीजी 14 जी 1251 खरसिया की ओर से धरमजयगढ़ की ओर आ रहे थे। वहीं धरमजयगढ़ की ओर से दो ट्रक आ रहे थे।

इसी बीच सामने से आने वाले ट्रक ने अपर डीपर का प्रयोग किया, तो खरसिया की ओर से आने वाले ट्रक ने गाड़ी को खड़ी कर दी। अचानक ट्रक के खड़ा हो जाने के बाद उसके ठीक पीछे से आ रही राजहंस बस उससे टकरा गई। इस हादसे में बस के सामने का हिस्सा यानि कि केबिन क्षतिग्रस्त हो गया है।

बस के ट्रक के पिछले हिस्से से टकरा जाने के कारण केबिन में बैठे लोग घायल हो गए हैं। जो जानकारी सामने आ रही है उसके अनुसार आठ लोग इस हादसे में घायल हुए हैं। इसमे एक महिला भी शामिल है। घायल आठ लोगों में से दो की हालत गंभीर बताई जा रही है।

घटना के लगभग आधे पौन घंटे बाद पुलिस को इसकी सूचना दी गई। ऐसे में छाल थाना की टीम मौके पर पहुंच गई थी, इससे पहले बस के ही किसी यात्री ने 108 संजीवनी एक्सप्रेस को कॉल कर दिया था। ऐसे में एंबुलेंस भी मौके पर पहुंच गई थी और घायलों को धरमजयगढ़ सिविल अस्पताल में इलाज के लिए भेजा गया था। फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

No image

छत्तीसगढ़ सीमा पर महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में पुलिस की स्पेशल ऑपरेशन यूनिट द्वारा पिछले 72 घंटों के दौरान चलाए गए अलग-अलग काम्बिंग ऑपरेशन में 37 माओवादियों के मारे जाने की पुष्टि हुई है, जिनमें 19 महिलाएं शामिल हैं। यह माओवादियों के खिलाफ देश में अब तक की गई सबसे बड़ी कार्रवाई है।

मंगलवार को सर्चिंग के दौरान को इंद्रावती नदी में 15 माओवादियों के शव बरामद किए गए। इससे पहले रविवार को महाराष्ट्र पुलिस ने 16 माओवादियों के मारे जाने की पुष्टि की थी। सोमवार को केवटेराम जंगल से 6 माओवादियों के शव सर्चिंग के दौरान बरामद किए गए थे। इस कार्रवाई में माओवादियों के कई बड़े लीडरों के मारे जाने की सूचना है।

महाराष्ट्र पुलिस से इस मुठभेड़ में मारे जाने वालों में डिविजनल कमांडर साईनाथ और श्रीनू भी शामिल थे। दोनों पर राज्य सरकार ने 16-16 लाख रुपए का इनाम घोषित कर रखा था। महाराष्ट्र पुलिस को शक है कि मरने वालों में माओवादी लीडर मुपल्ला गणपति राव उर्फ गणपति भी मौजूद था, हालांकि अब तक इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। गौरतलब है कि गणपति प्रतिबंधित सीपीआइ माओवादी का सर्वोच्च लीडर है

No image

बिहार के सीवान जेल में बंद भांजे ने सगे मामा की हत्या के लिए 3 लाख रुपए की सुपारी दी थी। सुपारी किलर और पुलिस अभिरक्षा से फरार यूपी का खूंखार आरोपी अपने ३ साथियों के साथ शहर पहुंंचा और गोली मारकर अधेड़ की हत्या कर दी। 10 अप्रैल को सिरगिट्टी थानांतर्गत ग्राम फदहाखार में सिक्यूरिटी सुपरवाइजर की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं दो आरोपी फरार हैं। पुलिस हत्या की सुपारी देने वाले आरोपी को सीवान जेल से वापस लाने रवाना हो गई है।

बिलासागुड़ी में मंगलवार को मामले का खुलासा करते हुए एसपी आरिफ एच शेख ने बताया कि अन्नपूर्णा कॉलोनी निवासी शंकरप्रसाद पिता राम तपेश्वर (43) की लाश 10 अप्रैल को सिरगिट्टी थानांतर्गत ग्राम फदहाखार में कचरे के ढेर में मिली थी। मृतक के सिर में कई जगह नुकिले औजार से हमले के निशान थे। मृतक उसलापुर कोलवासरी में सिक्यूरिटी सुपरवाइजर था।

८ मार्च को वह शाम पांच बजे कोलवासरी के मालिक धीेरेन्द्र की एक्टिवा लेकर गया था और वापस नहीं लौटा। 9 अप्रैल को उसकी एक्टिवा एटीएम चौक पर मिली थी। मृतक के दोनों मोबाइल गायब थे। दूसरे दिन पुलिस को मृतक के मोबाइल का सिमकार्ड एक ट्रक चालक के पास मिला था। उसने बताया कि सड़क किनारे उसे मोबाइल टूटा-फूटा मिला था। मृतक की पत्नी राखी ने बताया कि मृतक कुछ दिन पूर्व बिहार स्थित बक्सर से वापस गृहग्राम आया था। घटना के बाद मृतक के मोबाइल का सीडीआर (कॉल डिटेल रिकार्ड) खंगाला गया, जिसमें एक नंबर बिहार के ३ मोबाइल नंबर से मृतक के मोबाइल पर लगातार बाते होने की जानकारी मिली। घटना से पूर्व मृतक के साथ बिहार से आए कुछ व्यक्तियों के रहने और घूमने फिरने की जानकारी मिली।

मृतक के मोबाइल पर जिस नंबर से लगातार बात हो रही थी उस नंबर का लोकेशन उत्तरप्रदेश के रेनूकूट में मिला। पुलिस टीम रेनूकूट भेजी गई और वहां किराये के मकान में रह रहे मिथलेश उर्फ बबलू सिंह पिता हरदेव सिंह (43) मूल निवासी रसड़ा जिला बलिया को मोबाइल उपयोग करते पकड़ा गया। पूछताछ में उसने शंकर प्रसाद की हत्या करना स्वीकार कर लिया।

आरोपी मिथलेश ने पुलिस को बताया कि वह 2004 में रसड़ा नगर पालिका के अध्यक्ष अनूप श्रीवास्तव की हत्या की थी, साथ ही रसड़ा के ठेकेदार शंकर अग्रवाल के बेटे अजय अग्रवाल का अपहरण किया था। वर्ष 2006 से वह जेल में था। 15 मार्च 2017 को वह पेशी पर बलिया से वापस सेंट्रल जेल लेजाते समय रेलवे स्टेशन में पुलिस कर्मियों को चकमा देकर भाग गया था। तब से वह फरारी काट रहा है। उसकी मुलाकात सेंट्रल जेल में साथ रहे बलिया निवासी विमलेश सिंह और बाबू पाण्डेय से हुई थी। दोनों ने उसे सुपारी किलिंग की जानकारी देते हुए बताया कि सीवान जेल में बंद हरिश पासवान ने उसे अपने मामा सिरगिट्टी निवासी शंकर प्रसाद की हत्या करने ३ लाख की सुपारी दी है। 29 मार्च को मिथलेश, बाबू के साथ वह बिलासपुर आ गए थे।

No image

देश के बहुचर्चित जनशताब्दी एक्सप्रेस हाईजेक प्रकरण में गैंगस्टर उपेंद्र सिंह उर्फ कबरा समेत आठ दोषियों को विशेष अदालत ने रेलवे एक्ट के तहत आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। इसके अलावा 5 अलग-अलग धाराओं में सभी को छह माह से सात साल तक का सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई है। प्रत्येक दोषी को 9500 रुपए का अर्थदंड भी देना होगा। प्रकरण में 11 आरोपी बनाए गए थे। इनमें से दो फरार हैं। एक नाबालिग का प्रकरण किशोर न्यायालय में विचाराधीन है।

मंगलवार को न्यायाधीश मंसूर अहमद ने आरोपियों को दोषी करार दे दिया। दोपहर बाद दोषियों को सजा सुनाई गई, इसमें रेलवे एक्ट की धारा 150 (2) में आजीवन कारावास और धारा 146 में छह-छह माह कारावास की सजा सुनाई गई।

ट्रेन हाईजेक के दौरान लोको पायलट को कट्टा दिखाकर धमकाने के लिए मुख्य आरोपी उपेंद्र सिंह के बेटे प्रीतम सिंह उर्फ राजेश और पिंकू उर्फ वरुण सिंह को धारा 25 में तीन-तीन साल और धारा 27 में सात-सात साल कारावास की सजा सुनाई गई है।

No image

आगामी 27 अप्रैल से पांच दिनों के लिए बस यात्रा मुसीबत वाली हो सकती है। बताया जाता है कि वैवाहिक कार्यक्रमों के लिए मुख्यालय की अधिकांश बसों की बुकिंग हो चुकी है और शेष बसों की बुकिंग का दौर भी जारी है। 


अक्षय तृतीया के बाद विवाह का शुभ मुहूर्त 30 अप्रैल तक का है जिसमें वैवाहिक कार्यक्रम आयोजित भी हो रहे हैं लेकिन 27 से 30 अप्रैल को सर्वाधिक शादियां है जिसके लिए अधिकांश बसों की बुकिंग हो चुकी है। बस एसोएिशन के अध्यक्ष राकेश चंद्राकर ने बताया कि 27 से 30 अप्रैल तक के विभिन्न मार्गों में चलने वाली बसों में से करीब 150 बसों की बुकिंग हो चुकी है और शेष बची बसों की बुकिंग के लिए वैवाहिक कार्यक्रम वाले लोग संपर्क कर रहे हैं। श्री चंद्राकर का कहना है कि इन पांच दिनों में सवारी बसों का टोटा रहेगा जिससे यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।


रायपुर मार्ग के लिए अधिक बस व यात्री
मुख्यालय स्थित बस स्टैंड से राजधानी रायपुर के अलावा बागबाहरा, राजिम, सरायपाली, बसना, पिथौरा के साथ सिरपुर सहित अन्य मार्गों के लिए बसें चलती है सबसे अधिक बसे रायपुर के लिए चलती है। जानकारी के मुताबिक इस मार्ग पर सौ से भी अधिक बसें हंै और यात्री भी अधिक हैं। वैवाहिक कार्यक्रम के लिए इन बसों में 80 प्रतिशत बस बुक हो चुकी है। इनके अलावा अन्य मार्गों में 20-30 बसें ही चलती है जिनमें आधी बसें बुक हो चुकी है हालांकि इन मार्गों पर यात्रियों की संख्या कम है लेकिन वैवाहिक कार्यक्रम और गर्मी छुट्टी की वजह से बसें इन दिनों फुल चल रही हैं।छोटी वाहनें भी बुक, रेल सेवा सुबह ही

चारपहिया छोटी वाहनें भी वैवाहिक कार्यक्रम के लिए बुक हो चुकी है जिसके चलते सफर के लिए इन वाहनों का भी टोटा रहेगा। बस के अलावा यात्रियों के लिए रेल सेवा का भी विकल्प है लेकिन रायपुर व बागबाहरा रोड के लिए ही है जिसके लिए ट्रेन सुबह ही मिलती है।

No image

 छतीसगढ़ से लगे ओडिशा में नक्सलियों के लगाए आईईडी की चपेट में आकर तीन ग्रामीणों की मौत हो गई है। नवरंगपुर डिस्ट्रिक के हल्दी पंचायत के बिनस गाँव की घटना है जहां सुरक्षा बलों को निशाना बनाने नक्सलियों ने  आईईडी प्लांट किया था। इसमें ग्रामीण चपेट में आ गए जिससे तीन ग्रामीणों की मौत हो गई।
 

No image

 
  भीषण गर्मी के बावजूद लंबी दूरी की कई ट्रेनें हाऊस फुल चल रही है, जिसके चलते आरक्षण  कराने के बावजूद यात्रियों को तत्काल में आरक्षण नहीं मिल रहा है। वैंटिग की लंबी लिस्ट होने के कारण अनेक यात्री अपनी यात्राएं रदद करने पर मजबूर है। 
अप्रैल माह में पड़ रही भीषण गर्मी का असर ट्रेनों में दिखाई नहीं दे रहा है, बल्कि पहले से अधिक लोग ट्रेनों में यात्रा कर रहे है। लंबी दूर की कई ट्रेनों  में सबसे अधिक भीड़ चल रही है।

ज्यादातर भीड़ साउथ की ओर जाने वाली ट्रेनों में है। जिसमें पिछले दो सप्ताह तक आरक्षण कराने के बाद लोगों को कम्फर्म टिकट नहीं मिल पा रही है। साउथ बिहार की ओर जाने वाली सारनाथ एक्सप्रेस, दुर्ग-नवतनवा एक्सप्रेस सहित अन्य ट्रेनों में 100 से अधिक वेटिंग लिस्ट चल रही है, जिससे यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसी प्रकार अन्य लंबी दूरी की ट्रेनों में भी भीड़ चल रही है। ज्ञात हो कि इस माहांत तक प्रदेश भर के सभी स्कूलों में गर्मी की छुट्टियां लग जाएगी।

गर्मी की छुट्टियों में बच्चें अपने परिजनों के साथ घूमने के लिए दूसरे राज्यों में रहने वाले अपने रिश्तेदारों या फिर धार्मिक व पर्यटक स्थल के साथ ठंडे इलाकों में जाते है। इसे देखते हुए लोगों ने एक माह पूर्व से ही ट्रेनों में आरक्षण कराना शुरू कर दिया था। बावजूद इसके कंफर्म टिकिट नहीं मिलने पर परिवार वाले यात्रियों को अपनी यात्रा रदद करने पर मजबूर होना पड़ रहा है।

No image

  शासकीय स्कूलों में शिक्षकों और बच्चों की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए दिए गए टैब अब शिक्षकों की परेशानी की कारण बन रहे हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस टैब के जरिए शिक्षक अपनी हाजिरी लगा रहे हैं और साथ ही छात्रों से संबंधित अन्य डेटा भी इसमें फीड कर रहे हैं लेकिन अभी तक जहां-जहां ये टैब बंट चुके हैं, वहां इसे चलाने में शिक्षकों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। 

शिक्षकों का कहना है कि सरकार ने जो टैब उपलब्ध करवाए हैं, वे स्तरहीन हैं। यदि उनके द्वारा इन टैबों को स्तरहीन बताया गया तो उन्हें विभागीय दंड का खतरा बना रहेगा और कार्रवाई होने की आशंका बनी रहेगी।


 इस संबंध में अपनी होने वाली परेशानियों के संदर्भ में अलग-अलग स्कूलों के शिक्षकों ने जानकारी दी कि ये टेब हैंग होने के साथ.साथ अचानक बंद भी हो रहे हैं। जिले में 2200 स्कूलों में इसे बांटना है जिसमें से 1951 स्कूलों के लिए इसे भेजा जा चुका हैं।

यह भी उल्लेखनीय है कि बाजार में इस टैब के 16600 रूपए के मूल्य में इससे अच्छी गुणवत्ता की के टैब बाजार में मिल रहे हैं।चिप्स ने टैब की खरीदी के लिए डाटामिनी टेक्नालाजी इंडिया लिमिटेड कंपनी से एंग्रीमेंट किया हैं।

अभी कंपनी जो टैब सप्लाई कर रही है उसके डिब्बे पर इसका मूल्य 16600 रूपए लिखा है और ये टेब थ्रीजी टेब हैं और इसका मल्टीपरपस उपयोग भी नहीं किया जा सकता है जबकि बाजार में ब्रांडेड कंपनियों के इससे अच्छे 4जी टैब कम दाम में उपलब्ध हैं।

सरकारी स्कूलों में बांटे जा रहे टैब में कई परेशानियां आ रही है। सबसे ज्यादा परेशानी इसके मूल काम को लेकर आ रही हैं। इस टैब का मुख्य उद्देश्य शिक्षकों की ई हाजिरी लगवाना है ऐसे में सुबह जब शिक्षक टैब में अंगूठा चिपकाने की प्रक्रिया शुरू करते है तो यह हैंग हो जाता है।

No image

  शनिमंदिर मे किसी अज्ञात चोर ने हाथ साफ कर दिया इसके पहले भी मंदिर में चोरी हुयी थी जिसका आज तक पता नहीं चला मंदिर के पुजारी का कहना हैं की रोजाना की तरह मंदिर रात 10 बजे तक खुला था उसके बाद वे मंदिर को बंद कर निकट अपने मकान पर सोने चले गये इसके बाद देर रात किसी ने मंदिर की दान पेटी की चोरी कर ली जिसमें हजारों रुपये का चढा़वा था पुजारी ने पुलिस को मामले की सूचना दे दी हैं ।

शहर में वैसे भी निरंतर चोरिया हो रही हैं जिसमें से किसी का भी सुराग अब तक नहीं मिला हैं जिंसके कारण चोरों को हौसले बुंलद हैं आम तो आम अब वे भगवानों को भी नहीं छोड़ रहे कुछ दिन पहले ही गांधी गंज स्थित राम मंदिर में भी चोरी हुयी थी उसका भी कोई पता नहीं चला लगातार हो रही चोरियों से लोग परेशान व हलाकान हैं और पुलिस से चोरों को रोकने कारगर कदम उठाये जाने की अपेक्षा है ताकी लोग अमन चैन से रह सकें 

No image

  सोमवार दोपहर के वक्त शहर के व्यस्ततम इलाक़े में से एक चित्रमंदिर गली मे लहूलुहान युवक को मदद की गुहार लगाते देख हडकंप मच गया।युवक के सीने हाथ पेट पर गहरे घाव थे जिनसे निकलते ख़ून ने पूरे कपड़े रंग दिए थे।युवक के अनुसार उसको एक युवती ने अपने साथी के साथ मिलकर छूरे से जानलेवा हमला किया।


अस्पताल में उपचार करा रहे युवक के आधे अधूरे बयान से पुलिस भी पेशोपेश में है। अब तक मिली जानकारी के आधार पर जो कहानी निकल कर आई है उसके अनुसार आहत युवक रितेश गुप्ता होटल व्यवसायी है और चित्रमंदिर गली में कर्मचारियों के लिए किराए का मकान लिया हुआ है,युवक का दावा है कि करीब 1.30 पर युवती ने व्हाट्सएप पर पहला मैसेज किया, और 2.15 कर उसने 27 मैसेज भेजे और यह कहा कि उसके साथ धोखा हुआ है वह मिलना चाहती है।युवक जो कि पूर्व में एक राजनैतिक दल के युथ विंग से जूड़ा रहा है, वह कर्मचारियों के लिए किराए के मकान में युवती से मिलने चला गया। आहत युवक रितेश का पुलिस को कथन है
 

युवती आई उसके साथ एक युवक था, युवक ने कहा तूने इसे धोखा क्यो दिया, और यह कहकर युवक ने रितेश को पकड़ लिया और युवती ने छूरे से रितेश के शरीर पर कई वार कर दिए और भाग खड़े हुए 


अब तक की विवेचना में युवती का नाम सपना जबकि सहयोगी हमलावर युवक का नाम अन्तु पाठक के रुप में सामने आया है।
आहत युवक रितेश ने बताया है कि सपना से उसकी मित्रता थी और बीते साल दस जून को उसने अन्य युवती से विवाह कर लिया था।


पुलिस इस पूरे मामले को समझने के लिए कई सवाल लिए खड़ी है पर युवक रितेश इसके आगे कुछ बोल नही रहा है। पुलिस को अब युवती और उसके सहयोगी की तलाश है ताकि तस्वीर कुछ साफ हो सके।वहीं इंतजार यह भी है कि आहत युवक को चिकित्सक स्वस्थ्य घोषित करें ताकि सवालों के जवाब उससे भी मिल सकें।पुरानी मित्रता पर जबकि युवक रितेश ने अन्यत्र विवाह कर लिया युवती ने लंबे अरसे बाद अचानक हमला क्यों किया या इस कहानी में कुछ और पेंच है जो सामने नही आया है, पुलिस इस गुत्थी को सुलझाने में उलझी है।
 

No image

 सरायपाली के पतेरापाली में एक सरपंच से 15 लाख की लूट का सनसनी खेज़ मामला सामने आया हैं। घटना जानकारी मिलते ही पुलिस ने आस पास के इलाके में नाकेबंदी कर दी है पीडि़त सरपंच का नाम लक्ष्मण प्रधान बताया जा रहा है, जो की महासमुंद से ही सटे खरखरी गांव का रहने वाला है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सरपंच लक्ष्मण प्रधान ने सरपंच का चुनाव लड़ते वक्त अपनी तीन एकड़ जमीन नारायण साहू नाम के व्यक्ति को बेचा दिया था, चुनाव जितने के बाद लक्ष्मण प्रधान अपनी जमीन को वापस खऱीदे के लिए पैसा लेकर आया था। वह जमीन के एग्रीमेंट के बाद पैसे देने के लिए पतेरापाली गांव गया था।

दोपहर में नारायण साहू के घर से लक्ष्मण प्रधान और उसकी पत्नी जैसे ही बहार निकले वहा घात लगाकर बैठे नकाबपोश लुटेरो ने पैसो से भरा बैग झपटा भाग गए। जिसके बाद सरपंच ने जब शोर मचाया शुरू तो नकाबपोश लुटेरे वापस आए और मोबाइल को छिन लिया और फरार हो गये

No image

 बेटी से बेइन्तहा प्यार करने वाले पापा ने कभी ये ना सोचा होगा कि बस एक मनाही पर उनकी इकलौती बेटी अपनी जान दे देगी। मामला देर रात की है, जहां भिलाई के सेक्टर 4 में रहने वाले दुबे फैमली पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। पापा की छोटी से डांट पर नाराज़ बेटी ने खुदकुशी कर ली। 10वीं क्लास में पढऩे वाली वंशिका को कल पापा ने पढ़ाई ध्यान से करने और दोस्तों संग घूमने और मस्ती से मना किया था। इसी बात पर नाराज़ हुई वंशिका ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।


इस इस घटना के बाद  परिजनों को यकीन कर पाना मुश्किल लग रहा कि कोई इतनी मामूली सी बात पर कैसे सुसाइड कर सकता है। 14 साल की वंशिका भिलाई के टॉप स्कूलों में शामिल एम जी एम स्कूल में पढ़ती थी।


मिली जानकारी के मुताबिक कल स्कूल से वंशिका देरी से घर लौटी तो मम्मी-पापा ने घूमने-फिरने के बजाय पढ़ाई में ध्यान देने को कहा। यही बात वंशिका को नागवार लग गई और उसने अपने कमरे में जाकर फ ांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। छात्रा वंशिका दुबे एम जी एम स्कूल सेक्टर 6 में 10वी कक्षा में पढ़ाई करती थी। छात्रा के पिता दुर्ग स्वास्थ्य विभाग में पदस्थ है और वंशिका उनकी इकलौती बेटी थी।भट्टी पुलिस ने मर्ग कायम का जांच में जुट गई ।

No image


 प्रदेश के निजी स्कूलों द्वारा की जा रही मनमानी को रोकने के लिए शिक्षा विभाग अब तक सिर्फ मौखिक व कागजों में ही कार्यवाही कर रहा है, जिसके चलते निजी स्कूल बेखौफ आरटीई नियमों का भी खुलेआम उल्लंघन कर रहे है। 
गौरतलब हो कि प्रदेश में निजी स्कूलों द्वारा आरटीई नियमों का पालन नहीं करते हुए स्कूलों का नवीनीकरण नहीं कराया गया है, बल्कि बच्चों के पालकों से मनमानी फीस भी वसूली जा रही है।

निजी स्कूलों द्वारा हर साल फीस में बढ़ोतरी की जा रही है जिससे पालकों पर अतिरिक्त भार पड़ रहा है। बच्चों के भविष्य की चिंता को देखते हुए पालक भी स्कूलों की मनमानी के आगे झूकने के लिए मजबूर हो रहे है। यहीं नहीं स्कूलों द्वारा कापी-किताबों से लेकर स्कूल ड्रेस आदि की खरीदी के लिए दुकानें भी खुद ही तय करते है और पालकों को उन्हीं दुकानों से स्कूल की सामग्री खरीदने के लिए कहते है।

इस तरह स्कूल प्रबंधन द्वारा बच्चों की सामग्री खरीदी में भी अपना कमीशन निकालते है। निजी स्कूलों द्वारा प्रतिवर्ष शिक्षा सत्र में इसी तरह मनमानीपूर्वक रवैया अपनाते हुए बच्चों के पालकों की मजबूरी का फायदा उठाते हुए बड़ी रकम एठते है। लेकिन शिक्षा विभाग अब तक निजी स्कूलों की मनमानी को रोकने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है।

परिणामस्वरूप निजी स्कूलों की मनमानी वर्तमान सत्र में भी जारी है। हालांकि शिक्षा विभाग के अधिकारी यह कहते थकते नहीं है कि निजी स्कूलों की मनमानी रोकने सख्त कार्यवाही की जाएगी। लेकिन यह सख्त कार्यवाही सिर्फ मौखिक व कागजों में ही सिमट कर रह जाती है। जबकि जमीनी हकीकत में लंबे समय से निजी स्कूलों की मनमानी को रोकने के लिए विभाग ने अब तक कोई ठोस पहल नहीं की है। 


ज्ञात हो कि शिक्षा विभाग ने पिछले दिनों सिर्फ कुछ स्कूलों में दबिश देते हुए वहां कई गड़बडिय़ां पकड़ी गई थी। गड़बडिय़ां पकड़े जाने के बाद उन स्कूलों को सिर्फ नोटिस भेजा गया और नोटिस के जवाब के साथ 30 अप्रैल को सुनवाई के लिए उपस्थित होने का निर्देश दिया गया है।

विभाग की इस तरह की कार्यवाही यह स्पष्ट है कि निजी स्कूलों के खिलाफ कार्यवाही करने से विभाग भी कतरा रहा है। जब स्कूलों में गड़बड़ी पायी गई तो उन्हें फिर उन्हें नोटिस जारी करने बजाय कार्यवाही क्यों नहीं की जा रही है यह प्रश्र निजी स्कूल प्रबंधनों से डा. नीतू छाबड़ा ने जानना चाहा है। 

No image

मामले में अब तक कार्यवाही की मांगी पूरी जानकारी
 एडीजी पवन देव पर यौन उत्पीडऩ का आरोप लगाने वाली बिलासपुर की महिला आरक्षक ने इस मामले में अब रायपुर पुलिस महानिदेशक को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के निर्देशानुसार मामले में अब तक की गई कार्रवाई की पूरी जानकारी मांग की है। 

पीडि़ता महिला कॉन्स्टेबल ने अपने पत्र में लिखा है कि उन्होंने अपने वकील के जरिए हाईकोर्ट में रिट याचिका दायर की थी, जिस पर हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की डबल बेंच ने 27 फरवरी 2018 को अपने आदेश में केंद्रीय गृह सचिव, डीजीपी और राज्य गृह सचिव को 45 दिनों में प्रावधानित एक्ट के मुताबिक निर्णय या कार्रवाई करने का आदेश पारित किया था, जिसकी अवधि भी खत्म हो चुकी है 

अब इस पर क्या कार्रवाई हुई है। उन्होंने यह भी लिखा है कि बिलासपुर के तत्कालीन आईजी पवन देव के खिलाफ लैंगिक उत्पीडऩ की शिकायत की थी, जिस पर शासन स्तर पर आईएएस रेणु पिल्लै की अध्यक्षता में 4 सदस्यों की आंतरिक शिकायत समिति का गठन कर जांच किया गया था। जांच में पवन देव को दोषी पाया गया था।

समिति ने अपनी रिपोर्ट 2 दिसंबर 2016 को ही डीजीपी को सौंप दी थी, जिसकी प्रति पीडि़ता को भी मिली थी। पीडि़ता का कहना है कि उन्होंने 5 आवेदन पत्र अब तक दे चुकी हैं, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई 

No image

वेतन विसंगति और अन्य मांगों को लेकर आज जिला अस्पताल की नर्सों ने प्रदेश स्तरीय आह्वान पर दो घंटों के लिए काम बंद हड़ताल करते हुए धरना दिया। नर्सों के आंदोलन में चले जाने के बाद अस्पताल की व्यवस्था प्रशिक्षणार्थी जीएनएम और एएनएम ने संभाला जिससे अस्पताल में भर्ती मरीजों को किसी तरह की दिक्कत नहीं हुई। 

छग परिचारिका कर्मचारी कल्याण संघ के बेनर तले जिला अस्पताल की नर्सों ने प्रदेश समिति के आह्वान पर आज से तीन दिनों के लिए दो घंटे का आंदोलन प्रारंभ किया है जिसमें सुबह 11 से दोपहर 1 बजे तक जिला अस्पताल की समस्त नर्सें काम बंद कर धरने पर बैठेंगी। नर्सों के धरने पर चले जाने के बाद अस्पताल की व्यवस्था और भर्ती मरीजों की देखरेख के जिला अस्पताल प्रबंधन ने प्रशिक्षणार्थी जीएनएम और शहरी क्षेत्र में पदस्थ एएनएम कार्यकर्ताओं को बुला लिया है।  

चरणबद्ध तरीके से करेंगे हड़ताल मांगों पर शासन द्वारा ध्यान नहीं दिए जाने से प्रदेश संघ ने आंदोलन को वृहद रूप देने के लिए चरणबद्ध आंदोलन की योजना बनाई है जिसके तहत 17, 18, 19 अप्रैल को काली पट्टी लगाकर काम करने के बाद आज दो घंटे आंदोलन कर रही हैं। पश्चात 1 मई से नर्सें अपने-अपने कार्य स्थल में मुख्यमंत्री की आरती उतार कर उनको प्रसन्न करने का प्रयास करेंगी। 12 मई को यदि शासन द्वारा उनकी मांगों पर निर्णय नहीं लिया जाता है तो नर्सेस डे को सेलिब्रेट न कर उस दिन काला पकड़ा पहन कर शोक दिवस मनाएंगी। इसके बाद भी शासन द्वारा अगर मांगों पर ध्यान नहीं दिया जाता है तो 18 मई से अनिश्तिकालीन आंदोलन करेंगी।

No image

सोमवार को सुबह ट्रक और बोलेरो की भिड़त हो गई। इस हादसे में एक की मौत और सात घायल हो गए। घायलों को तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दाखिल कराया गया। जहां उनका उपचार जारी है। ट्रक बोलेरों को ठोकर मारते हुए सीधे पेड़ से जा टकराया। वहीं बोलेरो का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया है। पुलिस ने इस मामले में अपराध पंजीबद्ध कर लिया है।

No image

रायपुर. तपती धूप में विभिन्न स्कूलों / शासकीय स्कूलों में राइट टू एजुकेशन के तहत गऱीब बच्चों को  प्रवेश दिये जाने का प्रावधान है किन्तु निजी स्कूल प्रबंधनों द्वारा 25 प्रतिशत का कोटा समय पर पूरा नहीं हो पा  रहा है जिसके चलते गरीब परिवार के बच्चे की उच्च शिक्षा ग्रहण करने से वंचित हो रहे है।

उपरोक्त मुददे को लेकर स्कूली छात्र-छात्राओं को शाला प्रबंधनों द्वारा पर्याप्त सुरक्षा नहीं देने के मुददे को लेकर विरोध में आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा जि़ला शिक्षा अधिकारी कार्यालय का घेराव कर प्रदर्शन किया जाएगा।

No image

जगदलपुर. बस्तर संभाग के सुकमा जिले के चांदामेटा पहाड़ी पर बीती शाम पुलिस व नक्सलियोंं के मध्य हुयी मुठभेड़ में कुछ नक्सलियों के मारे एवं घायल होने की खबर मिली है। पुलिस ने मौके से बंदूकें एवं विस्फोटक सामग्री बरामद की है। इधर आज सुबह कांकेर जिले में हुयी एक अन्य मुठभेड़ में बीएसएफ का एक जवान भगवन सिंह जख्मी हो गया।  

पुलिस सूत्रों के अनुसार पुसपाल थाने से पुलिस का संयुक्त बल गश्त सर्चिंग के लिए रवाना किया गया था। चांदामेटा पहाड़ी पर घात लगाए नक्सलियों ने पुलिस पर निशाना साधते हुए गोलीबारी प्रारंभ कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी फायरिंग की। लगभग एक घंटे तक हुयी मुठभेड़ के बाद अंतत: नक्सलियों के हौसले पस्त हो गए और वे पहाड़ी की आड़ लेकर उड़ीसा की ओर भाग गए। 

बस्तर डीआईजी पी सुंदरराज ने बताया कि मुठभेड़ स्थल पर मौजूद परिस्थितिजन्य साक्ष्य, खून के धब्बे एवं घसीटे जाने के निशान से यह साबित होता है कि कम से कम 3 नक्सली मारे गए हैं और कई लहुलूहान हुए हैं, साथियों के शव नक्सली अपने साथ ले जाने में कामयाब रहे। घटनास्थल से बंदूक, पि_ू, बैनर, पोस्टर, नक्सली साहित्य, दवाईयां, गोला-बारूद, डेटोनेटर, बिजली के तार, बैटरी एवं भारी मात्रा में दैनिक उपयोग की सामग्रियों का जखीरा बरामद किया गया है।

एक अन्य मुठभेड़ में आज सुबह सीमा सुरक्ष बल  का एक जवान गंभीर रूप सें घायल हो गया। कांकेर एसपी केएल धु्रव ने बताया कि प्रतापपुर थाना के  ग्राम मोहला में सीमा सुरक्षा बल का  एक नया कैम्प खोला गया  है। जहां से आज सुबह पुलिस पार्टी गश्त पर  निकली थी, कि कुछ दूरी पर  घात लगाये नक्सलियों ने पुलिस बल पर हमला कर दिया। गोलीबारी में सामने चल रहे आरक्षक भगवन सिंह को चार गोली लगी है, वह गंभीर रूप से घायल है, जिसे बेहतर उपचार के लिए रायपुर रवाना किया गया है।

No image

जगदलपुर. सरकार वनोपज खरीदी के लिए भले ही नीति बनाएं किंतु वनोपज खरीदी पर बड़े व्यापारियों का कब्ज़ा अभी भी बरकरार है, जिससे जनता को तो नुकसान हो ही रहा है। छोटे व्यापारियों पर भी अब तलवार लटकने प्रारंभ हो गई है। विगत सप्ताह अचानक इमली के भाव में 25 प्रतिशत की कमी आने से खरीदारों को चिंता सता रही है।


प्राप्त जानकारी के अनुसार बस्तर संभाग में इमली की इस वर्ष कम आवक थी जिसके कारण जब प्रारंभ में खरीददारी प्रारंभ हुई तो बड़े खरीदारों ने छोटे-छोटे व्यापारियों को लालच देकर मुंह मांगे दाम पर इमली की खरीदी तो कर ली, किंतु अब अंतिम समय में भाव में 25 प्रतिशत की कमी अचानक किए जाने से छोटे खरीददार फस गए हैं। कोई इसे गुणवत्ता की कमी बताकर बहाना बना रहा है तो कोई बाहरी डिमांड नहीं होने का बहाना बनाकर छोटे व्यापारियों से एक तरह से ठगी की जा रही है। दूसरी तरफ ग्रामीण अंचल के लोग अंतिम समय में अपनी इमली व्यापारियों को बेचने की फिराक में थे, किंतु अब ग्रामीण भी भाव कम होने से परेशान हैं। 


बस्तर के तोकापाल जगदलपुर और दरभा इलाके के कुछ ग्रामीणों के अनुसार जो कि छोटे व्यापारी हैं उनका कहना है कि इतने दिनों की मेहनत के बाद जो मुनाफा मिलने वाला था। वह मुनाफा अब लोगों को नहीं मिलेगा और अलग से मेहनत भी बेकार जाएगी। ज्ञात हो कि पूर्व में इमली शासन द्वारा तय अनुसार 22 रुपए में खरीदी किया जाना था किंतु &0 से 40 रुपए के भाव में यह बिका ।

अब छोटे व्यापारी 20 रूपये में भी खरीददारी करने से बच रहे हैं और ग्रामीण फंस गए हैं। मंडी अधिकारी के अनुसार कम दाम पर खरीदारी करने से रोकने के लिए किसी भी प्रकार की टीम गठित नहीं है, इसके कारण व्यापारी मनमानी कर रहे हैं। इसी प्रकार इमली फूल ( फोड़ा हुआ इमली) से व्यापारियों को बहुत Óयादा फायदा होता था और बड़ी तादाद में गांव-गांव में व्यापारियों ने छोटे व्यापारियों को झांसे में रखकर पहले तो अपने मतलब के अनुसार खरीदारी कर ली किंतु अब बड़े व्यापारियों ने मंडी में अचानक भाव कम करने से छोटे व्यापारी मझधार में फंस गए हैं।

No image

जगदलपुर. बस्तर में अपना अस्तित्व बचाने के लिये नक्सलियों ने व्यापक तौर पर अपनी रणनीतियों में बदलाव करते हुए निचले कैडरों तक को हथियार बंद करने सहित कैडर में नये नक्सलियों को तैनात करने और बस्तर के दूरस्थ नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सभी निर्माण कार्य बंद करने के फरमान जारी किया है। इसके साथ ही नक्सली अपने वजूद को बचाये रखने के लिये आने वाले दिनों में बड़ी वारदातों के माध्यम से दहशत फैलाने की कोशिश करें तो कोई आश्चर्य नहीं होगा। गृह मंत्रालय के अनुसार नक्सल प्रभावित 10 राज्यों में सर्वाधिक 89 घटनाएं छत्तीसगढ़ में होने के प्राप्त आंकड़ों से भी इसकी पुष्टि होती है। 

नक्सलियों के बदली हुई रणनीति के कारण बस्तर में अपने वजूद को बचाये रखने के लिये दक्षिण बस्तर के सुकमा एवं बीजापुर जिले को अपना आधार क्षेत्र बनाकर कार्य कर रहे हैं, जिसका असर विगत दिनों सत्तारूढ़ भाजपा के पदाधिकारियों की अपने-अपने पदों से इस्तीफा देने के रूप में सामने आ चुका है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीजापुर प्रवास के दौरान इस क्षेत्रों के भाजपा नेताओं की आयोजन से दूरियां बनाये रखने को भी नक्सली दबाव और दहशत के रूप में देखा जा सकता है। वहीं दूसरी ओर अपने वजूद को बचाये रखने के लिये बदली हुई रणनीति के तहत नक्सलियों द्वारा अपने उन पुराने एरिया कमेटी, डीवीसी मेम्बर एवं डिवीजनल कमेटी के अधिकतर लोगों को बदलकर उनके स्थान पर नये नक्सलियों की नियुक्ति किये जाने की खबरें हैं। 

पुलिस खुफिया सूत्रों की माने तो आने वाले छग के विधानसभा को ध्यान में रखते हुए तथा सिमटते जनाधार के चलते नक्सली अपनी रणनीति में लगातार बदलाव कर रहे हैं। नक्सलियों का मुख्य ध्येय बस्तर में अपने वजूद को पुन: स्थापित करने के लिये दहशत का वातावरण स्थापित करने की रणनीति पर कार्य करना है। बदली हुई रणनीति के तहत नक्सलियों ने अपने निचले संगठन को हथियार सौंपने के निर्णय से आने वाले दिनों में बस्तर में नक्सली वारदात बढऩे की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता।

नक्सली आगामी विधानसभा चुनाव के पूर्व सत्ताधारी दल के नेताओं पर दबाव बनाने के लिये हमले करने की रणनीति पर भी कार्य कर रहे हैं। इसी कड़ी में दक्षिण बस्तर के क्षेत्रों में विगत दिनों नक्सलियों ने पर्चा चिपका कर यहां चल रहे समस्त निर्माण कार्यो को बंद करने को कहा। निर्माण कार्य बंद करने के फरमान को प्रभावी बनाने के लिये निर्माण कार्यो में लगे हुये वाहनों को आग के हवाले कर मजदूरों की पिटाई एवं इंजीनियर कासू की हत्या किये जाने से नक्सलियों की बदली हुई हिंसक रणनीतियों की पुष्टि होती है।

No image

छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले के स्टेशन रोड पर शनिवार रात करीब 2 बजे सामान से भरे एक ट्रक में आग गई । जिससे ट्रक समेत पूरा सामान जलकर राख हो गया। शहर के बीच ऊंची-ऊंची लपटों और धुएं के गुबार के साथ ट्रक जलता रहा । लेकिन प्रशासन आग बुझाने के लिए समय पर सही इंतजाम नहीं कर पाया। इस घटना में 10-12 लाख का नुकसान होना बताया गया है।

जानकारी के अनुसार बमलेश्वरी गैरेज का ट्रक रोज की तरह रायपुर सामान लेकर से महासमुंद आया था। ट्रक से आधा सामान शनिवार को ही उतार लिया गया था, पर हमाल नहीं होने के कारण आधा सामान ट्रक में ही था। बताया गया है कि ट्रक चालक रात में वाहन में ही सोता था पर उस समय किसी कारण वह ट्रक में मौजूद नहीं था। रात करीब दो बजे ट्रक में अचानक आग लग गई और ट्रक धूं-धूं कर जलने लगा। आग की लपटें 10-15 फीट ऊपर उठ रहीं थीं। जब आसपास के लोगों ने इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने पुलिस कंट्रोल रूम में इसकी सूचना दी।

उसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने नगर पालिका को फायर ब्रिगेड के लिए फोन किया। आग लगने के कुछ देर बाद छोटा दमकल वाहन वहां पहुंचा, जो आग पर काबू पाने में सक्षम नहीं था। उसके बाद पुलिस ने बागबाहरा से फायर ब्रिगेड मंगवाया जिसके आने में विलंब हुआ। जब तक ट्रक व सारा सामान जलकर खाक हो चुका था। इस आगजनी में दस से बारह लाख का नुकसान होना बताया जा रहा है। अभी आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं हुआ है। आग कैसे लगी और कितना नुकसान हुआ यह तो दूर की बात देर शाम तक भी थाना पुलिस कुछ बताने की स्थिति में नहीं थी।

शहर के बीच आधी रात को सामान से भरा ट्रक जल रहा था और नगर पालिका में सारे संसाधन होने के बाद भी आग बुझाने के लिए पानी नहीं मिल रहा था, क्यों? पालिका के पास फायरब्रिगेड की बड़ी गाड़ी भी है, लेकिन यह गाड़ी ऐन जरूरत के समय सेवा नहीं दे पाती, क्यों? ऐसे कई सुलगते सवाल हैं जो आगजनी की घटनाओं के संदर्भ में पुख्ता इंतजाम को लेकर प्रशासन को कठघरे में खड़े करते हैं।

No image

गर्मी बढऩे के साथ जल संकट गहराते ही अब वार्डों में हाहाकार मचने लगा है। लोग एक-एक बूंद के लिए झगडऩे लगे हैं। वहीं जिम्मेदार जनप्रतिनिधियों के प्रति रोष जाहिर करने से भी नहीं चूक रहे हैं। रविवार को ही वार्ड-16 कुरुद के रहवासियों ने ढांचा भवन की टंकी भरने के लिए पावर पंप से दिए गए कनेक्शन को खुलवाने की मांग करते हुए पार्षद सुशीला देवांगन को तीन घंटे तक घेरे रखा। इस मामले को लेकर पुरानी बस्ती और एलआईजी क्वार्टर के रहवासियों के बीच विवाद भी हुआ। तनाव को बढ़ता देख कॉलोनी के जागरूक लोगों ने बीच बचाव कर मामले को शांत कराया।

दोपहर को कुरुद बस्ती के 50 से अधिक लोग पार्षद व एमआईसी सदस्य सुशीला देवांगन के घर पहुंचे। उनसे ढांचा भवन तालाब स्थित पावर पंप से एलआईजी क्वार्टर के संपवेल के भरने के लिए दी गई पाइप लाइन के कनेक्शन को खुलवाने की मांग की। पार्षद ने मना करते हुए उन्हें समझाने का प्रयास किया कि रविवार को अवकाश होने की वजह से निगम के कर्मचारी छुट्टी पर हैं। सोमवार को कर्मचारी को बुलाकर कनेक्शन खुलवा देने का आश्वासन दिया, लेकिन लोग नहीं माने। साथ में चलकर संपवेल के कनेक्शन खुलवाने की मांग पर उनके घर के सामने एक घंटे तक अड़े रहे। जब बात नहीं बनीं तब पार्षद उनके साथ ढांचा भवन तालाब पहुंची। लोगों ने उनके सामने ही प्लम्बर बुलवाकर कनेक्शन को खोल दिया। इतने में ही एलआईजी और ढांचा भवन क्षेत्र के रहवासी वहां पहुंच गए। सरकारी पंप पर सभी का हक होने की बात कहते हुए कनेक्शन फिर से जोड़ दिया। इसी बात को लेकर दोनों पक्षों में जमकर कहा सुनी हुई। युवकों के बीच धक्का-मुक्की होते देख कॉलोनी के जागरूक लोगों ने बीच-बचाव कर विवाद को शांत कराया। इसके बाद बस्ती के लोग घर को लौट गए।

ढांचा भवन तालाब में एसीसी कंपनी ने सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत नलकूप खनन कराया है। सप्ताह दिन पहले ही निगम ने पांच हॉर्स पावर पंप डालकर चार कनेक्शन दिए हैं। इसमें तीन कनेक्शन को ओपन रखा गया है। जिसमें बस्ती के लोग पानी भरते हैं। एक कनेक्शन को ढांचा भवन के संपवेल से जोड़ा गया है। जिससे एलआईजी और एमआईजी क्वाटर्स में पानी की सप्लाई होती है।

No image

कैंप-१ शास्त्री नगर में शनिवार की रात को पुरानी रंजिश पर तीन-चार लोगों ने मिलकर चाकू, फरसा और पत्थर से वारकर एक युवक की हत्या कर दी। आरोपी वारदात को अंजाम देने के बाद से फरार हैं। पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी। बताया कि मृतक अपराधिक प्रवृत्ति था, उसके विरुद्ध थाने में सात मामले दर्ज हैं।

छावनी थाना प्रभारी सुरेन्द्र उके ने बताया कि हत्या की यह घटना शनिवार को रात ११.३० बजे हुई। १६ अप्रैल को मृतक साईं श्याम उर्फ गुड्डू (३२) के भाई कम्पु के साथ नेहरू चौक कैंप-१ निवासी आरोपी राकेश कुमार साहू ने मारपीट की थी। भाई से हुई मारपीट से गुस्साए साईं श्याम बदला लेने के लिए योजना बनाता उससे पहले ही राकेश ने साईं श्याम और उसके भाई को मौत के घाट उतारने की प्लानिंग कर ली।

राकेश अपने साथियों को लेकर श्याम के घर पहुंच गया। आवाज देकर कम्पु को घर से बाहर निकलने कहा। इस बीच साईं श्याम बाहर निकला तो उस पर चाकू, फरसा और पत्थर से ताबड़तोड़ वार कर उसके गंभीर रूप से घायल कर फरार हो गए। परिजन आनन-फानन में घायल को लाल बहादुर शास्त्री शासकीय अस्पताल ले गए। वहां डॉक्टरों ने जिला दुर्ग अस्पताल रेफर कर दिया। वहां से भी मेकाहारा  रायपुर भेज दिया गया था। जहां पर इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।


आरोपी राकेश कुमार साहू भी बदमाश प्रवृत्ति का है। उसके खिलाफ पहले से ही थाना में धारा २९४, ५०६, ३२४, ३४ के तहत अपराध पंजीबद्ध है। आरोपी छावनी थाना में बदमाशों की सूची में शामिल है। साईं श्याम के खिलाफ छावनी थाना में जुर्म दर्ज है। वह पुराना बदमाश था। उसके खिलाफ वर्ष २००७, ०८, १०, ११ और २०१८ में धारा २५, २७, ४०२, ३२३ के तहत अपराध पंजीबद्ध है।

छावनी टीआई सुरेंद्र उके ने बताया कि पीडि़त के परिजनों की शिकायत के आधार पर अपराध दर्ज कर लिया। दोनों का पुराना विवाद था। इसकी को लेकर आरोपी ने हत्या कर दी। मर्ग डायरी मिलने पर अन्य धाराएं जोड़ी जाएंगी। फि लहाल धारा ३०७, ३४ कायम किया गया है।

No image

प्रदेश के मुखिया डॉ. रमन सिंह  के विधानसभा क्षेत्र राजनांदगांव जनपद पंचायत सीईओ के ट्रेनिंग सेंटर साबित हो रहा है। पिछले तीन साल में जनपद पंचायत में 9 सीईओ बदले जा चुके हैं। लगातार अधिकारियों के बदलने व तबादला से गांवों के विकास कार्यों पर बुरा असर पड़ रहा है।

उच्च अधिकारियों के बार-बार बदलने से कई कार्यों का मुख्यांकन व सत्यापन होने के बाद भी पंचायतों को राशि जारी होने में विलंब होता है। शासन के इस कार्यप्रणाली से जनप्रतिनिधियों में नाराजगी है। गौरतलब है कि राजनांदगांव जनपद पंचायत क्षेत्र में 108 पंचायत व 163 गांव शामिल है। गांवों का विकास कार्य जनपद पंचायत पर ही निर्भर रहता है। जनपद में 2014 से अब तक तीन साल में 9 सीईओ बदले जा चुके हैं।

जनपद से मिली जानकारी के अनुसार सन 2014 में जीपी वर्मा सीईओ थे। वर्मा के तबादले के बाद एस लकड़ा को को कार्यभरा दिया गया था। 8 माह के बाद लकड़ा का दबादला कर रोशनी भगत टोप्पों को कार्यभार मिला था। 5 माह बाद टोप्पो का दबादला कर दिया गया। इसके बाद शिशिर शर्मा को पदभार सौंपा गया था। तीन माह बाद शर्मा का दबादला कर डिप्टी कलेक्टर अपूर्व प्रियेश टोप्पो को सीईओ बना कर भेजा गया था।

7 माह के कार्यकाल के बाद टोप्पो का पदोनन्ति होने पर यहां डिप्टी कलक्टर भागवत जायसवाल को सीईओ का कार्यभार दिया गया था। महजह तीन-चार माह के बाद जायसवाल का भी तबादला कर रोशनी भगत टोप्पो को भेजा गया था। इसके बाद एक बार फिर शिशिर शर्मा को सीईओ का कार्यभार दिया गया। 6 माह बाद शर्मा को हटाकर वर्तमान में बिरेन्द्र ठाकुर को कार्यभार दिया गया है। जनपद पंचायत में अधिकांश सीईओ का कार्यकाल 5 से 6 माह तक ही रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार जनपद पंचायत में जनप्रतिनिधियों व नेताओं के साथ सीईओ का पटरी नहीं बैठने पर उच्चस्तर में शिकायत होती है और अधिकारियों का तबादला हो जाता है। जनपद में सीईओ रहे डिप्टी कलक्टर भागवत जायसवाल का भाजपा समर्पित कुछ सरपंचो व नेताओं से किसी बात पर विवाद हो गया था। इसकी शिकायत होने पर सीईओ का दबादला हुआ था।

वहीं अन्य अधिकारियों का भी शिकायत होने पर तबादला होने की जानकारी सामने आई है। उपाध्यक्ष जनपद पंचायत अंगेश्वर देशमुख ने बताया कि मुख्यमंत्री का विधानसभा होने के बाद भी राजनांदगांव जनपद पंचायत सीईओ का ट्रेनिंग सेंटर साबित हो रहा है। बार बार सीईओ बदलने से पंचायतों में विकास कार्यों पर बुरा असर पड़ रहा है।

No image

 अप्रैल की शाम घर से निकली लैलूंगा क्षेत्र के एक 35 वर्षीय महिला की लाश जतरा जंगल स्थित बरसाती नाला में मिली थी। इस मामले में पुलिस हत्या और साक्ष्य छिपाने का अपराध दर्ज कर विवेचना कर रही थी। विवेचना में मृतिका की बड़ी बेटी ने पुलिस को बताई थी कि वह आखिरी बार उसके प्रेमी के साथ दिखी थी। इसी क्लू ने मामले को सुलझाने में अहम भूमिका निभाई और पुलिस को आरोपी तक पहुंचाया।

ज्ञात हो कि एक 35 वर्ष महिला अपने तीन बच्चों दो लड़की 18-14 साल क्रमश: व एक लड़का करीब 12 साल तथा अपने पति के साथ लैलूंगा थाना क्षेत्र में रहती थी। 14 अप्रैल की शाम वह घर से निकली थी, लेकिन देर रात तक घर नहीं पहुंची। रविवार की सुबह जतरा गांव की ७० वर्षीय महिला अवंरागुड़ी जंगल महुआ बिनने गई थी। उस दौरान वृद्धा ने बरसाती नाला में एक महिला का शव देखा था। इसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया था।

No image

छत्तीसगढ़ सीमा से लगे महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में सुरक्षाबल ने इतापल्ली के बोरिया जंगल में हुई मुठभेड़ में इनामी माओवादी कमांडर श्रीकांत, साईनाथ समेत 16 माओवादियों को मार गिराया है। बताया जा रहा है कि पिछले ४ साल में माओवादियों के खिलाफ गढ़चिरौली पुलिस व सुरक्षाबल की यह सबसे बड़ी कामयाबी है। गढ़चिरौली पुलिस ने बताया कि माओवादियों के खिलाफ सुरक्षाबलों की यह कार्रवाई उस समय हुई है, जब इलाके में तेंदूपत्ता तोडऩे का सीजन चल रहा है।

गढ़चिरौली पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गढ़चिरौली थाना क्षेत्र के कसनपुर इलाके में रविवार सुबह 11 बजे महाराष्ट्र पुलिस ने खुफिया जानकारी के आधार पर तलाशी अभियान चलाया। जंगल में माओवादियों का मजमा लगा हुआ था। पुलिस व माओवादियों के बीच इस दौरान आमने-सामने गोलीबारी हुई। गढ़चिरौली पुलिस व सी-60 के जवानों ने 16 माओवादियों को ढेर कर दिया। घटना में कई माओवादियों के घायल होने की संभावना है। इस अभियान को सी-60 कमांडो और महाराष्ट्र पुलिस ने अंजाम दिया।

गढ़चिरौली के एसपी डॉ. अभिनव देशमुख ने बताया कि मारे गए माओवादियों में टॉप कमांडर और इनामी माओवादी शामिल हैं। इनमें से माओवादी कमांडर श्रीकांत उर्फ विजेन्दर नरसिम्हा रामलू (51) निवासी छलगारी (तेलंगाना), दीपा उर्फ आमसूबाई उर्फ गोदावरी (आंध्रप्रदेश), साईनाथ उर्फ डोलेश मादी आत्राम (36) निवासी गट्टेपाली (गढ़चिरौली), कैका उर्फ सरिता कोलू कोयाची (27) झारेवाड़ा की शिनाख्त हुई है।

छत्तीसगढ़ पुलिस ने गढ़चिरौली जिले में माओवादियों के मारे जाने के बाद अलर्ट जारी किया है। सीमांत इलाकों के पुलिस थानों और तैनात फोर्स के जवानों को सावधानीपूर्वक सर्चिंग की सलाह दी गई है। ऑपरेशन से जुड़े हुए अफसरों ने आशंका जताई है कि माओवादी छत्तीसगढ़ में शरण ले सकते हैं। पुलिस प्रवक्ता डी. रविशंकर ने बताया कि छत्तीसगढ़ के स्पेशल डीजी (नक्सल ऑपरेशन) डी.एम. अवस्थी ने गढ़चिरौली पुलिस से पूरे मामले की जानकारी मांगी है। मृत माओवादियों की अधिकारिक रूप से शिनाख्त होने के बाद रिकॉर्ड खंगाला जाएगा। बताया जाता है कि महाराष्ट्र से लगे छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव और बीजापुर जिले में भी सर्चिंग बढ़ी दी गई है।

No image

 कलयुगी पिता करता था पुत्री से अश्लील हरकत

आरोपी पर पास्को एक्ट का अपराध दर्ज  सगी पुत्री के साथ अश्लील हरकत करने वाले एक व्यक्ति के खिलाफ मुजगहन थाना पुलिस ने पास्को एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया है। 

पुलिस सूत्रों ने बताया कि हाउसिंग बोर्ड कालोनी निवासी 32 वर्षीय प्रार्थीया ने शिकायत दर्ज कराया कि बोरियाकला में आरोपी देवराज पनका पिता हेमंत निवासी हाउसिंग बोर्ड कालोनी बोरियाकला घटना दिनांक 30-9-2017 से लेकर 21 अपै्रल 2018 के मध्य अपनी सगी पुत्री के साथ अश्लील हरकत करता था। इस बात की भनक लगने पर प्रार्थीया ने बच्ची से पूछताछ की तो उसने सारी बात बताई। इसके बाद प्रार्थीया ने मामले की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई है। पुलिस ने भी मामले को काफी गंभीरता से लेते हुए आरोपी के खिलाफ धारा 354 पास्को एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर प्रकरण जांच में लिया है

No image

राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को सौपेंगे ज्ञापन
कमल विहार के भू-प्रभावित लोगों की रविवार की शाम को निगम मुख्यालय के सामने स्थित गार्डन में बैठक होने जा रही है। बैठक में राज्य सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन नहीं करायेे जाने की शिकायत प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से करने का निर्णय लिया जा सकता है। प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के नाम भेजे जाने वाला शिकायत पत्र जिला कलेक्टर को सौपा जाएगा।


कमल विहार के भू-प्रभावित एवं कांग्रेस नेता शेख शकील ने बताया कि  इस योजना से सैकड़ों लोग प्रभावित है। इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में भी फैसला आया है, जिसमें राज्य सरकार के अधीन आरडीए को प्रभावित लोगों को या तो 65 प्रतिशत तक मुआवजा या फिर उनकी जमीन उन्हें वापस लौटाने का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश  के बावजूद आरडीए द्वारा अब तक भू-प्रभावितों को न तो मुआवजा दे रही है और न ही जमीन वापस लौटा रही है। श्री शकील ने बताया कि इस बीच भू-प्रभवित लोगों ने कई बार आरडीए अधिकारियो का घेराव किया गया है, लेकिन वहां से सिर्फ आश्वासन ही मिलता रहा है। इस दौरान वहां के सीईओ भी पदोन्नत होकर अब कलेक्टर बन गये है। सीईओ के पदोन्नत होने के बाद आरडीए में नये सीईओ को पदस्थ किया गया है, लेकिन उनके द्वारा अब तक कार्यभार संभाला नहीं गया है। इस तरह आरडीए वर्तमान में बिना सीईओ के काम कर रहा है। श्री शकील ने बताया कि भू-प्रभावित अब सीईओ की अनुपस्थिति में जब उसके नीचे के अधिकारियों के सामने अपनी बातें रखते है तो उनका सिर्फ यहीं जवाब रहता है कि इससे संबंधित फैसला सीईओ ही ले सकते है। हालात यह है कि बिना सीईओ के भू-प्रभावित लोग अब अपनी जमीन वापस पाने के लिए सिर्फ आरडीए का चक्कर लगा रहे है।  आज शाम को निगम मुख्यालय के सामने गार्डन में कमल विहार के भू-प्रभावित लोगों की बैठक रखी गई है। इस बैठक में संभवत: यह निर्णय लिया जा सकता है कि भू-प्रभावित लोग इससे संबंधित शिकायत अब राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से करने उन्हें पत्र भेज सकते है। इससे संबंधित ज्ञापन वे जिला कलेक्टर को सौंपेंगे। 

No image

दुर्ग . बारात में गई एक नाबालिग लड़की के साथ गैंग रेप का मामला प्रकाश में आया है. इस गैंग रेप को लड़की के एक रिश्तेदार ने ही ड्राइवर के साथ मिलकर अंजाम दिया है. वहीं मामला प्रकाश में आने के बाद पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए आरोपी रिश्तेदार और ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया हैं।

मामला दुर्ग के नगपुरा का बताया जा रहा है. जहां बारात में जा रही एक 17 वर्षीय नाबालिग को उसके ही एक रिश्तेदार घुमाने के बहाने बहला-फुसलाकर कार में बैठ लिया. उसके बाद वह और ड्राइवर इस लड़की को कार में लेकर नगपुरा की ओर ले गये, जहां उन्होंने सूनसान जगह पर कार रोकी. फिर कार में ही नाबालिग के साथ कार चालक और रिश्तेदार ने बारी-बारी से बलात्कार किया. आरोपियों ने नबालिग के साथ घटना को अंजाम देने के बाद धमकी दी थी कि यदि घटना की जानकारी किसी और को दी तो जान से मार देंगे।

No image

सुकमा/रायपुर. छत्तीसगढ़ के बस्तर में में लाल लड़ाकों का आतंक जारी है। नक्सलियों ने सुकमा में विद्युत सब स्टेशन को ब्लास्ट से उड़ा दिया है। सब स्टेशन आंध्र प्रदेश के सरवेला गांव से सटा हुआ है। 40 की संख्या में मौजूद नक्सलियों ने इस वारदात को अंजाम दिया है। सब स्टेशन में धमाके के बाद नक्सलियों ने आसपास बैनर-पोस्टर्स भी फेंका है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जगलपुर दौरे से पहले और उसके बाद नक्सलियों ने कई वारदातों को अंजाम दिया है। नक्सलियों ने मोदी के दौरे से पहले कई वाहनों में आग के हवाले किया था। तो वहीं फोर्स से भरी बस को उड़ाया था, जिसमें कई जवान शहीद हो गए थे। मोदी के दौरे के बाद भी नक्सली शांत नहीं और अपनी नापाक मंसूबो में कामयाब हो रहे है। 

 

No image

NSUI जिला अध्यक्ष अमित शर्मा के नेतृत्व में कार्यकर्ता जब Campion स्कूल पहुँचे तब उन्हे गेट पर रोक दिया गया ! जिससे वहां कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प हुई ! जिसके बाद NSUI कार्यकर्ता दीवाल फांद कर अंदर चले गए और प्राचार्य कक्ष के बाहर बैठ कर नारेबाजी करते रहे ! जिसके बाद स्कूल मैनेजमेंट बाहर आकर बात करने को राजी हुआ ! 

NSUI ने आरोप लगाया स्कूल प्रबंधन इस कृत्य में मिला हुआ है व दोषियों को बचाने की कोशिश कर रहा है ! इतने बड़े स्कूल में नर्सरी से 10वी ! CCTV कैमरा का भी फ़ोकस दूसरी और पाया गया जब बच्ची के साथ ये सब घटना घटी तब स्कूल प्रबंधन को जानकारी नही हुई?

जब बच्ची घर पहोंची तब माता पिता ने जाकर पुलिस को घटना की जानकारी दी तब स्कूल प्रशासन कहा था ? स्कूल प्रशासन सिर्फ बच्चों से मोटी फ़ीस लेने के लिए बना है क्या ? कैंपस के अंदर कोई भी घटना की जवाबदारी स्कूल प्रशासन की होती है ! इतने बड़े घटना के होने के बावजूद पुलिस द्वारा स्कूल प्रबंधन के विरुद्ध कोई कार्रवाई ना करना भी संदेह पैदा करता है ! इसके बाद NSUI ने स्कूल प्रशासन पर FIR दर्ज करने की मांग कि और विधानसभा थाना जाकर स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कारवाई करने के लिए आवेदन दिया ! 

2 दिन के भीतर कार्रवाई नही की गई तो NSUI स्कूल में ताला बन्दी करेगी ! जिससे प्रमुख रूप से विनोद कश्यप, हनी सिंह बग्गा, कृष्णा सोनकर ,  हेमंत पाल , संकल्प मिश्रा, निखिल वंजारी, तुषार गुहा, चित्रांश, आसिफ, अंकित, निशांत, रजत नायडू, विशाल दुबे, मनीष, अखिल आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे!

No image

 छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से बड़ी खबर आ रही है। यहां एक लॉज में देह व्यापार की आशंका पर पुलिस की टीम ने छापा मारा है। पुलिस ने लॉज से 2 युवतियों समेत लॉज संचालक हिरासत में लिया है। फिलहाल पुलिस ने इस छापे को लेकर कोई भी खुलासा नहीं किया है। बतादें कि बीते दिनों पुलिस ने राजधानी के दो स्पा सेंटरों में छापा मार कर हाई प्रोफाइल जिस्मफरोशी रैकेट का पर्दाफाश किया था।

No image

 एटीएम में सूखे की स्थिति से निपटने के लिए बैंक प्रबंधन की कोशिशें अब तक नाकाम साबित हुई है। जिले में लगभग 610 एटीएम है, लेकिन सभी एटीएम में पर्याप्त राशि के लिए व्यवस्था नहीं हो पा रही है। बैंक प्रबंधन द्वारा इनमें से कुछ एटीएम में ही राशि की व्यवस्था की जा रही है।

बैकिंग सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक लगभग 10 से 15 फीसदी एटीएम में ही राशि डाली जा रही है। एटीएम में एक दिन के भीतर ही राशि खत्म होने की बड़ी वजह यह है कि दूसरे एटीएम में सूखे की स्थिति की वजह से ग्राहक गिने-चुने एटीएम पर ही निर्भर है। लगभग 30 से 37 लाख केपेसिटी वाले सभी एटीएम में नकदी के लिए कम से कम 10 लाख नकदी की आवश्यकता है, जिसके लिए कम से कम 61 करोड़ रुपए की जरूरत है, लेकिन वर्तमान में बैंकों को तीन से चार दिनों में 20 से 25 करोड़ की ही राशि मिल रही है। एक एटीएम में यदि 2000,500 और 100 रुपए के नोट भरे जाए तो कम से कम 37 लाख रुपए की राशि डाली जा सकती है, लेकिन शहर में कोई भी एटीएम क्षमता के मुताबिक नहीं भरा जा रहा है। एटीएम में इन दिनों 8 से 10 लाख रुपए की ही राशि डाली जा रही है, जिसकी बड़ी वजह 2000 रुपए के नोटों की कमी बताई जा रही है।

पीओएस मशीनों की कमी
राजधानी में रिटेल और अन्य सेक्टर में पीओएस मशीनों की कमी की वजह से ग्राहक कैशलेस खरीदारी नहीं कर पा रहे हैं। इससे पहले एसबीआई ने दुकानों से बगैर किसी अतिरिक्त शुल्क केस पीओएस मशीन से 2000 रुपए की राशि निकालने की सुविधा देने का ऐलान किया था, लेकिन राजधानी में ऐसी सुविधाएं शुरू नहीं की जा सकी है।

एसबीआई के डीजीएम ब्रम्ह सिंह ने बताया कि एटीएम में लगातार नकदी की व्यवस्था की जा रही है। कुछ एटीएम जो खाली हैं, उसमें तकनीकी समस्या की वजह से परेशानी आ रही है। इसे जल्दी ही ठीक कर लिया जाएगा।

No image

 जिले में नक्सली आंतक थमने का नाम नहीं ले रहा है। नक्सली आए दिन यहां जवानों को कुछ न कुछ नुकसान पहुंचाते रहते है। बीती रात भी नक्सलियों ने सर्चिंग से लौट पार्टी पर नक्सलियों ने छिपकर वार मुठभेड़ की जिसमें एक सीआपीएफ के 212वीं बटालिय के एक एएसआई की मौत हो गई है। इस मौत ने फिर एक बार सभी नक्सली मुठभेड़ की याद ताजा कर दी है। सुकमा एसपी अभिषेक मीणा एवं एएसपी शलभ सिंह ने घटना की पुष्टि कर दी है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सुकमा जिले के अतिसंवेदनशील इलाके में बसे किष्टारम थाने से शुक्रवार शाम नक्सल विरोधी अभियान के तहत की 212वीं बटालियन पोलाड़ी कैंप की एक टुकड़ी सर्चिंग पर निकली थी। जिसमे देर रात गश्त वापसी के समय उनका सामना नक्सलियों से हो गया। जिसमें घात लगाए नक्सलियों का सामना पुलिस से हो गया। अचानक पुलिस ने नक्सलियों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी।

जवानों को समझ आ गया कि, नक्सली हमारी  कर उनके आने का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही गोलियों की आवाज आई वे अपना मोर्चा सभांलते हुए नक्सलियों के इस कायराना करतूत का मुंह तोड़ जवाब दिया। इस मुठभेड़ में जवानों में शामिल सीआरपीएफ के एएसआई अनिल कुमार मोर्य शहीद हो गए है।

बताया जा रहा है कि, सीआरपीएफ के एएसआई अनिल कुमार मोर्य उत्तरप्रदेश के अमेठी जिले में आने वाले गांव नरैनी के रहने वाले है। मुठभेड़ के तुरंत बाद वहां आसपास के इलाकों में सर्चिंग बढ़ा दी गई है ताकि नक्सलियों पर नकेल कसी जा सके। शहीद जवान के शव को गृह ग्राम ले जाने की तैयारी की जा रही है।

एसपी एवं एएसपी ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि, नक्सल विरोधी अभियान के तहते शाम को पोलाड़ी कैंप से सीआरपीएफ की एक टुकड़ी वहां से निकली थी जिसमें नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में सीआरपीएफ के एएसआई अनिल कुमार मोर्य शहीद हो गए है। घटनास्थल के आसपास सर्चिंग बढ़ा दी गई है।

No image

 जिले में नक्सली आंतक थमने का नाम नहीं ले रहा है। नक्सली आए दिन यहां जवानों को कुछ न कुछ नुकसान पहुंचाते रहते है। बीती रात भी नक्सलियों ने सर्चिंग से लौट पार्टी पर नक्सलियों ने छिपकर वार मुठभेड़ की जिसमें एक सीआपीएफ के 212वीं बटालिय के एक एएसआई की मौत हो गई है। इस मौत ने फिर एक बार सभी नक्सली मुठभेड़ की याद ताजा कर दी है। सुकमा एसपी अभिषेक मीणा एवं एएसपी शलभ सिंह ने घटना की पुष्टि कर दी है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सुकमा जिले के अतिसंवेदनशील इलाके में बसे किष्टारम थाने से शुक्रवार शाम नक्सल विरोधी अभियान के तहत की 212वीं बटालियन पोलाड़ी कैंप की एक टुकड़ी सर्चिंग पर निकली थी। जिसमे देर रात गश्त वापसी के समय उनका सामना नक्सलियों से हो गया। जिसमें घात लगाए नक्सलियों का सामना पुलिस से हो गया। अचानक पुलिस ने नक्सलियों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी।

जवानों को समझ आ गया कि, नक्सली हमारी  कर उनके आने का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही गोलियों की आवाज आई वे अपना मोर्चा सभांलते हुए नक्सलियों के इस कायराना करतूत का मुंह तोड़ जवाब दिया। इस मुठभेड़ में जवानों में शामिल सीआरपीएफ के एएसआई अनिल कुमार मोर्य शहीद हो गए है।

बताया जा रहा है कि, सीआरपीएफ के एएसआई अनिल कुमार मोर्य उत्तरप्रदेश के अमेठी जिले में आने वाले गांव नरैनी के रहने वाले है। मुठभेड़ के तुरंत बाद वहां आसपास के इलाकों में सर्चिंग बढ़ा दी गई है ताकि नक्सलियों पर नकेल कसी जा सके। शहीद जवान के शव को गृह ग्राम ले जाने की तैयारी की जा रही है।

एसपी एवं एएसपी ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि, नक्सल विरोधी अभियान के तहते शाम को पोलाड़ी कैंप से सीआरपीएफ की एक टुकड़ी वहां से निकली थी जिसमें नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में सीआरपीएफ के एएसआई अनिल कुमार मोर्य शहीद हो गए है। घटनास्थल के आसपास सर्चिंग बढ़ा दी गई है।

No image

जांजगीर चाम्पा.  कलेक्टर कालोनी में एस पी बंगला के बाजू दुर्गा मंदिर में बीती रात गेट का ताला तोड़कर अज्ञात लोगों ने मंदिर के अंदर मूर्ति में पहने 32 सौ के चांदी के मुकुट सहित दान पेटी में रखे 400 रुपए नगद चोरी कर ले उड़े। कोतवाली पुलिस के अनुसार शाम को पुजारी रोज की तरह पूजा कर घर चला गया।  

अगले सुबह जब पूजा करने आया तो देखा कि मंदिर के दरवाजा का ताला टूटा हुआ था। पुजारी ने इसकी सूचना कोतवाली पुलिस को दी ,मौके पर पहुच कर पुलिस ने डॉग स्क्वायड की मदद ली लेकिन अभी तक अज्ञात चोरों तक नही पहुच पाई है। पुलिस ने    चोरो के खिलाफ 457,380 के तहत मामला दर्ज कर जांच में जुट गई ही।


बीती रात चोरो ने 5 से 6 से घरों में धावा बोल दिया। एक साथ  6 घरो को अपना निशाना बनाया, सुने मकान में मकानमालिक शादी विवाह में बाहर जाने का फायदा उड़ाकर लाखो रुपए की चोरी को अंजाम देकर भाग गए। सुबह जब मकान मालिकों को चोरी होने की ख़बर लगी तो उनके होश उड़ गए। पुलिस ने मौके पर पहुच कर जांच में जुटी हुई है।

हाउसिंग बोर्ड कालोनी ने यह चोरी की कोई पहली घटना नही है। इसके पहले भी कई बार चोरी की घटना हो गई है। फिर भी यहाँ कलोनी प्रन्धक द्वारा सुरक्षा के कोई उपाय नही करते। बिना बाउन्ड्री वाल के इस कलोनी का निर्माड होने कोई भी बेरोकटोक के आना जाना कर सकता है। जिसका फायदा चोर उड़ाते है। यहाँ किसी प्रकार के रात्री में गार्ड की भी व्यवस्था नही है। इसलिये आये दिन इस प्रकार की घटना होते रहती है।

ऐसे देखा जाए तो कॉलेक्टर कॉलोनी में खुद पुलिस अधीक्षक निवास करती है, इसके अलावा जिले के कलेक्टर ,बड़े बड़े अधिकारी यही निवास करते है ,बाउजूद इस प्रकार की घटना होना पुलिस के रात्रि गस्त में सवाल जरूर उड़ता है। कि वे अपने काम मे कितनी जिम्मेदारी से निभाते है। पुलिस अधीक्षक के बंगले के ठीक बाजू दुर्गा मंदिर में भी आज रात्रि चोरी होना एक बड़ा सवाल है। 

No image

राजधानी के साथ ही प्रदेश भर में पड़ रही भीषण गर्मी से जहां नदी-नाले और तालाबें सूखती जा रही है तो वहीं शहर के कई इलाकों में बोरवेल भी दम तोड़ते जा रहे हैं। इसकी मुख्य वजह भूजलस्तर का लगातार गिरते जाना है। इधर शहर में पानी के लिए मार्च माह से मची हाहाकार अभी भी जारी है, शहर के कई इलाकों में पानी के लिए मारामारी मची हुई है। 

छत्तीसगढ़ में पड़ रही भीषण गर्मी से अब जनजीवन अस्त-व्यस्त होने लगा है। बात राजधानी रायपुर की करें तो यहां भी हालात तेजी से बिगड़ते जा रहा है। इस समय पड़ रही भीषण गर्मी से शहर में पानी की किल्लत बढ़ गई है, लोगों के बीच एक-एक बाल्टी पानी के लिए मारामारी की नौबत बन रही है। शहर के तालाबों का जलस्तर तेजी से गिरते जा रहा है। शहर के बूढ़ातालाब, महाराजबंध, सरजूबांधा तालाब, तेलीबांधा तालाब का जलस्तर काफी हद तक नीचे चला गया है। इसके अलावा शहर के आउटरों में बसी कालोनियों में भी बोरवेल दम तोड़ते जा रहे हैं। बारिश में पानी जमीन तक नहीं पहुंच पाने की वजह से भूजलस्तर पिछले कुछ सालों में काफी तेजी से नीचे चला गया है। इसका पता शहर के कुछ इलाकों में बचे हुए कुंए का पानी और कुंए की गहराई देखकर आसानी से लगाया जा सकता है। कुछ इलाकों में लगे बोरवेल्स से साफ पानी की जगह कीचडय़ुक्त, गादयुक्त गंदा और गाढ़ा पानी आ रहा है, जो पीने के योग्य तो दूर दैनिक दिनचर्या के उपयोग के लायक भी नहीं है। शहर के कई वार्डो में नल की धार भी पतली हो चली है, इसके चलते लोगों को पर्याप्त पानी नसीब नहीं हो रहा है। शहर के कुछ इलाकों में अभी भी लोगों के बीच एक-एक बाल्टी पानी के लिए मारामारी की नौबत बनी हुई है। अभी अपै्रल माह में ही यह हाल है तो आने वाले समय में पानी के लिए और कितनी ज्यादा किल्लत होगी, यह चिंतन का विषय है। 

 

 

No image

जोगी के जन्मदिन के कार्यक्रम पर शुक्रवार को पार्टी के मुंगेली प्रभारी एवं प्रदेश प्रवक्ता नितिन भंसाली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि अजीत जोगी के जन्मदिन 29 अप्रैल को    रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में भव्य कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। जोगी का यह 72वां जन्मदिन है, इसलिए पार्टी इस दिन अपने हजारों कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में जोगी मिशन साथ दो यानी 72 अभियान की भी शुरुआत करेगी।

पार्टी कोरा घोषणा पत्र नहीं एफिडेबिट पर लिखकर देगी अपना वादे भंसाली ने कहा कि घोषणा पत्र की बजाए हम प्रति विधानसभावार एक एफिडेबिट (शपथ पत्र) पर लिखकर जनता को बताएंगे कि हम यह आपके क्षेत्र में करेंगे। साथ ही हम लोगों से कहना चाहते हैं कि अगर यह शपथ पत्र पूरा न हो तो वे हमारे खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं। ऐसा देश में पहली बार होने जा रहा है, जब कोई राजनीतिक दल एफिडेबिट पर वायदे लिखकर दे।

ऐसे चलेगा जोगी मिशन साथ दो (72) भंसली ने कहा मिशन साथ दो (72) अभियान के पहले चरण में 7 मई से 7 जुलाई तक 7 बिन्दुओं पर बूथस्तर पर जनसंपर्क किया जाएगा। इस दौरान 20000 हजार से ज्यादा गांवों तक हम पहुंचेंगे।

सभी को काबिज घर और जमीन का जागी पट्टा देने का वादा लिखित में दिया जायेगा। एसएमएस, व्हाटएप्प में मोबाइल फॉर्म से बेरोजगारों को जॉब गांरटी नम्बर देकर पंजीकृत करेंगे, ताकि सरकार बनते ही उनसे संपर्क कर उन्हें दिया जा सके। इस दौरान इन गांवों के जलस्रोतों का जल एक कमंडल में इकट्ठा कर आरती की जाएगी। यह छत्तीसगढ़ के पानी और चावल पर छत्तीसगढिय़ों का पहला हक होना चाहिए का संदेश है। बूथवार जोगी महिला वाहिनी बूथ की रणनीति बनाएगी। ग्रामीणों से पूर्ण शराबबंदी के लिए संकल्प भरवाया जाएगा। इसके अलावा गांव के लोगों की समस्याओं को लेकर जिला प्रशासन और सरकार को 10 दिन का अल्टीमेटम देंगे। भंसाली के साथ इस मौके पर स्थानीय नेता साथ रहे।

No image

छत्तीसगढ़ कांग्रेस में एक बार फिर गुटबाजी सामने आई जब कांग्रेस के तीन वरिष्ठ नेता डहरिया, रामदयाल उईके और आदिवासी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष शिशुपाल सोरी कांग्रेस भवन से नाराज होकर सर्किट हाउस चले गए। तीनों वरिष्ठ नेताओं की नाराजगी से पार्टी में हड़कंप मच गया। पार्टी के पदाधिकारी तीनों नेताओं को मनाने में जुटे हुए हैंदरअसल, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शिव डहरिया, रामदयाल उईके और आदिवासी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष शिशुपाल सोरी की शुक्रवार को 12.30 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस थी। तीनों नेता जब प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए 12.30 बजे कांग्रेस भवन पहुंचे तो उसी समय राज्यसभा सांसद छाया वर्मा महिला सुरक्षा को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रही थीं।

एक ही समय पर छाया वर्मा को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते देख कांग्रेस के तीनों नेता शिव डहरिया, रामदयाल उईके और शिशुपाल सोरी नाराज हो गए और तुरंत कांग्रेस भवन से सर्किट हाउस चले गए।

इधर, तीनों नेताओं की नाराजगी के बाद पार्टी के पदाधिकारी सर्किट हाउस पहुंच गए और उन्हें मनाने में जुटे हुए हैं। इस पर कांग्रेस के मीडिया विभाग के अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी ने तीनों नेताओं की किसी भी नाराजगी से इंकार किया और बताया कि राज्यसभा सांसद छाया वर्मा को एक शादी के कार्यक्रम में बाहर जाना था। इस वजह से उन्होंने पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस ली।


कांग्रेस पार्टी की अंतर्कलह पर भाजपा ने टिप्पणी करने में देरी नहीं की। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में गुटबाजी अपने चरम पर है। इसका ताजा उदाहरण एससी-एसटी नेताओं के साथ हुए अपमान से और साफ हो गई है। कांग्रेस पार्टी की गुटबाजी इतनी बढ़ गई है कि अनुसूचित जाति वर्ग को बोलने नहीं दिया गया।भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष  कांग्रेस पार्टी को एकजुट नहीं कर पा रहे हैं। वही प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया के पार्टी एकजुट होने का दावा झूठी साबित हो गई। अब जब विधानसभा चुनाव में भाजपा को जीत मिलेगी तो बेचारी ईवीएम मशीन को कांग्रेस पार्टी कोसते रहेंगे जबकि असल मे जिम्मेदार कांग्रेस पार्टी की गुटबाजी कारण होगी।

No image

छत्तीसगढ़ संचार क्रांति योजना के तहत सरकार स्मार्टफोन के साथ इंटरनेट डाटा और कॉलिंग सुविधा भी मुफ्त उपलब्ध कराएगी। स्मार्टफोन धारकों को यह सुविधा पहले छह महीने तक ही मुफ्त मिलेगी। प्रदेश के 50 लाख परिवारों को सरकारी स्मार्टफोन का वितरण मई महीने से शुरू होगा। यह वितरण सितम्बर 2018 तक होना है। मतलब इस वर्ष नवम्बर से अगले वर्ष मार्च तक लोगों को एक जीबी डाटा प्रतिदिन और 100 मिनट की कॉलिंग मुफ्त में उपलब्ध होगी। जिस मोबाइल सेवा प्रदाता रिलायंस जियो से सरकार यह सुविधा ले रही है, उसे इसके लिए 30 रुपया प्रति महीने की दर से भुगतान करेगी।

आम उपभोक्ताओं के लिए जियो का यह पैक 149 रुपया महीने में उपलब्ध है। मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अमन कुमार सिंह का कहना है कि शासन की जिन योजनाओं और डिजिटल ट्रांजेक्शन के भीम एेप की जानकारी हम देना चाहते हैं, वह इंटरनेट के बिना नहीं हो पाएगी। कुछ महीने फ्री देने से उपभोक्ता उसके उपयोग से परिचित हो पाएगा। तभी वह आगे उसका उपयोग करेगा, नहीं तो योजना बेकार हो जाएगी। इस योजना पर 1220.50 करोड़ रुपए खर्च होने हैं। जिन महीनों में सरकारी स्मॉर्टफोन उपभोक्ता मुफ्त इंटरनेट डाटा का फायदा ले रहे होंगे।

छत्तीसगढ़ इन्फोटेक प्रमोशन सोसाइटी (चिप्स) के जरिए सरकार दो तरह के स्मार्टफोन का वितरण करेगी। विद्यार्थियों को दिये जाने वाले स्मार्टफोन में 2 जीबी रेम, 1.4 गीगाहर्ट्ज का प्रोसेसर, 16 जीबी स्टोरेज, 5 मेगापिक्सल का फ्रंट व 8 मेगापिक्सल का रियर कैमरा तथा 5 इंच की स्क्रीन होगी। दूसरे लोगों को दिये जाने वाले स्मार्टफोन में 1 जीबी रेम, 1.2 गीगाहर्टज का प्रोसेसर, 8 जीबी स्टोरेज, 2 मेगापिक्सल का फ्रंट व 5 मेगापिक्सल का रियर कैमरा तथा 4 इंच की स्क्रीन होगी।

No image

 कबीरधाम जिले के बघर्रा गांव में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। बारात में गई 10 वर्षीय बालिका की बुधवार रात दूल्हे के दोस्त ने दुष्कर्म के बाद पत्थर से सिर कुचलकर नृशंस हत्या कर दी।

पुलिस ने दुष्कर्म और हत्या के आरोप में दूल्हे के दोस्त को गुरुवार को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक ग्राम खैलटुकरी से एक बारात बोड़ला थाना क्षेत्र के बघर्रा गांव गई थी। बारात में खैलटुकरी निवासी 10 साल की बालिका और उसके पड़ोस के गांव के कुछ युवक भी शामिल थे। ग्राम रेहुटा निवासी बाराती उत्तम साहू (25) बुधवार की रात करीब 11 बजे बालिका को अपने साथ गांव के बाहर ले गया। उसने बालिका के साथ दुष्कर्म किया और पत्थर से सिर को कुचलकर उसकी हत्या कर दी।

उत्तम उसके बाद फिर विवाह समारोह में शामिल हो गया। इधर, रातभर परिवार के लोग बालिका की तलाश करते रहे। गुरुवार सुबह गांव के बाहर नाले में बालिका का अर्धनग्न शव मिला। इससे सनसनी फैल गई। घटना की जानकारी पोड़ी पुलिस को दी गई। मौके पर पुलिस ने मामला दर्ज कर शव को पीएम के लिए भेज दिया। वहीं पुलिस में तफ्तीश में अंतिम बार बालिका को उत्तम साहू के साथ देखे जाने की जानकारी मिली। इस आधार पर पुलिस ने उत्तम से कड़ाई से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

कबीरधाम के एसपी डॉ. लाल उमेंद सिंह ने बताया कि खैलटुकरी की बालिका शादी समारोह में बघर्रा गई थी। उसी शादी में आए दूल्हे का दोस्त उत्तम बालिका को अपने साथ ले गया था। बालिका की हत्या कर दी गई। दुष्कर्म हुआ है कि नहीं, इसका खुलासा पीएम रिपोर्ट के बाद ही होगा। लेकिन शव को देखने पर दुष्कर्म होने की आशंका है। आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है।

No image

 हावड़ा से मुंबई जा रही आजाद हिंद एक्सप्रेस में गुरुवार को आरपीएफ एस्कॉर्ट टीम की सक्रियता से बड़ा हादसा टल गया। जानकारी के मुताबिक टे्रन की जनरल बोगी में सुबह 5.55 पर रायगढ़ के पास ब्रजराज नगर रेलवे स्टेशन के करीब ५ किलो के 8 डायनामाइटों से भरा एक बैग मिला, इसमें से 5 डायनामाइट के सेफ्टी पिन खुले हुए थे।

इस ट्रेन में करीब एक हजार यात्री सवार थे। विस्फोटक इतना अधिक था कि अगर यह फटता तो पूरी ट्रेन तबाह हो जाती। सामान्य जांच के दौरान ट्रेन के साथ चल रहे एस्कॉर्ट स्टाफ ने इसे देखा। आसपास यात्रियों से पूछताछ के बाद जब कोई मालिक नहीं मिला तो बैग को एस्कॉर्ट ने हाथ में लिया तो उनके होश फाख्ता हो गए। इस बैग में तारों का एक गुच्छा नजर आया, साथ ही बारूद की महक आ रही थी। तुरंत रेलवे सुरक्षा टीम को इसकी सूचना दी गई। ट्रेन से बैग को सावधानी से उतारकर आउटर पर रखवा दिया गया।


बम स्क्वॉड दस्ता ब्रजराज नगर रेलवे स्टेशन पर करीब 9 बजे पहुंचा। बैग की जांच शुरू की और इसे सावधानी के साथ खोला गया। इसमें 8 डायनामाइट दिखाई दिए। इसके साथ ही कुछ तार और अन्य सामान रखा था। टीम सूत्रों के मुताबिक इसके 5 डायनामाइट में सेफ्टी पिन नहीं लगे थे। यह किसी भी वक्त जरा सी गर्मी या चिनगारी से फूट सकते थे।

सुबह की घटना, शाम को रवाना हुआ बम स्क्वॉड दस्ता
घटना गुरुवार सुबह 5.55 की बताई जा रही है। रेलवे के मुताबिक इसकी सूचना बिलासपुर बम स्क्वॉड को तुरंत दी गई। बताया गया कि बैग से बारूद की महक आ रही है और अंदर तार के गुच्छे भरे हुए हैं। इस पर दिनभर पहले तो बैग में बम होने न होने का अंदाजा लगाया जाता रहा, बाद में शाम 4 बजे तक जब यह लगभग तय हो गया कि बैग में बम या कोई विस्फोटक है तो बिलासपुर से बम स्क्वॉड दस्ता रवाना किया गया।


आरपीएफ से मिली जानकारी के अनुसार आरपीएफ की एस्कॉर्ट टीम बृजराज नगर पोस्ट प्रभारी पीसी शर्मा की इस बैग पर नजर पड़ी। उन्होंने तुरंत इसकी यात्रियों से पूछताछ की तो यह लावारिस पाया। इस पर शर्मा ने बिना देरी किए इसे ट्रेन से निकालकर आउटर पर रखवा दिया। बैग में वायर दिखाई दिए। इसकी सूचना गुरुवार सुबह 5.55 पर आरपीएफ कंट्रोल रूम को दी गई। लावारिस बैग को निकालने के बाद आजाद हिंद एक्सप्रेस को रवाना किया गया।


बम की सूचना पर ट्रेन के सुबह 9 बजे बिलासपुर पहुंचते ही बारीकी से चेक किया गया। बम निरोधी दस्ता के सदस्य बी चक्रवर्ती, एस बोस डॉग स्क्वॉड प्रभारी विशाल भरतद्वाज, सुधीर और अन्य स्टाफ ने ट्रेन के पूरी तरह से सुरक्षित घोषित कर आगे बढ़ाया।

No image

देशभर में अभी आसिफा रेप कांड के दर्द को लोग भूला ही नहीं पाएं हैं कि छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में 10 साल की मासूम बच्ची के साथ  रेप  कर हत्या करने की एक और दर्दनाक वारदात हो गई। बच्ची अपने माता-पिता के साथ शादी समारोह में गई थी। इसी बीच गांव के ही एक शख्स ने बच्ची को बहला फुसलाकर उसके साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। इसके बाद मामूम बच्ची की हत्या कर शव को सूनसान जगह में फेंक दिया। पुलिस ने बच्ची की लाश बिना कपड़ों के बरामद की। स्थानीय पुलिस शव को पीएम के लिए अस्पताल भेज दिया है।

मिली जानकारी के अनुसार घटना कवर्धा जिले के खैलटुकरी गांव की है। जहां 10 साल की मासूम लड़की अपने माता-पिता के साथ गांव की एक बारात में शामिल हुई थी। बारात के साथ बच्ची बघर्रा गांव पहुंची। इसी शादी में पड़ोस के गांव के कुछ युवक भी शामिल हुए थे। इस दौरान युवकों की बुरी नजर नाबालिग बच्ची पड़ी। थोड़े देर बाद लोग शादी में व्यस्त हो गए। तभी आरोपियों ने बच्ची को बहला फुसलाकर उसे अपने साथ ले गए।

अचानक शादी में बच्ची लापता होने पर माता-पिता हैरान रह गए। काफी खोजबीन की। इस बीच आसपास मौजूद लोगों ने बताया कि उन्होंने लड़की को एक लड़के के साथ जाते हुए देखा।

जिसके बाद लोग गांव में लड़की को ढूंढने लगे। थोड़ी देर गांव के बाहर बच्ची पड़ी हुई मिली। बच्ची के कपड़े फटे हुए थे। जांच करने पर पता चला कि बच्ची की मौत हो चुकी है। घटना स्थल पर मौजूद लोगों ने इस घटना की जानकारी पुलिस को दी। जिसके बाद बोड़ला थाना पुलिस मौके पर पहुंची। जांच के बाद पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। साथ ही लोगों से पूछताछ कर रही है।

पुलिस ने बताया है कि शुरूआती जांच में पता चला है कि बच्ची के साथ बालात्कार करने के बाद उसकी हत्या कर दी। पुलिस को युवक के बारे पता चला है जिसका नाम उत्तम साहू बताया जा रहा है। जिसकी उम्र 25 साल है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। इसके आगे पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

No image

समर्थन मूल्य में चना खरीदी के लिए चलाए जा रहे चना-सत्याग्रह अंतर्गत जिला किसान संघ के बैनर तले अंतिम छोर के गांव साल्हेवारा में आयोजित किसान-सभा में भी किसानों का गुस्सा फूटा। 

चना का दाम नहीं मिलने, सूखा राहत वितरण में भर्राशाही, खरीफ का बीमा भुगतान अब तक नहीं होने, सूखे के बावजूद ऋण माफी नहीं होने उल्टे ऋण पर ब्याज जोड़े जाने, सामुदायिक वनाधिकार नहीं दिए जाने, प्रशासनिक व्यवस्था गंडई एवं छुईखदान में विभक्त होने से किसानों में भारी नाराजगी है।

सभा को संबोधित करते हुए सुदेश टीकम ने कहा कि सरकार सरकारी सेवाओं में छग के युवाओं के बजाए आउटसोर्सिंग से पदों की भर्ती करती है और अब आदिवासी क्षेत्रों में वितरण के लिए चना भी नाफेड के माध्यम से छत्तीसगढ़ के बाहर से लाया जा रहा है। ये न सिर्फ किसानों की उपेक्षा और अन्याय है अपितु ये छत्तीसगढ़ के किसानों का अपमान भी है। अब छग के किसान और नौजवान मिलकर आउटसोर्सिंग सरकार को सबक सिखाएंगे.

No image

ऊर्जाधानी से बिलासपुर  व रायपुर तक चलने वाली पैसेंजर गाडिय़ों डेढ़ माह रद्द करने से रेलवे प्रशासन के खिलाफ गुस्सा बढ़ता जा रहा है। इस मुद्दे पर बुधवार को तिलक भवन में सर्वदलीय बैठक कर इस मुद्दे पर आरपार लड़ाई लडऩे की जरूरत बतायी गयी। बैठक में गुुरुवार को कोरबा रेलवे स्टेशन पहुंचकर ज्ञापन देने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए सुबह 11 बजे गीतांजलि भवन के निकट इकट्ठा होंगे।

उल्लेखनीय है कि रेलवे प्रशासन ने जांजगीर नैला व चांपा स्टेशनों के बीच हसदेव नदी के ब्रिज नंबर ४६ की मरम्मत व रखरखाव के लिए १५ अप्रैल से ३० मई तक कुल ४६ दिनों के लिए कोरबा से बिलासपुर व रायपुर आने-जाने वाली मेमू व पैसेंजर रद्द कर दी हैं। एक साथ ४६ दिनों तक इन यात्री ट्रेनों के रद्द होने से कोरबा शहर व ग्रामीण क्षेत्र के हजारों लोग परेशान हैं, जो इन ट्रेनों से नियमित सुबह- शाम आवागमन करते हैं। इनमें स्कूल कालेज जाने वाले विद्यार्थी, शिक्षक और सरकारी अधिकारी-कर्मचारियों के साथ -साथ बड़ी संख्या में व्यवसायी भी शामिल हैं। रेलवे प्रशासन द्वारा इस प्रकार ट्रेन रद्द होने से शहरवासी नाराज हैं। रेलवे के खिलाफ एकजुट हुए शहरवासी

बुधवार को विभिन्न दलों व सामाजिक संगठनों की बैठक आयोजित की गई। इसमें कोरबा विकास समिति के तत्वधान में रेलवे एक्शन कमेटी का गठन हुआ और सर्वसम्मति से इस कमेटी के संयोजक मुरलीधर मखीजा को बनाया गया है। इसमें सभी कोरबा वासियों को जोड़ा गया है और जुडऩे की अपील की गई है । रेलवे एक्शन कमेटी का मुख्य मकसद बंद की गई ट्रेनों को पुन: चालू करवाना और इंटरसिटी जैसी कुछ और ट्रेनों को कोरबा तक चलवाना है जिससे अधिक रेल सुविधा मिल सके।

बस व टैक्सी से आना-जाना पड़ रहा महंगा पैसेंजर व मेमू ट्रेन रद्द होने से कोरबावासियों के पास केवल बस, टैक्सी ही साधन हैं। इन साधनों से न केवल अधिक किराया देना पड़ रहा है बल्कि समय भी अधिक लग रहा है। सबसे अधिक परेशानी छात्रों और नौकरीपेशा लोगों को हो रही है, जो रोज आना-जाना करते हैं।

No image

दो साल से कलक्टर गाइड लाइन में जमीन की कीमत नहीं बढ़ाई जा रही है। इससे रजिस्ट्री की संख्या के साथ आमदनी बढऩे की उम्मीद की जा रही थी, लेकिन स्थिति में सुधार तो दूर, उल्टे रजिस्ट्री की संख्या और आमदनी दोनों लगातार घट रही है। पिछले साल की तुलना में इस बार 678 रजिस्ट्रियां कम हुई। करीब 4 करोड़ 52 लाख रुपए राजस्व भी कम मिला।

कलक्टर गाइड लाइन में पिछले कई सालों तक बिना ठोस सर्वे के जमीन की कीमतों में अनुमान के आधार पर 10 से 20 फीसदी तक बढ़ोतरी की जा रही थी। इससे कलक्टर गाइड लाइन में ज्यादातर इलाकों की जमीन की कीमत बाजार की वास्तविक कीमत से ज्यादा हो गई थी।

इससे पिछले 4 से 5 सालों से लगातार रजिस्ट्री से आमदनी कम हो रही थी। इसे देखते हुए पिछले दो सालों से गाइड लाइन की कीमतों में कोई भी बढ़ोतरी नहीं की जा रही है। पिछली बार दर नहीं बढ़ाए जाने के बाद भी 18 हजार 535 दस्तावेजों की रजिस्ट्री से 178 करोड़ मिले थे। वहीं इस बार दस्तावेज घटकर 17 हजार 857 हो गए और आमदनी में 174 करोड़ में सिमट गया।

इस बार जिले की 3 हजार 810 महिलाओं ने भी जमीन व भवन खरीदी की रजिस्ट्री कराई। महिलाओं के नाम जमीन व भवन आदि की रजिस्ट्री पर स्टॉम्प शुल्क में एक फीसदी छूट का प्रावधान है। इस नियम के मुताबिक एक फीसदी छूट से इन महिलाओं ने करीब 4.70 करोड़ बचाए।

गाइड लाइन में इस साल लगातार तीसरी बार भी जमीन की कीमतों में कोई भी बढ़ोतरी नहीं की गईहै। केंद्रीय मुल्यांकन समिति ने कीमत नहीं बढ़ाए जाने की जिला मूल्यांकन समिति की अनुशंसा को स्वीकृत कर नई गाइड लाइन जारी कर दी है। इससे पहले वर्ष 2015-16 और 2016 -17 में भी कीमतों में बढ़ोतरी नहीं की गई थी इस बार भी रजिस्ट्री से राजस्व प्राप्ति के मामले में जिला करीब 106 करोड़ पिछड़ गया। अभी बीते वित्तीय वर्ष के लिए जिला प्रशासन को 28 0 करोड़ राजस्व प्राप्ति का लक्ष्य दिया गया था, लेकिन पूरे साल में केवल 174 करोड़ रुपए की कमाई हो सकी। इस तरह लक्ष्य करीब 6 2 फीसदी ही राजस्व मिला।

No image

मुड़ापार बस्ती मेें सटट खिलवाने वाले पांच लोगों को पुलिस ने पकड़ा है। क्राइम ब्रांच व मानिकपुर पुलिस ने यह संयुक्त तौर पर कार्रवाई की। पुलिस को सूचना मिल रही थी कि मुड़ापार निवासी राजेश चौहान अपने कुछ साथियों के साथ घर के पास सट्टा पट्टी लिखकर मोबाइल के माध्यम से सट्टा लगवाता है।

सूचना पर मानिकपुर पुलिस व क्राइम ब्रांच के द्वारा संयुक्त रूप से मुड़ापार स्थित मकान में दबिश दी गई। जहां से पांच लोगों को पुलिस ने पकड़ा। राजेश चौहान, नरेंद्र पाल, संतोष मजुमदार, आशु पहना, सूरज यादव को सट्टा पट्टी एवं आठ मोबाइल जप्त किया किया गया। इनके खिलाफ जुआ एक्ट के तहत कार्रवाई की गई।

आइपीएल मैच के दौरान शहर में जमकर सट्टा कारोबार चल रहा है। शहर में कई जगह इस तरह का गिरोह चल रहा है। जिसका पूरा काम मोबाइल और वाट्सअप चलता है। जिसमें मैच के पल-पल पर रकम लगाई जाती है। पुलिस ने इससे पहले भी कई जगह कार्रवाई की है।    

No image

देश के कई राज्यों में एटीएम ने रुपए उगलना बंद कर दिया है, लोगों का बुरा हाल है। उम्मीद थी कि ट्विनसिटी यह स्थिति नहीं दिखेगी, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। ट्विनसिटी के आधे से अधिक एटीएम खाली हो चुके हैं। इसमें सबसे अधिक एसबीआई के एटीएम बूथ हैं, जिनमें ताला लटक रहा है। लीड बैंक मैनेजर ने इसके पीछे रिजर्व बैंक की ओर से दिए जा रहे कैशफ्लों में कमी को जिम्मेदार ठहराया है।

बैंक मैनेजरों का कहना है कि अकेले एसबीआई को ही १५ करोड़ रुपए एटीएम में डालने थे, लेकिन आरबीआई से कैश नहीं मिलने से यह आंकड़ा 5 करोड़ पर सिमट गया। लिहाजा, सैकड़ों एटीएम सूने हो गए। मौके पर पहुंचकर शहर के 20 से अधिक एटीएम बूथों का जायजा लिया, जिनमें से 14 के दूसरा एटीएम देख लें।  कोसा नगर, दीक्षित कॉलोनी रोड पर एसबीआई का एटीएम है। हमारी टीम दोपहर २ बजे यहां पहुंची। एटीएम बूथ तो चालू था, लेकिन मशीन का लिखा हुआ था कि मशीन खराब है। रुपए नहीं है।

 लोग आते-जाते रहे, लेकिन एटीएम बूथ का सुरक्षा गार्ड हर किसी को यही कहता दिखा कि एटीएम में रुपए नहीं है। दो दिनों से लोग यहां लगातार पहुंच रहे हैं। यह कृष्णा नगर, राधिका नगर का इकलौता एटीएम है।

यहां सेंट्रल बैंका का एटीएम लगा हुआ है, जो पिछले कई दिनों से बंद है। हमारी टीम तो यहां एटीएम बूथ का शटर डाउन मिला। पूरे शहर का चक्कर लगाते हुए लोग इस एटीएम पर भी पहुंचे, लेकिन खाली हाथ ही लौटना पड़ा। फरीद नगर से निजामी चौक के बीच यही एक एटीएम है। यहां भी लोगों को खाली हाथ ही रहना पड़ा। पहले तो सर्वर डाउन था, लेकिन बाद में गार्ड ने जानकारी दी कि एटीएम में कैश खत्म हो गया है।

टीम पहुंची तो सामने यहां की सबसे अधिक दबाव वाले इस एटीएम पर भी कैश नहीं है। मशीन पर लिखा है, पैसे नहीं है। बैंक से कनेक्ट होने के बावजूद इसमें कैश नहीं मिला। नेशनल हाइवे पर होने के बावजूद एसबीआई के इस एटीएम में दो दिनों से कैश नहीं डाला गया। इस एटीएम में सबसे अधिक कैशफ्लो होता है, 

सीडीएमए मशीन में काफी कैश है, इससे भी विड्राल किया जा सकता है। यह भी एटीएम की ही तरह सुरक्षित है। सबसे ज्यादा कैश एसबीआई में होगा। शहर के बाजारों और भीड़भाड़ वाली जगहों के एटीएम खाली होना तय है, लेकिन थोड़ा आगे बढ़कर आउटर के बूथ में कैश विड्राल शुरू है।  एसबीआई के कार्डधारी अन्य नेशनलाइज या निजी बैंकों के एटीएम से भी विड्राल कर सकते हैं, यह भी सुरक्षित हैं, लेकिन पिन जैसे आयामों का ख्याल रखें।  प्राइवेट बैंकों के मुताबिक उनके एटीएम में सौ के नोट तो नहीं है, लेकिन ५०० और २००० के नोट कुछ बूथों में मौजूद हैं। यह स्थिति रविवार दोपहर तक की है।

No image

ब्लैक लिस्टेड कंपनी से करोड़ों की दवा खरीदी मामले में फजीहत झेलने के बाद अब छत्तीसगढ़ दवा निगम( सीजीएमएससी) 33 फीसदी अधिक रेट पर करीब 50 लाख ओआरएस के पैकेट खरीदने का कारनामा कर रहा है।

इसके लिए सीजीएमएससी ने उज्जैन की बोकेम हेल्थकेयर कंपनी के ब्लैक लिस्टेड होने पर इंदौर की एल 2 निविदाकार सिंडिकेट फार्मा को क्रय आदेश जारी कर दिया है।मिले दस्तावेज बताते हैं कि 21 ग्राम के ओआरएस पैकेट की खरीदी के लिए सिंडिकेट फार्मा को 1.94 रुपए की दर से वर्क आर्डर दिया गया है। इस खरीदी में भी सीजीएमएसी स्वास्थ्य विभाग को लाखों रुपए की चपत लगाने वाला है। खरीदे जा रहे पैकेट में प्रति पैकेट 0.64 पैसे अधिक भुगतान करने की तैयारी की जा रही है।

इस तरह 49 लाख 33 हजार 500 हजार पैकेट के 10 लाख से अधिक रुपए देने को तैयार है। गुजरात मेडिकल सर्विसेज कारपोरेशन ने यही ओरआए पाउडर 1.30 रुपए प्रति पैकेट में खरीदा था। सीजीएमएससी को सप्लाई करने वाली सिंडिकेट फार्म ने ही तमिलनाडु मेडिकल सर्विसेज कारपोरेशन को कुछ माह पहले यही पैकेट 1.88 रुपए प्रति पैकेट के हिसाब से आपूर्ति की थी।

सीजीएमएससी शासन को कम दर में टेंडर प्रक्रिया कर दवाएं और उपकरण उपलब्ध कराना है। लेकिन सीजीएमएससी ने बार-बार मनमानी दर पर खरीदी कर शासन को लाखों रुपए की चपत लगाई है। दवा निगम को हर खरीदी पर 10 फीसदी प्रशासनिक व्यय के रुप में मिलता है। मिली जानकारी के मुताबिक सीजीएमएससी ने इसी कंपनी को नियम विरुद्ध बिना सप्लाई के अग्रिम भुगतान कर दिया था।

No image

नगर निगम के रिसाली जोन ऑफिस स्थित टंकी से वार्डों में पेयजल आपूर्ति के लिए बिछाई गई मेन सप्लाई लाइन सोमवार को फूट गई। इसके कारण 32 लाख लीटर क्षमता की टंकी लगभग खाली हो गई। रिसाली शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल परिसर और आशीष नगर पश्चिाम की गलियां पानी-पानी हो गई। तेज बहाव के साथ घरों में भी पानी घुसने लगा।

इसके कारण रिसाली क्षेत्र के दो वार्ड 61 और 62 में पेयजल आपूर्ति नहीं हो सकी।टंकी से वार्डों में पानी आपूर्ति केे लिए 600 मिलीमीटर की कास्ट आयरन की पाइप लाइन बिछाई गई है। यह लाइन रिसाली शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल परिसर के भीतर से गुजरी हुई है। पाइप में पहले से ही फूटा हुआ था। कुछ दिन से लगातार स्कूल कैंपस में पानी रिस रहा था। जोन के अधिकारियों ने मंगलवार को सुबह पानी आपूर्ति करने के बाद शट डाउन लेकर मरम्मत करने की योजना बनाई थी।इसके लिए सोमवार को खुदाई कर पाइप में लीकेज को भी ढंूढ लिया था। कास्ट आयरन के पाइप में लीकेज को एमजे कॉलर से बंद नहीं किया जा सकता इसलिए सोमवार को इसके लिए पूरी सामग्रियां जुटाई गई। मंगलवार को मरम्मत शुरू कर पाते इससे पहले ही अलसुबह करीब 5.30 बजे पाइप पानी का प्रेशर सह नहीं टंकी का पूरा पानी बेकार बह जाने से वार्ड 6० रिसाली बस्ती और वार्ड 61 प्रगति नगर व मैत्री कुंज में मंगलवार की सुबह पानी आपूर्ति नहीं हो पाई।

यहां की करीब 20 हजार आबादी को पानी के लिए तरसना पड़ा। हालांकि नगर निगम ने वैकल्पिक व्यवस्था के तहत टैंकर से पानी आपूर्ति की, लेकिन वह नाकाफी रहा। रिसाली बस्ती के कुछ मोहल्लों में ही पानी पहुंच सका।दो फीट व्यास का पाइप डेढ़ मीटर फटने से कुछ ही देर में 32 लाख लीटर की टंकी लगभग खाली हो गई। केवल रिसीवर वॉल्व में ही पानी बचा। इससे स्कूल परिसर पानी से लबालब हो गया। घुटने तक पानी भरने से स्कूली बच्चों और स्टाफ को काफी परेशानी हुई।

वहां रहने वाले सशस्त्र सीमा बल के जवानों को भी अपना सामान भीगने से बचाने जद्दोजहद करना पड़ा।निगम के अधिकारियों ने बताया कि पाइप डेढ़ मीटर पाइप फटकर अलग हो गया। ऐसे में किसी भी स्थिति में टंकी को खाली होने से रोक पाना संभव नहीं था। वैसे भी मरम्मत के लिए शट डाउन लेना ही पड़ता। पूरी टंकी खाली होने के बाद मरम्मत कार्य शुरू किया गया। देरशाम तक पाइप लाइन दुरस्त कर ली गई।

No image

एनएमडीसी पर वादा खिलाफी का आरोप लगाते अखिल भारतीय आदिवासी महासभा ने 19 अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल और एनएमडीसी जाम करने का एलान किया है । दरअसल आगमी सप्ताह एनएमडीसी के विभिन्न पदों के लिए भर्ती निकाली गई है।

इसमें किसी बाहरी संस्था द्वारा पूरी भर्ती प्रक्रिया कराए जाने की बात कही जा रही है, जिसका आदिवासी महासभा शुरू से ही विरोध कर रहा है। इसके लिए सभा के पदाधिकारियों ने जिला एवं एनएमडीसी के उच्चाधिकारियों से भी मुलाकात की।स्थानीय बेरोजग़ारों को प्राथमिकता दिए जाने की मांग रखी पर इस संदर्भ में प्रशासन ने कोई जवाब नहीं दिया है।

इससे नाराज आदिवासी महासभा ने बैलाडिला परिक्षेत्र में 19 अप्रेल से अनिश्चितकालीन हड़ताल करने की घोषणा की है। उन्होंने प्रमुखता से बाहरी संस्था द्वारा भर्ती प्रक्रिया कराए जाने का विरोध, स्थानीय को प्राथमिकता, एनएमडीसी कि दोनों परियोजनाओं में संचालित अस्पतालों में एंडोस्कोपी मशीन, सीटी स्कैन मशीन, एमआरआई मशीन, अनुभवी व काबिल चिकित्सकों से स्थानीय का उपचार हेतु सुविधा उपलब्ध कराने, प्रभावित गांवों जनप्रतिनिधियों  के लिए अन्यत्र आने-जाने के लिए वाहन सुविधा उपलब्ध कराने, साप्ताहिक हाट-बाजार में दूर-दराज से आने वाले आदिवासी ग्रामीणों के लिए आदिवासी धर्मशाला निर्माण की मांग की है।

आदिवासी महासभा के परिक्षेत्र अध्यक्ष कामो कुंजाम और सचीव सुदरु कुंजाम ने संयुक्त रूप से प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि एनएमडीसी हमेशा से ही स्थानीय को प्राथमिकता देने का वादा करता है। 2014-15 लीज नवीनीकरण से लेकर 2016-17 का क्षमता विस्तार तक एनएमडीसी लाल पानी से खेती जमीन बंजर हुए परिवार को प स्थानीय को एनएमडीसी की नौकरी में प्राथमिकता  एनएमडीसी परियोजना से प्रभावित 58 गांव व जिले में पूर्ण रुप से हर क्षेत्र में विकास करने का भी वादा किया था पर एनएमडीसी द्वारा वादा पूरा करना तो दूर भर्ती प्रक्रिया बाहरी संस्था से करवाने का निर्णय लेकर स्थानीय लोगों को रोजगार से बेदखल करने जा रही है। एनएमडीसी के झूठे व गुमराह में रखकर धोखा देने वाले नीति का आदिवासी महासभा विरोध करती है। स्थानियो के हित के लिए 19 अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल व एनएमडीसी जाम करेगी। इसके लिए सभी वर्ग के समाज संगठनों ने आदिवासी महासभा ने अपील की है।

No image

एटीएम और बैंक में कैश की किल्लत ने गांव से लेकर शहर में खलबली मचा दी है। सरकारी और निजी बैंकों के 90 फीसदी एटीएम खाली पड़े हैं, वहीं लोगों को इसके चलते बैंक शाखाओं में जाकर रुपए निकालने पड़ रहे हैं।

क्या गांव क्या शहर दोनों स्थानों में लोग बैंकों में लाइन लगाए नजर आ रहे हैं। नोटबंदी के बाद एक बार फिर इस तरह की भीड़ देखी जा रही है, जिसमें लोग मायूस नजर आ रहे हैं। लोगों के सामने बड़ी समस्या यह है कि अक्षय तृतीया के दिन से शादियों का मुहुर्त शुरू हो रहा है। इसलिए एनी टाइम मनी यानी एटीएम का कोई मतलब नहीं निकल रहा है।

बैंकों में ही 2000 के नोटों की कमी पड़ गई है। आरबीआई से पर्याप्त संख्या में 2000 रुपए के नोट नहीं भेजे जा रहे हैं, वहीं जो नोट लोगों के पास पड़े हैं, वह भी बैंकों में नहीं आ रहे हैं। कैशलेस नहीं हुआ बाजार : शहर, गांव और कस्बाई इलाकों में पूरी तरह कैशलेस नहीं होने की वजह से भी लोगों को रुपए की कमी महसूस हो रही है। करेंसी चेस्ट में 2000 करोड़ बैंक प्रबंधनों के मुताबिक करेंसी चेस्ट में वर्तमान में 2000 करोड़ की राशि है, आरबीआई से भी कैश भेजा रहा है। 2000 रुपए के नोट कम मात्रा में मिल रहे हैं।

 

No image

जिला पंचायत में शिक्षाकर्मियों की पदोन्नति में बड़ी चूक हो गई है। सहायक से शिक्षक पंचायत पद पर वरिष्ठों को पदोन्नत करना था, पर संबंधितों की लापरवाही और गंभीरता से नहीं करने से कनिष्ठों को पदोन्नति दे दी गई है।

इससे  नाराज हो गए। बात जिपं अधिकारी के पास पहुंची, तो उन्होंने गलती स्वीकारी और पदोन्नति सूची निरस्त कर दी।इस दौरान शालेय शिक्षाकर्मी संघ ने सीईओ के पास अपनी लंबित मांग भी रखी, तो अधिकारी ने जानकारी दी कि वेतन भुगतान के लिए राज्य को पत्र जारी कर दिया गया है।

शालेय शिक्षाकर्मी संघ बालोद के जिलाध्यक्ष जितेन्द्र शर्मा के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने जिला पंचायत सीईओ से मुलाकात कर शिक्षाकर्मियों की पदोन्नति में हुई गड़बड़ी सामने रखी। इस दौरान सीईओ ने कई गलतियां स्वीकारी और इसे सुधारने तत्काल आदेश दिए। वहीं कई अन्य समस्याओं पर चर्चा की गई, तो सीईओ ने निराकरण की बात शर्मा ने जानकारी दी कि जिले में सभी प्रकार के लंबित वेतन भुगतान पर चर्चा की गई, तो सीईओ ने बताया कि स्कूल शिक्षा के वेतन भुगतान के लिए 1 अरब 62 लाख का मांग पत्र शासन को भेजा गया है, एक दो दिन के भीतर आबंटन आते ही भुगतान के लिए राशि जारी कर दी जाएगी।

आदेश दिया गया है कि सभी विकासखंड शिक्षा अधिकारी बिल तैयार रखें।हाल में ही जिला पंचायत द्वारा व्याख्याता पंचायत की पदोन्नति सूची जारी हुई थी जिसमें एक कनिष्ठ को पदोन्नति प्रदान कर दी गई थी, जबकि वरिष्ठ शिक्षक पंचायत जितेन्द्र गजेंद्र को पदोन्नति से वंचित कर दिया गया था, जिस पर शालेय शिक्षाकर्मी संघ ने कड़ा रोष जाहिर किया।

सीईओ जिला पंचायत ने इसे बड़ी त्रुटि मानते हुए त्वरित कार्रवाई करते हुए कनिष्ठ की पदोन्नति को निरस्त करने का आदेश दिया। इस दौरान गलती करने वाले कर्मचारी पर भी नाराजगी व्यक्त करते हुए पुनरावृत्ति ना करने की चेतावनी दी।सहायक शिक्षक पंचायत से शिक्षक पंचायत पद पर जल्द पदोन्नति प्रदान करने की मांग करते हुए जिलाध्यक्ष जितेन्द्र शर्मा ने कहा लंबित कला समूह की पदोन्नति की प्रक्रिया जिसका वेरिफिकेशन हो चुका है की पदस्थापना जल्द जारी हो, वहीं 1 अप्रैल 18 की स्थिति में पुन: पदोन्नति प्रक्रिया प्रारम्भ की जाए।

विषय विकल्प के पदों को खाली पद मानकर वर्तमान पदों का अद्यतन करते हुए पदोन्नति दी जाए क्योंकि पदोन्नति और क्रमोन्नति नहीं होने से वर्ग 3 को प्रति माह दस से पंद्रह हजार का नुकसान हो रहा है। जो अतिशेष है उनका भी समायोजन होना चाहिए। जिला पंचायत सीईओ ने प्रतिनिधि मंडल को बताया कि वर्तमान में ग्रंथपाल वर्ग 2 के 100 पद खाली है जिस पर 7 वर्ष पूर्ण कर चुके ग्रंथपाल वर्ग 3 को पदोन्नत करने की प्रक्रिया जारी है, संघ ने आग्रह किया जो सहायक शिक्षक पंचायत बी लिब की योग्यता रखते हैं उन्हें भी पात्र मानकर इस ग्रंथपाल पदोन्नति में सम्मलित किया जावे जिससे रिक्त पदों की पूर्ति हो सके क्योंकि इसके अधिकांश पद पदोन्नति के बाद भी रिक्त रह जाएंगे। इस पर सीईओ ने आश्वस्त किया कि हम ज्यादा से ज्यादा लोगो को पदोन्नत करना चाहते हैं ताकि अतिशेष की संख्या कम हो सके।जिलाध्यक्ष शर्मा ने बताया बहुत से शिक्षाकर्मी साथी जो सहायक शिक्षक पंचायत के पद पर हैं और बीएड हैं जिन्हें पूर्व में ब्रिज कोर्स करने की बात कही गई थी, उनके विषय मे आज तक कोई जानकारी न जिला पंचायत दे पा रही है, ना ही जिला शिक्षाधिकारी।

सीईओ जिला पंचायत ने इस विषय पर अनभिज्ञता व्यक्त करते हुए कहा कि जिला पंचायत के पास इसकी कोई जानकारी नहीं है।वहीं नॉन बीएड शिक्षाकर्मियों के संदर्भ में बाद में चर्चा करने की बात सीईओ ने कही है। संघ के प्रतिनिधिमंडल में जिलाध्यक्ष के साथ प्रदेश संगठन सचिव जितेन्द्र गजेंद्र, दीप्ति शर्मा, ब्लॉक अध्यक्ष अलेन्द्र यादव, विक्रम राजपूत, राजकुमार भोयर, अमित सिन्हा, देवेंद्र हरमुख आदि सम्मलित थे।

No image

नगर निगम में स्वच्छ भारत मिशन से शौचालय निर्माण में घालमेल का खुलासा हुआ है। निगम के अफसरों ने एक शौचालय बनाया और इसके एवज में दो एजेंसियों को भुगतान कर दिया। मामले काखुलासा होने पर निगम कमिश्नर एसके सुंदरानी ने संबंधित उपअभियंता विनोद मांझी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया।

फर्जी बिल लगाकर दूसरी बार भुगतान लेने वाली श्रीविद्या महिला स्व सहायता समूह के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने कहा है।मामले में एई, लेखाधिकारी और ऑडिट विभाग को भी नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। मामला  नाका वार्ड का है। यहां स्वच्छ भारत मिशन के तहत हितग्राही सीएच नंबर 1500050944 सुशीला अधिकारी के आवास में शौचालय बनाया गया है। इसके एवज में पहले श्रीदेवगंगा एजुकेशन एण्ड वेलफेयर सोसायटी को भुगतान किया गया था। कुछ महीनों बाद उसी शौचालय को एक अन्य विद्या महिला स्व सहायता समूह द्वारा बनाया जाना बताकर बिल भुगतान कर दिया गया। इसके लिए बकायदा दूसरी एजेंसी द्वारा बिल भी जमा कराया गया है। किसी ने गड़बड़ी की शिकायत कमिश्नर से की थी। इस पर स्वच्छ भारत मिशन के तहत घर-घर शौचालय निर्माण की माप पुस्तिका की जांच कराई गई। इसमें रायपुर नाका वार्ड में सीएच क्रमांक 1500050944 में 14 अक्टूबर 2016 को श्री देवगंगा एजुकेशन एण्ड वेलफेयर सोसायटी को भुगतान करना पाया गया। इसी सीएच नंबर पर फिर से श्रीविद्या महिला स्व सहायता समूह का बिल और भुगतान पाया गया।एक शौचालय के लिए दो बार बिल प्रस्तुत कर भुगतान का मामला संबंधित एई राजेश पांडेय, लेखाधिकारी रमाकांत शर्मा व ऑडिट विभाग के अफसर भी नहीं पकड़ पाए। इस पर अफसरों पर संलिप्तता का संदेह जाहिर करते हुए उन्हें भी कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।कमिश्नर सेएई, लेखाधिकारी और ऑडिट विभाग के अफसरों को तीन दिन के भीतर जवाब प्रस्तुत करने कहा है। नोटिस में कमिश्नर ने कहा है कि दो बार भुगतान से निगम को आर्थिक क्षति हुई है। उन्होंने जवाब नहीं देने की स्थिति में दो वेतन वृद्धि रोकने की चेतावनी भी दी निगम सभापति राजकुमार नारायणी ने एक ही सीएच नंबर पर दो लोगों को भुगतान किएजाने की शिकायत कमिश्नर से दो दिन पहले की थी। इस पर कमिश्नर ने उन्हें मामले की जांच कराने का भरोसा दिलाया था। जांच में गड़बड़ी का मामला प्रमाणित होने पर अब कार्रवाई की गई है।सभापति राजकुमार नारायणी ने बताया कि मामले की प्रमाण सहित कमिश्नर से शिकायत की गई थी। मामला सीधे तौर पर धोखाधड़ी का है। केवल निलंबन की कार्रवाई कर खानापूर्ति की जा रही है। सभी दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं कराई गई तो मैं स्वयं मामले को लेकर न्यायालय जाउंगा।कमिश्नर एसके सुन्दरानी ने बताया कि एक ही नंबर पर दो बार बिल प्रस्तुत कर राशि आहरित कर लेने का मामला सामने आया है। इसकी जांच के बाद संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। इसके अलावा अफसरों से जवाब भी मांगा गया है। जवाब संतोषजनक नहीं होने पर उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी

No image

प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत जिले की 6 सडक़ों की सूरत बदलने जा रही है। इन सडक़ों पर चौड़ीकरण व मरम्मत का कार्य किया जा रहा है। इसके लिए शासन से विभाग को 54 करोड़ की राशि स्वीकृत मिली है।

चौड़ीकरण व मरम्मत का कार्य भी शुरू हो गया है। सडक़ों की कुल लंबाई 90 किमी है। इन सडक़ों की हालत बदलने के बाद राहगीरों को काफी राहत मिलेगी। प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत मुख्य मार्ग से 10 किमी तक गांवों को मुख्य मार्ग से जोड़ा जाना है ताकि, ग्रामीण क्षेत्र के लोग सीधे मुख्य मार्ग से जुड़ जाएं। वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए शासन द्वारा 54 करोड़ की मंजूरी मिली है। जिसके तहत ९० किमी तक के सडक़ों का कायाकल्प किया जा रहा है। पहले फेस में निर्माण के समय इस सडक़ की चौड़ाई 3.3 मीटर थी।

इन सडक़ों का चौड़ीकरण किया जा रहा है। अब इनकी चौड़ाई 2 -2 मीटर बढ़ाई जा रही है।अब इन सडक़ की चौड़ाई 5.5 मीटर की होगी। विभाग द्वारा बागबाहरा से बकमा कसेकेरा, बागबाहरा से झलप, जोबा से सिरपुर, किशनपुर से बल्दीडीह, लंबर से बड़ेसाजापाली और पदमपुर से बलोदा मार्ग की सडक़ों का चौड़ीकरण व मरम्मत का कार्य किया जा रहा है। शेष सडक़ों का भी कायाकल्प किया जाएगा।विभाग ने जिले की प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक़ योजना की सडक़ों की मरम्मत के लिए शासन से राशि की मांग की है। वहीं कुछ सडक़ें ऐसी है जो गारंटी पीरियड के दौरान ही उखड़ गई है । इसके लिए भी विभाग ने ठेकेदारों को नोटिस भेज दिया है। जैसे-जैसे कार्यों की स्वीकृति मिलते जा रही है, वैसे-वैसे कार्य प्रारंभ हो रहे है। सडक़ की कायाकल्प होने के बाद ग्रामीणों को परेशानी से मुक्ति मिलेगी। 

प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ की तस्वीर किसी से छिपी नहीं है।5-10 वर्षो में ये सडक़ जर्जर हो चुकी है । विभाग को लगातार इसकी शिकायत मिलते रही है, लेकिन राशि आवंटन नहीं होने के कारण सडक़ों की मरम्मत नहीं की जा रही है। दो दर्जन से अधिक सडक़ ऐसे हैं जिनमें चलना दूभर है। विभाग की आकड़ों पर यदि नजर डालें तो जिले में प्रधामंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत 100 सडक़ें है। इनमें से 26 सडक़ें जर्जर अवस्था में है। मरम्मत के लिए लगातार मांग की जा रही है। प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना का उद्देश्य 500 से अधिक बसाहट वाली गांवों को मुख्य मार्गों से जोडऩा है। इसके तहत विभाग को पूर्व में 558 बसाहट एवं 1102.78 किमी. की स्वीकृति मिली थी। इसके तहत जिले में करीब 557 गांवों को जोड़ा गया है। करीब 1101 किमी. तक की सडक़ बनाई गई है। प्रथम चरण की कार्ययोजना समाप्त होने के बाद अब दूसरे चरण में इन सडक़ों का चौड़ीकरण कर कायाकल्प किया जा रहा है।पहले चरण में जिन गांवों की सडक़ों का टेंडर हुआ, उनका कार्य भी शुरू हो गया है। 

ईई प्रधानमंत्री सड़क के योगेन्द्र साव ने कहा कि जिले में प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना की 6 सडक़ों के चौड़ीकरण के लिए मंजूरी मिली है। इसके लिए 54 करोड़ की स्वीकृति शासन से मिली है। यह कार्य शुरू कर दिया गया है।

No image

कटघोरा थाना अंतर्गत राष्ट्रीय राजमार्ग 111 में सुतर्रा के आगे रापाखरा पुल में ट्रैक्टर क्रमांक सीजी 15 यू 2185 और ट्रक क्रमांक सीजी 15एसी 7694 दोनों में आमने-सामने जोरदार भिड़ंत हो गई।

इससे ट्रैक्टर चालक विक्रम सिंह उम्र 22 वर्ष बाकी मोगरा निवासी बाल बाल बच गया। ट्रैक्टर चालक बांकीमोंगरा राखड़ ईट  से लोड कर नरसिंह गंगा जा रहा था।चालक अरविंद कुमार उम्र 35 ट्रेलर को  केमिकल पाउडर लोड कर रेनूकोट जा रहा था। दुर्घटना के बाद पुल के दोनों तरफ गाडिय़ों की कतार लग गई। जिसे बस यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा कटघोरा पुलिस मौके स्थल पर पहुंचकर मार्ग बहाल किया। लगभग एक घंटे तक मार्ग पर जाम की स्थिति रही।

कुछ चालकों ने नाले के नीचे से वाहनों को गुजारापुल की चौड़ाई कम होने से हो रहे हादसेरापाखर्रा पुल की चौड़ाई नहीं बढ़ाई जा रही है जबकि इस पुल पर अब तक दो दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। एनएच पर नाले पर बना यह पुल मोड़ में होने की वजह से दुर्घटनाएं होती है। पिछले दिनों कोयले से लदा ट्रेलर पुल के नीचे पलट गया था। हालांकि इसमें जनहानि नहीं हुई थी। इससे पहले एक चारपहिया वाहन भी पुल के नीचे जा गिरा था, जिसमें सवार लोगों को गंभीर चोटें आई थी। लगातार दुर्घटना के बाद भी पुल की चौड़ाई नहीं बढ़ायी जा रही है।

 

No image

पेट्रोलियम गैस एवं रसायन की खोज के लिए भूगर्भीय सर्वेक्षण के तहत ओएनजीसी भारत सरकार के द्वारा पाली एवं आसपास के गांवों में परीक्षण किया जा रहा है। इसी तारतम्य में रविवार को दोपहर लगभग तीन बजे एक के बाद कई बार ब्लास्टिंग होने से पूरा क्षेत्र दहल उठा। लोगों की समझ में नहीं आ रहा था।

किसी ने इसे भूकंप समझा तो किसी ने पाली के आसपास भविष्य में खुलने वाले कोयला खदान की टेस्टिंग। जबकि यह ओएनजीसी द्वारा पेट्रोलियम पदार्थों की खोज के लिए सर्वेक्षण की प्रक्रिया का एक चरण था। जिसमें पाली के आसपास के क्षेत्र में लगभग 75 से 100 फीट की गहराई में ड्रिल कर बारूद भरने के बाद वहां ब्लास्टिंग किया गया।

जिसके कारण तेज धमाके के साथ पाली के आसपास लगभग 1 से 2 किलोमीटर के दायरे में इसकी गूंज सुनाई दी। हालांकि इस संबंध में मौके पर कोई बड़ा जिम्मेदार अधिकारी या कर्मचारी मौजूद नहीं था केवल कुछ कर्मचारी कार्यरत रहे। जिन्होंने ज्यादा कुछ जानकारी देने से इनकार किया।

इतना जरूर बताया कि यह कार्य विगत कुछ दिनों से पाली एवं आसपास के गांवों में चलाया जा रहा है। रविवार को यह कार्य पाली सैला के बीच कॉलेज के पास हुआ।

No image

भिलाई इस्पात संयंत्र के खुर्सीपार स्थित स्वास्थ्य केंद्र में सोमवार को सुबह से ३ घंटे तक कतार में खड़े रहने के बाद भी दवा नहीं मिली।

इस पर बीएसपी के पूर्व व वर्तमान कर्मचारियों ने नाराजगी जाहिर करते हुए हॉस्पिटल प्रबंधन को एक लिखित शिकायत की।जिसके बाद बीएसपी हॉस्पिटल प्रबंधन ने सेक्टर-1 हॉस्पिटल से एक फर्मासिस्ट को खुर्सीपार के लिए रवाना किया। जिसके बाद दवा देना शुरू किया गया।इस व्यवस्था से नाराज लोगों ने मांग किया है कि लंबे समय से यहां जमे कर्मियों का तबादला किया जाए।बीएसपी के पूर्व कर्मचारी एसपी मिश्रा ने बताया कि यहां हर दिन का यह हाल है। सुबह 8 बजे से मरीज आ जाते हैं।

चिकित्सक कभी समय से आते हैं और कभी नहीं आते।सोमवार को सुबह १० बजे आना था, लेकिन १०.२० बजे पहुंचे।मरीजों ने चिकित्सक के पास से निकलकर कतार फर्मासिस्ट के पास लगाई।मरीजों के साथ ठीक नहीं बर्ताव मरीजों ने बताया कि सोमवार को ११ बजे के बाद भी जब फर्मासिस्ट नहीं आया तब शिकायत की। हकीकत यह है कि हर दिन यहां दवा देने वाला कर्मचारी ही समय पर नहीं आता। अगर आ जाए तो जब मन हो चला जाता है। मरीजों के साथ उसका बर्ताव ठीक नहीं है।

सेक्टर-1 से आए फर्मासिस्ट ने कुछ ही मिनटों में दवा देकर लोगों को घर रवाना किया।एक पूर्व कर्मचारी की पत्नी ने दवा दिखाते हुए बताया कि सुबह ८ बजे से हॉस्पिटल आए हैं, १०.३० से दवा लेने कतार में खड़े थे।१२ बजे दवा मिला है। घर का काम वैसे ही पड़ा है। अब जाकर करना होगा।यहां की व्यवस्था में सुधार करने की जरूरत है।छत्तीसगढ़ मजदूर संघ के महासचिव अखिल मिश्र ने बताया कि बीएसपी के पूर्व व वर्तमान कर्मियों के लिए चिकित्सा व्यवस्था बेहतर करने की जरूरत है।

खुर्सीपार में रहने वाले कर्मचारी को सबसे करीब खुर्सीपार का हॉस्पिटल पड़ता है, इस वजह से वे वहां जाकर डॉक्टर को दिखाते हैं। इसके साथ-साथ दवा रिपीट भी वे वहां से करवाते हैं। प्रबंधन की जिम्मेदारी है कि वहां की व्यवस्था में सुधार करे। कर्मियों का तबादला करने से अगर व्यवस्था में सुधार हो सकता है, तो किया जाना चाहिए।

No image

जिले में गर्मी बढऩे के साथ अधिकांश तालाब व जलाशय तेजी से सूखने लगे हैं, जिससे गांव में निस्तारी व पेयजल संकट खड़ा हो गया है। अगर लोग पानी बचाने के लिए अभी से जागरुक नहीं हुए, तो संकट का सामना करना पड़ सकता है। वहीं कई तालाबों का जल स्तर नीचे चला गया है। हालत यह है कि एक-दो माह में तालाब पूरी तरह से सूख जाएंगे। ऐसे में ग्रामीण और हजारों की संख्या में मवेशियों की प्यास बुझाने के लिए मशक्कत करनी पड़ेगी।बलौदा ब्लाक के अंतर्गत सिवनी, कुरदा, उच्चभिटठी, कोसमंदा, बेहराडीह, जाटा, सुखरीखुर्द आदि ग्रामों के साथ कई आश्रित ग्राम हैं, जहां के तालाब पूरी तरह से सूखने की कगार पर हैं। वहीं इन गांवो में छोटे बड़े तालाब हैं। साथ ही कई ग्राम पंचायतों में नदी नाले का पानी बांधकर उपयोग किया गहरीकरण के नाम पर लाखों खर्च
ग्राम पंचायतों में सरपंचों द्वारा मनरेगा के तहत तालाब गहरीकरण का कार्य कराया जाता है। यह कार्य कागजों पर ही सीमित रहती है और इन सरपंच सचिवों और जनप्रतिनिधियों के सांठगांठ से ही उन तालाबों का आधा अधूरा ही गहरीकरण किया जाता है। अब तक मनरेगा के तहत पूर्व वर्ष सरपंच द्वारा मनरेगा के तहत पंचायतों में तालाब गहरीकरण कराया गया था, जिससे कई मजदूरों को अब तक राशि भी नहीं मिल पाई है। जिससे वह गांव में कुछ कार्य नहीं होने के चलते ग्रामीणों द्वारा मजबूर होकर पलायन के लिए निकल रहे हैं। जिससे शासन के करोड़ों रुपए खर्च होने के बावजूद भी इन तालाबों का गहरीकरण नहीं हो पाता है।ऐसे बचाएं तालाबों को निस्तारी जल के लिए उपयोग किये जाने वाले तालाबों के आसपास गंदगी ना फैलाएं, क्योंकि जल अमूल्य है। इसमें कूड़ा करकट ना फेंके, इससे पानी दूषित होता है और गर्मी के दिनों में पानी कई प्रकार की बीमारी को बढ़ावा देता है। उपयोग किए जाने वाले तालाब का समय समय पर सफाई कराएं, इससे हमेशा पानी का जमाव बना रहता है। कई तालाबों का गहरीकरण किया गया लेकिन उचित रखरखाव नहीं होने के कारण जलस्तर नीचे जा चुका है हर निस्तारी जल की हो रही समस्या जानकार बताते हैं कि सिवनी सहित आसपास के दर्जनों गांव में कभी पानी की समस्या नहीं होती थी, पर लगातार वृक्षों के कटाई के कारण बीते कुछ सालों से यह समस्या हो रही है। अभी तो गर्मी ठीक से शुरू भी नहीं हुई है और गांव के तालाब सूखने लगे हैं।

No image

मारो नगर पंचायत में पार्षद निधि से बने चार यात्री प्रतीक्षालय की निर्माण गुणवत्ता की जांच होगी। पार्षद के प्रतीक्षालय में कुर्सियों के लगाए जाने का विरोध करने के बाद भी ठेकेदार ने कुर्सियां लगा दी है। इसके बाद भी पार्षद व नपं उपाध्यक्ष जांच कराने पर अडिग हैं।13 मार्च को अधूरे निर्माण कार्य का पूरा भुगतान किए जाने का मामला प्रमुखता से प्रकाशित किया था।

नगर पंचायत के जिम्मेदार अधिकारी जांच से बचने के लिए आनन-फानन में चेयर लगवाने लगे। इसकी भनक लगते ही वहां पार्षद व नगर पंचायत उपाध्यक्ष जितेंद्र तिवारी ने पहुंचकर घटिया चेयर लगाए जाने का विरोध करते हुए  की जांच के बाद ही चेयर लगाने की बात कही। लेकिन पार्षद के विरोध को दरकिनार कर ठेकेदार चेयर लगाकर लौट गए। इसके बाद भी पार्षद इसकी जांच चाहते हैं।जितेंद्र तिवारी ने कहा कि मारो नगर पंचायत में सीएमओ जीआर राठौर के कार्यकाल में हुए समस्त भुगतान का उच्च स्तरीय जांच जरूरी है। टेंकर मरम्मत, डीजल व्यय, यात्री प्रतीक्षालय, संपूर्ण स्वच्छता अभियान व्यय, सामग्री की खरीदी सहित हर देयक की जांच जरूरी है। जिले का एक बड़ा घोटाला निकलेगा। तिवारी ने कहा कि हम नगर पंचायत में प्रस्ताव पारित कर राज्य शासन को जांच का आग्रह पत्र भेजेंगे।जोगी कांग्रेस के नेता कहा कि भाजपा के भ्रष्टाचार के खिलाफ मारो की जनता ने कांग्रेस को कमान सौंपा। भाजपा विपक्ष की भूमिका नहीं निभा सकी। कांग्रेसी फर्जी बिल निकालने में मदद करते रहे।

मारो नगर पंचायत में पावर पंप मरम्मत का रिकॉर्ड बन गया। कोरे बिल पास हो गए। यहां के घोटाले की रिकॉर्ड हम विधानसभा चुनाव में जनता को दिखाएंगे।मामले में सहकारी मंत्री व स्थानीय विधायक डीडी बघेल ने नगर पंचायत सीएमओ जीआर राटौर के कार्यकाल की एक-एक भुगतान की जांच करने की बात कही है।