सुप्रीम कोर्ट ने जताई चुनाव आयोग पर नाराजगी, तंज कसते कहा मतलब आप शक्तिहीन हैं

0
12
सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान नेताओं की हेट स्पीच मामले में सुप्रीम कोर्ट ने भारत निर्वाचन आयोग पर नाराज़गी जताई है। सुप्रीम कोर्ट की यह नाराज़गी हेट स्पीच देने वाले नेताओं पर त्वरित कार्रवाई नहीं करने पर है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने जब उत्तर प्रदेश में नेताओं द्वारा धार्मिक और विवादित बयान दिए जाने पर आयोग से एक्शन के बारे में पूछा तो आयोग ने कहा कि हम ऐसे मामलों में केवल नोटिस भेजकर जवाब मांग सकते हैं।

इस पर नाराज बेंच ने कहा कि वास्तव में आप यह कहना चाह रहे हैं कि आप शक्तिहीन हैं। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बसपा प्रमुख मायावती, सुल्तानपुर से भाजपा उम्मीदवार मेनका गांधी और रामपुर से सपा उम्मीदवार आजम खान के चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी।

शीर्ष अदालत शारजाह (यूएई) की एक एनआरआई योगा टीचर मनसुखानी की याचिका पर सुनवाई कर रही थी। याचिका में ऐसे नेताओं के खिलाफ कड़े एक्शन की मांग की गई थी, जो चुनाव के दौरान जाति-धर्म के आधार पर टिप्पणियां कर रहे हैं। अदालत ने 8 अप्रैल को इस मामले में सुप्रीम कोर्ट और चुनाव आयोग को नोटिस भेजा था।

सुप्रीम कोर्ट के सवाल आयोग के जवाब

चीफ जस्टिस गोगोई, जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस संजीव खन्ना की बेंच ने योगी आदित्यनाथ और मायावती के बयानों पर आयोग द्वारा लिए गए एक्शन के बारे में सवाल किया। बेंच ने पूछा- हमें बताइए कि आप क्या कर रहे हैं। बताइए कि आपने क्या एक्शन लिया। मायावती के बारे में क्या कहना है। उन्हें तो आपको 12 अप्रैल तक जवाब देना था। उन्होंने आज तक जवाब नहीं दिया। ऐसे मामलों में कानून आपको क्या कदम उठाने की इजाजत देता है।

आयोग की तरफ से पेश वकील ने कहा- इन मामलों में हमारे अधिकार बेहद सीमित हैं। हम नोटिस भेज सकते हैं और जवाब मांग सकते हैं। हम किसी पार्टी को अमान्य या किसी उम्मीदवार को अयोग्य नहीं घोषित कर सकते हैं। लगातार ऐसे बयानों पर हम परामर्श दे सकते हैं और एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दे सकते हैं। बेंच ने कहा- तो आप वास्तव में यह कहना चाह रहे हैं कि आप हेट स्पीच के मामलों में शक्तिहीन और असमर्थ हैं। इसके बाद अदालत ने आयोग के प्रतिनिधि को मंगलवार सुबह 10:30 बजे पेश होने के निर्देश दिए। इस दौरान इस दलील की समीक्षा की जाएगी कि चुनाव प्रचार के दौरान नेताओं द्वारा हेट स्पीच के मामलों में आयोग के कानूनी अधिकार सीमित हैं।

फटकार के बाद आयोग ने उठाए कड़े कदम, 4 नेताओं पर बैन

आयोग ने योगी आदित्यनाथ पर 3, मायावती पर 2, आजम खान पर 3 दिन और मेनका गांधी पर 2 दिन के लिए चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी। आजम-योगी पर बैन मंगलवार सुबह 6 बजे और माया-मेनका पर प्रतिबंध सुबह 10 बजे से लागू होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here