पहली कक्षा के नेत्रहीन बालक राजू से धाराप्रवाह 26 का पहाड़ा सुनकर चकित रह गए मुख्यमंत्री

1
10

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को आज सवेरे जशपुर में जशपुर के दृष्टिबाधित स्कूल के बच्चों के साथ नाश्ता किया। नाश्ते की टेबल पर उन्होंने बच्चों से गिनती और पहाड़ा भी पूछा। इस पर पहली कक्षा के नेत्रहीन बालक राजू ने धाराप्रवाह 26 का पहाड़ा सुनाया। मुख्यमंत्री इस नन्हें बालक राजू की याददाश्त और प्रतिभा को देखकर चकित रह गए। उन्होंने इस बच्चे को शाबाशी देते हुए कहा कि 26 का पहाड़ा तो मुझे भी ठीक से याद नहीं। 

मुझे भी 26 का पहाड़ा नही आता। उन्होंने राजू को आशीर्वाद प्रदान किया। डॉ. सिंह ने दृष्टिबाधित स्कूल के छात्रों को नाश्ते पर आमंत्रित किया था। इस दौरान कक्षा पांचवी की नेत्रहीन छात्रा प्रियंका ने ब्रेल लिपि में लिखा आभार पत्र पढ़कर सुनाया, जिसमें प्रियंका ने दृष्टिबाधित बच्चों के लिए सर्वसुविधायुक्त स्कूल के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। प्रियंका ने मुख्यमंत्री से कहा कि मैं कलेक्टर बनकर दिखाऊंगी। मुख्यमंत्री ने प्रियंका और राजू सहित स्कूल के छात्रों के जज्बे की सराहना करते हुए, उन्हें उज्ज्वल भविष्य के लिए अपना आशीर्वाद प्रदान किया। 

मुख्यमंत्री ने बच्चों से कहा कि वे मन लगाकर पढ़ाई करें तो वे किसी भी लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं। दृष्टिबाधित बच्चों ने मुख्यमंत्री को उत्साह के साथ ‘लहरों से डरकर नौका पार नही होती, कोशिश करने वालों की हार नहीं होती’  कविता सुनायी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस प्रेरणादायक कविता से मैं भी प्रेरित हूं। बच्चों से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री अपने प्रदेशव्यापी लोक सुराज अभियान के अगले पड़ाव के लिए रवाना हो गए। मुख्यमंत्री ने दृष्टिबाधित स्कूल में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए स्कूल के शिक्षकों की भी सराहना की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here